यहां जानें COVID-19 वैक्सीन से जुड़ें सामान्य सवालों के जवाब

यहां जानें COVID-19 वैक्सीन से जुड़ें सामान्य सवालों के जवाब

कोरोनावायरस (COVID-19) महामारी के कारण हमारी जिंदगी में एक बहुत बड़ा बदलाव आया है। हम सब अब अपने घरों में रहने को मजबूर हैं, बाहर जाते समय हमारे लिए मास्क लगाना जरूरी है और साथ ही एक दूसरे से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना भी हमारे लिए जरूरी है। ऐसे में हम सबके लिए वैक्सीन (Vaccine) लगवाना बहुत ही जरूरी है। दरअसल, वैक्सीन लगवाने से आपके शरीर में ऐसी एंटीबॉडी बनेंगी, जो आपको कोविड-19 वायरस से बचाने में मदद करेंगी। 
कोरोनावायरस महामारी और वैक्सीनेशन ये सब हमारे लिए नया है और इस वजह से हम सभी के मन में इसे लेकर बहुत से सवाल हैं। फिर चाहे इस वैक्सीन की दो डोज लगवाने के बीच का गैप हो या फिर इससे जुड़े साइड इफेक्ट, हम सभी के दिमाग में बहुत से सवाल हैं। इस वजह से हम आपके लिए इससे कुछ सामान्य सवालों के जवाब लेकर आए हैं।

क्या ये वैक्सीन काम करती है और इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है?

जी हां, ये वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है और इसे लगाने के बाद लगभग 80% प्रतिशत लोगों को ठंड लगना, सिर दर्द होना या मसल्स में दर्द होने जैसी सामान्य समस्याएं होती हैं लेकिन 20% लोगों को ऐसी कोई समस्या नहीं होती है, उन्हें केवल एक से दो दिन तक हाथ में दर्द होता है। इनमें से अधिकतर साइड इफेक्ट हमारे इम्यून रिस्पांस पर आधारित होते हैं। यदि आपको इसका किसी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं दिख रहा है तो इसका मतलब ये नहीं है कि आप पर ये वैक्सीन काम नहीं कर रही है।

वैक्सीन ने काम किया है या नहीं, इसके लिए क्या एंटीबॉडी टेस्ट कराना जरूरी है?

जी नहीं, वैक्सीन लगवाने के बाद आपको किसी प्रकार के एंटीबॉडी टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है। दरअसल, इस तरह के टेस्ट आमतौर पर वायरस न्यूक्लियो कैप्सिड या फिर एन प्रोटीन के खिलाफ एंटीबॉडी के लिए किए जाते हैं। हालांकि, वैक्सीन में केवल स्पाइक प्रोटीन होता है और जिन लोगों को कोविड-19 नहीं है वो इस वैक्सीन को लगवाते हैं, उनके शरीर में एन प्रोटीन के खिलाफ एंटीबॉडी नहीं होती है। इस वजह से उनका टेस्ट नेगेटिव आएगा।

क्या जिसे कोविड-19 हो चुका है, उन्हें वैक्सीन लगाने की जरूरत है?

हां, ऐसा इसलिए क्योंकि इंफेक्शन से मिलने वाली इम्यूनिटी के मुकाबले वैक्सीन के बाद प्राप्त होने वाली इम्यूनिटी अधिक प्रतिरोधक होती है। इस वजह से यदि आप कोविड-19 बीमारी से ठीक होने के बाद वैक्सीन लगवानी चाहिए। हालांकि, आपको इंफेक्शन ठीक हो जाने के कम से कम 90 दिन बाद ही वैक्सीन लगवानी चाहिए।

वैक्सीन लगवाने के कितने समय बात तक आपकी इम्यूनिटी स्ट्रांग रहती है?

इसका अब तक कोई सटीक जवाब नहीं मिला है। स्टडी के मुताबिक अधिकतर लोगों में कोरोनावायरस के लिए 2 सालों तक एंटीबॉडी रह सकती है। हालांकि, इसके सबूत जरूर हैं कि वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों का इम्यूनिटी सिस्टम इस इंफेक्शन से लड़ पा रहा है। 
POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

Beauty

Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

INR 999 AT MyGlamm