Candle Wax Massage In Hindi - कैंडल वैक्स मसाज, Hot Candle Wax Massage In Hindi | POPxo

स्ट्रेच मार्क्स और एंटी एजिंग ट्रीटमेंट के लिए बेस्ट है हॉट कैंडल वैक्स मसाज थेरेपी - Candle Wax Massage In Hindi

स्ट्रेच मार्क्स और एंटी एजिंग ट्रीटमेंट के लिए बेस्ट है हॉट कैंडल वैक्स मसाज थेरेपी - Candle Wax Massage In Hindi

बदलती जीवनशैली के कारण कम उम्र से ही लड़कियों के चेहरों पर एंटी एजिंग (anti ageing) के निशान नज़र आने लगे हैं। धूल- प्रदूषण के कारण चेहरे पर दाग- धब्बों, झुर्रियों की समस्या के साथ ही त्वचा की रंगत सांवली होने लगती है और त्वचा लचीली भी हो जाती है। उम्र को बढ़ने से तो नहीं रोका जा सकता है पर थोड़ी कोशिश की जाए तो एजिंग के इन निशानों से ज़रूर निजात पाई जा सकती है। आजकल मार्केट में ऐसे कई विकल्प मौजूद हैं, जिनकी मदद से बढ़ती उम्र के निशानों को कुछ कम किया जा सकता है। ब्यूटी एक्सपर्ट्स की मानें तो हॉट कैंडल वैक्स मसाज (hot candle wax massage) करवाने से त्वचा की रंगत में निखार होने के साथ ही डिलीवरी के बाद नज़र आने वाले स्ट्रेच मार्क्स के निशानों को भी खत्म किया जा सकता है।


कैसे करवाएं चेहरे पर कैंडल मसाज - How to do Candle Massage on Face in Hindi?


कैंडल मैनीक्योर- पेडीक्योर भी आसान - Candle Wax Manicure- Pedicure


हॉट कैंडल वैक्स मसाज के फायदे - Benefits of Hot Candle Wax Massage In Hindi


जानिए क्या है हॉट कैंडल वैक्स मसाज - Hot Candle Wax Massage In Hindi


आजकल महिलाओं में एजिंग के लक्षण काफी कम उम्र से ही नज़र आने लगते हैं। अगर अपना ख्याल न रखा जाए तो चेहरे पर झुर्रियां, त्वचा में ढीलापन व दाग- धब्बे जैसी समस्याएं अब 30 + की उम्र में भी साफ तौर पर दिखाई पड़ने लगती हैं। वहीं, डिलीवरी के बाद बहुत सी महिलाओं के पेट पर स्ट्रेच मार्क्स (stretch marks) के निशान बन जाते हैं, जो कि बहुत मुश्किल से ही जाते हैं। अगर आप भी बढ़ती उम्र के निशानों या स्ट्रेच मार्क्स से परेशान हैं तो हॉट वैक्स कैंडल मसाज आपके लिए रामबाण उपाय साबित हो सकती है। जानें, इसकी प्रक्रिया।


everything-you-need-to-know-about-hot-candle-wax-massage-therapy-4


1. इस खास कैंडल वैक्स थेरेपी (candle therapy) में मोमबत्ती को जलाकर पिघलाया जाता है।


2. इससे निकलने वाले मोम यानि कि वैक्स (wax) से शरीर के विभिन्न हिस्सों पर स्क्रब (scrub) किया जाता है।


3. स्क्रब करने के बाद गर्म तौलिये से चेहरे और शरीर के अन्य भागों को स्टीम (steam) दी जाती है। इस स्टीमिंग से शरीर की डेड स्किन (dead skin) को मॉइश्चराइज़ किया जाता है।


4. इसके बाद त्वचा पर ब्राइटनिंग पैक (brightening pack) लगाया जाता है। इस पैक में कैंडल के साथ जोजोबा ऑयल (zozoba oil), कोको बटर (coco butter) और विटामिन ई (Vitamin E) जैसे तेलों का मिश्रण होता है।


त्वचा व बालों के लिए बेहद फायदेमंद है कैस्टर ऑयल


हॉट कैंडल वैक्स मसाज के फायदे - Benefits of Hot Candle Wax Massage In Hindi


भारत में प्राचीन काल से ही लोग अपने सौंदर्य को निखारने के लिए प्राकृतिक उपायों पर जोर दे रहे हैं। कई रानियां भी मोमबत्ती के वैक्स से शरीर की मसाज (massage) करवाती थीं। अब यही तरकीब पार्लर और स्पा सेंटर्स (spa centres) के काम आ रही है। इस मसाज से शरीर की कई समस्याओं को खत्म किया जा सकता है। जानिए, कैंडल हॉट वैक्स मसाज के फायदों के बारे में।


बेहतर हो ब्लड सर्कुलेशन 


अगर शरीर में रक्त संचार ठीक तरीके से हो तो स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़ी काफी समस्याओं से निजात पाई जा सकती है। ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation) सही होने से त्वचा की रंगत में सुधार आता है और झुर्रियां भी कम हो जाती हैं। बढ़ती उम्र के साथ अक्सर त्वचा रूखी व बेजान होने लगती है। मसाज थेरेपी (Massage therapy) का फायदा यह रहता है कि उससे चेहरे व शरीर की मृत कोशिकाएं हट जाती हैं और त्वचा की चमक भी बढ़ती है।  


everything-you-need-to-know-about-hot-candle-wax-massage-therapy-1


त्वचा में कसावट


हॉट वैक्स कैंडल मसाज से एज लाइन को छुपाने में मदद मिलती है। कैंडल मसाज से चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियों और ढीली स्किन की समस्या दूर होती है और त्वचा में कसाव भी आता है। अक्सर शरीर का वजन कम करने की कोशिश में भी त्वचा ढीली पड़ जाती है। अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ है तो कैंडल मसाज करवाकर उस ढीली त्वचा में भी कसावट लाई जा सकती है।  


स्किन का ग्लो बढ़ाने के साथ ही एंटी एजिंग के लिए भी कामयाब है माइक्रोकरंट फेशियल


बढ़े चेहरे की चमक


किसी भी ब्यूटी एक्सपर्ट से बात करेंगे तो त्वचा के नरिशमेंट (nourishment) की ज़रूरत के बारे में ज़रूर बताया जाएगा। कैंडल मसाज से चेहरे की त्वचा को नरिश करने में मदद मिलती है। चेहरे की नाजुक त्वचा पर ज्यादा केमिकल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने के बजाय यह मसाज करवाएं। यह चेहरे पर जमा हो चुकी मृत कोशिकाओं को हटाने के साथ ही रूखी त्वचा की चमक भी बढ़ाता है।


त्वचा को गजब की खूबसूरती देंगे ये फेशियल टोनर


स्ट्रेच मार्क्स हों खत्म


प्रेगनेंसी (Pregnancy) के बाद महिलाओं की त्वचा पर स्ट्रेच मार्क्स (stretch marks) के निशान रह जाना आम बात है। अगर आप इन निशानों को मिटाने की तमाम कोशिशें कर चुकी हैं और फिर भी ये जिद्दी निशान आपका पीछा नहीं छोड़ रहे हैं तो कैंडल वैक्स मसाज के ज़रिये इन स्ट्रेच मार्क्स का इलाज किया जाता है। इस मसाज की केवल तीन- चार सिटिंग लेने मात्र से स्ट्रेच मार्क्स से काफी हद तक निजात पाई जा सकती है।


त्वचा संबंधी समस्याओं से मुक्ति


इस मसाज टेक्नीक में कैंडल वैक्स (candle wax) यानि कि मोम के अलावा भी कई सारी सामग्रियों का इस्तेमाल किया जाता है। इन सामग्रियों की मदद से त्वचा संबंधी कई समस्याओं से निजात पाई जा सकती है। अगर आपको त्वचा संबंधी कोई भी समस्या हो, जैसे कि सायरोसिस, खुजली या जलन तो आप कैंडल वैक्स मसाज करवा सकते हैं। हालांकि, स्किन प्रॉब्लम (skin problem) होने की स्थिति में एक बार डॉक्टर (डर्मेटोलॉजिस्ट- dermatologist) से सलाह ज़रूर लें।  


कैसे करवाएं चेहरे पर कैंडल मसाज - How to do Candle Massage on Face in Hindi?


इस मसाज को अपने चेहरे पर भी आसानी से करवाया जा सकता है। इस मसाज की कुछ सिटिंग्स के बाद ही आपको चेहरे की त्वचा पर साफ बदलाव महसूस होने लगेगा। हालांकि, चेहरे पर कैंडल हॉट वैक्स मसाज को करने का सही तरीका ज़रूर मालूम होना चाहिए। जानिए, कुछ ऐसे स्टेप्स, जिनसे आपको यह मसाज करने में आसानी हो।


1. अपने हाथों की तीन उंगलियों पर कैंडल वैक्स (candle wax) लगा लें।


2. कैंडल वैक्स लगी इन उंगलियों को आंखों के नीचे रखें। इन्हें 10 सेकंड तक प्रेस करने के बाद हटा लें।


3. इस प्रक्रिया को दो बार दोहराएं। दिन में दो बार यह एक्सरसाइज़ (exercise) करने से आंखों के नीचे की लटकती हुई त्वचा में प्राकृतिक तौर पर कसावट आने लगेगी। यह एक्सरसाइज़ पफी आइज़ वालों (आंखों के नीचे सूजन रहती हो) के लिए भी काफी लाभदायक है।


4. अपनी रिंग फिंगर (ring finger) पर वैक्स लगा लें। अब इसी उंगली से आईब्रोज़ पर प्रेशर डालें।


5. कम से कम 7 सेकंड तक ऐसा करने से आंखें ऊपर की तरफ लिफ्ट होंगी।


hot-candle-wax-massgae


6. इससे ब्लड सर्कुलेशन तेज़ होगा और आंखों के नीचे काले घेरे (अंडर आई डार्क सर्कल- under eye dark circle) पड़ने वाली समस्या भी दूर होगी।


घर पर इन आसान तरीकों से हटाएं आंखों के नीचे के काले घेरे


7. हाथों की रिंग फिंगर में वैक्स लगाएं। अब आंखों के दोनों कोनों पर रिंग फिंगर रखकर थोड़ा स्ट्रेच करें।


8. कम से कम तीन सेकंड तक प्रेशर बनाए रखने के बाद छोड़ दें। इससे झुर्रियां कम हो जाएंगी।


9. हाथों की पहली और बीच वाली उंगली से ‘V’ शेप बनाएं। अब दोनों हाथों को आंखों के नीचे रखकर हल्का प्रेशर बनाएं। कम से कम तीन सेकंड तक प्रेशर बनाए रखने के बाद हाथ हटा लें।


10. इस प्रक्रिया को तीन बार दोहराएं। तीनों बार वैक्स वाली उंगलियों से ही प्रोसेस करें।


यह मसाज पूरे शरीर पर करवाई जा सकती है। इस मसाज से डेड स्किन सेल्स (dead skin cells) खत्म हो जाते हैं और ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ जाता है। इसे करवाने से न सिर्फ आप कई स्वास्थ्य व सौंदर्य संबंधी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं, बल्कि रिलैक्स भी महसूस करेंगे।


कैंडल मैनीक्योर- पेडीक्योर भी आसान - Candle Wax Manicure- Pedicure


चेहरे की त्वचा के साथ ही अपने हाथों व पैरों की त्वचा का ख्याल रखना भी बहुत ज़रूर होता है। इसके लिए अक्सर लोग घर पर ही कुछ प्रचलित तरीके आज़मा लेते हैं तो वहीं कुछ लोग पार्लर जाकर पूरे तौर- तरीके से हाथ- पैर की मसाज के साथ ही मैनीक्योर (manicure) और पेडीक्योर (pedicure) करवाते हैं। क्या आप जानते हैं कि कैंडल मसाज थेरेपी से भी मैनीक्योर और पेडीक्योर करवा सकते हैं? जानिए, कैसे।


1. कैंडल मसाज थेरेपी में नाखूनों को फाइल करने के साथ ही उनका शेप भी ठीक किया जाता है।


manicure


2. इस प्रक्रिया में क्यूटिकल्स (cuticles) पर क्रीम लगाकर उनकी सफाई की जाती है।


3. कैंडल हॉट वैक्स मसाज में कैंडल की हॉट वैक्स से मैनीक्योर और पेडीक्योर को आसान तरीके से किया जाता है।


pedicure


4. इस प्रक्रिया से हाथों पर निखार आता है और सर्दियों के मौसम में भी हाथ- पैर की त्वचा में नमी बरकरार रहती है।


इस प्रक्रिया से किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है और इसे हर उम्र के लोग करवा सकते हैं।


हॉट कैंडल वैक्स मसाज से जुड़े सवाल- जवाब - FAQ's 


1. क्या इस कैंडल थेरेपी को कोई भी करवा सकता है?


जी हां, इसे किसी भी उम्र व स्किन टाइप (skin type) के लोग करवा सकते हैं।


2. क्या हॉट कैंडल वैक्स मसाज से स्किन टाइट हो सकती है?


हां, हॉट कैंडल वैक्स मसाज से स्किन टाइटनिंग (skin tightening) भी संभव है।


3. डिलीवरी के बाद से मेरी त्वचा पर स्ट्रेच मार्क्स (stretch marks) के निशान बन गए हैं। काफी कोशिशें के बाद भी ये निशान कम नहीं हो रहे हैं। क्या कैंडल वैक्स मसाज थेरेपी से इन निशानों से भी छुटकारा पाया जा सकता है?


इन निशानों से छुटकारा पाना मुश्किल जरूर है पर नामुमकिन नहीं। कैंडल वैक्स मसाज थेरेपी की कुछ सिटिंग्स लेने से इन निशानों को खत्म किया जा सकता है।


everything-you-need-to-know-about-hot-candle-wax-massage-therapy-3


4. क्या इस मसाज थेरेपी को करवाते ही फर्क महसूस होने लगेगा?


अगर आपकी स्किन पहले से ही सॉफ्ट है व उसमें किसी तरह की कोई समस्या नहीं है तो पहली सिटिंग में ही फर्क महसूस होने लगेगा वर्ना आपको इस मसाज थेरेपी की 2- 4 सिटिंग्स लेनी पड़ सकती हैं।


5. हॉट कैंडल वैक्स मसाज करवाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?


हर मसाज थेरेपी (massage therapy) की ही तरह इसमें भी कुछ सामान्य सी बातों का ख्याल रखा जाना ज़रूरी होता है, जैसे कि आपको वैक्स से एलर्जी न हो, इसे करवाने के तुरंत बाद किसी केमिकल प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करें। इस बात का भी ध्यान रखें कि आप किसी प्रोफेशनल से ही कैंडल वैक्स मसाज थेरेपी करवा रहे हों। किसी नौसिखिए से इस तरह की थेरेपी करवाने से बचना चाहिए।


ये भी पढ़ें :


 घर पर हेयर स्पा करने के आसान और प्रभावी तरीके


नारियल तेल से बढ़ाएं त्वचा और बालों की खूबसूरती


दही के इन फायदों को जानकर हैरान रह जाएंगे आप


जानिए,  प्राइमर क्या है और उसे लगाने का सही तरीका