जानिए पेट कम करने के उपाय के बारे में - Pet Kam Karne ke Upay

Pet kam Karne ke Upay, पेट कम करने के उपाय

पेट पर थोड़ी बहुत चर्बी होना सामान्य माना जाता है परन्तु यह ज्यादा हो तो तमाम तरह की बीमारियों का घर बन जाती है। क्योंकि वजन बढ़ने से हाई ब्लडप्रेशर, हृदय रोग, मधुमेह और कैंसर जैसी बीमारियां हो सकती हैं। लेकिन घबराने की कोई बात नहीं है। अगर आप पेट की चर्बी कम करने के लिए (pet kam karne ke tarike) उचित आहार और व्यायाम का पालन करते हैं, तो ये समस्याएं नहीं होंगी। इसके लिए आपको जरूरत है सही खान-पान और सही लाइफस्टाइल अपनाने की।  इसमें कोई शक नहीं है कि बेली फैट बिल्कुल भी अच्छा नहीं दिखता है। इसकी वजह से न तो कोई ड्रेस परफेक्ट लगती है और न ही सेहत के लिहाज से यह अच्छा है। अगर आप अपने बैली फैट को कम करना चाहते हैं तो यहां आपको पेट कम करने के उपाय (pet kam karne ke upay) के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी मिलेगी, जो आपकी काफी मदद कर सकती है।

Table of Contents

    पेट क्यों बढ़ता है? - Causes of Belly Fat in Hindi

    वजन घटाने की तरह ही, पेट की चर्बी कम (pet kam karne ke tarike) करने के लिए बहुत प्रयास करना पड़ता है। वजन कम करने से न केवल आपके पसंदीदा कपड़े पहनते समय समस्याएं होती हैं, बल्कि यह आपके स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है। यह कुछ लोगों के आत्मविश्वास को भी प्रभावित करता है। बेली फैट बढ़ने की बहुत सी वजहें होती हैं, जिनमें से बड़ी वजहें हम आपको यहां बता रहे हैं।

    गर्मी में लू से बचने के उपाय

    Causes of Belly Fat in Hindi

    लाइफस्टाइल बीमारियां

    कुछ रोगों की वजह से भी बेली फैट लगातार बढ़ता जाता है। डायबिटीज, ब्रेस्ट कैंसर, ह्दय के रोग, हाई ब्लड प्रेशर वजन बढ़ना भी बेली फैट के बढ़ने के कारण हो सकते हैं।

    हार्मोनल बदलाव 

    हार्मोन में आए बदलाव बेली फैट को तुरंत बढ़ा देते हैं। मेनोपॉज के दौरान तो बेली फैट बढ़ता ही है। इस समय एस्ट्रोजेन लेवल तेजी से नीचे गिरता है और पेट में बड़ी मात्रा में चर्बी जमा होने लगती है।

    तनाव और हाइपरटेंशन 

    लगातार तनाव और हाइपरटेंशन रहने की वजह से शरीर में कोर्टिसोल नामक स्ट्रेस हार्मोन ज्यादा बनता है, जो वजन बढ़ने का बड़ा कारण बनता है। इससे खासकर पेट में ज्यादा चर्बी जमा होने लगती है।

    आनुवांशिक

    मोटापे को बढ़ाने में जेनेटिक्स का खासा बड़ा योगदान है। आपके शरीर में कुछ फैट सेल्स आनुवांशिक तौर पर रहते हैं जो बेली फैट का कारण बनते हैं। लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि इसे कम नहीं किया जा सकता है।

    How to Reduce Belly Fat in Hindi

    खराब बॉडी पॉश्चर

    आप लगभग आठ-दस घंटे ऑफिस में काम करते हैं। इस समय आप बैठे ही रहते हैं। लंच के बाद भी सीट पर आकर बैठ जाते हैं। बैठते समय भी आपका बॉडी पॉश्चर सही नहीं रहता है। आप कमर को झुका कर बैठते हैं। यह भी धीरे-धीरे शरीर में चर्बी बढ़ने की वजह बनता है।

    कमजोर मेटाबॉलिज्म 

    बेली फैट का एक अन्य कारण कमजोर मेटाबॉलिज्म भी है। हम भले ही कैलोरी का कम सेवन करें, फिर भी हमारा शरीर फैट बनाता ही है। इसलिए आप भले ही कम कैलोरी ले रही हों, लेकिन अगर आपका मेटाबॉलिज्म सही नहीं है तो आप वजन कम करने या वजन नियंत्रित करने में असफल हो सकती हैं।

    ढीली मांसपेशियां

    कई दफा जब पेट के इर्द- गिर्द की मांसपेशियां ढीली होने लगती हैं तो पेट के अंदर की चर्बी बढ़ने लगती है। वैसे ज्यादातर ये शिकायत 50 की उम्र के बाद के लोगों में देखने को मिलती है।

    खराब लाइफस्टाइल

    सुस्त जीवन शैली बेली फैट होने का एक महत्वपूर्ण कारण है। ऑफिस में बैठ कर काम करते या टीवी के सामने बैठे- बैठे जीवन सक्रिय नहीं रहता है। यही वजन बढ़ने का सबसे बड़ा कारण होता है और जब आप सिर्फ खाते जाते हैं, भोजन के माध्यम से अर्जित कैलोरी को खत्म करने के लिए किसी तरह का व्यायाम नहीं करते हैं तो यही कैलोरीज़ आपकी बेली में सबसे ज्यादा जमा होने लगती हैं।

    ओवरइटिंग

    कई लोगों को अपने पेट का अंदाज नहीं होता है और वे अपनी भूख से काफी ज्यादा भोजन कर लेते हैं। कुछ लोग तनाव में रहते हुए भी अधिक खाते हैं। यह ज्यादा भोजन पेट में जाकर सबसे पहले जमा होता है और बेली फैट का कारण बनता है।

    पेट कम करने की डाइट - Belly Fat Reduce Diet Chart in Hindi

    बेली फैट कम करने (pet kam karne ke upay) का एक अन्य असरकारक तरीका सही और संतुलित भोजन का सेवन करना है। जंक और पैकेज्ड भोजन से बचकर रहना और घर में बने भोजन का सेवन करना इसके लिए जरूरी है। कच्चे फल और सब्जियों के साथ उबली सब्जियां भी खाएं। कभी भी सुबह का नाश्ता न छोड़ें। ये ब्लोटिंग को बढ़ाता है और आपके शरीर के भूखा रखता है, जो बेली फैट का कारण बनता है। थोड़ी- थोड़ी देर पर कम अनुपात में भोजन का सेवन वजन के मैनेजमेंट के लिए जरूरी है। पेट कम करने के लिए अपने खाने में फैट बर्निंग भोजन को शामिल करें। प्याज, अदरक, लहसुन, बंद गोभी, टमाटर, दालचीनी और सरसों फैट कम करने वाले खाद्य पदार्थ हैं। हर सबुह कच्चा लहसुन, और एक इंच अदरक का सेवन फैट को बर्न करने में मददगार है। इसी के साथ खूब पानी का सेवन करें। हमेशा अपने साथ पानी की एक बोतल रखें और दिन भर पीती रहें। आप चाहें तो पेट कम करने के उपाय (pet kam karne ke tarike) के लिए इस डाइट चार्ट को भी फॉलो कर सकते हैं -

    पेट कम करने के लिए डाइट चार्ट

    ब्रेकफास्ट: 8 बजे -10 बजे

    लंच : 1 बजे - 2 बजे

    डिनर: 5 बजे - 7 बजे

    कम कार्बोहाइड्रेट और हाई प्रोटीन डाइट के साथ अपना नाश्ता शुरू करें: चाय / कॉफी (कम से कम दूध) + गेहूं की दालिया / ओटमील 

    वैकल्पिक: मूंग दाल डोसा, बिना तेल वाला सादा परांठा, उपमा

    स्नैक: अनसाल्टेड रोस्टेड मूंगफली

    कॉम्प्लेक्स कैब्स + हाई प्रोटीन डाइट : सलाद + 1 रोटी + 1 कटोरी सब्जी (स्प्रिंग प्याज, पालक आदि) + बैंगन या वेज रायता।

    वैकल्पिक: प्रोटीन स्रोत / मूंग दाल डोसा के साथ ब्राउन राइस

    30 मिनट के बाद: 1 कप ग्रीन टी

    1 कप मूंग दाल + 1 कप सलाद + ब्राउन राइस / रोटी + हाई-प्रोटीन सोर्स जैसे सोया चंक्स / पनीर

    अंत में, पूरे दिन आपको हाइड्रेटेड रखने के लिए बहुत सारा पानी पिना होगा।

    पेट कम करने के घरेलू उपाय - Pet Kam Karne ke Gharelu Upay

    फ्लैट टमी स्लिम ट्रीम बॉडी पाना भला किसे पसंद नहीं होगी। इसे पाने के लिए हम तमाम तरह के पेट कम करने के लिये एक्सरसाइज से लेकर डायटिंग तक न जाने  तमाम तरह के उपाय करते हैं। लेकिन इतनी मेहनत करने के बाद भी, पेट की चर्बी कम करना (pet kam karne ke upay) एक मुश्किल काम लगता है क्योंकि इसमें प्रयास बहुत बड़ा होता है और परिणाम एकदम शून्य। लेकिन आप चिंता मत कीजिए क्योंकि यहां हम आपको कुछ ऐसे पेट कम करने के घरेलू उपाय के बारे में बता रहे हैं जिन्हें आप अगर नियम से फॉलो करेंगी तो आपका टमी भी एकदम फ्लैट हो जायेगा। 

    Pet Kam Karne ke Gharelu Upay

    • सबसे पहले तो आप रनिंग या फिर नॉर्मल 30 मिनट की रोजाना वॉक शुरू कर दें। इससे आपका मेटाबॉल्जिम तो अच्छा होगा ही साथ स्टैमिना भी बढ़ेगा
    • बाहर के जंक फूड और तले-भुने भोजन को एकदम खाना बंद कर दें। इसी के साथ सादे और संतुलित भोजन का सेवन करें।
    • सुबह-सुबह खाली पेट गर्म पानी पीना, पेट कम करने के लिए बेहद फायदेमंद होगा। इससे पेट में जमा वसा धीरे-धीरे कम होगा। इसके अलावा अगर आप गरम पानी में नींबू और शहद डालकर पिएंगे तो यह और भी फायदेमंद साबित होगा। 
    • शक्कर का सेवन कम करें क्योंकि आपके रोजाना के भोजन में शक्कर छिपा रहता है। शक्कर की जगह शहद का सेवन सही रहता है। 
    • नमक के बिना भोजन का स्वाद अधूरा लगता है लेकिन आप सोडियम युक्त नमक की जगह नींबू और सेंधा नमक का प्रयोग कर सकती हैं। अपने भोजन में काली मिर्च डालकर आप नमक की जरूरत को कम कर सकती हैं। 
    • शरीर में व्याप्त फैट को ऊर्जा में बदने की क्षमता विटामिन सी के पास है। साथ ही यह तनाव में निकलने वाले हार्मोन कॉर्टिसोल को भी अवरुद्ध कर देता है। 
    • भरपूर नींद वजन के प्रबंधन की अहम कड़ी है। जरूरत से कम या ज्यादा नींद वजन बढ़ने का कारण है। इसीलिए गहरी और अच्छी नींद लें।
    • देर रात को खाना खाना भी पेट की चर्बी बढ़ने का एक प्रमुख कारण है। हमेशा सोने से 2 घंटे पहले ही रात का भोजन कर लें। इसके अलावा आप चाहें तो रात के खाने में कुछ हल्का फुल्का ही खाएं।
    • पेट की चर्बी के कारण अगर एक्सरसाइज करने में असमर्थ हैं तो अजवाइन का पानी पीने से शुरूआत करें। खाने के पहले अजवाइन का पानी पीने से पाचन तंत्र सही रहता है और पेट की चर्बी भी कम होती है।

    पेट कम करने की एक्सरसाइज - Pet kam Karne ki Exercise

    बेली फैट कम करना कोई आसान काम नहीं है।अधिकतर लोगों के शरीर में सबसे ज्यादा फैट पेट पर ही जमा होता है लेकिन लाख कोशिशें करने के बावजूद भी तोंद कम नहीं होती है। बेली फैट कम करने के लिए कई तरह की एक्सरसाइज होती हैं तो काफी कारगर होती है। यहां आपको कुछ ऐसी ही पेट कम करने की एक्सरसाइज (pet kam karne ki exercise) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे आप अपनी फिटनेस रूटीन में शामिल कर पेट की चर्बी कम कर सकते हैं

    Pet kam Karne ki Exercise

    प्लैंक 

    बेली फैट कम करने के लिए प्लैंक एक्सरसाइज असरदार मानी जाती है। क की पोजिशन में कई सारी मांसपेशियां एक साथ ऐक्टिव होती हैं जिससे पूरे शरीर को फायदा होता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर आप 60 सेकेंड तक प्लैंक 3 बार करते हैं तो इससे बेली फैट कम करने में मदद मिलती है।

    रोलिंग प्लैंक 

    रोलिंग प्लैंक पेट, हिप और पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियों को सुदढढ़ करता है। अपने घुटने और कुहनी को जमीन पर टिका कर पोजीशन ले लें। रीढ़ के सीध में सिर गर्दन को रखें और सामने देखें। अब घुटनों को ऊपर करें और पैरों को उंगलियों के सहारे टिखाए रखें। सामान्य तौर पर सांस लेते रहें। इस पोजीशन में 30 सेकेंड तक रहें। अब आगे जाएं और फिर पीछे जाएं। यही रोलिंग प्लैंक कहलाते हैं।

    स्विमिंग

    स्विमिंग भी एक कमाल की एक्सरसाइज (pet kam karne ki exercise) है, जो वजन कम करने में मददगार होने के साथ ही आपके शरीर को टोन भी करती है। सप्ताह में एक या दो बार स्विमिंग के लिए जाकर आप शुरुआत कर सकती हैं।

    साइक्लिंग

    साइक्लिंग एक फायदेमंद कार्डियो एक्सरसाइज है, जो तेजी से फैट बर्न करके बेली फैट को कम करता है। लेकिन इसके लिए साइक्लिंग के समय आपका हार्ट रेट ऊपर की ओर जाते रहना चाहिए।

    Jogging for Belly Fat in Hindi

    जॉगिंग

    यदि आपको दौड़ना पसंद नहीं है तो आप जॉगिंग की मदद से भी बेली फैट को कम कर सकती हैं। (fat kam karne ka tarika) यह एक तरह का एरोबिक एक्सरसाइज़ है, जो स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है।

    कार्डियो एक्सरसाइज़

    कार्डियो एक्सरसाइज़ पूरे शरीर का वजन कम करने के साथ ही बेली फैट को भी कम करने में सहायक है। यह आपके शरीर से कैलोरी और अतिरिक्त चर्बी को दूर करता है। नियमित तौर पर कार्डियो करने से व्यक्ति तनाव से दूर रहता है, फेफड़े स्वस्थ रहते हैं और नींद अच्छी आती है।

    स्टमक वैक्यूम

    जमीन पर अपने दोनों पैर और दोनों हाथ के सहारे रहें। अंदर की ओर सांसें लें और पेट को ढीला छोड़ दें। जब सांस बाहर की ओर छोड़ें तो पेट की मांसपेशियों को कस लें। इस पोजीशन में 15- 30 सेकेंड तक रहें। इस प्रक्रिया को दोहराएं।

    बेंडिंग साइड टू साइड 

    बेली फैट कम करने के लिए यह व्यायाम आसान, लेकिन काम लायक है। पैरों को अलग- अलग करके, हाथ किनारे की ओर करके खड़ी हो जाएं। जितना संभव हो अपने शरीर को दाहिनी ओर मोड़ें, आपको अपनी बायीं कमर में तनाव महसूस होना चाहिए। इस समय आपका दाहिना हाथ दाहिने हिप पर होना चाहिए। इस पोजीशन में 15 सेकेंड रहें। अब यही प्रक्रिया बायीं ओर से ही दोहराएं।

    Crunches for Belly Fat in Hindi

    क्रंचेज

    क्रंचेज बेली फैट को कम करने का नंबर एक तरीका है। (belly fat kam karne ka tarika) इसके लिए आप जमीन पर लेट जाएं। घुटनों को मोड़ लें और जमीन पर पैर रखें। अब वैकल्पिक रूप से पैरों को जमीन से 90 डिग्री के कोण में ऊपर उठाएं। अपने हाथ भी उठाएं और सिर के पीछे रखें। अब सांस अंदर की ओर लें और जैसे ही अपने शरीर के ऊपरी हिस्से को उठाएं, सांस बाहर करें। नीचे जाने पर फिर से सांस अंदर लें और ऊपर जाते हुए फिर से बाहर छोड़ें। शुरुआत में इसे कम से कम दस बार करें। फिर इसके दो या तीन सेट करें।

    रिवर्स क्रंच

    इसके लिए अपने हाथ नीचे की ओर करके लेट जाएं। आपको अपने पैर ऊपर की ओर उठाने हैं, ध्यान रखें कि साथ में हिप भी ऊपर की ओर उठें। ऐसा महसूस हो कि आप पैर के सहारे छत को छूना चाहते हैं।

    वर्टिकल लेग क्रंच 

    जमीन पर लेट कर अपने पैरों को छत की ओर ऊपर उठाएं और एक घुटने पर दूसरा रखें। अब क्रंचेज़ करें। इसके बारह- पंद्रह के तीन सेट करें।

    Lounge Twist for Belly Fat in Hindi

    लंज ट्विस्ट 

    यह एक्सरसाइज़ (pet kam karne ki exercise) उनके लिए है, जो जल्दी फैट कम करना चाहते हैं। अपने दोनों पैर एक दूरी पर करके खड़े हों, घुटने थोड़े मुड़े हों। दोनों हाथ अपने सामने लाएं, कंधे के सीध में। अब दाहिने पैर को आगे करें और कुर्सी पर बैठने वाली मुद्रा में आएं। बायां पैर पीछे ही रहना चाहिए। रीढ़ की हड्डी सीधी रहे। अब अपने शरीर के केवल ऊपरी हिस्से को पहले दाहिने और फिर बाएं ट्विस्ट करें। ऐसा पंद्रह बार करें।

    कैप्टन्स चेयर 

    इस व्यायाम के लिए आपको एक कुर्सी की आवश्यकता है। कुर्सी पर बैठ जाएं, रीढ़ सीधी रहे और कंधे रिलैक्स। दोनों हाथ हथेली के पीछे, हिप्स के किनारे रखें। अंदर की ओर गहरी सांस लें। सांस बाहर की ओर छोड़ते वक्त दोनों पैरों को कुछ इस तरह से ऊपर की ओर करें कि घुटने आपकी छाती के नजदीक आ जाएं। पांच सेकेंड तक ऐसे ही रहें। पैर को धीरे- धीरे नीचे करें। इस प्रक्रिया को भी दोहराएं।

    पेट कम करने के लिए योगासन - Pet kam Karne ka Yoga

    अगर आप बढ़ी हुई तोंद या फिर  पेट की चर्बी कम करने के लिए उचित आहार और व्यायाम का पालन करते हैं, तो ये समस्याएं नहीं होंगी। जिम में घंटों कसरत करने की भी जरूरत नहीं पड़ती। आप घर पर सरल योगासनों का अभ्यास कर सकते हैं। नियमित योग पोज़ (pet kam karne ka yoga) का उचित अभ्यास आपको अपने वजन को कंट्रोल करने में मदद करेगा। योगासन शारीरिक के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य लाभ भी पहुंचाते हैं। इतना ही नहीं, योग की मदद से आप कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। अगर आप अपना मोटापा या फिर सिर्फ बैली फैट कम करना चाहते हैं, तो आज से ही नियमित रूप से इन योगासनों का अभ्यास शुरू कर दें।

    Pet kam Karne ka Yoga

    ताड़ासन

    योग अभ्यास हमेशा सरल आसनों के अभ्यास से शुरू करना चाहिए। पेट की चर्बी कम करने के लिए ताड़ासन से आसनों का अध्ययन किया जाना चाहिए। ताड़ासन पूरे शरीर को खिंचाव देता है और शरीर को ऊर्जा भी देता है। यह पूरे शरीर में रक्त प्रवाह को भी बेहतर बनाता है। इस आसन की अंतिम स्थिति में, शरीर को फैलाए और एड़ी को ऊपर उठाते हुए पैर की उंगलियों पर टिकना होता है। इसलिए इसे 'ताड़ासन' कहा जाता है।

    हस्तपादासन

    हस्तपादासन का अभ्यास ताड़ासन के बाद करना चाहिए। इस आसन के अभ्यास से कमर और पेट पर अधिक दबाव पड़ता है। कमर के साथ-साथ पेट की मांसपेशियों के व्यायाम से पेट की अतिरिक्त चर्बी कम करने में मदद मिलती है। इसके लिए सबसे पहले दोनों पैरो को आपस मे मिला ले। दूसरे नंबर पर हाथों को सिर के पास ले जाए तथा उसके बाद आराम-आराम से नीचे की ओर झुकना है। पूरे शरीर का वजन दोनों पैरो पर होना चाहिए। सांस को छोड़ते रहे तथा घुटनों के पास सिर को लगाए। दोनों हाथ फर्श पर स्पर्श होने चाहिए। इस प्रकार ये आसन करें। इसे बार-बार करने से पेट की चर्बी कम (pet kam karne ka yoga) होती है।

    पश्चिमोत्तानासन

    पश्चिमोत्तानासन आसन थोड़ा मुश्किल है। यदि आप इस आसन की अंतिम स्थिति को प्राप्त करना चाहते हैं, तो हस्तपादासन का अभ्यास करें। पश्चिमोत्तानासन करने के लिए सबसे पहले आप जमीन पर बैठ जाएं। अब आप दोनों पैरों को सामने फैलाएं। पीठ की पेशियों को ढीला छोड़ दें। सांस लेते हुए अपने हाथों को ऊपर लेकर जाएं। फिर सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुके। आप कोशिश करते हैं अपने हाथ से उंगलियों को पकड़ने का और नाक को घुटने से सटाने का। धीरे धीरे सांस लें, फिर धीरे धीरे सांस छोड़े और अपने हिसाब से इस अभ्यास को धारण करें। धीरे धीरे इस की अवधि को बढ़ाते रहे। यह एक चक्र हुआ। इस तरह से आप 3 से 5 चक्र करें।

    पवनमुक्तासन

    पवन का अर्थ है वायु और मुक्तासन का अर्थ है मुक्ति की स्थिति। पवनमुक्तासन आसन गैस की समस्याओं को कम करता है और पेट के स्वास्थ्य में भी सुधार करता है। यह आसन पेट पर तनाव डालता है और पेट दबने में मदद करता है। इसके अलावा, पेट की चर्बी कम होती है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल जाएं और हाथ-पैरों को सीधा फैला लें। इस स्थिती में शरीर को ढीला छोड़ दें। अब सांस लेते हुए धीरे-धीरे घुटनों को मोड़े और हाथों की मदद से छाती तक लाएं। इसके बाद लेटे हुए अपना सिर उठाएं और माथा घुटनों पर लगाने की कोशिश करें। आप एक-एक करके भी घुटने माथे से लगा सकते हैं।

    Bhujangasana

    भुजंगासन

    नाभि से सिर तक शरीर का उठा हुआ भाग कोबरा के जैसा दिखता है, इसलिए इसका नाम कोबरा पोज यानि कि 'भुजंगासन' पड़ा। इससे पेट की चर्बी भी कम होती है और मांसपेशियां मजबूत होती हैं। भुजंगासन करने के लिए आप सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। अब अपने हथेली को कंधे के सीध में लाएं। दोनों पैरों के बीच की दूरी को कम करें और पैरों को सीधा एवं तना हुआ रखें। अब सांस लेते हुए शरीर के अगले भाग को नाभि तक उठाएं। ध्यान रहे की कमर पर ज़्यदा खिंचाव न आये। अपने हिसाब से इस आसान कुछ समय तक बनाए रखें। इस तरह से एक चक्र पूरा हुआ। शुरुवाती दौर में इसे 3 से 4 बार करें। फिर धीरे-धीरे इस क्रम को बढ़ा सकते हैं।

    धनुरासन 

    धनुरासन की अंतिम स्थिति धनुष के आकार की तरह दिखती है। इसलिए इसे 'धनुरासन' नाम दिया गया है। पेट और कमर पर जमे एक्स्ट्रा फैट को कम करने के लिए ये बहुत ही बढ़िया योगासन है। इस योगासन का अभ्यास खाली पेट और सुबह के समय में करना ज्यादा लाभकारी होता है। इस आसन के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। फिर घुटनों तक अपनी टांगों को मोड़ दीजिए। दोनों हाथों से अपने टखनों को पकड़ लीजिए। इस पोज में थोड़े देर बने रहिए। ऐसा 5-6 पर दोहरा सकते हैं।

    नौकासन

    नौकासन आपको पेट की चर्बी कम करने में (pet kam karne ka yoga) मदद करता है। क्योंकि यह आसन पेट पर अधिक तनाव डालता है। आसन की अंतिम स्थिति में, हाथ और पैर लाने से शरीर एक नाव की तरह दिखता है। इसलिए इस आसन को 'नौकासन' कहा जाता है। नौकासन स्टार्ट करने से पहले आप किसी समतल जगह पर चटाई बिछाकर स्वासन की मुद्रा में बैठ जाएं। इसके बाद आप अपने एड़ियों और पंजो को मिलाए और अपने हाथ-कमर से सटाकर रखें। इसके बाद आपको हथेलियों को जमीन पर और गर्दन को सीधा रखना है। अब अपने दोनों पैर, गर्दन और हाथों को धीरे-2 एक साथ ऊपर की ओर उठायें। आखिर में अपने पूरे शरीर का वजन नितंबों के उप्पर कर दें। इस मुद्रा में आप 30-40 सेकेंड रुके रहें। अब धीरे-धीरे वापस उसी अवस्था में आकर श्वसन की पोज़िशन में लेट जाए। इस आसन को आप 5-6 बार कर सकते है।

    पेट कम करने से जुड़े सवाल-जवाब

    जल्दी पेट कम कैसे करे?

    अगर आपको पेट की चर्बी जल्दी कम करनी है तो रोजाना सुबह खाली पेट नींबू शहद मिलाकर गुनगुना पानी पिएं।

    क्या खाने से पेट की चर्बी कम होती है?

    प्याज, अदरक, लहसुन, बंद गोभी, टमाटर, दालचीनी और सरसों फैट कम करने वाले खाद्य पदार्थ हैं। हर सबुह कच्चा लहसुन, और एक इंच अदरक का सेवन फैट को बर्न करने में मददगार है।

    सिजेरियन प्रसव के बाद पेट अंदर कैसे करें?

    सिजेरियन प्रसव के बाद पेट अंदर करने के लिए कम से कम दो महीने बाद ही किसी तरह की कोई एक्सरसाइज वगैरह शुरू करनी चाहिए।  सिजेरियन के बाद रिकवरी करना बेहद महत्वपूर्ण है। इसलिए, जिम या योग क्लासेस में जाने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

    पेट की चर्बी कम करने के लिए पेट पर क्या लगाएं?

    पेट की चर्बी कम करने के लिए आप सरसों के तेल से पेट पर मालिश कर कर कोई बेल्ट या कपड़ा बांध सकते हैं। मसाज से मांसपेशियों को टोन करने में मदद मिलती है और पेट का साइज भी कम होता है।

    क्या चलने से पेट कम होता है?

    जी हां, रोजाना 10 हजार कदम चलने से पेट भी कम हो सकता है और शरीर का वजन भी एकदम संतुलित रहता है।

    Beauty

    Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

    INR 999 AT MyGlamm