जानें, खाली पेट चना खाने के फायदे और नुकसान - Chane Khane ke Fayde

चने खाने के फायदे, Chickpeas in Hindi

कई डॉक्टर्स रोज सुबह खाली पेट भीगे हुए चने (भीगा चना और गुड़ खाने के फायदे) खाने की सलाह देते हैं और खासकर ये सलाह खिलाड़ियों या फिर कसरत करने वाले लोगों को दी जाती है। अब अगर आप सोच रहे हैं कि क्यों दी जाती है तो बता दें कि चने (Chane Khane ke Fayde) में काफी अधिक मात्रा में फाइबर और प्रोटीन होता है। इसके अलावा चने (उबले हुए चने खाने के फायदे) में कैल्शियम और फास्फोरस भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यह इंसाने के पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और इम्यूनिटी को बढ़ाता है। साथ ही मेटाबॉलिज्म को भी बूस्ट करता है। तो चलिए आपको इस लेख में बताते हैं कि चने कितने प्रकार के होते हैं और इनके क्या फायदे होते हैं।

Table of Contents

    चना क्या होता है - What is Chickpeas in Hindi

    चना (चने खाने के फायदे) बहुत सारी औषधीय गुणों से भरपूर एक खाद्य पदार्थ है और इसका वैज्ञानिक नाम साइसर एरीटिनम है। भारत में लगभग हर घर में आपको चना (chane khane ke fayde) आसानी से मिल जाएगा और इसे कई अलग-अलग तरीकों से बनाया जाता है। इसमें (What is Chickpeas in Hindi) कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर और विटामिन बी समेत कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं।

    चना कितने प्रकार के होते हैं - Types of Chickpeas in Hindi

    जैसा कि हमने बताया कि चना (चने खाने का फायदा) कई तरह से आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस चने (चना कितने प्रकार के होते हैं) के 3 प्रकार होते हैं। इन तीनों प्रकार के चनों को आप कई तरीकों से बना सकते हैं और सभी का स्वाद भी अलग होता है। तो चलिए बिना देरी किए आपको चना के तीनों प्रकार के बारे में बताते हैं।
    काला चना (Kala Chana)- इस प्रकार के चने का आकार थोड़ा छोटा होता है और ये गहरे भूरे रंग के होते हैं। इस वजह से इन्हें काला चना कहा जाता है।
    देशी चना (Desi Chana)-  देसी चना भी आकार में छोटा ही होता है लेकिन ये गहरे भूरे रंग का होता है। 
    काबुली चना (Kabuli Chana)- काबूली चना आकार में देशी और काला चना से थोड़ा बड़ा होता है और साथ ही ये हल्के भूरे रंग का या फिर बादामी रंग का होता है। 

    चने खाने के नियम

    दरअसल, चने ( चने खाने से क्या होता है) मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होते हैं लेकिन यदि इन्हें एक तरीके से खाया जाए तो ये और भी ज्यादा फायदेमंद हो जाते हैं। चने में कई सारे पौष्टिक तत्व और औषधीय गुण होते हैं और इस वजह से आपको भी अपने रोजाना की दिनचर्या में चना (चने के फायदे) खाने की आदत बना लेनी चाहिए और इनका दिन में एक बार सेवन करना चाहिए। इससे आप बीमारियों से दूर रहेंगे और स्वस्थ रहेंगे।
    - चनों को हमेशा भिगो कर ही खाएं और इन्हें किसी अन्य बर्तन में भिगोने की जगह मिट्टी के बर्तन में भिगोएं। ऐसा करने से चने के पौष्टिक गुण अधिक बढ़ जाते हैं।
    - चनों के भिगोने के बाद इन्हें सुबह खाली पेट अच्छे से चबा कर खाएं।
    - आप चाहेंं तो चनों को जिस पानी में भिगोया है, उसे भी पी सकते हैं। चनों के पानी में काफी अधिक मात्रा में आयरन होता है।
    - यहां ये भी बता दें कि आपको एक दिन में आपकी मुट्ठी में जितने चने आते हैं, उतने ही खाने चाहिए। 
    - सुबह खाली पेट चने खाने के बाद आपको आचार का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से चने आपको नुक्सान पहुंचा सकते हैं।
    - साथ ही आपको चनों को खाने के बाद करेले का भी सेवन नहीं करना चाहिए।

    चने के फायदे - Chane ke Fayde

    जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि चना स्वास्थ्य के लिए कितना लाभकारी होता है। चने में कई सारे पोषक तत्व होते हैं, जिसमें विटामिन, फोस्फोरस और फाइबर आदि शामिल है। हालांकि, यदि आप इन्हें किश्मिश, दूध और गुड़ आदि के साथ लेते हैं तो इनके पोषक तत्व और भी अधिक बढ़ जाते हैं। तो चलिए बिना कोई देरी किए आपको अलग-अलग तरीकों से चनों का सेवन करने के फायदे बताते हैं।

    भुने चने खाने के फायदे

    - यदि आप भुने हुए चनों का सेवन करते हैं तो इससे आपको कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन और विटामिन भरपूर मात्रा में मिलेंगे।
    - नियमित रूप से भुने हुए चनों का सेवन करने से आपके शरीर में खून की कमी की समस्या दूर होती है। चनों में काफी अधिक मात्रा में आयरन होता है, जो शरीर में खून की कमी को दूर करने में मदद करता है। इस वजह से चना एनिमिया के मरीजों के लिए बहुत ही लाभकारी होता है।
    - यदि आप अपना वजन घटाना चाहते हैं तो भी आप भुने हुए चनों को अपना इवनिंग स्नैक बना सकती हैं। इसके लिए आपको रोजाना एक मुट्ठी भुने हुए चने खाने हैं। इससे आपका पेट भी अधिक समय के लिए भरा रहेगा और आपका वजन भी कम होगा।
    - कई बार गलत लाइफस्टाइल और खानपान की वजह से कब्ज की परेशानी होती है। ऐसे में भुने हुए चनों का सेवन करने से आपको इससे राहत मिलती है। अगर आपको कब्ज की बहुत अधिक समस्या रहती है तो आपको भुने हुए चनों को अपनी डायट का हिस्सा बना लेना चाहिए।
    - भुने हुए चने (भुने हुए चने और गुड़ खाने के फायदे) शर्करा के मरीजों के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। भुने हुए चनें ग्लूकोज की मात्रा को सोख लेते हैं और शुगर को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं। इस वजह से डायबिटीज के रोगियों को भी रोजाना भुने हुए चनों का सेवन करना चाहिए।

    भीगे चने खाने के फायदे

    - यदि आप भीगे हुए चने खा रहे हैं तो सबसे पहले आपको बता दें कि भीगे हुए चनों का सेवन सुबह खाली पेट ही करें। 
    - यदि आप रोजाना सुबह भीगे हुए चनों का सेवन करते हैं तो आपकी इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होती है। साथ ही आपके शरीर को सबसे अधिक पोषण भीगे हुए काले चने खाने से ही मिलता है। इस वजह से आपको रोज सुबह भीगे हुए चने खाने से पहले रात को सोने से पहले एक मुट्ठी भिगो कर रख देना चाहिए।
    - अधिकतर बीमारियों का कारण पेट की समस्याएं ही बनती हैं। ऐसे में यदि आप नियमित रूप से भीगे हुए चनों का सेवन करते हैं तो इन समस्याओं से निजात पा सकते हैं। इसके लिए आपको भीगे हुए चनों में नींबू और अदरक मिला कर खाना चाहिए।
    - भीगे हुए चने आपकी एनर्जी को भी बढ़ाते हैं। इसके लिए आपको भीगे हुए चनों में नींबू, अदरक, नमक, कालीमिर्च आदि को डालकर सुबह नाश्ते में खाना चाहिए। इससे आप पूरा दिन एनर्जेटिक महसूस करेंगे।
    - इसके अलावा भीगे हुए चने भी भुने हुए चनों की तरह मोटापा घटाने में भी मदद करते हैं। भीगे हुए चनों में भी फाइबर होता है और इस वजह से इनका सेवन करने से आपका पेट अधिक समय तक भरा हुआ महसूस होता है।

    चना और किशमिश के फायदे

    - भीगे हुए चना और किशमिश (चना और किशमिश के फायदे) खाने से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। भीगी हुई किशमिश और चनों में पोटैशियम पाया जाता है जो हाइपरटैशन की समस्या को दूर करता है और ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। 
    - भीगे हुए चने और किशमिश खाने से कोलेस्ट्रोल भी नहीं बढ़ता है और दिल की तकलीफ दूर रहती है। इसमें जो पोषक तत्व पाए जाते हैं उनसे दिल स्वस्थ रहता है। इस वजह से आपको रोज सुबह भीगी हुई किशमिश और चना खाना चाहिए।
    - हमारे शरीर में बहुत तरह के केमिकल रिएक्शन होते रहते हैं और इनकी वजह से टॉक्सिन बनते रहते हैं। इन टॉक्सिन के कारण ही हमें बहुत सी बीमारियां होती हैं। हालांकि, यदि आप नियमित रूप से भीगी हुई किशमिश और चनों का सेवन करते हैं तो आपके शरीर के सारे टॉक्सिन आसानी से बाहर निकल जाते हैं और आपको स्वस्थ महसूस होता है। 
    - भीगे हुए चनों और किशमिश का पानी आपके लिवर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इससे आपका लिवर स्वस्थ रहता है और साथ ही आपकी पाचन शक्ति भी बेहतर होती है। 
    - भीगे हुए चनों और किशमिश में एंटीबायोटिक्स पाए जाते हैं जो बुखार को जल्दी ठीक करने में मदद करते हैं। 
    - केवल स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि निखरी, कोमल त्वचा के लिए भी किश्मिश और चना बहुत ही फायदेमंद होता है। यदि आप रोजना भीगे हुए चने और किशमिश का पानी पीते हैं तो आपकी स्किन पर झुर्रियां नहीं होती है। 

    काले चने के फायदे

    - काले चने में काफी अधिक मात्रा में फाइबर होता है और इस वजह से वजन घटाने और पाचन तंत्रिका के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यदि आप रातभर भिगो कर रखे गए चनों को सुबह में खाली पेट खाते हैं तो उससे कब्ज आदि की समस्याएं भी दूर हो जाती हैं। साथ ही भीगे हुए चनों के पानी में भी आयरन होता है और इस वजह से ये स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।
    - इसके अलावा नियमित रूप से सुबह खाली पेट चने खाने से आपको दिनभर एनर्जेटिक महसूस होगा।
    - काले चने डायबिटीज के मरीजों के लिए भी फायदेमंद होता है और ये शुगर को नियंत्रित रखने में मदद करता है।
    - यदि आपके शरीर में खून की कमी है तो भी आपको अपनी डाइट में काले चनों को शामिल कर लेना चाहिए। इससे आपके शरीर में खून की कमी दूर हो जाएगी।

    अंकुरित चना खाने के फायदे

    - यदि आपको यूरिन से संबंधित कोई समस्या है तो आपको अंकुरित चनों (अंकुरित चना खाने के फायदे) का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा भी अंकुरित चना कई समस्याओं को दूर करने में कारगर है।
    - यदि आप अंकुरित चना को मूंग दाल के साथ भिगो कर खाते हैं तो इससे आपको और भी अधिक मात्रा में प्रोटीन मिलता है। ऐसे में आपकी थकान की समस्या दूर होती है। हालांकि, इसके लिए जरूरी है कि आप नियमित रूप से अंकुरित चना का सेवन करें।
    - खाली पेट अंकुरित चना खाने से शरीर में ग्लूकोज की मात्रा को बढ़ने से रोका जा सकता है। ऐसा करने से आपका ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है और आपको डायबीटिक होने का खतरा कम हो जाता है।
    - खाली पेट अंकुरित चना खाने से आपके तनाव की समस्या दूर होती है।

    चना और गुड़ खाने के फायदे

    - गुड़ और चने (गुड़ चना खाने के फायदे) का सेवन करने से चेहरे पर निखार आता है और चेहरा चमकदार बनता है।
    - यदि आप रोज वर्कआउट करते हैं और आपको मसल बनानी है तो आपको गुड़ और चना का सेवन करना चाहिए। इससे आपकी मसल्स बनेंगी और आपको प्रोटीन भी मिलेगा।
    - केवल मसल्स बनाने ही नहीं बल्कि वजन को घटना के लिए भी आप गुड़ और चना का सेवन कर सकते हैं। नियमित रूप से इसका सेवन करने से आपका वजन कम होने लगेगा।
    - दिमाग और याददाश को तेज करने के लिए भी आपको गुड़ और चना मिलाकर खा सकते हैं। इसमें बी6 विटामिन होता है, जो आपके दिमाग के लिए बहुत ही अच्छा होता है।

    सोयाबीन और चना खाने के फायदे

    - यदि आपका वजन कम है और आप अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आप अपनी डाइट में चने और सोयाबीन को शामिल कर सकते हैं।
    -  चना और सोयाबीन का सेवन करने से आपका स्वास्थ्य तो बेहतर होगा ही लेकिन साथ ही आपका वजन भी बढ़ने लगेगा।
    - इसके लिए आपको नियमित रूप से भीगे हुए चने और सोयाबीन खाने की आवश्यकता है।

    चना और बादाम के फायदे

    - चना और बादाम (चना और बादाम के फायदे) के अपने अलग अलग फायदे होते हैं और इस वजह से आप दोनों का साथ में भी सेवन कर सकते हैं।
    - चना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है और  बादाम आपके दिमाग के लिए बहुत ही अच्छा होता है।
    - चना और बादाम को आपको रात में भिगो कर और सुबह खाली पेट ही खाना चाहिए। ऐसा करने से आपको इनका अत्यधिक लाभ मिलेगा।

    ज्यादा चना खाने के नुकसान - Chana Khane ke Nuksan

    वैसे तो चने (चने खाने के नुकसान) कई प्रकार से आपके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं लेकिन फिर भी अत्यधिक मात्रा में इनका सेवन करने से आपके शरीर को नुकसान (Chane Khane ke Nuksan) भी पहुंच सकता है। यदि आप बहुत अधिक मात्रा में चने खाते हैं तो आपका शरीर इन्हें पचा नहीं पाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि चनों में काफी अधिक मात्रा में फाइबर होता है। इसके परिणामस्वरूप आपके पेट में सूजन, एठन आदि समस्याएं हो सकती हैं।
    इसके अलावा चने आपकी सेहत के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं और हमने जैसा इस लेख में बताया है, वैसे आप चने का सेवन कर सकते हैं। हालांकि, ध्यान रखें कि आप एक मुट्ठी चने ही खाएं क्योंकि इससे ज्यादा चने आपको नुकसान दे सकते हैं।

    चने खाने के फायदे से जुड़े सवाल और जवाब - FAQ’s

    क्या चने खाने से वजन बढ़ता है?

    जी नहीं, यदि आप सही तरीके से चनों का सेवन करते हैं और साथ में थोड़ा बहुत व्यायाम भी करते हैं तो इससे आपका वजन कम होता है।

    चना कितना खाना चाहिए?

    यदि आप भीगे हुए चने खा रह हैं तो आपको एक मुट्ठी से ज्यादा चने नहीं खाने चाहिए।

    भीगे चने कितने दिन खाना चाहिए?

    आपको वैसे रोजाना भीगे हुए चने खाने चाहिए लेकिन यदि आप ऐसा नहीं कर पाते हैं तो आपको हफ्ते में कम से कम नहीं तो 3 दिन भीगे हुए चने जरूर खाने चााहिए।

    चना खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए?

    चना खाने के बाद कभी भी आचार या फिर करेला नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे आपके शरीर को नुकसान पहुंचता है।

    भुना चना कब खाना चाहिए?

    भुना चना आप शाम के स्नैक के वक्त या फिर दिन में किसी भी समय खा सकते हैं।

    भुने हुए चने में कितनी कैलोरी होती है?

    100 ग्राम भुने हुए चनों में 164 कैलोरी होती है।

    चना खाने के बाद दूध पी सकते हैं क्या?

    हां आप चना खाने के बाद दूध पी सकते हैं लेकिन ये दोनों पदार्थ ही अमीलिय हैं और इस वजह से आपको कम से कम 2 घंटों के अंतर के बाद ही दूध पीना चाहिए।

    चना में क्या क्या पाया जाता है?

    चना (चने में प्रोटीन की मात्रा) में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन सी, विटामिन बी – 6 और फोलेट आदि तत्व पाए जाते हैं।

    उबले हुए चने खाने से क्या फायदा होता है?

    उबले हुए चनों के पानी में काफी अधिक मात्रा में आयरन होता है और यदि आप नियमित रूप से इस पानी का सेवन करते हैं तो आप में खून की कमी दूर होती है। इसके अलाव आप अधिक ऊर्जावान भी बनते हैं।

    POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

    Beauty

    Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

    INR 999 AT MyGlamm