दिनों दिन बढ़ती जा रही है फीमेल्स में गंजेपन की शिकायत, एक्सपर्ट से जानिए क्या है इसकी वजह

Female Pattern Baldness Causes

फीमेल्स में गंजेपन का आना काफी समय पहले तक बिल्कुल भी कॉमन नहीं था। सन 1977 में डॉ. एनरिक लुडविग ने फीमेल में बड़ते हुए गंजेपन के पैटर्न को देखते हुए एक स्केल को बनाया जिसे लुडविग स्केल कहा गया। इस तरह के हेयर लॉस से फीमेल्स के जीवन पर फाफी गहरा प्रभाव देखा गया। 
बालों की कमी के कारण औरतों में इन्सिक्योरिटी, कम कॉन्फिडेंस और स्ट्रेस को पाया गया। एक स्टडी के अनुसार, 45 प्रतिशत महिलायें जीवन में कभी न कभी इस प्रॉब्लम का सामना ज़रूर करती हैं। यही सच भी है कि महिलायें बाल्डनेस से जूझ रही है और ये प्रॉब्लम बढ़ती जा रही है। बालों के गिरने और बाल्डनेस का कारण (Female Pattern Baldness) हार्मोनल इम्बैलेंस के साथ साथ कई बीमारियां भी हैं। बदलता लाइफस्टाइल और बढ़ता स्ट्रेस इस कंडीशन को और बढ़ाता जा रहा है। तो आइए जानते हैं यूजीनिक्स हेयर साइंसेज की को-फ़ाउंडर और हेयर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. अरिका बंसल से की महिलाओं में गंजेपन के लिए कौन-कौन सी वजहें जिम्मेदार हैं -

महिलाओं में गंजेपन का कारण Female Pattern Baldness Causes in hindi

- खासतौर से बाल फीमेल्स में उनकी ब्यूटी, स्टाइल और पर्सनालिटी को बढ़ाते हैं। ज़रूरत से ज़्यादा हेयर फॉल फीमेल्स में हार्मोनल बदलाव, जिसमें मेल हार्मोन टेस्ट्रोन का बढ़ना, लाइफस्टाइल में बदलाव, खानपान की बुरी आदत, स्ट्रेस का बढ़ना और बढ़ते डिप्रेशन को दिखता है।  
- महिलाओं की जिदंगी कई उतार-चढ़ावों से होकर गुजरती है। ऐसे में उनमें कई शारीरिक और मानसिक बदलाव होते हैं। साइक्लोजिकल कंडीशन जैसे प्रेगनेंसी या क्रैश डाइट भी ज़्यादा हेयर लॉस का कारण हो सकता है। लेकिन अच्छी बात ये है कि जब आप हाई प्रोटीन डाइट पर आते हैं तो कंडीशन वापिस नार्मल हो जाती है। इसके लिए जरूरी है आप अपना खान-पान अच्छा और हेल्दी रखें।

- बालों में ज़्यादा खिचाव या टाइट पॉनीटेल भी परमानेंट हेयर लॉस का भी कारण हो सकते है जिसे ट्रैक्शन एलोपेशिआ कहते हैं। जो कि महिलाओं में काफी कॉमन है। इसीलिए बालों को थोड़ा लूज बांधना चाहिए।
- ज़रूरत से ज़्यादा केमिकल्स, कलरिंग, ब्लीचिंग और हेयर ड्रायर का इस्तेमाल भी बालों को बेजान और रुखा बना देते हैं। हेयर शाफ्ट की सबसे बाहरी लेयर, हेयर क्यूटिकल होती है, जोकि डेड सेल्स से बनाई गई है और यह बालों को प्रोटेक्ट करने वाली एक मजबूत लेयर है। जब बाल कमज़ोर हो जाते हैं तो क्यूटिकल्स धीरे-धीरे बंद हो जाते हैं। क्यूटिकल्स के हटने के बाद बालों का कोर्टेक्स एक्सपोज़र हो जाता है और इस नुकसान से बालों का टूटना बढ़ जाता  है और बाल अनहेल्दी दिखने लगते हैं।
एक्सपर्ट की सलाह - मिनोक्सिडिल लोशन, US FDA से एप्रूव्ड है जिसे डॉक्टर की सलाह से इस्तेमाल कर सकते हैं जो बालों के और टूटने को रोकता है और उनकी ग्रोथ में भी काफी हेल्प करता है।