स्टैमिना कैसे बढ़ाएं - How To Increase Stamina In Hindi, stamina badhane wale food | POPxo

स्टैमिना कैसे बढ़ाएं, अपने खाने में शामिल करें ये आहार - Food To Increase Stamina

स्टैमिना कैसे बढ़ाएं, अपने खाने में शामिल करें ये आहार - Food To Increase Stamina

थोड़ी दूर तक चलने में या सीढ़ियां चढ़ते वक्त थकान लगने लगे तो इन बातों को इग्नोर करना सही नहीं है क्योंकि ये समस्याएं अक्सर शरीर में स्टैमिना कम होने के कारण होती हैं। स्टैमिना और स्ट्रेंथ को काफी हद तक एक ही माना जा सकता है। अच्छी सेहत को स्टैमिना से ही जोड़कर देखा जाता है। अगर आपके अंदर स्टैमिना नहीं है तो जिम में पसीना बहाने, सुबह घंटों दौड़ने और मॉर्निंग वॉक करने का कोई मतलब नहीं है। लेकिन ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है। यहां हम आपको स्टैमिना क्या होता है (stamina kya hota hai) और स्टैमिना को बढ़ाने के बारे में हर वो छोटी- बड़ी बात बता रहे हैं (how to increase stamina in hindi), जिनकी मदद से आप खुद को फ्रेश और एनर्जेटिक महसूस कर सकते हैं।


शरीर में स्टैमिना कम होने के लक्षण - Symptoms Of Low Stamina In Hindi


एनर्जी या स्टैमिना कैसे बढ़ाएं - How To Increase Stamina In Hindi


स्टैमिना बढ़ाने के लिए क्या खाएं - What To Eat To Increase Stamina


स्टेमिना क्या है? - What Is Stamina In Hindi?


स्टैमिना (stamina in hindi) अर्थात आंतरिक बल। साधारण शब्दों में कहा जाये तो स्टैमिना का मतलब होता है व्यक्ति द्वारा किसी भी कार्य को मानसिक या शारीरिक रूप से लंबे समय तक जारी रखना। वैसे आमतौर पर स्टैमिना शब्द को शारीरिक कार्य जैसे खेल, व्यायाम, पैदल चलना, दैनिक दिनचर्या में मेहनत वाले कामों के प्रयोग में लाए जानी वाली क्षमता के लिए उपयोग किया जाता है।


इम्युनिटी बढ़ाने के लिए खाएं अखरोट


स्टैमिना कम होने के कारण - Causes Of Low Stamina


दैनिक कार्यों को करने में हल्की- फुल्की थकान होना आम बात है लेकिन बार- बार थकान होने की वजह से आपका शरीर काफी कमजोर हो सकता है। शरीर में स्टैमिना कम होने के एक नहीं बल्कि कई कारण हो सकते हैं। आइए जानते हैं उन कारणों के बारे में जिनकी वजह से कमजोरी या फिर थकान महसूस होती है -


Girl feeling sick due to low stamina


नींद की कमी - Lack of Sleep


अगर आप रोजाना 7 से 8 घंटे की नींद पूरी नहीं कर रहे हैं तो इससे आपके शरीर की ताकत धीरे- धीरे खत्म हो जायेगी और किसी काम में मन भी नहीं लगेगा।


पानी कम पीना 


कई बार पानी की कमी के कारण भी शरीर का स्टैमिना कम हो जाता है। हमारे शरीर का 70 प्रतिशत हिस्सा पानी से बना है, फिर भी शरीर को थोड़ी- थोड़ी देर में पानी की आवश्यकता पड़ती है। अगर शरीर में पर्याप्त पानी नहीं होगा तो आपका स्टैमिना कम होना लाजमी है।


कार्बोहाइड्रेट की कमी - Lack of Carbohydrate


बहुत से लोग डाइटिंग के चक्कर में कार्बोहाइड्रेट लेना बिल्कुल ही बंद कर देते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने से ही शरीर को सबसे ज्यादा एनर्जी मिलती है। वहीं अगर आप जिम या फिर फिटनेस वर्कआउट करते हैं तो आपके शरीर को ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की जरूरत पड़ती है। इसीलिए अपने खान- पान में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को संतुलित रखें।


शरीर में स्टैमिना कम होने के लक्षण - Symptoms Of Low Stamina In Hindi


Girl feeling tired due to low stamina


- बिना मेहनत किये पसीना आना।


- भूख न लगना।


- हर वक्त खुद को थका हुआ महसूस करना।


- चक्कर आना।


- आंखों के सामने कभी- कभी धुंधलापन छा जाना।


- किसी काम को करने में मन न लगना।


- हाथों और पैरों में दर्द महसूस होना।


- अधिक नींद आना।


ये भी पढ़ें -क्या आपको पता हैं हेल्थ से जुड़े ये 10 फैक्ट्स


एनर्जी या स्टैमिना कैसे बढ़ाएं - How To Increase Stamina In Hindi


शरीर की ताकत या स्टैमिना कैसे बढ़ाएं (stamina kaise badhaye)? स्टैमिना बढ़ाने का मतलब है शरीर में कमजोरी दूर करना, शारीरिक और मानसिक दोनों ही रूप से खुद को स्ट्रॉन्ग करना ताकि आप जो भी काम करें, बिना रुके और बिना थकावट के पूरा कर सकें। वैसे आप बाजार में उपलब्ध विटामिन्स और सप्लीमेंट्स की मदद से आसानी से शरीर के स्टैमिना या एनर्जी को बढ़ा सकते हैं। लेकिन अगर आप नैचुरल तरीके से अपना स्टैमिना बढ़ाना चाहते हैं तो कई सरल तरीकों और स्टेमिना बढ़ाने के उपाय भी आजमा सकते हैं।


तनाव से रहें दूर 


यह स्टैमिना बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है (stamina badhane ka tarika)। इसमें कोई शक नहीं है कि आज का आधुनिक युग धीरे- धीरे तनाव युग बनता जा रहा। हर दूसरा व्यक्ति तनाव से ग्रस्त है। तनाव से आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसीलिए तनाव से जितना दूर रह सकें, उतना बेहतर है। इसके लिए रोजाना मॉर्निंग वॉक करें, संगीत सुनें और योग करें। कुछ ही दिनों में आपका एनर्जी लेवल बढ़ता नजर आने लगेगा।


शुगर कम लें 


चीनी आपकी एनर्जी को थोड़े समय के लिए बढ़ा सकती है लेकिन इसका असर जल्द ही खत्म भी हो जाता है। ऐसा माना जाता है कि शुगर के स्तर में उतार- चढ़ाव होने के कारण ही एनर्जी का स्तर कम होने लगता है, जोकि सेहत के लिए खतरनाक है। जितना हो सके, चीनी से दूर रहें। अगर मीठा खाने की क्रेविंग हो रही है तो नैचुरल स्वीट्स का उपयोग करें।


मेडिशन करते समय बरतें ये सावधानियां


पर्याप्त नींद लें - Get Enough Sleep


समय की कमी के चलते बहुत से ऐसे लोग हैं जो अपनी नींद से समझौता करते हैं लेकिन ये बिल्कुल सही नहीं है। एक अनुमान के मुताबिक, 20 से 30 प्रतिशत लोगों को नींद लेने का पर्याप्त समय नहीं मिल पाता है जिसकी वजह से उन पर दिनभर थकान हावी रहती है। इसीलिए रोजाना 7 से 8 घंटे की नींद जरूर पूरी करें।


एक्सरसाइज करें - Do Exercise


स्टेमिना बढ़ाने के लिए एक्सरसाइज करना बेहद ज़रुरी है। रोजाना व्यायाम करने से सुस्ती और आलस शरीर पर हावी नहीं हो पाता है। उसके साथ ही आप हार्ट अटैक, डायबिटीज और मोटापे जैसी गंभीर बीमारियों से भी सुरक्षित रहते हैं। एक रिसर्च में ये सामने आया है कि यदि रोजाना 10 मिनट भी एक्सरसाइज की जाए तो एनर्जी का स्तर बढ़ जाता है। इसीलिए डेली वर्कआउट बहुत ही आवश्यक है।


ये भी पढ़ें -भूलकर भी खाली पेट न खाएं ये चीजें, सेहत पर पड़ता है उल्टा असर


स्टैमिना बढ़ाने के लिए क्या खाएं - What To Eat To Increase Stamina


स्टैमिना बढ़ाने के लिए प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन- सी, आयरन और कई पोषक तत्व जरूरी हैं। यहां हम आपको शरीर को ताकत देने वाले आहार के बारे में बता रहे हैं (stamina badhane wale food), जिनका सेवन कर आप अपना स्टैमिना बढ़ा सकते हैं। आइए जानते हैं कि स्टैमिना बढ़ाने के लिए किन खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए (stamina badhane ke liye kya khana chahiye) -


Food to increase stamina in hindi


बादाम - Almond


स्टैमिना बढ़ाने और शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए बादाम बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। रात को सोने से पहले मुट्ठी भर बादाम और काले चने को एक पानी भरी कटोरी में भिगोकर रख दीजिए। अगले दिन सुबह खाली पेट काले चने और बादाम का सेवन कीजिए, थकावट कुछ ही दिनों में दूर हो जायेगी।


ओट्स - Oats


अगर आप ओट्स का सेवन करते हैं तो सुस्ती और थकान आप से कोसों दूर रहेंगी। जी हां, ओट्स धीरे- धीरे पचते हैं, जिससे कि काफी लंबे समय तक शरीर को एनर्जी मिलती रहती है। इसमें फाइबर और कार्बोहाइड्रेट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जोकि आपके शरीर के स्टैमिना को सही रखता है।


ये भी पढ़ें -स्वाद और सेहत दोनों का ही खजाना है जायफल, जानिए इससे जुड़े फायदे और नुकसान 


चुकंदर - Beetroot


चुंकदर में विटामिन ए और सी की मात्रा भरपूर होती है, जोकि थकान भगाने में कारगर है। वर्कआउट करने वालों को चुकंदर का जूस जरूर लेना चाहिए। इससे शरीर का स्टैमिना दुरुस्त बना रहता है।


अखरोट - Walnut


अखरोट का सेवन हेल्थ में सुधार के लिए बहुत फायदेमंद होता है। रोजाना अखरोट का सेवन करने से शरीर का खराब कोलेस्ट्रॉल कम हो जाता है और स्टैमिना को बढ़ावा मिलता है।


दूध, दही - Milk & Curd


दूध और दही में कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है, जोकि शरीर की हड्डियों और दांतों को तो मजबूत करता ही है, शरीर के सही तरीके से काम करने के लिए भी बेहद जरूरी है।


ये भी पढ़ें -पीरियड के ब्लड कलर से जानिए क्या बीमारी है आपको


केला - Banana


केला हमारे शरीर को एनर्जी देता है। केले में अच्छी मात्रा में कार्बोहाइड्रेटस होते हैं, जो शरीर को शुगर के बिना ही एनर्जी देते हैं। महिलाओं के लिए केला खाना ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि इससे उनकी हड्डियां मजबूत होती हैं। एक्सपर्ट्स बताते हैं कि जो लोग केले का सेवन करते हैं, उनका एनर्जी लेवल अन्य लोगों की तुलना में अधिक होता है।


मूंग दाल - Moong Dal


मूंग दाल खाने से शरीर को ताकत मिलती है और साथ ही शरीर की गर्मी को ठंडक भी। मूंग दाल की सबसे बड़ी खासियत ये है कि यह सुपाच्य होती है। अक्सर आपने देखा होगा कि डॉक्टर बीमार व्यक्ति की कमजोरी को दूर करने के लिए उसे मूंग दाल का सेवन करने की सलाह देते हैं जिससे उसके शरीर का स्टैमिना बढ़े और उसके शरीर को रीकवर होने में मदद मिले।


तरबूज - Watermelon


इसमें पानी और इलेक्‍ट्रोलाइट्स की मात्रा अच्‍छी होती है, जिसे खाने से शरीर हाइड्रेटेड रहता है। तरबूज खाने से शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है। गर्मियों के लिए तरबूज को बेस्ट फूड माना जाता है।


शकरकंदी - Sweet Potato


शकरकंदी को एनर्जी का पिटारा कहा जाता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व हेल्थ के लिहाज से काफी फायदेमंद होते हैं। आयरन की कमी से हमारे शरीर में एनर्जी नहीं रहती, रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है और ब्लड सेल्स का निर्माण भी ठीक से नहीं होता है लेकिन शकरकंद आयरन की कमी को दूर करने में काफी मददगार है।


पालक - Spinach


पालक भरपूर एनर्जी का स्त्रोत माना जाता है। पालक में आयरन के अलावा और भी कई पोषक तत्व होते हैं जो हमें पूरा दिन एनर्जेटिक रखने के लिए काफी हैं। इसीलिए अपने खानपान में पालक को जरूर शामिल करें।


ये भी पढ़ें -इन फलों के सेवन से मोटापा होगा कम और स्किन पर भी आयेगा निखार


स्टैमिना बढ़ाने के लिए योग - Yoga To Increase Stamina


Girl practicing yoga to increase stamina


वैसे तो रोजाना टहलने और स्पोर्ट्स खेलने से भी स्टैमिना अच्छा बना रहता है लेकिन अगर आप चाहते हैं कि रिजल्ट और भी बेहतर आये तो योग का सहारा भी ले सकते हैं। योग एक ऐसी क्रिया है, जिसमें शरीर, मन और आत्मा तीनों का संतुलन होता है। इससे शरीर स्वस्थ रहता है और शरीर को रोगों से मुक्ति भी मिलती है। यह थकान और तनाव को दूर करने में भी सहायक होता है। योगासन करने से शरीर का स्टैमिना भी बढ़ाया जा सकता है। योग गुरु बाबा रामदेव द्वारा बताए गए इन तीन योगासनों को करने से बहुत कम समय में ही प्रभावी असर दिखने लगता है -


भुजंगासन


इस आसन को कोबरा पोज भी कहते हैं। इसमें शरीर के अगले भाग को कोबरा के फन की तरह उठाया जाता है। भुजंगासन करने के एक नहीं बल्कि अनेक फायदे हैं। इससे वजन कंट्रोल में रहता है और शरीर का स्टैमिना भी एकदम चकाचक बना रहता है।


धनुरासन


इस आसन में शरीर एकदम धनुष की तरह दिखता है, इसीलिए इसे धनुरासन नाम दिया गया है। धनुरासन करने से शरीर फुर्तीला और एनर्जेटिक बना रहता है। इसके साथ ही इस आसन को करने के कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी हैं।


पश्चिमोत्तासन


इस आसन को शुरुआत में करना थोड़ा कठिन है लेकिन रोजाना करने से ये आपके लिए आसान हो जायेगा। ये आसन आपको तनाव भरी जीवनशैली से निकालकर आप में ऊर्जा का नया संचार करेगा। इससे आप खुद को एनर्जेटिक महसूस करेंगे।


ये भी पढ़ें -क्या आप जानते हैं अपनी सेक्सुअल हेल्थ के बारे में ये 8 बातें


स्टैमिना बढ़ाने के लिए ध्यान रखें कुछ जरूरी बातें - Tips To Increase Stamina


  • स्टैमिना बढ़ाने के लिए सबसे पहले तो ज़रुरी है कि आप अपने लाइफस्टाइल को सही करें। समय से उठें, व्यायाम करें, सही डाइट फॉलो करें, पौष्टिक आहार का सेवन करें और सही समय पर सोने की आदत डालें।

  • खुद पर इतना बोझ मत डालें कि आपका शरीर दबाव महसूस करने लगे। उतना ही काम करें जितना आप कर सकते हैं, एक्स्ट्रा काम का लोड मत लें।

  • रोजाना सुबह सैर पर जाएं और ध्यान रखें कि रनिंग से पहले कम से कम दो- तीन गिलास पानी जरूर पिएं।

  • स्टैमिना बढ़ाने के चक्कर में अपनी शारीरिक क्षमताओं को न भूलें। उन्हीं एक्सरसाइज का चुनाव करें जो आप आसानी से कर सकते हैं।

  • अपने आहार में साबुत अनाज और फाइबर युक्त आहार शामिल करें।

  • शराब, सिगरेट और तंबाकू जैसी बुरी आदतों से दूर रहें। ये आपके शरीर को कमजोर बनाने का काम करती हैं।

  • अपने वजन को कंट्रोल में रखें। वजन कम या ज्यादा होने से भी शरीर के स्टैमिना पर असर पड़ता है।


स्टैमिना को लेकर पूछे जाने वाले आम सवाल और उनके जवाब - FAQ's


Stamina kaise badhaye


स्टैमिना बढ़ाने के लिए कद्दू का बीज भी खा सकते हैं ?


जी हां, कद्दू के बीज में काफी अच्छा मात्रा में विटामिन, प्रोटीन और फैटी एसिड होता है जो शरीर को एनर्जी प्रदान करता है और थकान को दूर भगाता है।


क्या स्टैमिना का मतलब सेक्स पावर से है?


स्टैमिना का मतलब होता है आंतरिक बल, जिसकी मदद से बिना थके किसी काम को ज्यादा समय तक किया जा सके। स्टैमिना आपके शरीर की ऊर्जा है जो किसी भी कार्य में लगाई जा सकती है।


एनर्जी ड्रिंक पीने से क्या वाकई नुकसान होता है?


आज 50 प्रतिशत से ज्यादा युवा एनर्जी ड्रिंक पीने को प्राथमिकता दे रहा है। एनर्जी ड्रिंक कैफीन और शुगर से भरी होती है। इसे पीने के बाद कुछ देर के लिए एनर्जी का एहसास जरूर होता है लेकिन इसे पीने का नुकसान एक ये भी है कि इसके बाद आपको नींद बहुत आती है।


क्या रोटी खाने से स्टैमिना बढ़ सकता है?


जी हां, अनाज खाने से भी स्टैमिना बढ़ता है। गेहूं की रोटी या गेहूं से बनी चीजों को अपने भोजन में शामिल करके आप अपना स्टैमिना बढ़ा सकते हैं।


घर पर एनर्जी ड्रिंक कैसे बनाएं ?


इसके लिए आपको चाहिए एक कप पालक, एक कप कटे सेब और तीन चम्मच नींबू और एक अनानास। इन सभी को एक साथ मिलाकर मिक्सी में ब्लेंड कर लें और ठंडा करके इसे एनर्जी ड्रिंक के तौर पर पीएं।


ये भी पढ़ें -


मोटापा घटाना है तो खाना खाने से पहले पीएं ये ड्रिंक, सिर्फ 5 दिनों में ही दिखने लगेगा असर


पिस्ता के स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits Of Pistachios)


बासी रोटी खाने के हेल्थ बेनेफिट्स


सर्दियों में शरीर को गर्म रखने के लिए खाए जाने वाले फल


चुकंदर को अपने भोजन में कैसे करें शामिल