home / DIY लाइफ हैक्स
दिमाग में चल रहे नकारात्मक विचारों से बचने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

दिमाग में चल रहे नकारात्मक विचारों से बचने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

क्या रात के 2 बजे आप भी बेचैन हो जाते हैं, अकेलापन महसूस होने लगता है और आप अपने फोन को स्क्रोल करने लगते हैं। आप सोने की कोशिश कर रहे होते हैं लेकिन जब आप अपनी आंखें बंद करते हैं तो आपके दिमाग में नकारात्मक विचार ही आने लगते हैं और इस वजह से आप जागे रहने का फैसला करते हैं और जब तक आपको बहुत तेज नींद ना आए तब तक सो नहीं पाते? 

क्या आपके साथ भी ऐसा होता है? अगर हां, तो इसमें आप अकेले नहीं है। स्ट्रेस, एन्जाइटी, सेडेंटरी लाइफस्टाइल और स्मोकिंग के कारण आपके स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है, खासतौर पर आपके मानसिक स्वास्थ्य पर। इस वजह से हो सकता है कि आपको अधिकतर समय उदास महसूस होता हो और आप फोकस ना कर पाते हों। हाल ही में हुआ ब्रेकअप, या प्रोमशन ना मिल पाने या फिर टोक्सिक वर्क कल्चर की वजह से भी आप परेशान हो सकते हैं और उदास महसूस कर सकते हैं।

हालांकि, ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप अपने आसपास नकारात्मक ख्यालों को ना आने दें। अपनी जिंदगी के ब्राइटर पर्सपेक्टिव को देखें। कोई इंसान, नौकरी या फिर प्रमोशन आपकी जिंदगी को डिक्टेट नहीं कर सकता है। जीने का मतलब हमेशा लड़ना ही होता है। आपको इतना हिम्मती होना चाहिए कि आप इन सब चीजों का असर खुद पर ना होने दें और हमेशा रात को शांति से सो सकें। तो इस वजह से हम आपकी मदद के लिए कुछ टिप्स लेकर आए हैं।

– सबसे पहले एक स्वास्थ्यजनक रूटीन को फॉलो करें। ये जरूरी नहीं है कि आपको बहुत अधिक अनुशासन को अपनी जिंदगी में लाना चाहिए क्योंकि एकदम से ऐसा कर पाना मुश्किल होता है। इस वजह से धीरे-धीरे शुरू करें। इसके लिए आप रोजाना सुबह 10 मिनट की वॉक से शुरुआत कर सकते हैं या फिर स्मोकिंग छोड़ सकते हैं या फिर बाहर का खाना-पीना कम कर सकते हैं।

– दूसरा अपने विचारों को लिखें। अगर आपको लिखना पसंद नहीं है तो अपने दिमाग में ऐसा करें। खुद से बात करें और आपको कौन सीस बात परेशान कर रही है, उसे समझें। कभी भी सॉल्यूशन को ढूंढने की जल्दबाजी ना करें। हमेशा अपनी परेशानी को समझें और फिर उससे उभरने की कोशिश करें।

– खुद को खुश रखना बहुत ही जरूरी है। इस वजह से सोलो ट्रिप पर जाएं, डेट पर या फिर अपने पसंदीदा कैफ में कॉफी पिएं। हमेशा वो करें, जो आपको खुशी दे और कभी दूसरों पर निर्भर ना हों। खुद को एन्जॉय करना सीखें। अगर आप एन्जॉय नहीं भी करते हैं, तो भी बाहर जाएं और डिटॉक्स सेशन की तलाश करें। हमारा यकीन कीजिए एक समय आएगा, जब आपको अकेले कॉफी पीना भी बहुत अच्छा लगेगा और आप खुद के साथ समय बिताना पसंद करेंगे।

– चौथा, एक शेड्यूल फॉलो करें। कम से कम 8 घंटों की नींद लें। हमेशा निर्धारित समय पर सोने जाएं और निर्धारित समय पर उठें और ऐसे में आपके वीकेंड को आप छोड़ सकते हैं, या फिर वीकेंड पर रोजाना से अधिक देर तक सो सकते हैं। हालांकि, कोशिश करें कि आप अपने शेड्यूल को फिक्स करें और उस पर टिके रहें।

– अंत में याद रखें कि नकारात्मक विचार भी केवल एक भावना है और जीने का तरीका नहीं है। कई लोग आमतौर पर नकारात्मक विचारों को इस वजह से सीरियस ले सकते हैं क्योंकि उन्हें रोशनी नहीं दिखाई देती है। वो इस नकारात्मकता को स्थाई मान लेते हैं। हालांकि, ये केवल कुछ समय के लिए होता है। लंबी सांस लेना, अपने घर पर खुशनुमा माहौल बनाने और अच्छे गानों को सुनने से आप अपने मूड को बदल सकते हैं। 

POPxo की सलाह: MyGlamm की ग्लो स्किनकेयर रेंज के साथ रखें अपनी त्वचा का ख्याल।

12 Oct 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text