#मेरा पहला प्यार : भरोसे से शुरू हुआ और फरेब पर आकर खत्म

my first love story in hindi, Cheated on by First Love true story

कभी न कभी हर किसी को प्यार तो होता है लेकिन कभी उसमें इजहार होता हो तो कभी इनकार भी। दिल टूटने का दर्द बहुत बड़ा होता है जो समय के साथ कम तो हो जाता है लेकिन अंदर से इंसान को तोड़कर रख देता है। पहला प्यार मासूमियत से भरा होता है। ये न रंग देखता न रूप, न धर्म देखता न जात और न ही सामने वाले की इंटेशन देखता है। ‘मेरा पहला प्यार’ सीरीज में हम आपको आज बता रहे हैं एक ऐसी ही लव स्टोरी के बारे में, जिसकी शुरूआत तो भरोसे से हुई लेकिन उसका अंत फरेब पर आकर हुआ है। पढ़िए रूबी के पहले प्यार की कहानी, उसी की जुबानी..
मैं आगरा की रहने वाली हूं। ये बात उन दिनों की ही जब मैं अपने मास्टर्स की पढ़ाई करने दिल्ली गई हुई थी। मेरे लिए वो शहर एकदम अंजाना सा था। आंखों में बस कुछ कर दिखाने और मां-बाप का नाम रोशन करने के सपने थे। लेकिन मुझे नहीं पता था कि ये शहर मुझसे मेरी मासूमियत छिनने वाला है। कॉलेज का पहला दिन था और मैं बहुत नर्वस थी। क्योंकि दिल्ली की दौड़ती-भागती लाइफस्टाइल में मुझे एडजेस्ट होने में टाइम लग रहा था। खैर कॉलेज के गेट के अंदर घूसते ही मेरा सर घूमने लगा और मैं पेड़ के नीचे पड़ी एक बेंच पर जाकर बैठ गई। वहीं एक लड़का भी बैठा हुआ था जिसने मुझे पानी पीने के लिए दिया और मुझे रिलैक्स फील कराया। बात करने पर पता चला कि वो मेरे ही डिपार्टमेंट में गेस्ट लैक्चर देता है। उस हिसाब से वो मेरा टीचर हुआ। क्लास शुरू होने में 1 घंटा बाकि था तभी उन्होंने मुझे कैटीन चलकर कुछ खाने के लिए कहा। उनका इतना केयरिंग नेचर देखकर मैं काफी इंप्रैस हो गई थी। 

लैक्चर के दौरान मुझे पता चला कि उनका नाम मनोज है और वो भी आगरा के रहने वाले हैं। फिर क्या था धीरे-धीरे हमारी मुलाकातें बढ़ने लगी और हम एक-दूसरे से हर बातें शेयर करने लगें। जब भी दिल्ली से आगरा जाना होता तो हम एक साथ ही जाते। एक दिन अचानक दिल्ली-आगरा एक्सप्रेस वे पर मनोज ने गाड़ी साइड में रोकी और मुझे एक रिंग ऑफर कर दी और बोला अगर तुम मुझसे प्यार करती हो तो इसे एक्सेप्ट कर लो। सच कहूं तो मैं भी इस दिन का बेसब्री से इंतजार कर रही थी। मैंने बिना कुछ सोचे-समझे उन्हें हां कह दिया। फिर क्या था 2 साल तक हमारा रिलेशनशिप यूं ही चलता रहा। कॉलेज में तो किसी को भी कानोंकान खबर तक नहीं हुई कि हमारा अफेयर चल रहा है। धीर-धीरे हम एक-दूसरे के और भी ज्यादा करीब आ गये। 

मास्टर कंप्लीट होने के बाद मेरी जॉब नोएडा में लग गई थी। तभी मेरे घरवालों ने मुझसे शादी के लिए पूछा। उन्होंने कहा अगर कोई लड़का तुम्हें पसंद है तो तुम बता सकती हो नहीं तो हम देखना शुरू करें। मैंने सोचा कि लाइफ इतनी ज्यादा स्मूद कैसे चल सकती है, मेरे सारे काम अपने आप पूरे हो रहे हैं और मुझे थोड़ी भी मेहनत नहीं करनी पड़ रही है। मैं बहुत खुश थी कि मेरे घरवाले लव मैरिज के लिए भी रैडी थे। मैंने तुरंत मनोज को फोन किया और बताया कि मेरे घरवाले तुमसे मिलना चाहते हैं, शादी के लिए। ये बात सुनते ही मनोज का चेहरा एकदम उतर गया। मानों उसके पैरों के तले से जमीन खिसक गई हो। उसने कहा मैं अभी शादी करने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं हूं। मुझे सुनकर थोड़ा अजीब लगा लेकिन मैंने उससे कहा कि ठीक है अगर तुम शादी करने के लिए अभी तैयार नहीं है तो कोई बात नहीं मम्मी-पापा से मिल लो, ताकि उन्हें ये बात जानकर तसल्ली मिले कि मैंने सही लड़के पर भरोसा किया है। लेकिन मनोज ने इस बात से भी साफ इंकार कर दिया कि मैं शादी नहीं करना चाहता। तो मैंने उससे पूछा कि आखिर क्यों? हम तो एक-दूसरे से प्यार करते हैं तो फिर शादी क्यों नहीं कर सकते हैं। वो मुझे तरह-तरह के बहाने देने लगा और वहां से चला गया। इस वाकये के बाद मनोज ने 2 हफ्तों तक बात नहीं की। मैंने उसे न जाने कितने कॉल और मैसेज किये लेकिन उसने कुछ भी रिप्लाई नहीं किया।
इसी दौरान फेस्टिवल पर मैं अपने होमटाउन आगरा गई हुई थी। मम्मी के साथ बाजार में शॉपिंग कर रही थी कि तभी मैंने देखा कि मनोज एक शादीशुदा औरत और एक बच्चे के साथ वहां पर आया हुआ है। मनोज ने उस औरत के कंधे पर हाथ रखा हुआ था और ऐसा लग रहा था कि वो उसकी पत्नी हो। ये सब देखकर मेरा सिर चकराने लगा था। मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि मनोज इतना फेरबी निकल सकता है। लेकिन मेरा मन बार-बार कह रहा था कि मनोज के साथ ये औरत कोई और भी हो सकती है, इसीलिए मैं कंफर्म करने के लिए उसके पास चली गई। मैंने कहा, अरे मनोज सर आप यहां कैसे? हालांकि मनोज भी मुझे देखकर भौचक्का रह गया था, लेकिन फिर भी नाटक करते हुए उसने कहा शॉपिंग के लिए आया हूं। मैंने भी आखिर हिम्मत जुटाकर ये पूछ ही लिया कि ये कौन है आपकी? वो लड़खड़ाती हुई जवाब में बोला, वाइफ और बच्चा है। ये सुनकर मैं सच में टूट सी गई थी। वो तो वहां से तुरंत निकल गया लेकिन मैं घंटों वहीं बैठकर रोती रहीं। 
मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मेरा पहला प्यार भरोसे से शुरू होकर फरेब पर आकर खत्म होगा।

POPxo की सलाह: MyGlamm की ग्लो स्किन केयर रेंज की मदद से आप भी अपनी त्वचा का रखें खयाल।

Beauty

Glow Skincare Everyday Essentials Kit

INR 3,585 AT MyGlamm