सेहत और सौंदर्य के लिए काजू खाने के फायदे - Kaju ke Fayde in Hindi

काजू खाने के फायदे - Kaju Khane ke Fayde

काजू (cashew) को अभी तक आप ड्राई फ्रूट के तौर पर ही जानते होंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि काजू स्वाद का ही नहीं, बल्कि सेहत का भी खजाना है? आइए जानते हैं।

Table of Contents

    काजू के पोषक तत्व - Nutrients of Cashew in Hindi

    रिसर्च के अनुसार, यह कॉपर, जिंक, मैग्नीशियम, पोटैशियम, आयरन, मैंगनीज, सेलेनियम, विटामिन सी, विटामिन बी 1 (थायामिन), विटामिन बी 2 (राइबोफ़्लिविन), विटामिन बी 3 (नियासिन), विटामिन बी 6, फोलेट, विटामिन ई और विटामिन के जैसे खाद्य मिनरल्स से भरपूर है। इसके यही गुण इसको अन्य मेवाओं का राजा बनाते हैं।

    एंटीआक्सीडेंट्स से भरपूर

    एक्सपर्ट के मुताबिक, 20 काजूओं में लगभग 1.2 ग्राम फैट और 115 कैलोरी होती है। कम वसा, कम कोलेस्ट्रॉल,ओलिक एसिड, प्रोटीन और फाइबर व एंटीआक्सीडेंट्स से भरपूर होता है काजू। इसके सेवन से मेटाबॉलिज्म भी सही रहता है।

    काजू के फायदे - Kaju Khane ke Fayde

    अगर हम काजू को मिठाइयों और त्योहारों से अलग रखकर अपने खाने में शामिल करें और डाइट का एक खास हिस्सा बनाएं तो काफी फायदे मिलेंगे।

    काजू खाने के बहुत से स्वास्थ्य लाभ हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में।

    एनर्जी गिविंग फूड

    काजू अपने गुणों और पोषक तत्वों के कारण एनर्जी देने वाला स्रोत कहलाता है। यदि शरीर में आलस्य है, चिड़चिड़ा पन है तो 2-4 काजू खाने से बहुत फर्क पड़ सकता है।

    बाल मजबूत करे

    काजू को प्रोटीन और कॉपर से ओत-प्रोत माना जाता है। इसी वजह से इसके सेवन से बाल मजबूत होते हैं और त्वचा में भी निखार आता है।

    मेमोरी बढ़ाए

    काजू में मौजूद सभी तत्वों के साथ विटामिन बी भी बहुतायत मात्रा में होता है। यदि इसे रोज़ सुबह खाली पेट शहद के साथ खाया जाए तो मेमोरी पावर बढ़ती है।

    सेक्स पावर बढ़ाए

    काजू का सेवन करने से सेक्स पावर बढ़ती है क्योंकि यह अमीनो एसिड आर्जिनिन का स्रोत है। इससे पुरुषों में नाइट्रिक ऑक्साइड का लेवल बढ़ जाता है।

    फर्टिलिटी बढ़ाए

    काजू में मौजूद कई महत्वपूर्ण तत्वों की वजह से वह फर्टिलिटी बढ़ाने में भी सहायक है। इसमें जिंक 5.78 मि ग्राम की मात्रा में पाया जाता है। काजू के सेवन से कुदरती तौर पर शरीर में जिंक का लेवल कंट्रोल में रहता है, जिससे इसे फर्टिलिटी में सहायक माना जाता है।

    एंटी कैंसर गुण

    काजू में मौजूद प्रोएंथोसायनिडिन्स (Proanthocyanidins), विटामिन ई, सेलेनियम और कॉपर (copper) जैसे फायदेमंद तत्व कैंसर रोधी माने जाते हैं। ये कैंसर को फैलने से रोकते हैं और पेट के कैंसर से बचाव भी करते हैं।

    हाइपरटेंशन

    पोटैशियम और मैग्नीशियम से भरपूर काजू को खाने से उच्च रक्तचाप की परेशानी से बचा जा सकता है।

    हड्डियों को मजबूत करे

    काजू में 292 मि.ग्राम मैग्नीशियम और 37 मि.ग्राम. कैल्शियम होता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, हमें प्रतिदिन 300-700 मि.ग्राम. मैग्नीशियम की ज़रूरत होती है। यह ज़रूरत काजू के सेवन से पूरी हो सकती है और हम ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी से बच सकते हैं। इसलिए हड्डियों की मजबूती के लिए काजू का सेवन बहुत फायदेमंद है।

    वजन नियंत्रण

    काजू में 3.3 ग्राम फाइबर होता है, जो वजन को नियंत्रित रखने में मदद करता है। हम जितना फाइबर युक्त खाना खाएंगे, हमें उतनी ही देर से भूख लगेगी। इस तरह शरीर मे एक्स्ट्रा कैलोरी नहीं जा पाएगी। बार-बार खाने की आदत में सुधार से वजन नियंत्रित रहेगा।

    शुगर होगी कंट्रोल

    काजू में मौजूद सभी आवश्यक तत्व टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। लगभग 5 काजू खाने से ब्लड में उपस्थित ग्लूकोज़ स्टेबलाइज हो जाता है ।

    एनीमिया दूर करे

    काजू में 6.68 मि. ग्राम. आयरन होता है। आयरन का सेवन ब्लड डेफिशिएंसी यानी खून की कमी को दूर करता है । इसलिए प्राकृतिक तौर पर आयरन प्राप्त करने लिए काजू से बेहतरीन स्रोत और कोई नहीं है।

    प्रेगनेंसी में फायदेमंद

    जच्चा और बच्चा के बेहतर स्वास्थ्य के लिए कैल्शियम और मैग्नीशियम को बेहद आवश्यक माना जाता है। ये दोनों ही काजू में पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। काजू के सेवन से गर्भवती महिला का रक्तचाप नियंत्रित रहता है और बच्चे की हड्डियों के विकास में फ़ायदा मिलता है।

    मसूड़ों को दे मजबूती

    काजू में 37 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है, जो दांतों और मसूड़ों की मजबूती के लिए बेहद जरूरी होता है। काजू के सेवन से मसूड़े और दांत मजबूत होते हैं।

    त्वचा निखारे

    प्रोटीन और विटामिन ई से भरपूर काजू त्वचा को निखारता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियों और सूर्य की किरणों से बचाव करते हैं।

    दिल का रखे ख्याल

    काजू में मौजूद ओलिक एसिड (oleic acid) व एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant) हमारे दिल को बीमारियों से दूर रखते हैं।

    पाचन करे दुरुस्त

    काजू में फाइबर की मात्रा अधिक होती है। इसलिए इसके खाने से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है

    काजू कैसे खाये (उपयोग) - Use of Cashew in Hindi

    काजू को उनके मूल रूप में खाने के अलावा भी बहुत से तरीकों से उनका सेवन किया जा सकता है। जानिए उन तरीकों के बारे में।

    कैसे भी खाएं

    औषधीय गुणों से भरपूर काजू को आप जब और,जैसे चाहें, प्रयोग में ला सकते हैं। आप इसे मेवा या मिठाइयों के रूप में कहा सकते हैं, रोस्ट कर सकते हैं, डेज़र्टस और सलाद की टॉपिंग में या सब्जियों की ग्रेवी में इस्तेमाल कर सकती हैं।

    कब खाएं

    काजू का ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाने के लिए आप इसे सुबह-शाम, कभी भी ले सकते हैं। आप इसे पिस्ता और पाइन नट्स के साथ भी खा सकते हैं। यह आपकी इम्युनिटी और स्टैमिना को बढ़ाने में बहुत ही सहायता करता है। आप इसे किसी भी आहार के बाद बिलकुल न खाएं। इसका सेवन तभी करें, जब आपको भूख लगी हो। रात को 2-3 काजू दूध के ग्लास में डाल कर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें और फिर दूध पी कर उन काजुओं का सेवन कर लें। यह आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा ।

    काजू के फेस पैक

    काजू को खाने के अलावा फेस पैक के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह हमारी स्किन के लिए बहुत फायदेमंद है। जानिए, कैसे।

    चेहरे की चमक के लिए

    सर्दी के कारण जब आपकी त्वचा रूखी हो रही हो और आपको लगे कि आपकी कुदरती चमक कम हो रही है, तब रात को आधी कटोरी दूध में पांच काजू भिगो दें। सुबह के समय इन्हें पीस लें और इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं। सूख जाने पर साफ गुनगुने पानी चेहरा धो लें। कुछ दिनों बाद आपको अपनी स्किन में फर्क नजर आने लग जाएगा।

    मिक्स त्वचा के लिए

    रात भर दूध में भीगे हुए काजू में सुबह आधा चम्मच नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट बाद चेहरा धो लें। धीरे-धीरे सभी प्रकार के दाग-धब्बे कम हो जाएंगे।

    रूखी त्वचा के लिए

    अगर आपको लगता है कि दिन-प्रतिदिन आपके चेहरे की त्वचा रूखी और बेजान होती जा रही है तो दूध में काजू भिगोएं और 2 घंटे बाद उसमें गुलाब जल डालकर महीन पेस्ट बना लें। उस महीन पेस्ट को 10 से 15 मिनट तक चेहरे पर लगाए रखें। इसके सूख जाने पर हल्के गुनगुने पानी से चेहरा धो लें। धीरे-धीरे त्वचा की ड्राइनेस कम हो जाएगी और वह खूबसूरत और आकर्षक नज़र आने लगेगी।

    काजू के नुकसान - Kaju Khane ke Nuksan

    खाने की चीज़ कितनी भी फायदेमंद क्यों न हो, लेकिन अति हर चीज की बुरी होती है। इसलिए काजू का भी जरूरत से ज्यादा सेवन नुकसानदायक है। वैसे तो काजू कम ही नुकसानदायक है, फिर भी इससे होने वाले नुकसानों के बारे में जान लेना बेहतर रहेगा।

    दिल के मरीज

    काजू में लगभग 12 मिलीग्राम सोडियम पाया जाता है। जरूरत से ज्यादा काजू खाने से सोडियम इनटेक बढ़ जाता है, जिसकी वजह से हाई ब्लड प्रेशर, स्ट्रोक या दिल संबंधी परेशानियां बढ़ सकती हैं। इसलिए काजू का अधिक सेवन नुकसानदायक है। यदि आप दिल के मरीज हैं तो काजू का सेवन करने से पहले डॉक्टर की राय ज़रूर लें।

    स्टोन के मरीज

    काजू में 553 कैलोरी होती हैं यानी कि यह कैलोरी रिच फूड भी है। इसलिए काजू का सेवन आपका वजन बढ़ा सकता है। काजू फाइबर का भी रिच स्त्रोत है। अत्यधिक फाइबर किडनी या स्टोन के मरीज को नुकसान पहुंचाता है। इस के सेवन से गैस, दस्त, पेट में सूजन जैसी परेशानियां हो सकती हैं। पथरी के मरीज को काजू का सेवन नहीं करना चाहिए या फिर डॉक्टर से सलाह लेकर ही खाएं।

    वॉटर रिटेंशन

    काजू में 660 मिलीग्राम पोटैशियम होता है। हम जरूरत से ज्यादा काजू खाएंगे तो शरीर में पोटैशियम की मात्रा बढ़ जाएगी, जिसकी वजह से किडनी फेलियर, वॉटर रिटेंशन, दिल का घबराना, कमजोरी, हार्ट फेल जैसी परेशानियां बढ़ सकती हैं।

    काजू से जुड़े सवाल-जवाब

    लोगों के मन में काजू से जुड़े कई सवाल होते हैं। आप भी जानिए उन आम सवालों के जवाब।

    1. काजू के अधिक सेवन से त्वचा पर क्या साइड इफेक्ट्स होते हैं? 

    काजू के अधिक सेवन से एलर्जी, त्वचा पर लाल निशान और छाले हो सकते हैं।

    2. क्या शुगर के मरीज को अपनी दवाइयों के साथ काजू का सेवन नहीं करना चाहिए?

    यदि डायबिटीज या कैंसर रोधी जैसी दवाइयां खाई जा रही हों तो काजू का सेवन साइड इफेक्ट्स पहुंचा सकता है। इसलिए अपने चिकित्सक से सलाह जरूर लें।

    3. क्या काजू का सेवन सिर दर्द भी बढ़ा सकता है?

    काजू में फिनेथोमाइन होता है। अगर आपके सिर में पहले से ही दर्द है या आप माइग्रेन के मरीज है तो काजू का सेवन न करें।

    क्या काजू से कोलेस्ट्रोल भी कंट्रोल होता है?

    काजू हेल्दी फैट्स का अच्छा स्रोत है। इसमें मोनोसैचुरेटेड और पॉलीअनसैचुरेटेड फैट्स होते हैं, जो हमारे दिल के लिए अच्छे माने जाते हैं। काजू का सेवन एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है।

    क्या काजू का सेवन मोतियाबिंद में फायदेमंद है?

    ल्यूटिन और ज़ेक्सैथिन जैसे तत्वों से भरपूर काजू आंखों के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है क्योंकि ये दोनों तत्व मोतियाबिंद होने से रोकते हैं।