अगर आपको कोरोना हो गया है तो घर पर इस तरह से रखें अपना ख्याल

घर पर रखते हुए कोविड-19 संक्रमण से कैसे निपटे, How to Treat Coronavirus at Home Tips in Hindi

कोरोना महामारी के चलते देश में हाहाकार मचा हुआ है। दिनपर दिन कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। अगर आपको कोरोना वायरस के लक्षण नजर आ रहे हैं तो तुरंत अपने आप को आइसोलेट कर घर में सबसे अलग कर लें। ऐसे में अगर टेस्ट के नतीजे आने में समय लग रहा है तो भी अपने आपको कोरोना संक्रमित मानकर उपचार करना शुरू कर दीजिये। खुद हेल्थ मिनिस्ट्री ने कोरोना के मरीज की घर में कैसे देखभाल करें, इस पर चर्चा कर कुछ सुझाव दिये हैं। 

घर पर रखते हुए कोविड-19 संक्रमण से कैसे निपटे? How to Treat Coronavirus at Home Tips in Hindi

स्वास्थय मंत्रालय ने बताया कि आजकल के माहौल में अगर आपको शुरुआती लक्षण जिसमें बुखार आना, गले में दर्द, खांसी, सिर में दर्द, बदन में दर्द, सांस लेने में दिक्कत है तो आप इसे कोरोना मानकर शुरुआती उपचार घर पर रहकर भी कर सकते हैं। बस ऐसे में आपको तुरंत टेस्ट करवाना है और खुद को घरवालों से अलग कर लेना है। अगर टेस्ट के नतीजे आने में समय लग रहा है तो भी अपने आपको कोरोना संक्रमित मानकर उपचार करना शुरू कर दीजिये. वहीं अगर ऑक्सीजन गिर रहा है तो इसे आपातकाल की तरह ट्रीट करना शुरू कर दें। तो आइए जानते हैं कि कोरोना के लक्षण दिखने पर खुद का घर पर किस तरह से रखें ख्याल -

1 - अगर संभव हो तो खुद को 10 दिनों के लिए ऐसे कमरे में आइसोलेट कर लें जिसमें टॉयलेट रूम की अलग से व्यवस्था हो। या फिर अगर घर में 2 शौचालय हैं तो उसमें से एक में सिर्फ घर के संक्रमित व्यक्ति ही इस्तेमाल करें।
2 - आप जिस कमरे में रह रहे हैं, उसका दरवाजा खोलते समय नाक और मुंह को ढकने वाला मास्क पहने रहें। आपके कमरे में आने वाले लोगों को भी N-95 या थ्री प्लाई मास्क पहनना अनिवार्य है।
3 - होम आइसोलेशन के दौरान यह सुनिश्चित करें कि वेंटिलेशन अच्छा होना चाहिए। अगर संभव हो तो वेंटिलेशन के लिए कमरे की सभी खिड़कियां खुली रखें।
4 - वायरस को खत्म करने के लिए साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। रोजाना लिक्विड सैनेटाइज मिलाकर पोछा लगाएं। घर के अन्य सदस्य जितने बार भी पेशेंट के संपर्क में आएं खुद को डिसइंफेक्टेड करें, इसके लिए स्ट्रांग सेनेटाइजर का इस्तेमाल करें। घर के सभी सदस्य समय-समय पर हैंड सेनेटाइज करते रहें।

5 - समय-समय पर अपना टेम्प्रेचर देखते रहें। बुखार के लिए पैरासिटामॉल ले सकते हैं। वहीं ऑक्सीजन 93 से नीचे आती है तो तुंरत डॉक्टर से संपर्क करें।
6 - होम आइसोलेशन में माइल्ड सिम्टम्स वाले मरीज को यदि बुखार, जुकाम, नजला, गले में खराश, खांसी है। ऐसे में बुखार के लिए पैरासेटमॉल, जुकाम के लिए एंटी एलर्जिक दे सकते हैं। वहीं अगर खांसी आ रही है तो कोई कफ सिरफ ले लें। साथ में नमक के गरारे और भांप ले सकते हैं दिन में दो दफा। इससे कई मरीजों को आराम मिलता है।

 

7 - रोजाना नहाएं और नॉर्मल रूटीन फॉलो करें। घबराएं नहीं और खुद को शांत रखें। इसके लिए किताबें पढ़ें, टीवी शो देंखे और अपने परिवारवालों और दोस्तों से वीडियो कॉल करके बातें करें और खुद को व्यस्त रखें।
8 - अपने आपको पूरे समय हाइड्रेट रखें, इसके लिए खूब पानी पिएं। बुखार के लिए दवा लें. अगर खांसी है तो उसके लिए डॉक्टर से सलाह लेकर सिरप ले सकते हैं. इसके साथ ही मल्टीविटामिन भी इस्तेमाल में लाए और स्टीम लेते रहें।
9 - जल्द रिकवरी के लिए घर पर बना बिना मसालों वाला ताजा और सादा भोजन ही करें। लंच और डिनर में बीन्स, दाल जैसी प्रोटीन से भरपूर आहार लें। इसके अलावा मौसमी, संतरा, अनानान जैसे ताजे फल और आहार लें। खाने में अदरक, लहसुन और हल्दी जैसे मसाले का उपयोग करें। घर के किसी सदस्य को ये जिम्मेदारी सौंप दे कि वो आपको समय-समय पर गर्म पानी और काढ़ा पिलाता रहे।
10 - अपने हाथों को साबुन से बार-बार धोते रहें। अपने कमरे को स्वयं कीटाणुनाशक या साबुन से साफ करें। 

MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

Beauty

Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

INR 999 AT MyGlamm