पेट कम करने के लिए योगासन - Pet Kam Karne ke liye Yoga

पेट कम करने के लिए योगासन, Pet Kam Karne ke liye Yoga

फ्लैट टमी स्लिम ट्रीम बॉडी पाना भला किसे पसंद नहीं होगी। इसे पाने के लिए हम तमाम तरह के पेट कम करने के लिये एक्सरसाइज से लेकर डायटिंग तक न जाने तमाम तरह के उपाय करते हैं। लेकिन इसके बाद भी पेट की चर्बी कम होने का नाम नहीं लेती है। एक शोध के अनुसार पेट की चर्बी कम करने के योगासन का नियमित अभ्यास काफी फायदेमंद हो सकता है। नियमित योग पोज़ (pet kam karne ka yoga) का उचित अभ्यास आपको अपने वजन को कंट्रोल करने में मदद करेगा। योगासन शारीरिक के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य लाभ भी पहुंचाते हैं। इतना ही नहीं, योग की मदद से आप कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। अगर आप अपना मोटापा या फिर सिर्फ बैली फैट कम करना चाहते हैं, तो आज से ही नियमित रूप से योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लें। यहां आपको कुछ ऐसी ही पेट कम करने के लिए योगासन (pet kam karne ke liye aasan) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे आप अपनी फिटनेस रूटीन में शामिल कर पेट की चर्बी (pet kam karne wala yoga) को बड़ी आसानी से कम कर सकते हैं।

Table of Contents

    पेट कम करने के लिए योगासन -  Pet Kam Karne ke liye Yoga

    पेट की चर्बी की बढ़ती समस्या हर किसी को परेशान करती है। लेकिन संतुलित डाइट और योग के जरिए पेट की चर्बी को आसानी से कम किया जा सकता है। वॉकिंग, स्विमिंग और एरोबिक्स जैसे व्यायाम कैलोरी को कम कर सकते हैं। लेकिन अगर आपको अपने पेट की चर्बी को तेजी से कम करने तो आप योग (yoga for belly fat in hindi) का सहारा ले सकते हैं। जानिए पेट कम करने के लिए योगासन और उन्हें करने की सही विधि, स्टेप बाय स्टेप।

    वक्रासन - Vakrasana in Hindi

    वक्र का अर्थ होता है मुड़ा हुआ या "टेढ़ा"। वक्रासन करते समय हमारी रीढ़ की हड्डी टेढ़ी हो जाती है इसी कारण इस आसन का नाम वक्रासन पड़ा। इस आसन के लगातार अभ्यास करने से पेट की चर्बी कम हो जाती है और वेट संतुलन बनाए रखता है शरीर में सबसे ज्यादा चर्बी पेट पर हो जाता है। वक्रासन करने से शरीर की चर्बी कुछी दिनों में पिघलने लगती है। साथ ही ये आपके शरीर को लचीला बनाता है और जांघों में मजबूती आती है। ध्यान रहे कि जब आप वक्रासन कर रहे हों तो उस समय हाथ और पैरों में तालमेल होना जरूरी है।

    वक्रासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - किसी समतल स्थान पर बैठें और उसके बाद अपने पैरों को सामने की ओर फैला देंगे पैरों के बीच में कोई गैप नहीं रहेगा।
    स्टेप 2 - इसके बाद बाएं पैर को मोरते हुए दाहिने पैर के घुटने के बगल ले आएंगे।
    स्टेप 3 - इसी के साथ बाएं हाथ को पीठ के पीछे 1 फुट की दूरी पर जमीन पर स्पर्श करते हुए रखेंगे।
    स्टेप 4 - इसके बाद दाहिने हाथ से दाहिने पैर के बाएं तरफ से हाथ को डालते हुए दाहिने पैर के घुटने को छूने का प्रयास करेंगे। ऐसा करने पर हमारे पेट में खिंचाव होगा।
    स्टेप 5 - इस स्थिति में कम से कम 20 सैकेंड ठहरेंगे और फिर यही प्रकिया दूसरी तरफ से दोहरायेंगे। इस आसान के आपको 3-4 सेट करे हैं।

    ताड़ासन - Tadasana in Hindi

    योग अभ्यास हमेशा सरल आसनों के अभ्यास से शुरू करना चाहिए। पेट की चर्बी कम करने के लिए ताड़ासन से आसनों का अध्ययन किया जाना चाहिए। ताड़ासन पूरे शरीर को खिंचाव देता है और शरीर को ऊर्जा भी देता है। यह पूरे शरीर में रक्त प्रवाह को भी बेहतर बनाता है। बहुत से लोगों को लगता है कि ये आसन लंबाई बढ़ाने में मदद करता है लेकिन पेट कम करने के लिए योग में इस आसन (yoga for belly fat in hindi) का बहुत ही महत्व है। यह योगासन आपके पेट की मांसपेशियों को फिट रखता है। उन्हें सही शेप देता है। इसके साथ-साथ यह घुटनों और एड़ियों की क्षमता को भी बढ़ाता है। इस आसन की अंतिम स्थिति में, शरीर को फैलाना होता है और एड़ी को ऊपर उठाते हुए पैर की उंगलियों पर टिकना होता है। इसलिए इसे 'ताड़ासन' कहा जाता है।

    ताड़ासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - किसी साफ-सुथरी और समतल जगह पर बिल्कुल सीधे दोनों एड़ियां एक-दूसरे को छुएं ऐसे खड़े हो जाएं। 
    स्टेप 2 - अब अपने दोनों हाथों की हथेलियों को एक साथ मिलाएं। 
    स्टेप 3 - फिर, दोनों को एक-साथ ऊपर की तरफ लेकर आते हुए अपने दोनों हाथों को सिर के ऊपर ले जाएं।
    स्टेप 4 - पैरों की उंगुलियों के बल खड़े हो जाएं।
    स्टेप 5 - अब दोनों हाथों को खोलते हुए नीचे की तरफ ले आएं। इस बीच अपने शरीर में ज्यादा से ज्यादा खिंचाव लाने की कोशिश करें। ये प्रक्रिया 10-12 बार दोहराएं।

    हस्तपादासन - Hastapadasana in Hindi

    अष्टांग योग में वर्णित उत्तानासन योग एक शक्तिशाली मुद्रा है। इसे "हस्त पादासन" के नाम से भी जाना जाता है। इसके अभ्यास से शरीर में एक जबरदस्त खिंचाव पैदा होता है ,जिसके कारण शरीर पर अद्भुत प्रभाव पड़ता है। हस्तपादासन का अभ्यास ताड़ासन के बाद करना चाहिए। इस आसन के अभ्यास से कमर और पेट पर अधिक दबाव पड़ता है। कमर के साथ-साथ पेट की मांसपेशियों के व्यायाम से पेट की अतिरिक्त चर्बी कम करने में मदद मिलती है। इसे नियमित तौर पर करने से पेट की चर्बी कम (motapa kam karne ke liye yoga) होती है।

    हस्तपादासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - इसके लिए सबसे पहले दोनों पैरो को आपस मे मिला ले।
    स्टेप 2 - अब हाथों को सिर के पास ले जाए तथा उसके बाद आराम-आराम से नीचे की ओर झुकना है।
    स्टेप 3 - पूरे शरीर का वजन दोनों पैरो पर होना चाहिए।
    स्टेप 4 - सांस को छोड़ते रहे तथा घुटनों के पास सिर को लगाए या फिर लगाने की कोशिश करें। इस स्थिति में 20 सेकेंड के लिए रूके।
    स्टेप 5 - इस दौरान दोनों हाथ फर्श पर स्पर्श होने चाहिए। इस प्रकार ये आसन 5-6 बार करें। 

    पश्चिमोत्तानासन - Paschimottanasana in Hindi

    पश्चिमोत्तानासन आसन थोड़ा मुश्किल है। यदि आप इस आसन की अंतिम स्थिति को प्राप्त करना चाहते हैं, तो हस्तपादासन का अभ्यास करें। ये आसान तनाव कम करने और मोटापा कम करने (motapa kam karne ke liye yoga) विशेष कर पेट की चर्बी को कम करने के लिए फ़ायदेमद है। पश्चिमोत्तनासन से शरीर के सभी मांसपेशियों में खिंचाव होता है, इसलिए इसे बैठकर किये जाने वाले आसनों में एक महत्वपूर्ण आसन माना गया है। पश्चिमोत्तनासन के माध्यम से स्त्रियों के योनिविकार, मासिक धर्म सम्बन्धी समस्या तथा प्रदर आदि रोग दूर किया जा सकता हैं। 

    पश्चिमोत्तानासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - पश्चिमोत्तानासन करने के लिए सबसे पहले आप जमीन पर बैठ जाएं। 
    स्टेप 2 - अब आप दोनों पैरों को सामने फैलाएं और पीठ की पेशियों को ढीला छोड़ दें।
    स्टेप 3 - सांस लेते हुए अपने हाथों को ऊपर लेकर जाएं।
    स्टेप 4 - फिर सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुके। 
    स्टेप 5 - आप कोशिश करें अपने हाथ से उंगलियों को पकड़ने का और नाक को घुटने से सटाने का।
    स्टेप 6 - धीरे धीरे सांस लें, फिर धीरे धीरे सांस छोड़े और अपने हिसाब से इस अभ्यास को धारण करें। 
    स्टेप 7 - धीरे धीरे इस की अवधि को बढ़ाते रहे। यह एक चक्र हुआ। इस तरह से आप 3 से 5 चक्र करें।

    भुजंगासन - Bhujangasana in Hindi

    नाभि से सिर तक शरीर का उठा हुआ भाग कोबरा के जैसा दिखता है, इसलिए इसका नाम कोबरा पोज यानि कि 'भुजंगासन' पड़ा। कोबरा पोज़ एक बेहतरीन वर्कआउट माना जाता है जो बेली फैट कम करने में मदद कर सकता है और एब्डोमेन को टोन करता है। इससे पेट की चर्बी भी कम होती है और मांसपेशियां मजबूत होती हैं। भुजंगासन सूर्यनमस्कार और पद्मसाधना का एक महत्त्वपूर्ण आसान है जो हमारे शरीर के लिए अति लाभकारी है। भुजंगासन आपके मानसिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य को बेहतर करने में मदद करता है।

    भुजंगासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - भुजंगासन करने के लिए आप सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। 
    स्टेप 2 - अब अपने हथेली को कंधे के सीध में लाएं।
    स्टेप 3 - दोनों पैरों के बीच की दूरी को कम करें और पैरों को सीधा एवं तना हुआ रखें।
    स्टेप 4 - अब सांस लेते हुए शरीर के अगले भाग को नाभि तक उठाएं। ध्यान रहे की कमर पर ज़्यदा खिंचाव न आये।
    स्टेप 5 - अपने हिसाब से इस आसान कुछ समय तक बनाए रखें। इस तरह से एक चक्र पूरा हुआ।
    स्टेप 6 - शुरुवाती दौर में इसे 3 से 4 बार करें। फिर धीरे-धीरे इस क्रम को बढ़ा सकते हैं।

    धनुरासन - Dhanurasana in Hindi

    धनुरासन की अंतिम स्थिति धनुष के आकार की तरह दिखती है। इसलिए इसे 'धनुरासन' नाम दिया गया है। इसको बो (Bow) पोज़ के नाम से भी जाना जाता है। पेट और कमर पर जमे एक्स्ट्रा फैट को कम करने के लिए ये बहुत ही बढ़िया योगासन है। इस योगासन का अभ्यास खाली पेट और सुबह के समय में करना ज्यादा लाभकारी होता है। यह आसन वज़न कम करने के लिए एक उत्तम योगाभ्यास है। इसके नियमित अभ्यास से पेट की चर्बी कम (pet kam karne ke liye aasan) होती है और आपके पेट को टोन्ड और चुस्त-दुरुस्त बनाता है।

    धनुरासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - इस आसन के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं।
    स्टेप 2 - सांस छोड़ते हुए घुटनों को मोड़े और अपने हाथ से टखनों को पकड़े।
    स्टेप 3 - सांस लेते हुए आप अपने सिर, चेस्ट एवं जांघ को ऊपर की ओर उठाएं।
    स्टेप 4 - अब शरीर के भार को पेट निचले हिस्से पर लेने की कोशिश करें।
    स्टेप 5 - जब आप पूरी तरह से अपने शरीर को उठा लें तो पैरों के बीच की जगह को कम करने की कोशिश करें।
    स्टेप 6 - धीरे धीरे सांस ले और धीरे धीरे सांस छोड़े। इस पोज में थोड़े देर बने रहिए। ऐसा 5-6 पर दोहरा सकते हैं।

    नौकासन - Naukasana in Hindi

    कमर और पेट में जमी चर्बी को कम करना चाहते हैं, तो नियमित रूप से नौकासन का अभ्यास करें। नौकासन आपको पेट की चर्बी कम करने में (pet kam karne ke liye yoga image) मदद करता है। क्योंकि यह आसन पेट पर अधिक तनाव डालता है। इसे करने से छोटी आंत, बड़ी आंत और पाचन तंत्र भी बेहतर रहता है। आसन की अंतिम स्थिति में, हाथ और पैर लाने से शरीर एक नाव की तरह दिखता है। इसलिए इस आसन को 'नौकासन' कहा जाता है। इस आसन के कई प्रकार हो सकते हैं। जैसे, परिपूर्ण नावासन, अर्ध नावासन, एकपद नावासन आदि। इस आसन को करने के दौरान शरीर अंग्रेजी के अक्षर V की आ​कृति बना लेता है। नौकासन को सिक्स पैक योगासन का हिस्सा माना जाता है।

    नौकासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - नौकासन स्टार्ट करने से पहले आप किसी समतल जगह पर चटाई बिछाकर स्वासन की मुद्रा में बैठ जाएं।
    स्टेप 2 - इसके बाद आप अपने एड़ियों और पंजो को मिलाए और अपने हाथ-कमर से सटाकर रखें।
    स्टेप 3 - इसके बाद आपको हथेलियों को जमीन पर और गर्दन को सीधा रखना है।
    स्टेप 4 - अब अपने दोनों पैर, गर्दन और हाथों को धीरे-2 एक साथ ऊपर की ओर उठायें।
    स्टेप 5 - आखिर में अपने पूरे शरीर का वजन नितंबों के उप्पर कर दें। इस मुद्रा में आप 30-40 सेकेंड रुके रहें।
    स्टेप 6 - अब धीरे-धीरे वापस उसी अवस्था में आकर श्वसन की पोज़िशन में लेट जाए। इस आसन को आप 5-6 बार कर सकते है।

    चक्कीचलनासन - Chakki Chalanasana in Hindi

    चक्की चलासना  के अंग्रेजी नाम को द चर्निंग मिल योगा पोज कहा जाता है। पेट कम करने के लिए ये बहुत ही आनंददायक आसान है। चक्कीचलनासन, यानि कि चक्की चलाना। हमारे यहां गांवों में चक्की चलाना आम है, ज्यादातर महिलाओं को इसका उपयोग आटा और दाल आदि बनाने के लिए किया जाता है। यह गर्भावस्था के लिए सबसे लोकप्रिय अभ्यासों में से एक है। इसे जब करते है तो ऐसा लगता है की हम पत्थर वाली चक्की चला रहे है। पेट कम करने के अलावा इस आसन को करने से बहुत से लाभ होते हैं। चक्की चलासना श्रोणि और पेट के क्षेत्र की नसों और अंगों को टोन करने के लिए एक अच्छा योगिक आसन (pet kam karne ke liye aasan) है। जो महिलाएं कंसीव करने की प्लानिंग कर रही हैं उनके लिए चक्की चलासना बेहद कारगर है।

    चक्कीचलनासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - चित्र में दिये गये तरीके के अनुसार मैट पर बैठकर अधिकतम पैरों को खोलकर रखें।
    स्टेप 2 - फिर अपने दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में जोड़ लेना है और कंधों के बराबर उठाना है।
    स्टेप 3 - फिर आपको अपने दायें से आगे की और झुकते हुए अपने हाथो को सर्कल में घूमना है। 
    स्टेप 4 - दायें से आगे की ओर आते हुए आपको सांस लेनी है और जैसे ही आप सर्कल को वापिस दूसरी साइड से लाते है तो आपको सांस छोड़नी है।
    स्टेप 5 - इस तरह आपको यह प्रक्रिया 10 बार दाएं तरफ से और 10 बार बाएं तरफ से बार बार दोहरानी है। 

    पवनमुक्तासन - Pawanmuktasana in Hindi

    पवन का अर्थ है वायु और मुक्तासन का अर्थ है मुक्ति की स्थिति। पवनमुक्तासन आसन गैस की समस्याओं को कम करता है और पेट के स्वास्थ्य में भी सुधार करता है। यह आसन पेट पर तनाव डालता है और पेट दबने में मदद करता है। इसके अलावा, पेट की चर्बी कम होती है। इस आसन को करने से पेट सुडौल होता है, रीढ़ मजबूत होती है। पवनमुक्‍तासन एक ऐसा योगासन है जो पाचन क्रिया को दुरुस्त कर पेट की बीमारियों को दूर करता है। मेटाबॉलिज्‍म को तेज करके यह शरीर की अतिरिक्‍त चर्बी को भी कम करता है। साथ ही यह गैस बनने की समस्‍या से भी निजात दिलाता है।

    पवनमुक्तासन करने का तरीका

    स्टेप 1 - इस आसन को करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल जाएं और हाथ-पैरों को सीधा फैला लें। इस स्थिती में शरीर को ढीला छोड़ दें।
    स्टेप 2 - अब सांस लेते हुए धीरे-धीरे घुटनों को मोड़े और हाथों की मदद से छाती तक लाएं।
    स्टेप 3 - इसके बाद लेटे हुए अपना सिर उठाएं और माथा घुटनों पर लगाने की कोशिश करें।
    स्टेप 4 - आप चाहें तो एक-एक करके भी घुटने माथे से लगा सकते हैं।
    स्टेप 5 - घुटने माथे पर लगाते समय 20 सेकेंड तक रूकने की कोशिश करें।
    स्टेप 6 - अब धीरे-धीरे वापस उसी अवस्था में आकर श्वसन की पोज़िशन में लेट जाए। इस आसन को आप 5-6 बार कर सकते है।
    (नोट - पेट कम करने के लिए व्यायाम के साथ-साथ संतुलित और पौष्टिक आहार की भी आवश्यकता होती है। इसलिए अगर आप पेट कम करने के लिए योग शुरू कर रहे हैं तो ज्यादा चीनी, ज्यादा नमक, तला-भुना और फास्टफूड का सेवन बिल्कुल भी न करें।)

    पेट कम करने के लिए योगासन से जुड़े सवाल-जवाब FAQs

    पेट कम करने के लिए क्या करना चाहिए?

    पेट कम करने के लिए आपको नियमित रूप से नींबू पानी का सेवन, अपनी डाइट में सुधार और योग-एक्सरसाइज (yoga for belly fat in hindi) को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। पेट की चर्बी कम करने के लिए आप शुरूआत रोज 1 घंटा सुबह-शाम वॉक करके कर सकते हैं।

    पेट कम करने के लिए कौन सा व्यायाम करें?

    पेट कम करने के लिए सबसे असरदायक व्यायाम प्लैंक माना गया है। अगर आप 60 सेकेंड तक प्लैंक 3 बार करते हैं तो इससे बेली फैट कम करने में मदद मिलती है।

    पेट को पतला कैसे करे?

    पेट को पतला करने लिए आपको रोजाना पवनमुक्तासन (yoga for belly fat in hindi) करना चाहिए। यह आसन पेट पर तनाव डालता है और पेट दबने में मदद करता है। इसके अलावा, पेट की चर्बी कम होती है।

    क्या सिर्फ योग करने से पेट की चर्बी कम हो सकती है?

    जी हां, नियमित तौर पेट कम करने के लिए योग (pet kam karne wala yoga) बेहतर उपाय है। पेट कम करने के लिए योगासन करने में पेट पर दबाव पड़ता है और इससे पेट की चर्बी धीरे-धीरे कम होने लगती है। लेकिन योग के साथ-साथ खानपान का भी विशेष ख्याल रखना होता है।

    कौन सा योग करने से पेट जल्दी कम होता है?

    यूं तो पेट कम करने के लिए योगासन (pet kam karne ke liye yoga) कई सारे हैं लेकिन उनमें से भुंजगासन, नौकासन, पवनमुक्तासन बेहद असरदायक हैं।

    एक हफ्ते में पेट कैसे कम करें?

    अगर आपको एक हफ्ते में पेट कम करना है तो रोजाना सुबह खाली पेट नींबू शहद मिलाकर गुनगुना पानी पिएं, योग करें और साथ ही जंपिंग जैक्स एक्सरसाइज को हर 1 घंटे में 3 मिनट तक करें। पूर दिनभर में 30 मिनट इस बढ़ा हुआ पेट कम करने के उपाय के लिए जरूर निकालें।

    Beauty

    WIPEOUT HEAD TO TOE KIT

    INR 701 AT MyGlamm