कर्ली बालों पर लीव-इन कंडीशनर लगाने जा रही हैं तो पहले ध्यान में रखें ये बातें

Curly hair, Leave-in conditioner, tips for using a leave-in conditioner

कर्ली बालों का बेहद खास ख्याल रखना पड़ता है। बाल धोने से लेकर उन्हें सुखाने और स्टाइलिंग तक कर्ली बालों की देखभाल करनी पड़ती है। जो काम हमारे शरीर के लिए पानी करता है वही काम बालों के लिए लीव-इन कंडीशनर करता है, यह बालों की प्यास बुझाता है। खासतौर पर कर्ली बालों के लिए लीव-इन कंडीशनर किसी वरदान से कम नहीं। यह कर्ली बालों को न सिर्फ माॅइश्चराइज़ रखता है बल्कि उन्हें हाइड्रेट और फ्रिज-फ्री भी बनाये रखता है, वो भी पूरा दिन। एक आम कंडीशनर की तरह लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) को बालों पर लगाने के बाद उन्हें धोने की जरूरत बिलकुल नहीं है। इस खास धुले बालों पर लगाने के लिए बनाया गया है। अगर आप भी अपने कर्ली बालों पर लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) लगाने की सोच रही हैं तो इससे पहले यहां बताई गई कुछ बातों का ध्यान जरूर रखें।

अपने हेयर टाइप को जानें

आपके बालों का टेक्सचर कैसा है? यह रूखे है, ड्राई हैं या फिर कमजोर हैं? सबसे पहले अपने बालों की क्वालिटी को ध्यान में रखते हुए अपने लिए लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) चुनें। आमतौर पर प्रोडक्ट के पैकेज में यह बताया गया होता है कि यह लीव-इन कंडीशनर किस तरह के बालों के लिए बना है। अपने बालों को खूबसूरत दिखने के लिए सही लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) का चुनाव सबसे पहला और जरूरी स्टेप होना चाहिए।

इसे रोज़ इस्तेमाल न करें

अति हर चीज़ की बुरी होती है। यही बात लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) के साथ भी लागू होती है। आपको अपने बालों पर रोजाना लीव-इन कंडीशनर लगाने की जरूरत नहीं है। प्रोडक्ट का ज्यादा इस्तेमाल आपके बालों पर डैंड्रफ और खुजली की वजह बन सकता है। बेहतर परिणामों के लिए इसे हफ्ते में 1 बार या ज्यादा से ज्यादा दो बार ही इस्तेमाल करें। 

कितना लीव-इन कंडीशनर लगाएं

यह एक ऐसा सवाल है, जो पहली बार लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) इस्तेमाल करने वाली हर लड़की के मन में आता होगा। इसे हाथ में बस एक सिक्के के बराबर की मात्रा में लें। यह इतना ही काफी होगा। अगर आप ज्यादा पोर्शन में इसका इस्तेमाल करेंगी तो यह बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। ध्यान रहे इसे बाल धोने के बाद ही बालों पर लगाएं और अपने बालों पर किसी भी गरम स्टाइलिंग टूल के इस्तेमाल से पहले लीव-इन कंडीशनर लगा लें। 

स्कैल्प पर भूलकर भी न लगाएं

एक लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) आपके बालों के लिए होता है न कि स्कैल्प के लिए। अगर यह आपकी स्कैल्प के संपर्क में आता है तो स्कैल्प पर दानों और एक्ने की समस्या हो सकती है। इसलिए लीव-इन कंडीशनर (Leave-in Conditioner) को अपने बालों पर लगाकर छोड़ दें न कि स्कैल्प पर। इसे लगाने की शुरुआत आपके बालों के नीचे के हिस्से यानी टिप के साथ करें और धीरे-धीरे लगाते हुए ऊपर आएं, लेकिन बालों की जड़ों पर भूलकर भी इसे न लगाएं। 

POPxo की सलाह: MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

Beauty

Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

INR 999 AT MyGlamm