home / लाइफस्टाइल
उम्र बढ़ने के बारे में इन 3 मिथकों पर आपको कभी नहीं करना चाहिए विश्वास

उम्र बढ़ने के बारे में इन 3 मिथकों पर आपको कभी नहीं करना चाहिए विश्वास

बिना दांतों वाली हंसी, बेचैनी, डिप्रेशन, इरिटेशन और भूलने की आदत, हम सोचते हैं कि उम्र बढ़ने के साथ ऐसी चीजें होना बहुत ही आम होता है। हालांकि, ये जरूरी नहीं है कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ आपको इन सभी परेशानियों का सामना करना पड़े। वैसे तो हर एक व्यक्ति पर उम्र बढ़ने के कारण अलग-अलग प्रभाव होता है लेकिन हमने कुछ साइंस को नियमित बना रखा है और उन्ही के आधार पर हम उम्र बढ़ने को लेकर लोगों को प्रूफ देते हैं। 

हम यहां उम्र बढ़ने को लेकर लोगों के बीच प्रचलित 3 मिथकों के बारे में आपको बताने वाले हैं लेकिन इनमें किसी तरह की कोई सच्चाई नहीं है और इस वजह से आपको भी इन मिथकों पर विश्वास नहीं करना चाहिए। 

मिथक 1- बुजुर्गों को कम नींद चाहिए होती है

तथ्य – जैसा कि हम सभी जानते हैं नींद एक ऐसा प्रोसेस है जो हमारे दिमाग को शांत करने में मदद करता है और साथ ही हमें ताकत देता है। इस वजह से चाहे आप जवान हों या फिर बुजुर्ग, आपको रोजाना कम से कम 6 से 8 घंटों की नींद जरूर लेनी चाहिए। इससे कुछ भी कम आपके दिमाग और ब्रेन को बेमतलब का स्ट्रेस देती है और साथ ही आपको एग्जॉस्टेड भी महसूस होता है। फिर चाहे आपकी उम्र कम हो या ज्यादा। इस वजह से हमेशा समय से सोना चाहिए और समय से उठना भी चाहिए।

मिथक 2- बुजुर्गों में डिप्रेशन होना बहुत ही सामान्य है

तथ्य – नहीं, यह सच नहीं है। डिप्रेशन, एन्जाइटी या फिर स्ट्रेस, ये तब होता है जब आपके साथ कुछ गलत हो या फिर आपके आसपास कुछ गलत हो। इस वजह से यदि आप अपने ग्रैंडपेरेंट को इनमें से किसी तरह के लक्षणों के साथ देखों तो उसे इग्नोर करने की जगह उनसे इस बारे में बात करें और समझने की कोशिश करें कि वो किस वजह से परेशान हैं और आप किस तरह से उनकी मदद कर सकते हैं। हो सकता है कि उनके अकेलेपन के कारण ऐसा हो रहा हो।

मिथक 3 – बुजुर्गों को फिजिकल एक्टिविटी नहीं करनी चाहिए

तथ्य – ये सबसे खराब है कि आप एक इंसान को फिजिकल एक्टिविटी करने से रोक देते हैं। यह सच है कि हो सकता है कि उन्हें चोट लग जाए, लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि उन्हें फिजिकल एक्टिविटी करने से रोकना चाहिए। ऐसा करने से वो बीमार महसूस करेंगे या फिर उनके अंदर का मोटीवेशन खत्म होने लगेगा। इस वजह से हल्की फुल्की एक्सरसाइज और सुबह – शाम सैर करना या फिर अपनी उम्र के लोगों से मिलना उन्हें एक्टिव और फिट रहने में मदद करता है। 

POPxo की सलाह: MyGlamm की ग्लो स्किनकेयर रेंज के साथ रखें अपनी त्वचा का ख्याल।

05 Oct 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text