जानिए महिलाओं के लिए पीरियड्स में एक्सरसाइज करना है कितना सुरक्षित

exercise during periods, Best exercise during periods

पीरियड्स (Periods) हर महीने आने वाला एक ऐसा दौर, जिससे हर महिला को होकर गुजरना पड़ता है। पीरियड्स के दौरान पेट दर्द, मूड स्विंग्स, थकान, चेहरे पर पिंपल्स आदि आम बात है। लगभग 13 साल की उम्र से 45 साल की उम्र तक महिलाओं को पीरियड्स होते हैं। धीरे-धीरे ये पीरियड्स उनकी आदत में शामिल हो जाते हैं। पीरियड्स को लेकर हर लड़की के मन में कई सवाल उठते हैं। उन्हीं में से एक है, क्या पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज (Exercise) करना सुरक्षित है? अगर आप फिटनेस फ्रीक हैं या फिर फिटनेस की ओर अपना पहला कदम बढ़ा चुकी हैं तो यह सवाल मन में आना वाजिब है। पीरियड्स (Periods) में जब हम खुद अपने शरीर से एक लड़ाई लड़ रहे होते हैं तो ऐसे में एक्सरसाइज (Exercise) करना ठीक रहेगा या नहीं इसका कन्फ्यूजन दिमाग में बना रहता है। अगर आप भी इसी कश्मकश से जूझ रही हैं तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है। 

पीरियड्स में एक्सरसाइज करना कितना सुरक्षित?

पीरियड्स (Periods) यानि मासिक धर्म के समय हमेशा से ही आराम करने की सलाह दी जाती रही है। कहते हैं, जितना आराम करोगी उतना ही दर्द कम होगा। मगर क्या सिर्फ आराम करना ही पीरियड्स के मुश्किल दौर से निपटने का एकमात्र तरीका है? तो हमारा जवाब है नहीं! एक्सरसाइज (Exercise) करना या न करना यह पूरी तरह से आपके शरीर और आपकी विल पॉवर पर निर्भर करता है। पीरियड्स (Periods) के दौरान थोड़ी बहुत एक्सरसाइज करना न सिर्फ सुरक्षित है बल्कि ऐसा देखा गया है कि इसके कारण पीएमएस के लक्षण कम हो जाते हैं। इतना ही नहीं पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द में भी राहत मिलती है। 

कर सकते हैं लाइट एक्सरसाइज

पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज (Exercise) करना सुरक्षित है, मगर इसका मतलब ये नहीं कि आप रोज़ की हैवी वेट वाली एक्सरसाइज करने लगें। दरअसल, पीरियड्स के समय आपको हैवी वेट वाली एक्सरसाइज (Exercise) करने से बचना चाहिए। इस दौरान लाइट एक्सरसाइज आपके लिए पूरी तरह सुरक्षित है। जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो आपका शरीर एंड्रोफिन नामक हार्मोन स्त्रावित करता है जो तनाव, मरोड़, सिरदर्द और मासिक धर्म के कारण होने वाले दर्द से राहत पहुंचाने में मददगार साबित होता है।

सुरक्षित हैं ये एक्सरसाइज

अब सोच रही होंगी कि लाइट एक्सरसाइज (Light Exercise) से हमारा क्या मतलब है। तो हम आपको बता दें कि लाइट एक्सरसाइज के अंतर्गत स्ट्रेचिंग, टहलना, एरोबिक्स करना, योग करना और डांस करना पूरी तरह से सुरक्षित है। एक्सपर्ट का मानना है कि पीरियड्स के दौरान टहलने से काफी फायदा मिलता है। इससे आपके मसल्स रिलेक्स होते हैं और आपको दर्द से आराम मिलता है। इसके अलावा डांस करने से मन खुश होता है और तनाव दूर होता है। वहीं स्ट्रेचिंग करने से बॉडी रिलैक्स होती है। मगर ध्यान रहे इन्हें भी तभी करें जब आपका शरीर और मन दोनों इसे करना चाहें। पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज (Exercise) करें लेकिन ज्यादा मेहनत न करें। 

यह भी पढ़ें
वाइट डिस्चार्ज के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय - White Discharge in Hindi

POPxo की सलाह: MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

Beauty

Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

INR 999 AT MyGlamm