home / लाइफस्टाइल
सिर दर्द के लिए पेनकिलर खा कर गए हैं थक, तो आज ही शुरू करें ये 6 योगासन

सिर दर्द के लिए पेनकिलर खा कर गए हैं थक, तो आज ही शुरू करें ये 6 योगासन

 

सिर दर्द (Headaches) होना एक बेहद ही अहम परेशानी है और कई लोग इसका सामना करते हैं। सिर दर्द कम से लेकर अधिक तक कैसा भी हो सकता है और ये आपकी मेडिकल हिस्ट्री पर आधारित होता है। सिर दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं, जिसमें तनाव, एलर्जी, साइनस और हार्मोनल बदलाव, डीहाइड्रेशन आदि हो सकता है। इस वजह से आज हम आपके लिए कुछ योगासन (Yoga) लाए हैं, जिनको यदि आप अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लेते हैं तो आपके सिर दर्द की समस्या दूर हो जाएगी। सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण

करें ये 6 योगासन – 6 yoga poses to get rid of headaches in Hindi

पदोत्तानासन

 

अपनी पीठ के बल लेटकर शुरुआत करें (यदि आवश्यक हो तो आप समर्थन के लिए दीवार का उपयोग कर सकते हैं)। अपने पैरों को सीधा रखें और अपने कूल्हों के ऊपर संरेखित करें। आराम करें, और अपनी आंखें बंद करके गहरी सांस लें। इस मुद्रा (Benefits of Yoga in Hindi) में 30 सेकंड तक या जब तक आप सहज हों तब तक करें।

वज्रासन

धीरे-धीरे अपने घुटनों को अपनी चटाई पर गिराएं। अपने श्रोणि को अपनी एड़ी पर रखें और अपने पैर की उंगलियों को बाहर की ओर इंगित करें। अपनी एड़ियों को एक दूसरे के करीब रखें। अपनी हथेलियों को अपने घुटनों पर ऊपर की ओर रखते हुए रखें। अपनी पीठ को सीधा करें और आगे देखें।

मलासन

स्क्वाट करें, अपने श्रोणि को नीचे करें और इसे अपनी एड़ी के ऊपर रखें। सुनिश्चित करें कि आपके पैर फर्श पर सपाट रहें। आप या तो अपनी हथेलियों को अपने पैरों के पास फर्श पर रख सकते हैं या प्रार्थना की मुद्रा में उन्हें अपनी छाती के सामने जोड़ सकते हैं। इस दौरान कमर को सीधा रखें।

सावित्री आसन

धीरे से अपने घुटनों को फर्श पर रखें। अपने श्रोणि को एड़ी से दूर रखें। बाहों को कंधे की दूरी पर ऊपर उठाएं और हथेलियां एक दूसरे के सामने हों। अपनी बाहों, रीढ़, कूल्हों और जांघों को संरेखित करें।

प्राणायाम

निम्नलिखित श्वास अभ्यासों का अभ्यास करने के लिए, आप किसी भी आरामदायक मुद्रा (जैसे सुखासन, अर्धपद्मासन या पद्मासन) में बैठ सकते हैं। अपनी पीठ को सीधा करो और अपनी आँखें बंद करो। अपने आसन पर इस जागरूकता को बनाए रखें और अपने अभ्यास की अवधि के लिए अपनी श्वास पर ध्यान केंद्रित करें।

भ्रामरी प्राणायाम

 

अपने अंगूठे को ‘ट्रैगस’ पर रखें, बाहरी फ्लैप आपके कान पर। अपनी तर्जनी को अपने माथे पर रखें; मेडियल कैन्थस पर आपकी मध्यमा उंगली और आपकी अनामिका आपके नथुने के कोने पर। श्वास लें और अपने फेफड़ों को हवा से भरें, और जैसे ही आप साँस छोड़ते हैं, धीरे-धीरे मधुमक्खी की तरह भिनभिनाने वाली आवाज़ करें। अपना मुंह पूरे समय बंद रखें और पूरे शरीर में कंपन महसूस करें।
नोट– वैकल्पिक रूप से, आप बाइकिंग, तैराकी या पैदल चलना भी अपना सकते हैं। ये एरोबिक व्यायाम माइग्रेन और सिरदर्द की आवृत्ति और गंभीरता को कम करने में मदद करते हैं। यदि आप इसमें नए हैं, तो धीमी गति से शुरू करें और समय के साथ अपने अभ्यास का निर्माण करें। यदि आप लाभों का अनुभव करना चाहते हैं तो नियमित और प्रतिबद्ध होने पर ध्यान दें।
 
ये भी पढ़ें-
 
POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!
17 Jun 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text