जानिए, किस वजह से बिग बॉस ने सिद्धार्थ शुक्ला को दी घर से बेघर करने की सजा

जानिए, किस वजह से बिग बॉस ने सिद्धार्थ शुक्ला को दी घर से बेघर करने की सजा

सिद्धार्थ शुक्ला जब से बिग बॉस के घर में आए हैं, तब से ही चर्चा में बने रहने के लिए वे अलग-अलग तरह के हथखंडे अपनाते आ रहे हैं। वे कभी बहुत समझदार और मैच्योर बातें करते हैं तो कभी उन्हें इतना गुस्सा आ जाता है कि वे कुछ ऐसा कर बैठते हैं, जो सामाजिक नज़रिए से गलत होता है। खासतौर पर टास्क के दौरान उनका बिहेवियर काफी अग्रेसिव हो जाता है, जिसके चलते वे घर के सबसे अहम नियम का उल्लंघन करते रहते हैं। लेकिन बिग बॉस इतने भी भोले नहीं हैं कि वे सिद्धार्थ की हर गलती को अनदेखा करते रहें। परिणामस्वरूप बिग बॉस ने उन्हें एक ऐसी सजा सुनाई, जिसने बाकी कंटेस्टेंट्स और दर्शकों को हैरान कर दिया। 
दरअसल, बिग बॉस ने घरवालों को कैप्टेंसी के लिए ट्रांसपोर्ट सर्विस का एक टास्क दिया। इस टास्क में घरवालों को 2 टीम्स में बांटा गया। सामान को लोड ट्रक में लोड करने के लिए घर में अफरा-तफरी मच गई। इसी दौरान सिद्धार्थ शुक्ला ने टास्क में लोड किए गए पार्सल यानि बोरों को दूसरे सदस्यों से छीनना शुरू कर दिया। सिद्धार्थ हर बार की तरह इस बार भी टास्क में बल का इस्तेमाल कर रहे थे, जिसकी वजह से माहिरा जमीन पर जा गिरती हैं और उन्हें सिर पर चोट लग जाती है। 

सिद्धार्थ की इस हरकत की वजह से माहिरा उनसे नाराज़ हो जाती है और उन्हें घर से बेघर करने के लिए बिग बॉस को धमकी भी देती हैं। वहीं बिग बॉस भी सिद्धार्थ की इस हरकत से काफी गुस्सा हो जाते हैं और कड़े शब्दों में उनकी निंदा करते हैं। साथ ही उन्हें दो हफ़्तों के लिए सीधे सीधे नॉमिनेट कर दिया है। 

वहीं घर मे इन दिनों अटेंशन न मिल पाने की वजह से बात न हो पाने की वजह से शहनाज का रो-रोकर बुरा हाल हो गया क्योंकि वे सिद्धार्थ की काफी अच्छी दोस्त थीं और उन्हें कहीं न कहीं पसंद भी करती थीं। इन दिनों वैसे भी घर में अपनी दुश्मन हिमांशी खुराना को देखकर वे काफी अपसेट हैं।
बिग बॉस सीजन 13 की चटपटी खबरें जानने के लिए बने रहें हमारे साथ, क्योंकि हम घरवालों की घर के अंदर और बाहर, दोनों से जुड़ी ख़बरें पहुंचायेंगे आप तक ....।

.. अब आएगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी..  क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।