येलो से लेकर ऑरेंज तक जानें अलग-अलग कलर करेक्टर कंसीलर के फायदे

येलो से लेकर ऑरेंज तक जानें अलग-अलग कलर करेक्टर कंसीलर के फायदे

हर किसी की त्वचा अलग प्रकार की होती है। किसी की त्वचा पर पिगमेंटिड एरिया होता है तो वहीं किसी की स्किन पर डार्क सर्कल और ब्लेमिश होते हैं। हालांकि, ये पूरी तरह से उस व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वो उन्हें मेकअप से छिपाना चाहता है या फ्लॉन्ट करना चाहता है। अगर हम पुराने समय की बात करें तो उस वक्त बहुत अधिक मेकअप प्रोडक्ट नहीं हुआ करते थे लेकिन आज के वक्त में आपके पास कई तरह के मेकअप प्रोडक्ट हैं, जिनकी मदद से आप खुद को अपनी पसंद का लुक दे सकते हैं। इन्ही में से एक हैं कलर करेक्टिंग कंसीलर।
कलर करेक्टिंग कंसीलर उन महिलाओं के लिए बेस्ट हैं, जो अपनी पिगमेंटिड स्किन या फिर रेडनेस को लेकर कंफर्टेबल नहीं होती है। हालांकि, इसके लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि उन्हें किस तरह के कलर करेक्टिंग कंसीलर का इस्तेमाल करना चाहिए। तो चलिए आपको इस लेख में अलग-अलग कलर करेक्टिंग कंसीलर (Color Correcting Concealer) के फायदों के बारे में बताते हैं।

त्वचा के अनुसार चुनें सही कलर करेक्टर कंसीलर- How to Use Different Color Corrector Concealer in Hindi

रेडनेस के लिए येलो कलर करेक्टिंग कंसीलर

जिन लड़कियों या फिर महिलाओं का कॉम्पलेक्शन काफी लाइट होता है, उनके चेहरे पर अक्सर रेडनेस दिखाई देती है। दिन के वक्त ये और भी अधिक नजर आती है। इस वजह से यदि आप किसी सादी या फिर फंक्शन के लिए तैयार हो रही हैं तो आपको मॉइश्चराइजर और प्राइमर लगाने के बाद अपनी रेडनेस को छिपाने के लिए येलो कलर करेक्टिंग कंसीलर (Color Corrector Concealer) का इस्तेमाल करना चाहिए। ये आपके स्किन टोन को ईवन करेगा और आपको बेहतर लुक देगा।

बर्थमार्क और मुहांसों के लिए ग्रीन कलर करेक्टिंग कंसीलर

कोई भी ऐसी चीज जो अलग से ही चेहरे पर नजर आए, जैसे डार्क बर्थमार्क या फिर मुहांसे के निशान को छिपाने के लिए आपको कुछ अलग चाहिए होता है। इस वजह से ग्रीन कलर करेक्टिंग कंसीलर इसके लिए बेस्ट है। हालांकि, इसके साथ आपको फुल कवरेज फाउंडेशन का इस्तेमाल करना चाहिए। साथ ही ऐसे फाउंडेशन का इस्तेमाल करें, जो ऑक्सिडाइज ना होता हो।

पिंक कलर करेक्टिंग कंसीलर स्किन को ब्राइटन अप करने के लिए

कलर करेक्टिंग कंसीलर का इस्तेमाल केवल मार्क्स को हटाने के लिए ही नहीं किया जाता है बल्कि ये आपको सटल टच भी देते हैं। अगर आप अपनी आंखों, रेडनेस और नाक के आस-पास के एरिया को कंसील करना चाहते हैं तो आप पिंक कलर करेक्टिंग कंसीलर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो पिंकिश टिंट का भी अपनी नाक पर इस्तेमाल  कर सकते हैं। 

ऑरेंज, रेड और पीच कलर करेक्टिंग कंसीलर डार्क सर्कल के लिए

डार्क सर्कल एक ही बहुत ही सामान्य समस्या है। पिगमेंटेशन हर किसी की त्वचा पर अलग-अलग होती है लेकिन उसे ऑरेंज, रेड और पीच कलर करेक्टर से छिपाया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि डार्क स्किन ब्लू या फिर पर्पल कलर की होती है। इस वजह से ऑरेंज कंसलीर इसके लिए बेस्ट है। हालांकि, इसके ऊपर आपको फुल फेस कवरेज फाउंडेशन का इस्तेमाल करना चाहिए।

पर्पल और ब्लू कलर करेक्टिंग कंसलीर

अगर आप ऑरेंज, ब्लू या रेड कलर करेक्टिंग कंसीलर का इस्तेमाल नहीं करना चाहती हैं तो आप पर्पल और ब्लू कलर करेक्टर कंसीलर का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये मुख्य रूप से डार्क स्किन टोन या फिर टैन स्किन के लिए बेस्ट ऑप्शन है। इसके लिए आपको अपने चेहरे को प्राइम करना होता है और उसके बाद कंसीलर लगाना होता है। अंत में आपको अपने फेस को फाउंडेशन से कवर करना होता है।

POPxo की सलाह: MyGlamm की इन कलर कंसीलर स्टिक से अपने मेकअप गेम को करें अप।

Beauty

Twin Faced Concealer Sticks - Toffee Dusky

INR 795 AT MyGlamm

Beauty

TWIN FACED CONCEALER STICKS - TOFFEE DUSKY

INR 795 AT MyGlamm