आज भी बेहद कारगर हैं दादी-नानी के ये घरेलू नुस्खे

आज भी बेहद कारगर हैं दादी-नानी के ये घरेलू नुस्खे

पुराने ज़माने में लोग वैद्य या डॉक्टर्स के चक्कर काटने के बजाय घरेलू नुस्खों से रोगों का उपचार करना बेहतर समझते थे। यही पुराने नुस्खे दादी-नानी के नुस्खों के तौर पर मशहूर होते चले गए और अभी तक लोग उन्हें मानते हैं। इन नुस्खों पर कई किताबें भी आ चुकी हैं और इनकी खासियत होती है कि इन्हें आज़माने के लिए आपको अलग से कोई मेहनत नहीं करनी पड़ती है। किचन में मौजूद सामग्रियों की मदद से इनका सही इस्तेमाल कर बीमारियों को दूर भगाया जा सकता है। हालांकि, इनका इस्तेमाल तभी करें, जब आपको उनमें से किसी सामग्री से किसी प्रकार की कोई एलर्जी न हो। इन नुस्खों पर आंख मूंद कर भी भरोसा न करें। जानिए, कुछ ऐसे ही घरेलू नुस्खों के बारे में

आसान व उपयोगी घरेलू उपाय Easy Home Remedies

कई बार हम लोग घर के बड़े-बुज़ुर्गों की बातों को अनदेखा कर देते हैं, बिना यह सोचे कि उनकी बातें बरसों का अनुभव और पीढ़ियों से चली आ रही मान्यताओं का हिस्सा हैं। अगर आप भी किसी तरह के दर्द या बुखार से पीड़ित हैं तो दादी-नानी के ये घरेलू नुस्खे (gharelu nuskhe) अपना सकते हैं। 

हल्दी वाला दूध

शरीर के किसी हिस्से में दर्द हो रहा हो, कमज़ोरी महसूस हो रही हो या कहीं चोट लग गई हो तो आप दूध में हल्दी उबालकर पी सकते हैं। इससे न सिर्फ आपको दर्द से राहत मिलेगी, बल्कि आपकी इम्युनिटी भी स्ट्रॉन्ग हो जाएगी। अगर आप किसी तरह की दवाई का कोर्स कर रहे हैं तो उसके साथ भी हल्दी वाले दूध को जारी रख सकते हैं।

अगर आपको दूध से एलर्जी हो तो इसे न लें।

नींबू के रस में सेंधा नमक

सेंधा नमक को सबसे शुद्ध नमक माना जाता है। यह नैचुरल मिनरल्स से भरपूर होता है और पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है। नींबू के रस में सेंधा नमक मिलाकर पीने से गैस की समस्या दूर हो जाती है और डकार आने लगती है। ब्लोटिंग की समस्या से ग्रस्त लोग भी इस नुस्खे को आज़मा सकते हैं।

हालांकि, हाई ब्लड प्रेशर और हृदय संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोगों को इससे परहेज करना चाहिए क्योंकि उन्हें नमक कम खाने की सलाह दी जाती है।

शहद और अदरक का मेल

अगर आप खांसी, गले में सूजन या कफ की समस्या से परेशान हैं और कई तरह के सिरप पीने के बावजूद ठीक नहीं हो पा रहे हैं तो अदरक और शहद का मेल आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। इसके लिए अदरक को पानी में उबाल लें और फिर उसे शहद के साथ खा लें। आप चाहें तो अदरक को घिस कर भी उसमें शहद मिलाकर खा सकते हैं।

हालांकि, डायबिटीज़ के लोगों को शहद की मात्रा का ख्याल रखना चाहिए।

लैवेंडर ऑयल

अगर आप किसी तरह के स्ट्रेस में हों, सिर में बहुत तेज़ दर्द हो रहा हो, माइग्रेन का अटैक आया हो या घबराहट महसूस हो रही हो तो लैवेंडर ऑयल सूंघने से रिलैक्स महसूस कर सकते हैं। इसके लिए आप चाहें तो लैवेंडर की चाय पी लें या टिश्यू पेपर पर लैवेंडर ऑयल की कुछ बूंदें डालकर सूंघ लें।

हालांकि, सिर्फ इस पर सीमित न रहें, साथ में प्रॉपर इलाज भी करवाएं।

सूप से भागे फ्लू

सर्दी और खांसी वायरस से होने वाली समस्याएं हैं और ये आमतौर पर एंटीबायोटिक्स या किसी भी तरह की दवाई खाने से जल्दी ठीक नहीं होती हैं। गर्मागर्म सूप पीने से बंद नाक खुल जाती है और गले को भी राहत मिलती है। यह आपके शरीर को हाइड्रेटेड रखता है और कॉमन कोल्ड से जल्द निजात दिलाने में मदद करता है।

हालांकि, 36 घंटे से ज्यादा समय बीतने पर डॉक्टर को दिखा लेना बेहतर रहेगा।

हल्दी और नमक

हल्दी के जितने भी फायदों के बारे में बात कर ली जाए, वे कम ही पड़ जाते हैं। अगर आपके दांतों में दर्द रहता हो या वे कमज़ोर हों तो हम आपको एक अचूक नुस्खा बताने जा रहे हैं। हल्दी और सेंधा नमक को बारीक पीस लें, फिर उस मिश्रण में शुद्ध सरसों का तेल मिला लें और उसी अपने दांतों को सुबह-शाम उसी से साफ करें।

इससे आपके दांत मज़बूत बनेंगे और दर्द में भी राहत मिलेगी।

कच्चा आलू और टूथपेस्ट

किचन में काम करते वक्त जल जाना आम बात है। कई बार ध्यान न देने पर गर्म प्रेस के छू जाने से भी लोग जल जाते हैं। अगर आपके साथ भी कभी ऐसा हो गया है और घर में कोई दवा नज़र नहीं आ रही है तो बिना देरी किए उस पर टूथपेस्ट लगा लें। इससे तुरंत राहत मिल जाती है और फफोला भी नहीं पड़ता है।

इसके अलावा कच्चे आलू का रस निकालकर जले पर लगाने से भी आराम मिल जाता है।

अजवाइन, काली मिर्च और नमक

अगर आप पेट की समस्याओं से परेशान रहते हैं तो दादी-नानी के इस घरेलू नुस्खे को अपनाकर आपकी समस्या कुछ कम हो सकती है। अजवाइन, काली मिर्च और सेंधा नमक को एक साथ बराबर मात्रा में मिलाकर इनका चूरन बना लें।

इसके एक चुटकी चूरन को रोज़ाना रात को सोने से पहले गर्म पानी के साथ पीने से पेट संबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

नींबू का रस

नींबू में कई तरह की एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ तो पाई ही जाती हैं, उनके अलावा यह मोटापा दूर करने में भी कारगर होता है। रोज़ाना खाली पेट 1 गिलास पानी में 1 नींबू का रस मिलाकर पिएं, आपको अपने शरीर में फर्क महसूस होने लगेगा। 3 महीने तक निरंतर ऐसा करने से ही लाभ मिलेगा।

यह नैचुरल ड्रिंक आपको सारा दिन एनर्जेटिक भी रखेगी।

तेल की मालिश

आज-कल की बदली हुई लाइफस्टाइल की वजह से ज्यादातर लोग नींद न आने की समस्या से ग्रस्त होते जा रहे हैं। अगर आपको भी देर रात तक नींद नहीं आती है तो आपका विचलित होना स्वाभाविक है। हालांकि, एक तरीका है, जिससे आपको जल्दी और बेहतर नींद आ सकती है।

इसके लिए ज्यादा कुछ नहीं करना है, बस सोने से पहले सरसों के तेल से अपने पैरों की हल्की मालिश कर लें, आपकी नींद न आने की समस्या दूर हो जाएगी।