home / वेलनेस
अजवाइन खाने के फायदे और नुकसान | Ajwain ke Fayde aur Nuksan

अजवाइन खाने के फायदे और नुकसान | Ajwain ke Fayde aur Nuksan

अजवाइन “ajwain ke fayde” न केवल खाने का जायका बढ़ाती है बल्कि ये स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद होती है। इसी वजह से भारत के कई घरों में अजवाइन का इस्तेमाल किया जाता है और कई खानों में भी इसे डाला जाता है। आज हम अपने इस लेख में आपको स्वास्थ्य के लिए अजवाइन के फायदों और नुकसानों के बारे में बताने वाले हैं। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें कि भले ही अजवाइन खाने “ajwain khane ke fayde” के कई फायदे हैं लेकिन यह किसी समस्या का सटीक हल नहीं है। साथ ही अजवाइन के आमतौर पर कोई नुकसान नहीं है लेकिन जरूरत से ज्यादा किसी भी चीज का सेवन करने से वो फायदा पंहुचाने की बजाए नुकसान कर देती है। तो चलिए बिना कोई देरी किए आपको इस लेख में अजवाइन के बारे में सारी चीजें बताते हैं। 

अजवाइन क्या है – Ajwain Kya Hai?

अजवाइन “ajwain ke fayde in hindi” एक तरह का मसाला “ajwain kya hai” और औषधी है। इसका पौधा हरे रंग का होता है और इसकी पत्तियां पंख की तरह होती हैं। अजवाइन “ajwain benefits in hindi” के बीज अंडाकार होते हैं। अजवाइन, जीरा और सौंफ के परिवार से संबंध रखता है। अजवाइन का वैज्ञानिक नाम ट्रेकिस्पर्मम अम्मी है। इसका स्वाद तीखा और कड़वा होता है। अजवाइन को अलग-अलग नामों से भी जाना जाता है। जैसे तमिल में इसे ओमम, कन्नड़ में ओम कलुगलु, तेलुगु में वामु और मलयालम में इसे अयोधमकम कहते हैं।

अजवाइन के पौष्टिक तत्व – Nutrients of Ajwain in Hindi

अजवाइन में निम्नलिखित पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं-

ऊर्जा- 238kcal
प्रोटीन- 23.8 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट- 47.6 ग्राम
फाइबर- 47.6 ग्राम
कैल्शियम- 667 एमजी
आयरन- 16.19 एमजी
पोटैशियम- 1333 एमजी
फैटी एसिड- 0.62 ग्राम

अजवाइन का सेवन कैसे करें – Ajwain Uses in Hindi

अजवान का सेवन निम्नलिखित प्रकार से किया जा सकता है-

– भूख बढ़ाने के लिए आपको गुनगुने पानी के साथ एक चम्मच अजवाइन खानी चाहिए।

– अगर आपको गैस की समस्या रहती है तो आपको अजवाइन को तवे पर भून कर नींबू और नमक के साथ चाटना चाहिए। इससे आपकी गैस की या फिर पेट के फूले रहने की समस्या दूर होती है।

– अगर आपको पाचन तंत्र संबंधी परेशानी है तो आपको अजवाइन का पानी पीना चाहिए।

– अगर आपको फ्लू या फिर गले में खराश हो रही है तो आपको एक चौथाई अजवाइन, एक चुटकी नमक और एक लौंग को मुंह में रखकर चूसना चाहिए।

– इसके अलावा आप खाना बनाते समय भी अजवाइन को खाने में डाल सकती हैं। इससे खाना स्वादिष्ट बनेगा और साथ ही आपका पाचन तंत्र भी स्वस्थ रहेगा। 

अजवाइन खाने के फायदे | Ajwain Benefits In Hindi

अजवाइन कई तरह से हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती है। इसमें बहुत सारे गुण मौजूद होते हैं। अजवाइन सर्दी-जुखाम से लेकर कब्ज, गैस और रक्तचाप जैसी कई बीमारियों को दूर करता है। तो चलिए बिना कोई देरी किए आपको इसके अजवाइन के फायदे के बारे में विस्तार से बताते हैं। 

अजवाइन पानी के फायदे

अजवाइन के पानी के फायदे भी हैं। दरअसल, पेट फूलना आहार नली में गैस का जमा होना है जो आमतौर पर कुछ खाद्य पदार्थों के कारण होता है। अजवाइन का पानी पीने या व्यंजन में मिलाने से इस स्थिति की तीव्रता को कम करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा अनियमित खान-पान और जंक फूड के सेवन से एसिडिटी बढ़ जाती है जिसे अजवाइन से नियंत्रित किया जा सकता है। अपने भोजन में वस्तु को शामिल करें या भोजन के बाद पानी पियें।

अजवाइन और शहद के फायदे

अजवाइन और शहद बच्चों के लिए अच्छा होता है क्योंकि यह पेट के दर्द, गैस्ट्रिक परेशानी और पेट दर्द से राहत देता है। उन्हें उम्र के हिसाब से डेढ़ चम्मच अजवायन शहद खिलाने से तुरंत आराम मिलेगा। इसके अलावा अजवायन और शहद तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है और प्रतिरक्षा को मजबूत करता है। साथ ही अजवायन और शहद का रोजाना सेवन करने से आप फिट, स्वस्थ और जवां रहेंगे।

रात को सोते समय अजवाइन खाने के फायदे 

रात को सोते समय अजवाइन खाने से नींद अच्छी आती है। ऐसे में आगर आपको अनिद्रा की शिकायत है तो रात के समय अजवायन लेना आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं। इसके अलावा सर्दी-जुकाम होने पर भी आप रात को सोते समय अजवाइन खा सकते हैं। रात को सोते समय अजवाइन खाने के फायदे में जोड़ों के दर्द से आराम भी शामिल है। 

यूरिक एसिड में अजवाइन के फायदे

अजवाइन का पानी यूरिक एसिड को कम करने में भी मददगार माना जाता है। जिन लोगों का यूरिक एसिड बढ़ गया है उन्हें अजवाइन का पानी सुबह खाली पेट और खाना खाने के आधे घंटे बाद जरूर पीना चाहिए। इसे बनाने के लिए आप एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवायन को कुछ घंटों के लिए भिगो दें, फिर इसका सेवन करें। यही वजह है कि यूरिक एसिड में अजवाइन के फायदे भी हैं। 

भुनी अजवाइन खाने के फायदे 

बात जब भुनी अजवाइन खाने के फायदे की आती है तो वजन घटाने से लेकर कई फायदे इस लिस्ट में शामिल हो जाते हैं। भूनी हुई अजवाइन का फाइबर पाचन क्रिया को तेज करने में मददगार होता है। इसके अलावा भुनी अजवाइन डाइजेस्टिव एंजाइम्स को बढ़ा कर खाना पचाने में तेजी से मदद करती है। वहीं भूनी हुई अजवाइन का एंटी इंफ्लेमेटरी गुण न सिर्फ सूजन को दूर करता है बल्कि गाउट की समस्या को दूर करने में भी मदद करता है।

शुगर में अजवाइन के फायदे 

अजवायन के और भी कई फायदे हैं। शुगर में अजवाइन के फायदे भी देखने को मिलते हैं। इसकी उच्च फाइबर सामग्री के कारण यह रक्त शर्करा को स्थिर करने में मदद करता है और इसका उपयोग मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है। खाने के बाद अजवाइन की चाय पीना मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकता है। अजवाइन की चाय तैयार करने के लिए, आपको एक चम्मच अजवाइन, एक बड़ा चम्मच सौफ (सौंफ के बीज), और एक चौथाई चम्मच दालचीनी पाउडर चाहिए। इन सभी चीजों को गर्म पानी में डालकर चाय बना लें। खाना खाने के लगभग 45 मिनट बाद इसका सेवन करें।

अजवाइन से बवासीर का इलाज 

अजवाइन से बवासीर का इलाज भी किया जा सकता है। अजवायन और छाछ का संयोजन बवासीर से संबंधित समस्याओं को कम करने के साथ अम्लता और अपच को ठीक करने में एक जादुई है। अजवायन का औषधीय महत्व है। यह एसिडिटी और अपच से तुरंत राहत दिलाने के अपने गुण के कारण बवासीर को ठीक करने में सहायक है जो पाइल्स की समस्या का प्रमुख कारण है। छाछ में पाचन को बढ़ाने और कब्ज को रोकने का भी गुण होता है। इसके लिए एक गिलास छाछ में 1/4 छोटा चम्मच अजवायन पाउडर (अजवाइन) और एक चुटकी नमक मिलाएं। बवासीर वाले लोगों के लिए छाछ को नियमित आहार के हिस्से के रूप में लेने की सलाह दी जाती है। 

गुड़ और अजवाइन खाने के फायदे 

गुड़ और अजवाइन खाने के फायदे भी कई हैं। अजवाइन अस्थमा जैसे श्वास से संबंधति परेशानियों के लिए भी उपयोगी होती है। दरअसल, अजवाइन का सेवन करने से इसका सकारात्मक प्रभाव श्वासन प्रणाली पर होता है। इससे अस्थमा की समस्या दूर होती है। अजवायन बलगम को आसानी से निकालकर नाक की रुकावट से बचने में मदद करता है। अजवायन और गुड़ को गर्म करके पेस्ट बना लें और इसकी 2 चम्मच दिन में दो बार लेने से अच्छा महसूस होता है। यह अस्थमा और ब्रोंकाइटिस जैसी सांस की बीमारियों से निपटने में भी मदद करता है। 

जीरा और अजवाइन के फायदे 

जीरा और अजवाइन के फायदे भी कई है। दरअसल, इसके लिए आपको एक डीटॉक्स चाय बनाकर उसका सेवन करना होगा। स्वस्थ और फिट शरीर प्राप्त करने के लिए अपने वजन घटाने के अनुकूल, अजवाइन और जीरा के साथ डिटॉक्स चाय बनाएं। ये दोनों मसाले इस चाय में अपने सभी गुणों को खत्म कर देते हैं, जिससे हम उनके पूर्ण स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 

अजवाइन से गैस का इलाज 

अजवाइन से गैस का इलाज भी किया जा सकता है। गैस और कब्ज की समस्या बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक किसी को भी कभी भी हो सकती है। इस समस्या के लिए अजवाइन सबसे असरदार होती है। दरअसल, अजवाइन (अजवाइन खाने के फायदे) में एंटीस्पास्मोडिक और कार्मिनेटिव  गुण होते हैं, जोो गैस के प्रभावों को कम करते हैं। साथ ही इसमें थाइमोल भी काफी मात्रा में होता है, यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की बीमारी में राहत देता है। इसके अलावा अजवाइन पाचन तंत्र को बेहतर करने के लिए भी प्रयोग की जाती है और इससे कब्ज की समस्या भी दूर होती है। 

अजवाइन से पथरी का इलाज 

अजवाइन की एक खास बात और है कि अजवाइन से पथरी का इलाज भी किया जा सकता है। दरअसल, अजवायन में एंटीलिथियाटिक गुण होते हैं और यह गुर्दे की पथरी बनने के जोखिम को कम करता है। एक अध्ययन में कहा गया है कि अजवाइन के बीजों में मौजूद एंटीलिथियाटिक प्रोटीन कैल्शियम ऑक्सालेट और कैल्शियम फॉस्फेट दोनों को जमा होने से रोकता है और किडनी में पथरी बनने से रोकता है। 

दूध में अजवाइन खाने के फायदे

क्या आप जानते हैं दूध में अजवाइन खाने के फायदे भी होते हैं। जी हां, अगर आप रोजाना रात में सोने से पहले अजवाइन और दूध का सेवन करते हैं, तो आपकी कई समस्याएं दूर हो सकती हैं। यह पाचन को दुरुस्त रखने के साथ यौन संबंधी परेशानियों को भी दूर करता है। इतना ही नहीं यह पुरुषों में स्पर्म काउंट को बढ़ाने के साथ ख़राब मूड को भी बेहतर बनाता है। साथ ही दूध में अजवाइन का सेवन सर्दी और जुकाम से भी रहत दिलाने का काम करता है।  

सोंठ और अजवाइन के फायदे 

सोंठ और अजवाइन दोनों की तासीर गर्म होती है। यही वजह है कि सोंठ और अजवाइन का सेवन करने से आपको पीरियड्स के दर्द में काफी आराम मिलता है। इतना ही नहीं माइग्रेन के दौरान सोंठ और अजवाइन का सेवन करना काफी फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा जो लोग बार-बार पेट दर्द की समस्या से परेशान रहते हैं वे भी सोंठ और अजवाइन का पानी सुबह खाली पेट पी सकते हैं। इससे पाचन तंत्र मजबूत रहता है और पेट की समस्याएं दूर रहती है। 

अजवाइन की भाप लेने के फायदे 

अजवाइन को सर्दी-जुखाम के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। अजवाइन में कई एंटीबैक्टीरियल प्रोपर्टी होती हैं, जो सर्दी-खांसी या फिर जुखाम को दूर करने में मदद करती हैं। दरअसल, अजवाइन (अजवाइन के फायदे) के बीज में 50 प्रतिशत थाइमोल होता है। यह शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है और फ्लू, जुखाम, सर्दी आदि वायरल इंफेक्शन्स को दूर रखता है। इसके लिए अजवाइन की भाप लेने के फायदे होते हैं। बंद नाक के लिए गर्म भाप अद्भुत काम करती है। और जब आप गर्म पानी में मुट्ठी भर अजवाइन डालकर उसकी भाप लेते हैं, तो सामान्य गर्म भाप की तुलना में बंद नाक जल्दी साफ हो जाती है।

अजवाइन और सौंफ खाने के फायदे 

वजन घटाने के मामले में अजवाइन और सौंफ खाने के फायदे भी देखने को मिलते है। इसके लिए अजवाइन और सौंफ का मिश्रण एक और शानदार तरीका है। इस हेल्दी ड्रिंक को बनाने के लिए आधा चम्मच भुने हुए अजवायन के बीज और एक चम्मच भुनी हुई सौंफ को 4 कप पानी में डालकर उबाल लें। मिश्रण को तब तक उबलने दें जब तक आपको रंग में बदलाव न दिखाई दे। इसे आंच से हटा लें और छानने से पहले इसे ठंडा होने दें। अपने दैनिक कैफीन के बजाय पूरे दिन काढ़ा पिएं।

अजवाइन और काला नमक के फायदे

अजवायन के बीजों में मौजूद थाइमोल में एंटासिड गुण होता है जो एसिड रिफ्लक्स को कम करने में मदद करता है और पेट में एसिड के उत्पादन को संतुलित करता है। जबकि काला नमक पेट की परेशानी, एसिडिटी और अन्य पाचन समस्याओं के लिए एक उत्कृष्ट उपाय का काम करता है। अजवाइन के बीज के साथ काला नमक का सेवन करने से गैस की समस्या से छुटकारा मिलता है। एक कड़ाही में 2 बड़े चम्मच अजवायन गरम करें और उन्हें कुचलकर या पीसकर एक महीन पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को दो बड़े चम्मच काला नमक में मिला लें। इन्हें अच्छी तरह मिला लें। इस मिश्रण का आधा चम्मच गर्म पानी या शहद के साथ दिन में 1-2 बार लें। वैकल्पिक रूप से, आप बस इसकी एक चुटकी ले सकते हैं और बिना पानी के सेवन कर सकते हैं। 

अजवाइन के पत्ते के फायदे

अजवाइन के पत्ते को अंग्रेजी में ‘सेलेरी’ भी कहा जाता है। अजवाइन के पत्ते के एक मध्यम डंठल में 5.6 कैलोरी और 1.2 ग्राम कार्ब्स होते हैं। डंठल में 38.2 ग्राम पानी होता है और यह जलयोजन के लिए बहुत अच्छा है। 100 ग्राम कच्ची अजवाइन में कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक और पोटेशियम जैसे खनिज होते हैं। इसमें विटामिन ए, के, सी, ई और बी विटामिन (थियामिन, राइबोफ्लेविन, फोलिक एसिड, विटामिन और विटामिन बी 6) भी होते हैं। अजवाइन के पत्ते कैलोरी में कम होने और पानी की मात्रा अधिक होने के कारण बहुत लोकप्रिय है। यह हरी सब्जी पोषक तत्वों से भरपूर होती है और इसके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

अजवाइन से पीरियड कैसे लाये 

आजकल की लाइफस्टाइल में पीरियड देर से आना एक आम समस्या बन चुकी है। ऐसे में हमारा ये सोचना कि अजवाइन से पीरियड कैसे लाये एक वाजिब सवाल है। दरअसल, यह काम अजवाइन अकेले नहीं करती। बल्कि अजवायन और गुड़ का मिश्रण मासिक धर्म को प्रेरित करने में मदद करता है। जी हां, अगर आप अपने पीरियड को जल्दी लाना चाहती हैं तो इसके लिए अजवाइन के साथ गुड़ का सेवन करें। इसके लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवाइन को 1 चम्मच गुड़ के साथ उबालें। सुबह-सुबह खाली पेट इस गर्म काढ़े का सेवन करें। अजवाइन न केवल आपके मासिक धर्म को प्रेरित करेगा बल्कि ऐंठन के दर्द से भी राहत दिलाएगा।

खाली पेट अजवाइन खाने के फायदे

आजकल बाहर का गलत-सलत खाने की वजह से अपच की समस्या काफी आम हो गई है। इससे छुटकारा पाने के लिए हम क्या-क्या नहीं करते। इसके लिए एक बार आप सुबह खाली पेट अजवाइन का सेवन करके भी देख सकते हैं। सुबह खाली पेट अजवाइन खाने के फायदे देखने को मिलते हैं। रोजाना सुबह खाली पेट अजवाइन खाने से अपच को कम करने में मदद मिल सकती है। इसके लिए दो चम्मच भुने हुए अजवायन के बीज रात को एक कप पानी में भिगो दें। इसे उबालकर पीने से पहले ठंडा होने दें। भारी भोजन के बाद भी यह पेय एकदम सही है।

अजवाइन से मोटापे कम करने के उपाय 

अगर आप अजवाइन से मोटापे कम करने के उपाय तलाश रहे हैं तो इसका जवाब हम आपको यहां देंगे। दरअसल, केवल अजवाइन का पानी ही आपके मोटापे को कम करने का काम कर सकता है। हालांकि इसका स्वाद काफी कड़वा होता है, लेकिन वजन घटाने के लिए इतना तो सेहेन किया जा ही सकता है। अजवाइन का पानी बनाना सबसे आसान रेसिपी में से एक है। 25 ग्राम अजवाइन लें और उन्हें रात भर एक गिलास पानी में भिगो दें। अगली सुबह अजवाइन को छान लें और खाली पेट पानी पी लें। आप अपने अजवाइन के पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर इसका स्वाद बेहतर कर सकते हैं। आप अपने चयापचय को बढ़ावा देने और वजन कम करने के लिए नियमित रूप से 15-20 दिनों तक इस पानी का सेवन कर सकते हैं।  

अजवाइन के नुकसान | Disadvantages Of Ajvain In Hindi

वैसे तो अजवाइन के बहुत सारे फायदे होते हैं लेकिन कई बार अजवाइन खाने से कुछ नुकसान (ajwain ke nuksan) भी हो जाते हैं। 

– अजवाइन में काफी अधिक मात्रा में फाइबर होता है लेकिन कई बार जरूरत से ज्यादा अजवाइन (अजवाइन के नुकसान) खाने से एठन, सूजन या फिर पेट के फूलने की समस्या हो जाती है।

– यदि आप अजवाइन का जरूरत से ज्यादा सेवन करते हैं तो कई बार एसिडिटी की समस्या कम होने की बजाए बढ़ जाती है।

अजवाइन का पानी पीने के नुकसान | Ajvain Pani Pine ke Nuksan

वैसे तो पर्याप्त मात्रा में सेवन करने पर अजवाइन का पानी सुरक्षित होता है। लेकिन जब उच्च खुराक में लिया जाता है, तो अजवाइन का पानी पीने के नुकसान भी पैदा हो सकते हैं जैसे:

– जी मिचलाना

– शरीर के भीतर गर्मी की अनुभूति में वृद्धि

– पेट में जलन

– चक्कर आना

– एसिडिटी

– उल्टी

– मुंह के छालों का कारण बनता है

इसके अलावा, गर्भावस्था के दौरान डॉक्टर से उचित परामर्श के बिना अत्यधिक अजवाइन के पानी का सेवन करने से बचें। 

Conclusion – अजवाइन खाने के फायदे और नुकसान

अजवाइन लंबे समय से पारंपरिक भारतीय व्यंजनों और आयुर्वेदिक चिकित्सा में उपयोग किया जाता रहा है। वे जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लेमेटरी होने के कारण पेप्टिक अल्सर के इलाज और रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में प्रभावी हो सकते हैं। इसके अलावा जब आप अपने स्वास्थ्य और फिटनेस के लक्ष्यों को प्राप्त करना चाहते हैं, तो वजन घटाने के लिए अजवाइन एक रास्ता है। ध्यान रखें कि वजन कम करने का पहला कदम यह सुनिश्चित करना है कि आपका पाचन तंत्र हर समय स्वस्थ रहे। फिर, प्रतिदिन अपने आहार में अजवाइन को शामिल करें, और आप इसके सभी लाभों का अनुभव करेंगे। अजवायन के बीज ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित माने जाते हैं। हालांकि, गर्भवती महिलाओं के लिए बीज असुरक्षित हैं क्योंकि वे भ्रूण पर हानिकारक प्रभाव से जुड़े हुए हैं।

FAQ – अजवाइन खाने के फायदे और नुकसान

सवाल- अजवाइन का पानी कितने दिन पीना चाहिए 

जवाब- अजवाइन का पानी लगातार 20 दिनों तक पी सकते हैं। इससे ज्यादा अति करने पर आपको स्वास्थ्य संबंधी नुकसान हो सकते हैं। 

सवाल- अजवाइन कब खाना चाहिए 

जवाब- अजवाइन को किसी भी समय खाया जा सकता है। हालांकि सुबह के समय अजवाइन का पानी पीना लाभदायक होता है।

सवाल- क्या अजवाइन से शरीर में गर्मी होती है?

जवाब- अजवाइन का अत्यधिक सेवन समस्या पैदा कर सकता है क्योंकि यह शरीर में गर्मी पैदा करता है। मतली, चक्कर आना और नाराज़गी सभी संभावित दुष्प्रभाव हैं।

सवाल- अजवाइन से कितना वजन कम किया जा सकता है?

जवाब- यदि आप अजवाइन के बीजों को सुबह सबसे पहले नियमित रूप से खाते हैं, तो यह गतिविधि आपको महीने में 1-2 किलो वजन कम करने में मदद कर सकती है। हालांकि, किसी को आहार नियमों और व्यायाम का पालन करना होगा।

सवाल- अजवायन किसे नहीं खाना चाहिए?

जवाब- स्तनपान या गर्भवती होने पर अजवाइन से बचा जाना चाहिए क्योंकि अजवाइन का खून पतला करने वाला प्रभाव होता है। नतीजतन, यह रक्त के थक्कों को रोकने में मदद कर सकता है। इसलिए, अगर आप ब्लड थिनर ले रहे हैं तो अजवाइन से बचना सबसे अच्छा है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Jayfal ke Fayde for Skin

POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

17 Dec 2020

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text