अपनाएं ये छोटे-छोटे वास्तु टिप्स घर से कोसों दूर रहेंगी बीमारियां और खुशहाल बीतेगा जीवन

अच्छी सेहत के लिए वास्तु टिप्स, Vastu Tips for Good Health, vastu for health

हमारे बड़े-बुजुर्ग हमेशा कहते हैं कि, 'पहला सुख निरोगी काया, दूसरा सुख जेब में हो माया।' यदि काया अर्थात शरीर रोगी है तो आप धन कैसे कमाएंगे। इसीलिए स्वास्थ्य सबसे ज्यादा बढ़कर है। हमारी खराब लाइफस्टाइल, तनाव और प्रदूषण के अलावा घर का वास्तु (vastu for health) भी हमारी सेहत पर बुरा असर डाल सकता है। अगर आप स्‍वस्‍थ दिनचर्या के साथ-साथ वास्‍तु के कुछ उपायों को अपनायेंगे तो आप अपने घर से बीमारियों को दूर रख सकते हैं।

अच्छी सेहत के लिए वास्तु टिप्स Vastu Tips for Good Health in Hindi

वास्तुशास्त्र के हिसाब से अगर कुछ खास बातों का ध्यान रखा जाए तो आप और आप परिवार बीमारियों की चपेट में आने से बच सकता है और एक खुशहाल जिंदगी जी सकते हैं। दरअसल, वास्तु-उर्जा के तीन क्षेत्र माने जाते हैं। पहला उत्तर-पूर्व, दूसरा ब्रह्मस्थान (मध्य) और तसीरा दक्षिण-पश्चिम स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं। इन दिशा क्षेत्रों में वास्तु दोष होना घर के सदस्यों को अलग-अलग बीमारियों से ग्रसित कर सकता है। यहां वास्तु एक्सपर्ट योगेश मिश्र जी बता रहें अच्छी सेहत के वास्तु टिप्स (Vastu Shastra for good health)।

  • घर के ब्रम्ह्मास्थान पर रेकी क्रिस्टल्स (Reiki crystals) रखना शुभ माना जाता है। इसको रखने से घर में बीमारियां दूर रहती हैं।
  • घर के अंदर और आस-पास सूखा पेड़ नहीं होना चाहिए। वास्तु के अनुसार सूखे पेड़ या ठूंठ से घर में नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ा सकते हैं और इससे आपके घर के सदस्यों का स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है। 
  • घर में सुख-समृद्धि और बेहतर स्वास्थय के लिए घर में पेड़ों को हरा-भरा बनाये रखें और अगर सूख जाये तो उसे हटा दें। हो सके तो घर में सूरजमुखी का पौधा लगाएं।
  • घर के उत्तरपूर्व में लाल रंग होना या किसी मर्म-स्थान पर कीलें लगी होना माइग्रेन या सिरदर्द दे सकता है।

  • घर के ब्रह्मस्थान यानि मध्य में पानी रखने या फिर नलपंप आदि होने की वजह से रीढ़ की हड्डी संबंधी बीमारी या चोट लगने की खतरा रहता है।
  • वहीं घर के दक्षिण-पश्चिम में रसोई होना खराब माना जाता है। इससे घर की महिलाओं को कमर या पैरों में हमेशा दर्द की शिकायत बनी रहती है।
  • घर के दक्षिण-पूर्व में घुसलखाने या टॉयलेट आदि बनाने का भी परिवार वालों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। 
  • घर के दक्षिण हिस्से में काला रंग नहीं कराना चाहिए। इससे किडनी संबंधी रोग होने का भी अशंका होती है।

  • वहीं अगर घर में किसी व्यक्ति की काफी लंबे समय से दवाइंया चल रही है लेकिन उसका फायदा नहीं हो रहा है तो उसे उत्तर-पूर्व में रखने की सलाह दी जाती है। इससे दवाइंया तेजी से अपना असर दिखाती हैं।
  • हनुमान जी को स्वस्थ्य का स्वामी माना जाता है। इसीलिए आपके घर मे हनुमान जी की तस्वीर या मूर्ति जरूर होनी चाहिए।
  • अगर घर में कोई व्यक्ति बीमार है तो उसके कमरे की उत्तर-पूर्व दिशा में कैंडल जलानी चाहिए।

POPxo की सलाह :  MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

Beauty

Glow Skincare Everyday Essentials Kit

INR 3,585 AT MyGlamm