जानिए बालों व त्वचा के लिए विटामिन ई के फायदे - Benefits Of Vitamin E

जानिए बालों व त्वचा के लिए विटामिन ई के फायदे - Benefits Of Vitamin E

बाल इंसान की खूबसूरती में चार चांद लगा देते हैं, इसलिए लोग अपने बालों की खूबसूरती बनाए रखने के लिए कई तरीके अपनाते हैं और वे सारे प्रयास करते हैं, जो उनकी खूबसूरती बनाए रखते हैं। हालांकि अक्सर कई सारे उपाय अपनाए जाने के बाद भी कोई लाभ नहीं होता और सिर्फ निराशा हाथ लगती है। यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो आप अपनी जीवन शैली में विटामिन ई को शामिल कर सकते हैं। इससे आपकी त्वचा और बालों पर गजब का असर पड़ता है। विटामिन ई में घुलनशील एंटीआक्सीडेंट होते हैं, जो त्वचा की डेड स्किन को फिर से जीवित करते हैं, जिससे खूबसूरती बढ़ जाती है। विटामिन ई इम्यून बूस्टर और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है और दिल को स्वस्थ रखता है। विटामिन ई में वे सभी गुण होते हैं, जो त्वचा को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं और उन्हें वे सभी पोषक तत्व प्रदान करते हैं, जो कई कारणों के चलते त्वचा से छिन जाते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं विटामिन ई के कुछ ऐसे सोर्स के बारे में, जिनमें ​विटामिन ई भरपूर होता है और ये स्किन और बालों के लिए भी लाभदायक हैं।

Table of Contents

    विटामिन ई के सोर्स - Source of Vitamin E

    सभी जानते हैं कि हरी और रंगीन सब्जियों का सेवन करना बहुत फायदेमंद है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि और क्या-क्या ऐसी चीजें हैं, जिनमें विटामिन ई मिलता है। हरी सब्जियां विटामिन, प्रोटीन और मिनरल्स से भरपूर होती हैं, जो सेहत के लिए बहुत ही अच्छी हैं। इनमें विटामिन ई भी भरपूर होता है और वह शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को मजबूत करता है। बाजार में मौजूद हरी शाक-सब्जियों के साथ यदि आप शाकाहारी भोजन करते हैं तो उससे भी विटामिन ई मिलता है। हरी सब्जियों में आयरन भी भरपूर होता है। आयरन की कमी से एनीमिया हो सकता है। आइणए जानते हैं कि किस में कितना होता है विटामिन ई:
    • 100 ग्राम पालक—  2.1 मिलीग्राम विटामिन ई 
    • 100 ग्राम बादाम में- 26.2 मिलीग्राम विटामिन ई
    • 100 ग्राम मांस में— 2.8 मिलीग्राम विटामिन ई 
    • 100 ग्राम एवोकैडो— लगभग 2.1 मिलीग्राम विटामिन ई
    • सूरजमुखी के 100 ग्राम बीजों में- 36.3 मिलीग्राम तक विटामिन होता है।

    विटामिन ई इस्तेमाल करने का तरीका - Ways to Use Vitamin E

    ब्रोकली खाने के शौकीन लोगों को पता होता है कि ब्रोकली में कितना सारा फाइबर और विटामिन ई होता है, इसलिए तो बहुत से लोग अपने सलाद से लेकर सब्जी तक सभी में ब्रोकली का इस्तेमाल करते हैं। यदि आपको ​ब्रोकली सलाद में पसंद नहीं है तो आप उसे पास्ता के साथ खा सकते हैं। इससे आप अपने शरीर की सारी कमियां दूर कर सकते हैं। आप चाहें तो खाने के बाद या फिर कभी भी भूख लगने पर एक मुठठी सूरजमुखी के बीज भी खा सकते हैं। साथ ही स्नैक्स टाइम पर रोजाना 1 मुट्ठी नट्स खाने से भी विटामिन ई की कमी दूर हो सकती है।

    त्वचा के लिए विटामिन ई के फायदे - Benefits of Vitamin E for Skin

    विटामिन ई में एंटीऑक्सीटेंड्स पाया जाता है, जो स्किन के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। त्वचा पर इसका असर किसी जादू से कम नहीं होता। स्किन की ऊपरी परत को पोषण और सुरक्षा देने का काम विटामिन ई का होता है। जो लोग अपनी डाइट में नियमित रूप से विटामिन ई के सोर्स को शामिल करते हैं। उनकी स्किन काफी अच्छी होती है। विटामिन ई स्किन में रूखापन आने ही नहीं देता और साथ में झुर्रिर्यो की समस्या को भी दूर करता है। त्वचा के जो टिशू डैमेज हो चुके होते हैं, वे उनकी रिपेयर करता है और नए टिशू पैदा करता है। इसके साथ् ही विटामिन ई सूरज की यूवी किरणों के प्रभाव को रोकता है और स्किन को नुकसान नहीं होने देता। इसी के चलते बाजार में विटामिन ई के कैप्सूल भी मिलते हैं, जिन्हें क्रीम में लगाकर इस्तेमाल किया जाता है। अगर त्वचा अत्यधिक रूखी है तो विटामिन ई लगाने और खाने से गजब का बदलाव नजर आएगा। विटामिन ई बादाम, एवोकैडो, ऑलिव ऑयल, कीवी और टमाटर में भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यदि स्किन ज्यादा खराब हो चुकी है तो सप्ताह में दो-तीन बार इनका इस्तेमाल फेसपैक के रूप में करने से काफी लाभ होगा। आइए जानते हैं, स्किन पर विटामिन ई के फायदे

    चेहरे के दाग हटाने में

    विटामिन ई त्वचा की स्वाभाविक रूप से रक्षा करता है और उसे बढ़ती उम्र और सूरज की किरणों के हानिकारक प्रभाव से बचाता है। स्किन एक्सपर्ट भी कहते हैं कि यदि आपको अपनी स्किन की केयर करनी है तो ज्यादा से ज्यादा विटामिन ई का इस्तेमाल करें। विटामिन ई की मदद से आप अपने चेहरे के दाग और निशान भी मिटा सकते हैं।

    डार्क पैच और पिगमेंटेशन कम करने में

    आपने अक्सर देखा होगा कि त्वचा पर काले धब्बे होने लगते हैं। यह काले धब्बे पिगमेंटेशन के कारण होते हैं, जो हार्मोन और अनहेल्दी लाइफस्टाइल के कारण होते हैं। कई बार स्किन पर काले धब्बे खराब जीवनशैली और पर्यावरण के कारण भी हो जाते हैं। उस स्थिति में डर्मोटोलोजिस्ट और एक्सपर्ट यही कहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा विटामिन ई का सेवन करें। अगर आपकी स्किन रूखी है तो आप उस पर नारियल का तेल और जोजोबा का तेल लगा सकते हैं। इसे आप बादाम के तेल के साथ भी लगा सकते हैं। इससे आपकी स्किन को बहुत लाभ पहुंचेगा।

    डार्क स्पॉट को कम करने में

    कई बार खराब लीवर और फ्री रेडिकल के डैमेज होने पर डार्क स्पाट आने लगते हैं। यदि ऐसा हो रहा है तो आप हरी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन कर सकते हैं। इससे डार्क स्पाट कम हो जाते हैं। आप ऑलिव ऑयल में विटामिन ई कैप्सूल भी मिलाकर लगा सकते हैं। इससे भी डार्क स्पाट कम हो जाते हैं। 

    फटे होंठों को ठीक करने में

    खूबसूरत सुर्ख लाल और गुलाबी होंठों के लिए आप विटामिन ई का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपके होंठों की खूबसूरती कई गुना बढ जाती है। आप विटामिन ई का प्रयोग अपने होठों पर कर सकते हैं, क्योंकि इससे ज्यादा असर पड़ता है। फटे होंठों के लिए अब आपको लिप बाम के भरोसे रहने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अब नेचुरल तरीके से आप अपने होंठों को सुंदर बना सकती हैं। इसके लिए आपको एक कटोरी में आधा चम्मच नींबू के रस में विटामिन ई कैप्सूल का तेल मिलाकर लगाना चाहिए। बिस्तर पर जाने से पहले इस मिश्रण का उपयोग करना चाहिए और फिर लिप बाम के रूप में प्रयोग करें और फटे होंठ से छुटकारा पाएं। यदि आपको इससे भी अच्छा परिणाम ​चाहिए तो पेट्रोलियम जेली के साथ विटामिन ई तेल लगा सकते हैं। इससे आपको अपने होंठों को नम रखने में मदद मिलेगी।

    स्किन को मुलायम बनाने में

    विटामिन ई आपकी त्वचा को ड्राई होने से बचाता है और उसे मॉइश्चर प्रदान करता है। इसी के साथ वह त्वचा की चमक बनाए रखने में भी लाभकारी है। बस इसके लिए आपको इसका इस्तेमाल रोजाना रात को सोने से पहले करना होता है। हालांकि इसका इस्तेमाल आप बादाम या फिर नारियल के तेल में मिक्स करके कर सकते हैं। आप चाहें तो इसका प्रयोग अपने मॉश्चराइज़र, लोशन या स्क्रब में मिलाकर सीधे चेहरे और गर्दन पर भी कर सकती हैं। 

    निशान दूर करने में

    विटामिन ई को ब्यूटी विटामिन के नाम से भी जाना जाता है। ये आपकी स्किन को स्वस्थ तो बनाता ही है, साथ में उसे ग्लोइंग भी करता है। इसका प्रयोग लोग डैमेज स्किन और गर्भावस्था में पड़े स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए भी करते हैं। दरअसल स्किन में अचानक आए बदलाव के कारण टिश्यू फटने लगते हैं और उसी के कारण स्ट्रेच मार्क्स आते हैं। इन्हें दूर करने के लिए आप अपनी स्किन पर विटामिन ई युक्त बॉडी लोशन लगाएं। आप चाहें तो घर पर ही इसे बना सकती हैं। इसके ​लिए आपको स्ट्रेच मार्क्स पर रात को सोने से पहले ​विटामिन ई कैप्सूल लगाना होगा। इसके साथ ही अच्छा परिणाम पाने के लिए  अपनी डाइट में एवाकाडो, बादाम, पालक, सरसों के बीज जैसी चीजों को जरूर शामिल करना चाहिए।

    निखरी त्वचा के लिए

    विटामिन ई के प्रयोग से त्वचा की रंगत भी निखरी और खूबसूरत बन जाती है। आप चाहें तो इसके लिए विटामिन ई कैप्सूल भी लगा सकती हैं। खास बात ये है कि दूसरी चीजों की तरह इसका चेहरे पर कोई साइड इफेक्ट नहीं होता और असर भी अच्छा पड़ता है। यदि आपको विटामिन ई कैप्सूल चाहिए तो उसे आप पास के मेडिकल शॉप से बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं। उसके बाद आप उसे नारियल के तेल के साथ् लगा सकते हैं। इस पेस्ट को सोने से पहले चेहरे और अन्य अंगों पर लगाएं, जिन्हें आप गोरा करना चाहते हैं। इसे पेस्ट को कम से कम 15 मिनट तक लगाकर मसाज करें और रात भर लगा रहने दें। 

    आंखो के लिए फायदेमंद

    अक्सर लोगों की खूबसूरत आंखों को उनके नीचे मौजूद डार्क सर्कल खराब कर देते हैं। ऐसे में अगर आप भी अपनी आंखों के नीचे मौजूद घेरे हटाना चाहती हैं तो विटामिन ई का प्रयोग कर सकती हैं।

    विटामिन ई के फायदे बालों के लिए - Benefits of Vitamin E for Hair

    विटामिन ई का प्रयोग हम स्किन पर तो करते ही हैं, लेकिन इसका फायदा बालों को भी होता है और उसमें भी ​इसका प्रयोग कर सकते हैं। विटामिन ई का रोजाना इस्तेमाल लंबे और काले बालों के लिए कर सकती हैं। आप चाहें तो इसे नारियल तेल के साथ भी मिलाकर यूज कर सकती हैं। 

    ठीक होंगे दो मुंहें बाल

    आजकल सुंदर और फैशनेबल दिखने के चक्कर में हम क्या-क्या नहीं करते। बालों पर भी तरह-तरह के प्रयोग करने से बाज नहीं आते, जिसके कारण बाल काफी खराब हो जाते हैं। विटामिन ई बालों को मजबूत बनाने में और दो मुंहें बालों को ठीक करने में काफी प्रभावकारी है। यही नहीं, यदि बाल टूट रहे हैं तो आप उन पर ​नारियल तेल के साथ विटामिन ई का तेल मिलाकर मालिश कर सकती हैं। 

    घने होंगे बाल

    अगर आपके बाल हल्के हो रहे हैं और लग रहा है कि जैसे कुछ दिनों में आप गंजे होने वाले हैं तो विटामिन ई कैप्सूल के साथ एक चम्मच अरंडी का तेल मिला लें। इससे आपको बालों में होने वाली समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा|

    बालों की ग्रोथ में करता है मदद

    लंबे बालों के लिए टीवी से लेकर अखबारों तक में तरह-तरह के विज्ञापन आते हैं और उन्हें देखकर हम वह तेल खरीद लेते हैं, लेकिन जब हम उनका इस्तेमाल करते हैं तो पाते हैं कि वैसा कुछ भी नहीं है जैसा कि उस विज्ञापन में देखा था। यदि आपको लंबे बाल चाहिए तो आप विटामिन ई तेल का यूज करिए और कुछ ही दिनों में लंबे बाल पाइए। विटामिन ई कमजोर हो गए बालों को पोषक तत्व प्रदान करता है और बालों को हेल्दी रखने में मदद करता है। लंबे बालों के लिए नारियल तेल में विटामिन ई ज़ेल मिलाकर स्कैल्प्स में लगाएं। एक महीने तक विटामिन ई मिला नारियल तेल अगर आप लगाएंगी तो बालों बढ़ने लगेंगे।

    विटामिन ई के फायदों के संबंध में पूछे जाने वाले सवाल (FAQ'S)

    कम उम्र में हो रहे सफेद बालों को कैसे रोका जाए? 
    उम्र से पहले बालों के सफेद होने को प्रीमैच्योर हेयर ग्रेइंग कहते हैं। ऐसा बालों के एंटीऑक्सीडेंट्स को नुकसान पहुंचने की वजह से होता है। बालों को प्रीमैच्योर हेयर ग्रेइंग से बचाने के लिए सप्ताह में दो बार विटामिन ई तेल से बालों की मसाज करें। इससे बाल सफेद नहीं होंगे। 
    चेहरे के लिए कैसे लाभकारी होता है विटामिन ई?
    विटामिन ई डैड स्किन को हटाकर हटाकर नई स्किन को जल्दी लाने में मदद करता है, इसलिए ये चेहरे के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसी तरह ये बालों को एंटीऑक्सीडेंट प्रदान कर उन्हें शाइन करने में मदद करते हैं। विटामिन ई त्वचा में रुखेपन को कम करता है और नमी लाता है। साथ ही यह स्कैल्प को मॉइश्चराइज और ऑयल को कंट्रोल करने में भी मदद करता है।
    हेयरफॉल रोकने के लिए किस तरह से विटामिन ई का इस्तेमाल करना चाहिए?
    बालों को पोषण देने और हेयरफॉल जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए आप डाइट बदल सकते हैं। इसके लिए आप विटामिन ई से भरपूर आहार ले सकते हैं। इसकी कमी को पूरा करने के लिए अपनी डाइट में पालक और ब्रोकोली, मूंगफली, सूरजमुखी के बीज, हेजल नट्स, बादाम, वेजिटेबल ऑयल्स, गेहूं के बीज का तेल, जैतून का तेल, स्प्राउट्स और एवोकाडो को शामिल करें।

    .. अब आएगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी..  क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।

    अपर लिप हेयर से छुटकारा पाने के 7 आसान घरेलू टिप्स