मुंह/सांसों की बदबू के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार - Kaise Roke Muh se Badbu Aana

Muh se Badbu Aana

हमारे और आपके बीच ऐसे कई लोग होते हैं, जिनका ड्रेसिंग सेंस और उनका लुक गजब होता है, लेकिन जब भी वे किसी के नजदीक जाकर बात करते हैं और उनके मुंह या सांस की दुर्गंध दूसरों को महसूस होने लगती है तो उन्हें सबके सामने खुद को नीचा देखना पड़ता है। बदबूदार सांस, जिसे दुर्गंध और मेडिकल लैंग्वेज में हैलिटोसिस (halitosis) भी कहा जाता है, ये शर्मनाक हो सकती है और कुछ मामलों में चिंता का कारण भी बन सकती है। ऐसा नहीं है कि ये समस्या ठीक नहीं हो सकती है। ये बात बहुत कम लोग ही जानते हैं कि मुंह या सांसों की बदबू से बचने के लिए बाजारों में मिलने वाले माउथवॉश वाले प्रॉडक्ट की जरूरत नहीं है, बल्कि कुछ जरूरी बातों का ख्याल रखने से ही ये समस्या दूर हो सकती है।

Table of Contents

    मुंह की बदबू के लक्षण - Symptoms of Bad Breath in Hindi

    तेज गंध वाली चीजें खाने के अलावा अगर आपको अपने मुंह से दुर्गंध आती महसूस होती है या फिर आपके बात करते समय कोई अपनी नाक पर हाथ रख लेता है तो इसे मजाक मत समझिए। अगर आप मुंह की बदबू के साथ इनमें से भी कोई लक्षण महसूस कर रहे हैं तो तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर से परामर्श लें -

    • दांतों का कमजोर होना या हिलना
    • लंबे समय से खांसी का रहना
    • बलगम आना
    • बुखार का चढ़ना और उतरना
    • बार-बार मुंह में छाले की समस्या बने रहना
    • नाक बहना
    • मसूड़ों में दर्द व सूजन 
    • ब्रश करते समय खून आना
    मुंह से बदबू आना कोई छिपाने की बात नहीं है। ये शरीर में बन रही किसी बड़ी बीमारी का संकेत भी हो सकती है, इसीलिए इस बात को बिल्कुल भी अनदेखा न करें। खासतौर पर तब, जब उपरोक्त लक्षणों में से कोई लक्षण दिख रहा हो। ऐसे में एक छोटी सी भी लापरवाही आपके जीवन पर भारी पड़ सकती है।

    मुंह/सांस की बदबू के कारण - Causes of Bad Breath in Hindi

    बदबू की समस्या को खत्म करने के लिए उसके कारण को जानना बेहद आवश्यक है। हमारे मुंह का अच्छा स्वास्थ्य इस बात का संकेत होता है कि हमारा शरीर भी पूरी तरह से स्वस्थ है। इसी के विपरीत ये किसी बड़ी बीमारी का लक्षण भी हो सकता है। जी हां, सांस की दुर्गंध का संबंध सिर्फ मुंह की साफ-सफाई की कमी से ही नहीं जुड़ा है, बल्कि कई बीमारियों से भी ऐसा हो सकता है। आइए जानते हैं कि मुंह से बदबू के क्या-क्या कारण हो सकते हैं -

    • मुंह का अल्सर
    • दांतों में पस आना
    • दांतों पर खाने का बचा हुआ अवशेष
    • मसूड़ों में सूजन 
    • तंबाकू का सेवन और धूम्रपान 
    • कैंसर
    • साइनस इंफेक्शन
    • कमजोर पाचन शक्ति
    • किडनी में समस्या
    • पायरिया
    • जरूरत से ज्यादा डायटिंग करना
    • पानी का कम सेवन
    • डायबिटीज
    • साइनसाइटिस
    • कब्ज की समस्या
    • आंतों में खाने का सड़ना

    सांस की बदबू का इलाज - Sanso ki Badboo ka Ilaj

    सांसों की बदबू कैसे दूर करें (sans ki badbu kaise dur kare)? मुंह/सांस की बदबू दूर करने के उपाय कई हैं। अगर शुरुआत से ही मुंह की साफ-सफाई का ख्याल रखा जाए तो हालात सुधारे जा सकते हैं। मुंह की बदबू आपके शरीर के साथ-साथ पर्सनैलिटी के लिए भी सही नहीं है। आइए जानते हैं कि अपनी लाइफस्टाइल में किन बातों का ध्यान रखकर मुंह/सांस की बदबू दूर करने के उपाय -

    ब्रश करने का मतलब ये नहीं है कि सिर्फ ब्रश पर पेस्ट लगाकर कुल्ला कर लेना। सही ढंग से ब्रश न करने के कारण मुंह के बैक्टीरिया खत्म नहीं होते हैं, इसीलिए दांतों और मसूड़ों पर ब्रश को बिना ज्यादा प्रेशर लगाए, गोल-गोल घुमाएं और कम से कम 2-3 मिनट तक ऐसा करें। तब जाकर कहीं आपका मुंह साफ होगा।

    पुदीना के फायदे

    सही ढंग से करें ब्रश - Brush Correctly

    प्याज-लहसुन खाने बाद मुंह से गंदी महक आती है। ऐसे में सौंफ, पिपरमिंट, इलायची, मुलेठी, भुना जीरा और धनिया नेचुरल माउथ फ्रेशनर हैं, जिन्हें खाने के बाद चबाते रहें। इससे मुंह की बदबू कम होती है।

    नेचुरल माउथ फ्रेशनर का सेवन

    पेट खराब होने की वजह से यानी पाचन शक्ति कमजोर पड़ने के कारण भी खाना सही से नहीं पचता है। ये मोटापा तो बढ़ाता ही है, साथ ही सांस की बदबू के कारण बनते हैं, इसीलिए रोजाना कम से कम 30 मिनट की वॉक करना बेहद जरूरी है। 

    वॉक करें - Walk

    सिर्फ दांत ही नहीं, बल्कि जीभ की साफ-सफाई भी बेहद जरूरी है। खाने-पीने की वजह से जीभ पर एक परत जमती जाती है, जो सांस की बदबू के कारण बन सकती है, इसीलिए रोजाना टंग क्लीनर की मदद से अपनी जीभ भी जरूर साफ रखें।

    दांतों के बीच फंसे भोजन के टुकड़ों, दांतों पर जमे प्लाक को निकालने के लिए फ्लॉस यानी धागे से दांतों के बीच की सफाई भी करें। दांतों के बीच फ्लॉस डालकर धीरे-धीरे आगे-पीछे करते हुए दांत की जड़ तक सफाई करें। अगर आप ऐसा रोज नहीं कर सकते हैं तो कम से कम हफ्ते में 1-2 बार जरूर करें।

    फ्लॉसिंग करें

    मुंह की बदबू को दूर करना है या उससे बचना है तो सिर्फ सुबह ब्रश करने से काम नहीं चलेगा। सभी को सुबह और रात दोनों ही समय ब्रश करना चाहिए। रात को ब्रश न करके सोने से कीटाणु ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं और दुर्गंध पैदा करते हैं। 

    सुबह के साथ रात में भी करें ब्रश

    शायद आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि खट्टे फल खाने से मुंह की दुर्गंध तो ठीक होती ही है, साथ ही ये दांतों को मजबूत भी बनाए रखता है, इसीलिए विटामिन-सी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन जरूर करें।

    खट्टे फलों का सेवन

    कम पानी पीने से मुंह में सूखापन बना रहता है, जिससे बैक्टीरिया पनपने के कारण भी सांस की दुर्गंध पैदा हो जाती है। पानी पीने से मुंह फ्रेश बना रहता है और दांत में फंसे खाने के तत्व भी आसानी से निकल जाते हैं। इससे दुर्गंध नहीं आती है, इसीलिए पानी खूब पीना चाहिए।

    खूब पानी पिएं

    बहुत ज्यादा मसालेदार खाना, प्याज, लहसुन, अदरक, लौंग, काली मिर्च का सेवन मुंह की बदबू का कारण बन सकता है। इनका प्रयोग कम करें और जब भी करें, तब कुल्ला या ब्रश करके मुंह को जरूर साफ कर लें।

    मुंह की बदबू के लिए घरेलू नुस्खे - Muh ki Badboo ka Ilaj

    बहुत से ऐसे लोग होते हैं, जो अपने मुंह की बदबू छिपाने की कोशिश करते हैं। उन्हें ये बात जान लेनी चाहिए कि समस्या को छिपाने से उसका कोई हल नहीं निकलता है। ऐसा करने से बीमारियां अपना विकराल रूप धारण कर लेती हैं, इसीलिए भलाई इसी में है कि समय रहते अपने सांस की दुर्गंध का समाधान कर लें और ऐसा करना इतना भी मुश्किल नहीं है। यहां हम आपको कुछ ऐसे घरेलू सांसों की बदबू का इलाज बता रहे हैं, जिनसे आप मुंह की दुर्गंध दूर कर सकते है। आइए जानते हैं, मुंह की बदबू के घरेलू उपाय के बारे में -

    • मुलेठी को रोजाना चबाने या चूसने से मुंह की बदबू दूर हो जाती है। 
    • अनार के छिलके को पानी में उबालकर उस पानी से कुल्ला करने से सांसों की बदबू का इलाज हो सकता है।
    • मुंह से संबंधित रोगों के लिए लौंग बहुत ही गुणकारी है। 
    • खाना खाने के बाद सौंफ और मिश्री चबाएं। ये एक तरह से माउथ फ्रेशनर का काम करती है।
    • मुंह की दुर्गंध दूर करने के लिए लौंग को भूनकर उसे मुंह में रखकर चूसते रहें। ऐसा एक हफ्ते करने भर से ये समस्या दूर हो जाएगी।
    • त्रिफला की छाल को मुंह में रखकर चबाने से भी सांसों की बदबू का इलाज संभव है। 
    • लौंग और इलाइची का पेस्ट बनाकर उसे दांतों पर लगाएं और उंगली से घिसें। फिर पानी से कुल्ला कर लें।
    • सूखा धनिया भी एक अच्छा माउथफ्रेशनर है। इसे मुंह में रखकर चबाने से मुंह की दुर्गंध दूर हो जाती है।
    • पुदीने को पीसकर पानी में घोल लें और इससे दिन में दो-तीन बार कुल्ला करें। मुंह की बदबू के साथ अन्य मौखिक रोग भी ठीक हो जाएंगे।
    • अजवाइन भी मुंह की बदबू दूर करने में औषधि का काम करती है। चाहे अजवाइन भिगोकर उसका पानी पिएं या फिर उसे तवे पर हल्का सा भूनकर फंकी लगा लें।
    • मुंह/सांस की गंदी महक को दूर करने के लिए आप मेथी से बनी हई चाय का भी सेवन कर सकते हैं। इससे मुंह में मौजूद बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं।
    • सेब का सिरका कई मायनों में बेहद फायदेमंद साबित होता है। मुंह की बदबू दूर करने के लिए एक गिलास पानी में 2 चम्मच सेब का सिरका मिलाएं और उससे गरारे करें। फर्क आपको थोड़े ही दिनों में नजर आने लगेगा।
    • तुलसी की पत्ती चबाने से भी मुंह की बदबू दूर हो जाती है। 
    • ग्रीन टी के इस्तेमाल से मुंह की बदबू को कम किया जा सकता है, क्योंकि इसमें एंटीबैक्ट‍िरियल तत्व होते हैं, जिनसे मुंह की दुर्गंध दूर हो जाती है।
    • ओरल केयर के लिए फिटकरी बेहद गुणकारी है। जी हां, रात में सोने से पहले फिटकरी का टुकड़ा आधे गिलास में डालकर रख दें। 5 मिनट बाद उसमें से फिटकरी का टुकड़ा निकाल लें और उस पानी से कुल्ला करें। मुंह की बदबू से लेकर पायरिया तक सब ठीक हो जाएगा।
    • एक गिलास पानी में अदरक का रस मिलाकर दिन में दो से तीन बार कुल्ला करने से मुंह की बदबू चली जाती है।
    • गुलाब की ताजी पंखुड़ियों को चबाने से या फिर मसूढ़ों पर मसलने से पायरिया और मुंह की दुर्गंध जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।  
    • रोजाना दिन में कम से कम एक बार सरसों के तेल में नमक मिलाकर मसूड़ों की मसाज करने से वे स्वस्थ रहते हैं और मुंह की दुर्गंध भी खत्म हो जाती है।
    • अगर आपके घर के आस-पास अमरूद का पेड़ लगा है तो आप नियमित रूप से उसकी पत्तियों का इस्तेमाल ओरल केयर में कर सकते हैं। अमरूद के पत्ते चबाने से भी मुंह की बदबू धीरे-धीरे कम होने लगती है।
    • नीम की पत्तियों को धो कर सुखा लें और इसे एक बर्तन में डालकर जला लें। फिर इसकी राख में सेंधा नमक मिलाकर रोजाना 1 हफ्ते तक मंजन करें। जल्द ही फर्क नजर आने लगेगा।

    डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

    अगर आपको लग रहा है कि आपके मुंह से सामान्य दिनों कि तुलना में ज्यादा बदबू आ रही है और घरेलू उपचार करने के बाद भी कोई फर्क नहीं पड़ रहा है तो ऐसी स्थिति में  डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

    क्या च्युइंगम खाने से मुंह की बदबू दूर हो जाती है?

    ऐसा दावे के साथ नहीं कहा जा सकता है कि च्युइंगम चबाने से मुंह की बदबू पूरी तरह से दूर हो जाती है, लेकिन ये सच है कि च्युइंगम को खाने से लार बनने में मदद मिलती है, इसीलिए मुंह सूखता नहीं है और बदबू नहीं आती है।

    कैसे पता करें कि ये मुंह से आने वाली दुर्गंध सामान्य नहीं है?

    अगर आपने प्याज, लहसुन जैसा कोई तेज गंध वाला खाद्य पदार्थ खाया है तो इसकी बदबू सामान्यतया एक ही दिन रहती है। अगर आपको अपने मुंह/सांस की दुर्गंध कई दिनों से महसूस हो रही है तो इसे अनदेखा न करें।

    क्या तंबाकू के सेवन और धूम्रपान से भी मुंह से बदबू आती है?

    जी हां, तंबाकू और धूम्रपान का सेवन करने वाले व्यक्ति को ये समस्याएं ज्यादा हो सकती हैं, लेकिन इस बात का अनुमान काफी देर से लगता है। तंबाकू खाने से मुंह का कैंसर होने का ख़तरा भी रहता है। इसके अलावा धूम्रपान की वजह से मसूड़ों की बीमारी, मुंह से दुर्गंध आना, दांतों का पीला पड़ना जैसी समस्याएं भी होती हैं।

    क्या मुंह/सांस की बदबू से किसी दूसरे व्यक्ति को इंफेक्शन होने का खतरा हो सकता है?

    एक्सपर्ट की मानें तो किसी व्यक्ति के मुंह से आ रही सांस की बदबू के कारण दूसरे व्यक्ति को इंफेक्शन तो नहीं हो सकता है, लेकिन ये समस्या किसी इंफेक्शन की आशंका को मजबूत बनाती है, इसीलिए इस मामले में लापरवाही बिल्कुल भी नहीं बरती जा सकती है। अगर बदबू ज्यादा आ रही है तो डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लेना चाहिए।

    ... अब आएगा अपना वाला खास फील क्योंकि POPxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।