च्यवनप्राश के फायदे, उपयोग और नुकसान - Chyawanprash ke Fayde

च्यवनप्राश के फायदे,  Chyawanprash ke Fayde

च्यवनप्राश का आयुर्वेद में काफी अधिक महत्व है। इसे कई सारी जड़ी बूटियों के जरिए बनाया जाता है और ये बहुत ही पोष्टिक होता है। यह बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सभी के लिए फ़ायदेमंद होता है। च्यवनप्राश में मुख्य (chyawanprash ke fayde) रूप से आंवला, तुलसी, अश्वगंधा, नीम, केसर, पिप्पली, ब्राह्मी, शहद, घी, वसाका, लौंग, दाल चीनी, इलाचयी, बेल, अगुरू, पुनर्नवा, तेजपत्ता, हल्दी, नाग केसर, शतावरी और तिल के तेल से बनाया जाता है। हालांकि, इनके अलावा भी इसमें कई अन्य चीजें डाली जाती हैं। च्यवनप्राश सर्दियों में लोगों को जुखाम और खांसी से बचाता है। इसके अलावा यह शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करता है और कई तरीकों से शरीर के लिए फ़ायदेमंद (च्यवनप्राश के फायदे) होता है। आज हम आपको च्यवनप्राश खाने के फायदे, नुकसान, बनाने का तरीका आदि सारी चीजों के बारे में बताने वाले हैं। 

Table of Contents

    च्यवनप्राश खाने के फायदे - Chyawanprash Khane ke Fayde

    च्यवनप्राश सेहत के लिए कई तरीके से फायदेमंद होता है। खासतौर पर इसका सेवन सर्दियों में किया जाता है। दरअसल, च्यवनप्राश गर्म होता है और इस वजह से सर्दियों में इसका सेवन किया जाता है। तो चलिए आपको च्यवनप्राश खाने के कुछ फायदे बताते हैं। 

    स्वस्थ्य हृदय

    आजकल लोग बाहर या फिर जंक फूड खाना अधिक पसंद करते हैं। इस तरह के खाने में काफी अधिक मात्रा में कोलेस्ट्रोल पाया जाता है, जो दिल को नुकसान पहुंचाता है। वहीं आज के वक्त में दिल से संबंधित बीमारियां भी काफी बढ़ गई हैं। इस वजह से च्यवनप्राश (chyawanprash khane ke fayde) का सेवन करना काफी फ़ायदेमंद होता है। यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करता है और शरीर में मौजूद गंदगी को बाहर निकालता है। इसके अलावा च्यवनप्राश दिल की मांसपेशियों के लिए भी बहुत अच्छा होता है।

    बढ़ाएँ रोग प्रतिरोधक क्षमता

    च्यवनप्राश एक प्रकार का आयुर्वेदिक टॉनिक है, जो मनुष्य को स्वस्थ रखने में मदद करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी कि इम्यून सिस्टम को बेहतर (chyawanprash benefits in hindi) करता है। च्यवनप्राश एक स्वास्थ्य सप्लीमेंट है जो बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है और रोगों को दूर रखने में मदद करता है। च्ववनप्राश बनाने के लिए आंवले का इस्तेमाल किया जाता है। आंवले में काफी अधिक मात्रा में विटामिन सी होता है, जो इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है।

    बढ़ती उम्र को रोकने के लिए कारगर

    क्या आप जानते हैं कि च्यवनप्राश (chyawanprash banane ki vidhi) आपकी बढ़ती उम्र को भी रोक या फिर कम करता है। दरअसल, च्यवनप्राश में कई सारे एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं जो हमारी त्वचा को रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाते हैं। ये हमारी कोशिकाओं में पोषक तत्व पहुंचाते हैं और इसे सुधारने का काम करते हैं। साथ ही यह दिमाग में भी ऑक्सीजन की आपूर्ति करते हैं। इस वजह से नियमित रूप से च्यवनप्राश का सेवन करने से चेहरे की झुर्रियां और फाइन लाइन्स कम हो जाती है। ऐसे में आपकी खूबसूरती अधिक समय तक बनी रहती है और आप जवान लगते हैं।

    बेहतरीन मस्तिष्क

    च्यवनप्राश (chyawanprash khane se kya hota hai) हृदय, प्रतिरोधक क्षमता के साथ-साथ मस्तिष्क या यूं कहें कि दिमाग के लिए भी बहुत लाभकारी होता है। यह अनिद्रा, स्मरण शक्ति, पागलपन और अल्जाइमर आदि कई बीमारियों को दूर करता है। इसके अलावा च्यवनप्राश के सेवन से दिमाग भी तेज होता है।

    हाज़मा बेहतर रखे

    च्यवनप्राश पेट और पांचन तंत्र (chyawanprash khane ka tarika) के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह आंतो, आमाशय आदि अंगों को शक्ति देता है और उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह कब्ज को दूर रखने में भी मदद करता है।

    त्वचा को निखारे

    च्वनप्राश अंदर से शरीर को बेहतर बनाए रखने में मदद करता ही है लेकिन साथ ही त्वचा के लिए भी बहुत ही लाभकारी होता है। च्यवनप्राश में मौजूद पोषक तत्व और विटामिन त्वचा को निखारने में मदद करते हैं और त्वचा के निखार को बनाए रखते हैं। यदि आप इसका नियमित रूप से सेवन करेंगे तो आपको त्वचा पर भी इसका असर दिखाई देने लगेगा। 

    हड्डियों को करे मजबूत

    च्यवनप्राश हड्डियों को भी मजबूत (chyawanprash khane se kya hota hai) करने का काम करता है। कहा जाता है च्यवनप्राश का सेवन करने से हड्डियों को कैल्शियम मिलता है, जिससे वो मजबूत होती हैं। इस वजह से कैल्शियम भी किसी भी मनुष्य के लिए बहुत ही आवश्यक होता है। आप चाहें तो इसके लिए च्यवनप्राश का सेवन दूध के साथ कर सकते हैं। च्यवनप्राश दूध में मौजूद कैल्शियम को भी अवशोषित करने में मदद करता है। 

    सांस संबंधी परेशानी को भी करे दूर

    यदि आपको सांस से संबंधित कोई परेशानी है तो आपको च्यवनप्राश का सेवन जरूर करना चाहिए। च्यवनप्राश में मौजूद पिप्पली जड़ीबूटी सांस की समस्या को दूर करने में मदद करती है।
    जिन लोगों को सांस की समस्या होती है, उन्हें गर्म पानी के साथ च्यवनप्राश का सेवन करना चाहिए। साथ ही उन्हें और दूध और दही का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे च्यवनप्राश का अधिक असर होगा।

    ​च्यवनप्राश कब खाना चाहिए - Chyawanprash Kab Khana Chahiye

    च्यवनप्राश (chyawanprash kab khana chahie) खाने का सही समय सुबह खाली पेट होता है। सामान्य तौर पर सुबह के वक्त च्यवनप्राश खाना चाहिए और इसका दिन में एक बार सेवन करना काफी होता है। हालांकि, स्वास्थ्य अनुसार आप इसका सेवन दिन में दो बार भी कर सकते हैं। आप चाहें तो इसे साल के 12 महीने खा (chyawanprash khane ki vidhi) सकते हैं लेकिन सर्दियों में इसका सेवन करने से स्वास्थ्य को काफी अधिक लाभ होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह सर्दी और खांसी जैसी सामान्य परेशानियों को दूर रखने में मदद करता है।

    च्यवनप्राश खाने का तरीका - Chyawanprash Khane ka Tarika

    आप चाहें तो च्यवनप्राश (chyawanprash khane ka tarika) को सुबह खाली पेट खा सकते हैं। वहीं यदि आप चाहें तो इसे दूध के साथ भी ले सकते हैं और आप साल के 12 महीने इसका सेवन कर सकते हैं। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें कि आप च्यवनप्राश (chyawanprash kaise khaye) खाने के आधे घंटे बाद ही खट्टी और मसालेदार चीजें खाएं क्योंकि खट्टी और मसालेदार चीजें जड़ीबूटियों के प्रभाव को कम कर देती हैं। 

    घर पर च्यवनप्राश बनाने की विधि - Chyawanprash Banane ki Vidhi

    सामग्री
    - दो किलो आंवला
    - 25 ग्राम शतावरी, गोखरू, बेल, नागरमोथा, लौंग, गिलोय, जीवन्ती, पुनर्नवा, अश्वगंधा, छोटी इलायची, तुलसी के पत्ते, सफेद चंदन, शतावरी, वसाका और हल्दी की जड़।
    - 100 से 150 ग्राम घी और तिल का तेल
    - 20 ग्राम पिप्पली
    - 10 ग्राम तेज पत्ता
    - 25 ग्राम दाल चीनी
    - 1 ग्राम केसर
    - 250 ग्राम शहद
    - चीनी स्वादानुसार
    ऐसे बनाएं च्यवनप्राश
    - सबसे पहले आंवले को धो लें।
    - अब इसे एक बड़े बर्तन में कम से कम 5 लीटर पानी डालकर गर्म कर लें।
    - अब इसमें गोखरू के साथ उबालने वाली सारी चीजें डाल दें।
    - एक कपड़ा लें और इसमें गोखरू को लपेटकर अच्छे से बांध लें और पानी में डाल दें।
    - इसे मध्यम आंच पर कम से कम दो घटों के लिए पकने दें।
    - दो घंटे तक पकाने के बाद इसे 12 घंटों के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
    - अब एक अन्य बर्तन में सारे आंवले डालें और उनकी गुठली को निकाल लें।
    - अब आंवलों को मसलकर उनका पल्प बना लें।
    - तिल का तेल और घी लें और उसे एक बर्तन में डाल कर गर्म कर लें।
    - तेल और घी के गर्म होने के बाद उसमें आंवले के गूदे को डाल दें।
    - ध्यान रहे कि आप इसे बनाने के लिए लोहे की कड़ाई का ही इस्तेमाल करें।
    - कम से कम आधे घंटे तक इसे अच्छे से भून लें।
    - आंवला जब अच्छे से भुन जाएगा तो उसमें से घी अलग हो जाएगा।
    - अब आंवले में गुड़ या फिर चीनी डालें और फिर उसे पकाते रहें।
    - याद रहे कि इस दौरान आप इसे हिलाते रहे और मिलाते रहें वरना यह चिपक जाता है।
    - इस दौरान आप पिप्पली, दालचीनी, तेज पत्ता, नागकेसर, केसर और छोटी इलायची को पीसकर बारिक पाउडर तैयार कर लें।
    - आंवले की पेस्ट बन जाने के बाद इसमें तैयार किए गए पाउडर को मिला लें।
    - इसके साथ ही इसमें 250 ग्राम शहद भी डाल लें।
    - अब इसे अच्छे से मिक्स कर लें और बस आपका च्यवनप्राश तैयार है। 

    च्यवनप्राश खाने के नुकसान - Chyawanprash Side Effects in Hindi

    वैसे तो च्यवनप्राश के कोई बहुत अधिक गंभीर नुकसान नहीं होते हैं लेकिन फिर भी कई बार इसके कुछ दुष्प्रभाव (chyawanprash side effects in hindi) लोगों को देखने को मिलते हैं। 
    - कई लोग अधिक मात्रा में च्यवनप्राश का सेवन तो कर लेते हैं लेकिन इसे पचा नहीं पाते हैं। ऐसे लोगों को कम मात्रा में च्यवनप्राश का सेवन करना चाहिए।
    - वहीं कुछ लोगों को च्यवनप्राश सूट नहीं करता है और इसका सेवन करने से उन्हें दस्त लग सकते हैं।
    - जो लोग दूध के साथ च्यवनप्राश खाते हैं, उन्हें कई बार अपच या फिर गैस की समस्या हो जाती है। ऐसा भी देखा गया है कि च्यवनप्राश के अधिक दुष्प्रभाव तब होते हैं जब इसका सेवन दूध के साथ किया जाता है। 
    -  कई लोगों को च्यवनप्राश का सेवन करने से पेट में जलन होती है। इस वजह से उन लोगों को च्यवनप्राश लेने के आधे घंटे के बाद दूध पीना चाहिए।
    - च्यवनप्राश में चीनी भी होती है और इस वजह से मधुमेह से पीड़ित लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। या फिर इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

    सबसे अच्छा च्यवनप्राश कौन सा है?

    मार्केट में कई सारे च्यवनप्राश मिलते हैं और उनमें से कुछ बहुत ही प्रसिद्ध हैं। हालांकि, इनमें से कौन सा सबसे अच्छा है यह कह पाना थोड़ा मुश्किल होता है। फिर भी हम यहां आपके लिए कुछ च्यवनप्राश लाए हैं, जिन्हें कई लोग खाते हैं और ये काफी प्रसिद्ध हैं।

    डाबर च्यवनप्राश

    डाबर का च्यवनप्राश (डाबर च्यवनप्राश) बाजार में बिकने वाले कई अन्य च्यवनप्राश के मुकाबले काफी मशहूर है। कंपनी दावा करती है करती है कि यह च्यवनप्राश काफी फायदेमंद है। कंपनी के मुताबिक इसका सेवन बच्चों से लेकर बूढ़ों तक कोई भी कर सकता है।

    बैद्यनाथ च्यवनप्राश

    बैद्यनाथ च्यवनप्राश भी काफी मशहूर है। इसकी कीमत भी अन्य च्यवनप्राश के मुकाबले कम है। कंपनी का कहना है कि यह च्यवनप्राश शरीर में ऊर्जा बनाए रखने में मदद करता है। 

    झंडू च्यवनप्राश

    झंडू च्यवनप्राश भी काफी अधिक लोगों द्वारा खरीदा जाता है। साथ ही यह शुगरफ्री भी है। 

    पतंजलि च्यवनप्राश

    पतंजलि कंपनी काफी तेजी से लोगों के बीच लोकप्रीय बन गई थी और आज इसके च्यवनप्राश का कई लोग इस्तेमाल करते हैं। कंपनी का कहना है कि यह बेहद ही फायदेमंद है और स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है। 

    च्यवनप्राश से जुड़े सवाल और जवाब

    1. पतंजलि च्यवनप्राश के प्रकार क्या है?

    मार्केट में दो तरह के पतंजलि च्यवनप्राश उपलब्ध हैं। इनमें एक सामान्य पतंजलि च्यवनप्राश है और एक पतंजलि स्पेशल च्यवनप्राश है। इन दोनों की कीमतों में थोड़ा बहुत अंतर है।

    2. क्या च्यवनप्राश गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा होता है?

    अभी तक यह स्पष्ट रूप से मालूम नहीं है कि च्यवनप्राश गर्भावस्था में खाना चाहिए कि नहीं। इस वजह से हम आपको यही सलाह देंगे कि गर्भावस्था में इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

    3. क्या मार्केट में शुगर फ्री च्यवनप्राश मौजूद हैं?

    जी हां मार्केट में आपको शुगर फ्री च्यवनप्राश भी मिल जाएंगे। जानकारी के मुताबिक डाबर का शुगर फ्री च्यवनप्राश भी आता है, जिसे मुख्य रूप से मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए लॉन्च किया गया है।

    POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

    Beauty

    Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

    INR 999 AT MyGlamm