फैट फूड भी है शरीर के लिए अच्छा,जानिए इसके फायदे - Benefits of Eating Healthy Fat in Hindi

फैट फूड भी है शरीर के लिए अच्छा,जानिए इसके फायदे - Benefits of Eating Healthy Fat in Hindi

फैट का मतलब है मोटापा। हम यहीं सोच कर अपनी जीवनशैली से फैट फूड को पूरी तरह इग्नोर कर देते हैं। हमें लगता है कि फैट फूड खाने से हमारा वजन बढ़ेगा, इसलिए हम फैट खाना बिल्कुल ज्यादातर नज़रअंदाज़ ही करते हैं। जबकि हकीकत तो यह है कि जिस तरह बाकी पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए जरूरी हैं, ठीक उसी तरह फैट फूड का भी हमारे खान-पान में बहुत महत्व है। 
दरअसल, अपनी डाइट में अच्छे फैट को शामिल करना चाहिए, क्योंकि उससे शरीर में कई तरह के फायदे होते हैं, न सिर्फ शरीर में बल्कि त्वचा और बालों के लिए भी इसकी अहमियत कई गुना ज्यादा है। जानिए अच्छे और बुरे फैट के फायदे और नुकसान। साथ ही फैट फूड को क्यों करना चाहिए अपनी डाइट में शामिल।

Table of Contents

    फैट फूड खाना क्यों जरूरी है?

    फैट फूड को लेकर भ्रम मिटाना बेहद जरूरी है क्योंकि हेल्दी फैट मोनो अनसेचुरेटेड और पोलि अनसेचुरेटेड होते हैं, जो स्वास्थ्य खासतौर से हृदय के लिए बहुत अच्छे होते हैं। अच्छे फैट एलडीएल को कम कर इन्सुलिन को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसलिए बेहद जरूरी है कि फैट फूड डाइट में जरूर शामिल हों। फैट यानी वसा शरीर को क्रियाशील बनाने के लिए जरूरी है। इससे शरीर को शक्तिवर्धक ईंधन मिलता है।  

    फैट्स के प्रकार - Types of Fat in Hindi

    फैट्स दरअसल कई प्रकार के होते हैं, यह सच बात है कि कुछ फैट्स हमारे शरीर के लिए अच्छे नहीं होते हैं लेकिन कुछ लाभदायक भी होते हैं। ऐसे में ये जान लेना ज़रूरी है कि फैट कितने प्रकार के होते हैं और सबसे ज्यादा फैट किसमे होता है।दरअसल फैट्स दो प्रकार के होते हैं, सेचुरेटेड और अनसेचुरेटेड। अनसेचुरेटेड फैट्स शरीर के लिए अच्छा होता है,  इसलिए इन्हें गुड फैट्स कहा जाता है। अनसेचुरेटेड फैट्स के भी दो प्रकार होते हैं, एक मोनो अनसेचुरेटेड फैट्स और दूसरा पोली अनसेचुरेटेड फैट्स। पोली अनसेचुरेटेड फैट्स के भी दो प्रकार होते हैं। ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड। ओमेगा 3 मछली, वनस्पति और अलसी में मिलता है, ओमेगा 6 बीज, नट्स और वनस्पति में पाया जाता है। 

    सेचुरेटेड फैट्स क्यों हैं खराब

    सेचुरेटेड फैट्स क्या है (fat kya hai)? सेचुरेटेड फैट्स को बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने वाला माना जाता है, जिसकी वजह से हार्ट से संबंधित बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है। यही वजह है कि दिन में केवल छह प्रतिशत ही सेचुरेटेड फैट लेना चाहिए। अब बात आती है ट्रांस फैट्स की, तो यह खाने के स्वाद को तो बढ़ाता है, लेकिन इसके अधिक सेवन से डायबिटीज़, स्ट्रोक और भी कई बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। बिस्किट, कूकीज़, मक्खन, क्रैकर्स, पिज्जा ट्रांस फैट वाली चीजें है, जो शरीर के लिए हानिकारक है।

    गुड फैट क्या है?

    गुड फैट्स यानि अनसेचुरेटेड फैट्स अच्छे होते हैं।  यह फैट मछली और सब्जियों में पाए जाते हैं। आमतौर पर ऑयल को लेकर मतभेद रहता है कि कौन सा ऑयल अच्छा होता है, तो आपको बता दें कि जिन ऑयल में मोनो सेचुरेटेड फैट होता है, वो अच्छे माने जाते हैं। ऐसे में ऑलिव, केनोला, पीनट्स के ऑयल को बेहतर माना गया है। वहीं पोली अनसेचुरेटेड फैट्स के मुख्य स्त्रोत अलसी, सोयाबीन, सूरमुखी और फिश ऑयल को माना गया है। 

    फैट फूड खाने के फायदे - Fat Food Benefits in Hindi

    आपके शरीर को नियमित रूप से फैट की जरूरत है, इसलिए कहा गया है कि एक वयस्क व्यक्ति को प्रतिदिन 15 से 30 प्रतिशत फैट चाहिए ही होता है। मतलब हर दिन कम से कम 20 से 40 ग्राम फैट। शरीर को सही ढंग से काम करने के लिए शरीर में फैट जरूरी है। यह फैट ज्यादातर हृदय, फेफड़ों, गुर्दों, आंतों और मांसपेशियों के लिए लेना जरूरी होता है। वहीं प्रेग्नेंट वुमेन के लिए अतरिक्त फैट की जरूरत होती है। ऐसे में गुड फैट्स खाना बेहद जरूरी होता है। मगर जितना फैट ले रहे हैं, उसके अनुसार उसे बर्न करना भी जरूरी है। जानिए इसके सभी फायदे।

    फैट फूड से पाचन क्रिया दुरुस्त

    अच्छे फैट फूड खाने से पाचन क्रिया सुचारू रूप से काम करती है। बॉडी के डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए यह जरूरी है, साथ ही ये विटामिन ए, डी और के को भी घुलने में मदद करता है। इसकी वजह से ही एडिपॉज टिशूज की कमी पूरी होती है और शरीर में इंसुलिन प्रदान होते हैं।

    फैट फूड से मस्तिष्क का विकास

    डॉक्टर सलाह देते हैं कि अगर आप मस्तिस्क का विकास चाहते हैं तो आपको अच्छा फैट खाते रहना चाहिए। अच्छा फैट खाने से दिमाग पर अच्छा असर होता है। 

    सूजन की समस्या का समाधान

    फैट फूड खाने से सूजन संबधी बीमारियां भी जड़ से खत्म हो सकती है। साथ ही ये ऊर्जा का अच्छा स्त्रोत भी है। 

    फैट फूड से अच्छी नींद

    गुड फैट्स अच्छी नींद लेने देने में भी मदद करते हैं। दरअसल, फैटी एसिड के सेवन से डीएचए का लेवल कम होता है और फिर शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन रिलीज होता है, इसकी वजह से सोने में मदद मिलती है। 

    मजबूत हड्डियों के लिए

    हेल्थ विशेषज्ञों का मानना है कि अगर आपकी हड्डियां मजबूत रहती हैं तो उसका कारण गुड फैट होता है। माना गया है कि शरीर में फैटी एसिड बढ़े तो हड्डियों के कैल्शियम के मात्रा भी बढ़ जाती है, जिससे मजबूती आती है।

    शरीर का तापमान रहेगा सामान्य

    फैट फूड के सेवन से शरीर का तापमान भी  सामान्य हो जाता है। इसलिए इसका सेवन जरूरी है। 

    रक्त के थक्के जमने से रोके

    अक्सर चोट लगने पर उस जगह खून के थक्के जमने की समस्या हो जाती है। फैट फूड के सेवन से इस समस्या से भी छुटकारा मिलेगा। यही वजह है कि डॉक्टर भी इसे खाने की सलाह देते हैं। इसके अलावा जैतून का तेल भी फैट फूड का अच्छा स्त्रोत है, इसकी मालिश किये जाने से रक्त का प्रवाह अच्छा बना रहता है।

    फैट फूड से पोषक तत्व

    माना जाताे है कि अगर हेल्दी फैट वाले खाद्य पदार्थ का सेवन रोजाना किया जाए तो इसकी वजह से पोषक तत्वों के अवशोषण में भी वृद्धि होती है। 

    फैट फूड टेस्टोस्टेरोन के लिए

    टेस्टोस्टेरोन हार्मेन का स्तर बढ़ने के लिए अच्छे हेल्दी फैट फूड खाने चाहिए। हांलाकि टेस्टोस्टेरॉन की अधिक मात्र के दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं इसलिए इसके अधिक सेवन से बचना चाहिए।  

    गर्भवती महिलाओं के लिए

    फैट फूड गर्भवती महिलाओं को खाने की सलाह जरूर दी जाती है। क्योंकि महिलाओं में हार्मोनल तौर पर और बच्चे पैदा करने वाली प्रक्रिया में अतिरिक्त फैट की जरूरत होती है।

    मेनोपॉज के लिए

    गर्भवती होने के साथ-साथ जब महिलाएं मेनोपाॅज के चरण से गुजर रही होती है, तब भी उन्हें अच्छे फैट फूड खाने ही चाहिए।

    तनाव में फायदेमंद

    आपने अक्सर सुना होगा कि जब तनाव में रहें तो डार्क चॉकलेट खा लें, क्योंकि डार्क चाॅकलेट को अच्छा फैट फूड माना गया है। ऐसे में अगर आप तनाव में हैं तो अच्छा फैट खाने से आपको तनाव से थोड़ी मुक्ति मिल सकती है, यह स्ट्रेस लेवल भी कम करता है। मगर ध्यान रहे, तनाव में थोड़ा फैट खाना ठीक है, ज्यादा नहीं।

    डायबिटीज के मरीजों के लिए

    पनीर में मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड डायबिटीज से मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। उन्हें इसका सेवन करना चाहिए क्योंकि अच्छे फैट फूड से कैल्शियम, फास्फोरस, सेलेनियम मिलता है। 

    फैट फूड हृदय के लिए

    फैट फूड हृदय के लिए भी बेहद जरूरी होता है, क्योंकि इससे हृदय की धड़कन को सामान्य रखने में मदद मिलती है। साथ ही यह मांसपेशियों को भी क्रियाशील रखता है। ओमेगा 3 वाले फैटी एसिड भोजन से दिल के दौरे की आशंका भी कम हो जाती है इसलिए अच्छे फैट वाले ऑयल का ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

    करे कैंसर से रोकथाम

    अच्छे फैट फूड में दही की गिनती भी की जाती है। दही कैल्शियम, प्रोटीन, लैक्टोज, आयरन और फास्फोरस का अच्छा स्त्रोत है, इसलिए इसके सेवन से कोलोन कैंसर के रोकथाम में भी मदद मिलती है। 

    फैट फूड से ऊर्जा

    अच्छे फैट फूड जैसे कि ड्राई फ्रूट्स को अगर हम अपनी जीवनशैली में शामिल करें तो इससे ऊर्जा मिलती है, जिससे कि आप पूरे दिन तरोताजा रहते हैं।

    फैट फूड बालों के लिए

    फैट फूड बालों के लिए भी जरूरी माना गया है। इसके मुख्य स्त्रोत वाले आहार खाने से बाल स्वास्थ्य बने रहते हैं। इतना ही नहीं, बाल गिरने जैसी परेशानी से भी छुटकारा मिल जाता है। 

    फैट फूड स्किन के लिए

    अच्छे फैट फूड में ईपीए (Eicosapentaenoic Acid) मिलता है, जो कि त्वचा के लिए अच्छा होता है। सीड्स, जिसे अच्छा फैट माना जाता है, इनमें प्रोटीन, फाइबर, ओमेगा 3 फैटी एसिड भी होता है, इससे त्वचा में सूजन की समस्या खत्म हो जाती है, और त्वचा में निखार आता है। यह स्किन में ऑयल को कंट्रोल करता है, हाइड्रेट करता और चेहरे को झुर्रियों से बचाता है।

    फैट फूड वजन घटाने के लिए

    सुन कर आपको हैरानी हो सकती है, मगर यह सच है कि वजन घटाने में भी अच्छे फाइट फ़ूड की भूमिका होती है, जैसे अंडे में अच्छा फैट होता है, इसमें मिनिरल्स और विटामिंस भी होते हैं और यह वजन घटाने में मदद करता है, मखाना, एवोकाडो जैसे फूड आइटम में अच्छा फैट होता है, जो वजन कम करने में सहायक होता है। कीटो डाइट, जो इन दिनों काफी फेमस है, उसमें अच्छे फैट के स्त्रोत जैसे घी, पनीर, सीड्स आयल, ओलिव ऑयल जैसी चीजों को खाने की राय दी जाती है और जिससे वजन तेजी से घटता है।

    आंखों के लिए भी फायदेमंद

    अच्छा फैट फूड खाया जाये तो आंखों की रौशनी को भी फायदा मिलता है। इसके सेवन से आंखें भी प्रोटेक्ट होती हैं इसलिए डॉक्टर आंखों से जुड़ी समस्या होने पर मरीजों को अच्छा फैट फूड खाने की सलाह देते हैं। 

    डिप्रेशन में फैट फूड

    डॉक्टर्स का यह भी मानना है कि डिप्रेशन में व्यक्ति को फैट फूड खिलाना चाहिए, जैसे डॉक्टर्स ऐसे मरीजों को फिश यानी मछली खाने की राय जरूर देते हैं। फिश में मौजूद ओमेगा 3 डिप्रेशन को कम करने का काम करता है।

    बढ़े ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक

    अच्छे फैट फूड जैसे- सीड्स खाने से ब्लड प्रेशर सामान्य रहता है। ऐसे में अक्सर चिया और अलसी के सीड्स खाने की राय दी जाती है। इनकी गिनती हाई फैट प्लांट में की जाती है। इसमें ओमेगा फैटी एसिड एएलए होता है, जो काफी अच्छा होता है।  

    कोलेस्ट्रॉल करे कम

    जाहिर सी बात है कि अच्छे फैट फूड खाने से जब हृदय की समस्या कम हो रही है तो इसका मतलब है कि वह आपके कोलेस्ट्रॉल को भी कम करेगा। दरअसल, अच्छे फैट लेने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर अच्छा हो जाता है। अच्छे कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छा फैट जरूरी होता है। 

    अल्जाइमर के मरीजों के लिए

    दरअसल, अच्छा फैट दिमाग को सुचारू रूप से चलाने के लिए जरूरी है, ऐसे में कोकोनट, अल्जाइमर के मरीजों के लिए अच्छा होता है। अच्छे फैट से याद्दाश्त भी अच्छी बनी रहती है।

    इम्युनिटी बढ़ाने के लिए

    इम्युनिटी बढ़ाने के लिए भी अच्छे फैट्स खाने चाहिए, जैसे नट्स वगरैह। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए शरीर को फैट की जरूरत होती ही है। इसलिए नट्स, आयल, अंडा जैसे अच्छे फैट खाने में शामिल करें।

    फैट फूड को लेकर पूछे जाने वाले सवाल और जवाब - FAQs

    सवाल- नारियल को लेकर काफी कन्फ्यूजन है, इसे बैड फैट माना जाए या गुड?
    जवाब- दरअसल, नारियल में दोनों फैट होते हैं। निर्भर यह करता है कि आप उसे किस रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। नारियल तेल में जहा सेचुरेटेड फैट होता है, वहीं गोटा नारियल अच्छे फैट का स्त्रोत माना गया है। 
    सवाल- चॉकलेट से तो वजन बढ़ता है, फिर चॉकलेट अच्छा फैट कैसे हुआ?
    जवाब- जी हां, सामान्य रूप से बनने वाले चॉकलेट बैड फैट हैं, इसे नहीं खाना चाहिए। लेकिन डार्क चॉकलेट बनाने की प्रक्रिया अलग होती है और वह कई मायनों में सेहत के लिए अच्छी होती है। हां, मगर यह भी सच है कि आपको एक दिन में छोटा टुकड़ा ही डार्क चॉकलेट का लेना है, वह तभी सही है। ज्यादा खाने से आपका वजन बढ़ेगा। डार्क चॉकलेट हेल्दी है, इसलिए आम चॉकलेट की तुलना में उसकी कीमत भी बहुत अधिक होती है। 
    सवाल- मैंने सुना है की अच्छे फैट से ओस्टोपोरोसिस की समस्या नहीं होती है?
    सवाल- जी हां, यह सच है, जो लोग अपने डाइट में फिश ऑयल, ओमेगा 3 वाला भोजन करते हैं उन्हें इस बीमारी से छुटकारा मिल जाता है। 
    सवाल- अच्छा फैट फर्टिलिटी में किस तरह सुधार लाता है?
    जवाब- दरअसल, महिला और पुरुष दोनों को ही अच्छे फैट्स खाने चाहिए, अच्छे फैट्स से महिलाओं में फर्टिलिटी की समस्या में सुधार होता है। अच्छे फैट से नियमित माहवारी भी होती है और पुरुषों पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है।
    सवाल- ट्यूना फिश अच्छा फैट है या बुरा?
    जवाब- ट्यूना फिश में अच्छा फैट होता है। मछली में ओमेगा एसिड होने के कारण यह शरीर के लिए फायदेमंद होती है। 

    आपके लिए खुशखबरी! नए साल के आने की खुशी में POPxo भी अपने चाहने वालों के लिए लाया है #POPxoLucky2020 की सौगात। POPxo Zodiac कलेक्शन से आप अपनी राशि के अनुसार खरीद सकते हैं कॉफी/चाय मैजिक मग, नोटबुक्स, मोबाइल कवर्स और भी बहुत कुछ ... और वो भी 20% की आकर्षक छूट के साथ। तो फिर देर किस बात की, popxo.com/shop/zodiac-collection पर जाकर शुरू कीजिए शॉपिंग!