गर्भावस्था से लेकर सफर करने तक जानिए उल्टी रोकने के उपाय - Vomiting in Hindi

उल्टी रोकने के उपाय, Ulti Rokne ke Upay, Vomiting in Hindi

उल्टी एक ऐसी समस्या है, जो किसी को भी हो सकती है। महिला हो या पुरुष उल्टी का अनुभव अपने जीवन में सभी करते हैं। ये बात अलग है कि महिलाओं को इससे थोड़ा ज्यादा होकर गुजरना पड़ता है। खासतौर पर गर्भावस्था के दौरान। ऐसे कई लोग हैं, जिन्हें कार, बस, ट्रेन आदि में उल्टी आती है। वहीं कुछ लोगों को पहाड़ से उतरती कार में भी उल्टी आने की शिकायत हो जाती है। हालांकि यह कोई गंभीर समस्या नहीं है। उल्टी आने पर सबसे पहले लोग दवा लेकर उसका इलाज करने की कोशिश करते हैं। मगर दवा से कहीं बेहतर होते है हमारे घरेलू उपाय (ulti rokne ke gharelu upay)। हम यहां आपको उल्टी रोकने के घरेलू उपाय (home remedies for vomiting in hindi) बता रहे हैं, इन्हें जानकर शायद आप दवा लेना बंद कर देंगे और घरेलू उपाय  vomiting rokne ke upay से ही उल्टी का इलाज कर लेंगे। 

Table of Contents

    उल्टी आने के कारण - Ulti aane ke Karan

    उल्टी किसी को किसी भी कारण से आ सकती है। हालांकि उल्टी आने से हमारा जी इतना खराब हो जाता है कि थोड़ी देर तक कुछ खाने-पीने का मन भी नहीं करता। इसके अलावा उल्टी आने से शरीर में कमजोरी का एहसास भी होता है। कुछ करने का मन नहीं करता। ऐसा लगता है बस बिस्तर में पड़े रहो और कुछ काम।  दरअसल, उल्टी करने से हमारा सब खाया-पिया शरीर से बाहर निकल जाता है। यही वजह है कि एक से ज्यादा उल्टी आने के बाद शरीर में कमजोरी लगने लगती है। उल्टी आने के कई कारण हो सकते हैं। इनमें से कुछ हम आपको यहां बता रहे हैं। 

    आम कारण

    उल्टी आने के कारण में सबसे पहले हम आपको बता रहे हैं उन आम कारणों के बारे में, जो किसी को भी हो सकते हैं। वहीं गर्भावस्था में जहां सिर्फ महिलाओं को उल्टी आती हैं वहीं जरूरी नहीं कि दौरान हर किसी को उल्टी आने की समस्या हो। इसलिए यहां उन मुख्य कारणों के बारे में बता रहे हैं, जो किसी को भी हो सकते हैं। 
    - फूड पॉइज़निंग के कारण 
    - शराब का अधिक सेवन कर लेना 
    - भूख से अधिक खाना खा लेना 
    - खाना ठीक से न पचना 
    - किसी विशेष खाद्य सामग्री से एलर्जी 
    - सर्दी जुकाम या बुखार के कारण 
    - किसी गलत दवा का सेवन करने से 
    - पेट में अल्सर की समस्या होने पर 
    - किसी गंदी और तीव्र गंध के कारण   

    गर्भावस्था के कारण

    महिलाओं में अक्सर देखा जाता है कि गर्भावस्था के कारण उन्हें पूरे 9 महीने तक उल्टी की समस्या बनी रही है। वहीं कुछ महिलाओं में शुरुआत के 3 महीने की उल्टी की समस्या होती है। दरअसल, गर्भावस्था के दौरान हार्मोन्स बदलने के कारण महिलों को उल्टी की समस्या से जूझना पड़ता है। मगर सिर्फ यही एक कारण नहीं है। जानिए गर्भावस्था में उलटी आने के कुछ और भी कारण। 
    - हार्मोन्स बढ़ाने के कारण 
    - 1 से ज्यादा गर्भ होने पर 
    - शरीर में होने वाले बदलावों के चलते 
    - खानपान में बदलती हुई रूचि के कारण
    - तीव्र गंध के कारण 
    - अधिक तनाव के कारण 
    - मॉर्निंग सिकनेस होने के कारण 
    - माइग्रेन या सिर दर्द जैसी समस्या के चलते 

    बस या ट्रेन में सफर करने के कारण

    ऐसे कई लोग होते हैं, जिन्हें कार, बस या ट्रेन में बैठकर कुछ दूर जाते ही उल्टी आने लगती है। ऐसे लोगों के लिए सफर करना काफी मुश्किल हो जाता है। कुछ लोगों में तो यह शिकायत एक उम्र के बाद पनपती है वहीं कुछ लोगों को बचपन से सफर करने के दौरान उल्टी की समस्या से जूझना पड़ता है। ऐसे लोगों को झूला झूलने या राइड्स लेने दौरान भी उलटी आती है। मगर इसके कारण क्या है। यहां जानिए-
    - यह काफी हद तक मानसिक होता है। अगर आप मानकर चलेंगे कि सफर के दौरान आपको उल्टी आएगी तो यकीन मानिये कार, बस या ट्रेन में बैठते ही आपको उल्टी महसूस होने लगेगी। 
    - गाड़ी में चक्कर महसूस होने के कारण 
    - कुछ खाकर निकले हैं तो भी गाड़ी में सफर के दौरान उल्टी हो सकती है
    - पहाड़ों से उतरती हुई कार के कारण, जब शरीर के अंदर संतुलन ठीक से नहीं बैठता

    उल्टी रोकने के उपाय - Ulti Rokne ke Upay

    उल्टी की समस्या काफी आम है। यही वजह है कि उसे रोकने के लिए सालों से हमारे बड़े-बुजुर्ग घरेलू उपाय (ulti rokne ke upay) ही सुझाते आये हैं। मगर बदलते समय के साथ घरेलू उपाय की जगह दवा और डॉक्टर ने ले ली। आज लोग थोड़ी से उल्टी होने पर या तो दवा खा लेते हैं या फिर सीधा डॉक्टर के पास पहुंच जाते हैं। हालांकि लगातार उल्टी होने पर ऐसा करना सही भी है। लेकिन डॉक्टर के पास जाने से पहले या फिर दवा लेने से पहले एक बाद घर के बड़े-बुजुर्गों द्वारा सुझाये गए घरेलू उपाय (ulti rokne ke gharelu upay) भी आजमा कर देख लीजिये। क्या पता आपको डॉक्टर के पास जाने के जरूरत ही न पड़े। जानिए उल्टी रोकने के घरेलू उपाय (home remedies for vomiting in hindi)।

    उल्टी रोकने के लिए लौंग

    बचपन में जब हमें अधिक उल्टी आती थी तो मां लौंग का पानी बनाकर पीने को देती थी और हमें थोड़ी-थोड़ी देर में उसे पीना होता था। इस घरेलू उपाय से उल्टी ठीक भी हो जाया करती थी। आज भी यह घरेलू उपाय उतना ही कारगर है। इसके लिए आपको बस एक सॉस पैन में 8-10 लौंग और पानी डालकर अच्छे से उबाल लेना है। अब इस लौंग के पानी में हर आधे में पियें। उल्टी जल्द ही रुक जाएगी। 

    उल्टी रोकने के लिए अदरक

    अदरक को भी उल्टी रोकने में काफी कारगर माना गया है। अदरक एक ऐसी चीज़ है, जो हर भारतीय घर की रसोईं में आसानी से मिल जाती है। अदरक में मौजूद गुण उल्टी रोकने में काफी सहायक होते हैं। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है। बस एक चम्मच अदरक के रस में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर इसका सेवन करें। आप इसे दिन में कई बार ले सकते हैं, जब तक आराम न हो। 

    जीरे का पानी

    जीरे का पानी उल्टी रोकने में किसी रामबाण से कम नहीं। जीरा पेट और पाचन तंत्र के लिए काफी फायदेमंद होता है। यही वजह है कि जीरे का पानी पीने से उल्टी में तुरंत राहत मिलती है। इसे बनाने के लिए आपको चाहिए डेढ़ चम्मच जीरा और डेढ़ गिलास पानी। अब एक सॉस पैन में पानी और जीरा दोनों डालकर अच्छे से उबाल लें। इसे तब तक उबालें, जब तक ये घटकर एक गिलास के बराबर न रह जाये। अब गैस बंद कर लें और थोड़ा ठंडा यानी पीने लायक गरम होने के बाद इसका सेवन करें। आप चाहें तो एक गिलास पानी में सीधा एक चम्मच जीरा पाउडर घोलकर भी पि सकती हैं। इसे आप दिन में 2 या 3 बार पि सकती हैं। 

    तुलसी की पत्तियों से

    तुलसी प्रकृति का दिया हुआ एक ऐसा वरदान है, जो हमें ज्यादातर बीमारियों से बचाने में मदद करता है। उल्टी भी उन्हीं में से एक है। तुलसी की पत्तियां उल्टी रोकने में काफी कारगर साबित हो सकती हैं। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत भी नहीं है। बस उल्टी महसूस होने पर तुलसी की 3-4 पत्तियां मुंह में डालकर अच्छे से चबा लीजिये। आप चाहें तो तुलसी की पत्तियों का रस निकालकर भी पी सकते हैं। इससे उल्टी में तुरंत राहत मिलेगी। 

    गर्भावस्था में उल्टी रोकने के उपाय

    गर्भावस्था के दौरान उल्टी होना आम बात है। जहां कुछ महिलाओं को पहले 3 महीने इस समस्या से जूझना पड़ता है वहीं कुछ महिलाएं पूरे 9 महीने तक उल्टी आने की समस्या से जूझती रहती हैं। मगर ऐसा नहीं हैकि इस दौरान उल्टी की समस्या से निजात नहीं पाया जा सकता। इसा दौरान नींबू की मदद से आप उल्टी को रोक सकती हैं। इसके लिए एक गिलास गुनगुने पानी में एक नींबू का रस और एक चुटकी नमक निचोड़ कर पी लें। उल्टी में राहत मिल जाएगी। 

    चावल का पानी

    चावल का पानी भी उल्टी रोकने में काफी मदद करता है। ध्यान रहे इसके लिए आपको ब्राउन चावल का इस्तेमाल नहीं करना है। उल्टी रोकने के लिए सफेद चावल का पानी ही काम आता है। इसे बनाना ज्यादा मुश्किल भी नहीं है। बस सबसे पहले एक सॉस पैन लें। अब इसमें दो से ढाई कप पानी डालें। अब इस पानी में आधा कप सफेद चावल मिलाएं और उबलने दें। चावल के पाक जाने के बाद अतिरिक्त पानी को छान लें। अब इस पानी दिन में 2 से 3 बार का थोड़ा-थोड़ा कर सेवन करें। उल्टी में राहत मिलेगी।

    उल्टी रोकने के घरेलू उपाय से जुड़ें सवाल-जवाब - FAQ's

    बार बार उल्टी होने पर क्या करें?

    बार-बार उल्टी आने पर लौंग के पानी या फिर ऊपर बताए गए अन्य घरेलू उपाय का सेवन करें। अगर फिर भी उल्टी न रुके तो डॉक्टर को दिखाएं।

    बच्चों की उल्टी रोकने के लिए क्या करें?

    बच्चों के लिए भी लौंग का पानी एकदम सुरक्षित व कारगर है।

    उल्टी जैसा क्यों लगता है?

    उल्टी आने के कई कारण हैं, जैसे सफर के दौरान उल्टी आना, गर्भावस्था में उल्टी आना, कुछ गलत खा लेना आदि।

    उल्टी होने के बाद क्या खाना चाहिए

    बेहतर रहेगा उल्टी होने के बाद थोड़ी देर तक कुछ न खाएं। उसके बाद कुछ हल्का जैसे खिचड़ी आदि खा सकते हैं।

    उल्टी बंद होने का उपाय

    उल्टी बंद होने के कई उपाय हैं, जो हमने इस लेख में बताए हैं।

    खाली पेट उल्टी आने के कारण

    खाली पेट गैस बनती है और गैस उल्टी आने के कारणों में से एक है।

    MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

    Beauty

    Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

    INR 999 AT MyGlamm