टूथपेस्ट पर बनें काले, लाल, हरे निशान सीधा असर डालते हैं आपकी सेहत पर, जानिए इनका मतलब

toothpaste, natural ingredients, taste, toothpaste brand, color sign,

दातों की सफाई हमारी रोज़मर्रा की ज़िंदगी अहम हिस्सा है। डॉक्टर भी दिन में दो बार दातों को साफ करने की सलाह देते रहते हैं। पहले के ज़माने में बबूल की लकड़ी की दातून बनाकर दातों में घिसा जाता था। समय के साथ दातून की जगह टूथपेस्ट और टूथब्रश ने ले ली। टूथब्रश तो हम अपनी सहूलियत के हिसाब से मुलायम ब्रिसेल वाला खरीद लेते हैं लेकिन टूथपेस्ट (toothpaste) खरीदते समय आप किन चीज़ों को ध्यान में रखते हैं। उसका टेस्ट या उसका ब्रांड? अगर आप इन दोनों चीज़ों को देखकर अपने लिए टूथपेस्ट (toothpaste) खरीदते हैं तो हम आपको बता दें कि आप ऐसा करके सीधा अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

टीवी पर टूथपेस्ट (toothpaste) का लुभावना विज्ञापन देखा और बस खरीद लिया, बिना यह सोचे कि जिस टूथपेस्ट पर आप अपने दांत दांव पर लगा रहे हैं वो इस काबिल भी है  नहीं। टूथपेस्ट (toothpaste) स्वाद और ब्रांड देखकर नहीं बल्कि उनमें बने कलर के निशान को देखकर खरीदने चाहिए। दरअसल, हर टूथपेस्ट के पीछे काले, लाल, हरे और नीले रंग के निशान बने होते हैं। यह रंग आपसे कुछ कहते हैं, मगर क्या? जानिए यहां। 

काला रंग

कोई भी टूथपेस्ट (toothpaste) खरीदते समय सबसे पहले उसके पीछे बने रंग के निशान को चेक करिए। अगर यह रंग काला है तो उस टूथपेस्ट (toothpaste) को भूलकर भी नहीं खरीदना चाहिए। इस तरह का टूथपेस्ट पूरी तरह से केमिकल युक्त होता है, जो आपके दांतों के साथ स्किन पर भी बुरा असर डालता है।

नीला रंग

अब बारी आती है नीले रंग की। टूथपेस्ट (toothpaste) खरीदते समय उसे पलट कर नीचे की तरफ देखिये। अगर वहां नीला निशान बना है तो इसका मतलब है कि इसमें नेचुरल इंग्रीडिएंट्स के साथ कुछ दवाइयां मिलाई गई हैं। इस तरह टूथपेस्ट को काफी हद तक सुरक्षित माना गया है। अगर आप दांतों की किसी समस्या गुज़र रहे हैं तो डॉक्टर से सलाह लेकर नीले निशान वाले टूथपेस्ट (toothpaste) का इस्तेमाल किया जा सकता है।

लाल रंग

टूथपेस्ट (toothpaste) के पीछे बने लाल रंग के निशान का मतलब है कि इसमें नेचुरल इंग्रीडिएंट्स के साथ केमिकल का इस्तेमाल किया गया है। लाल रंग के निशान वाले टूथपेस्ट को काले रंग के निशान वाले टूथपेस्ट के मुकाबले थोड़ा सुरक्षित समझा जाता है। मगर कोशिश करें कि इसका ज्यादा इस्तेमाल न करें।

हरा रंग

आखिर में आता है हरा रंग। जैसा कि रंग से ही वाकिफ है, हरे रंग वाला टूथपेस्ट (toothpaste) पूरी तरह से नेचुरल इंग्रीडिएंट्स से बना होता है। दांतों के लिहाज़ से इसे सबसे ज्यादा सुरक्षित माना जाता है। इसलिए अगली बार जब भी टूथपेस्ट खरीदने जाएं तो उसके स्वाद और ब्रांड को नहीं बल्कि हरे निशान को देखकर ही खरीदें।

POPxo की सलाह: MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

Beauty

Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

INR 999 AT MyGlamm