धनिया के फायदे, औषधीय गुण और नुकसान - Dhaniya ke Fayde

धनिया के फायदे - Dhaniya ke Fayde

धनिया (Coriander) या कोथमीर भारतीय रसोई में प्रयोग की जाने वाली एक सुगंधित हरी पत्ती है। हम में से ज्यादातर लोग हरी धनिया की पत्तियों का इस्तेमाल आमतौर पर खाने को सजाने और उसमें सुगंध लाने के लिए करते हैं। लेकिन शायद आप इस बात से अंजान होंगे कि धनिया में ऐसे तमाम औषधीय गुण पाये जाते हैं जो स्किन के साथ- साथ हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत गुणकारी हैं। हरे धनिया की पत्तियां जहां खाने का स्वाद दोगुना कर देती हैं (hara dhaniya ke fayde) वहीं इसके प्रयोग से कई लाइफस्टाइल रोगों से छुटकारा भी मिलता है। आइये जानिये धनिया के फायदे (dhaniya ke fayde) जो की बहुत ही लाभदायक हैं। 


धनिया की पत्तियां के स्वास्थ्य लाभ


वजन कम करने के लिए


धनिया के नुकसान - Dhaniya ke Nuksan


धनिया के फायदे - Dhaniya ke Fayde


हरे धन‍िये की पत्तियां और बीज दोनों ही खाने का स्‍वाद बढ़ा देते हैं। खाने में भले ही मिर्च-मसाला न हो लेकिन अगर धनिया पत्ती (coriander leaves in hindi) से गार्निश‍िंग की जाए तो उसकी खूबसूरती और स्‍वाद में चार चांद लग जाते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि हरी धनिया की पत्तियों में सेहत के कई राज छुपे हैं। इसमें प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और कई तरह के मिनरल पाये जाते हैं। इसके अलावा धनिया में कैल्शियम, आयरन, थियामीन, पोटैशियम, विटामिन सी, फॉस्फोरस और कौरोटीन भी पाया जाता है। यहां हम आपको हरी धनिया की पत्तियों के फायदे (dhaniya ke fayde), उपाय और नुकसान के बारे में विस्तार से बताएंगे। तो आइये जानते हैं कि कैसे हरी धनिया की पत्तियां सुंदरता और सेहत का ख्याल रखती हैं -


लौकी के जूस के फायदे


स्किन के लिए धनिया के फायदे - Coriander Benefits for skin in Hindi


Coriander leaves for skin


स्किन संबंधित कई समस्याओं जैसे कील- मुहांसे, ड्राई स्किन, टैनिंग में धनिया के इस्तेमाल से काफी फायदा होता है। दरअसल, धनिया में ऐसे कई एंटीसेप्टिक और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाये जाते हैं (dhaniya benefits in hindi) जो स्किन के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। इसमें विटामिन सी भी पाया जाता है जोकि फ्री रैडिकल्स से लड़ता है और एजिंग के लक्षणों को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा एक्जिमा और फंगल इंफेक्शन जैसे स्किन रोगों का भी निवारण करता है। हरी धनिया की पत्तियों के रस में चुटकी भर हल्दी मिलाकर ये पेस्ट चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के बाद पानी से मुंह धो लें। इससे चेहरे की चमक तो बढ़ेगी ही, साथ में ब्लैकहेड्स भी खत्म हो जायेंगे। यह धनिया के लाभ में से एक है। 


स्किन, बालों और कई रोगों के लिए दवा का काम करते हैं सरसों के बीज 


बालों के लिए धनिया के फायदे - Coriander for Hair in Hindi


Coriander beneficial for girl's hair


धनिया में वाकई गुणों का भंडार है। स्किन और हेल्थ के साथ- साथ हरी धनिया बालों की देखभाल के लिए बेस्ट औषधि है। बाल झड़ते हों या फिर बालों को मुलायम और नैचुरली स्ट्रेट करना हो तो धनिया का रस इसमें काफी मददगार साबित होता है। क्योंकि इसमें ऐसे कई आवश्यक विटामिन और प्रोटीन होते हैं जो बालों की ग्रोथ बढ़ाने में मदद करते हैं। हरी धनिया का रस बालों की जड़ों में लगाएं और उसके 30 मिनट बाद सिर धो लें। इससे बाल झड़ने की समस्या जल्द ही दूर हो जायेगी। वहीं अगर आपके बाल घुंघराले हैं और आप उन्हें स्ट्रेट करना चाहते हैं तो धनिया का पेस्ट बालों पर 2 घंटे तक के लिए लगाकर छोड़ दें और फिर सिंपल हेयरवॉश कर लें।


बालों के लिए तो वरदान है गुड़हल का फूल


धनिया की पत्तियां के स्वास्थ्य लाभ - Health Benefits of Coriander in Hindi


धनिया की पत्तियां लगभग हर घर में इस्तेमाल की जाती हैं। सूखा धनिया खाने के फायदे भी बहुत लाभदायक हैं। लेकिन  इसके बाद भी शायद आपको ये पता नहीं होगा कि ये एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो बाजार में मिलने वाली दवा से सस्ती और तमाम नुकसानों से रहित है। आइए जानते हैं हरी धनिया के चमत्कारिक स्वास्थ्य संबंधी फायदों के बारे में -


पेट के लिए तो अमृत है


हरी धनिया की पत्तियां विशेष रूप से पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद हैं। ये लीवर को एक्टिव रखने में मदद करती हैं। हरा धनिया पेट की समस्याओं का निवारण करता है और पाचनशक्ति बढ़ाता है। पेट दर्द, सूजन, गैस, बदहजमी जैसी पेट की हर समस्या के लिए हरी धनिया (coriander in hindi) से बढ़कर और कुछ हो ही नहीं सकता। यही वजह है कि भारतीय व्यंजनों में हरी धनिया को गार्निशिंग के लिए आज से नहीं बल्कि काफी पुराने समय से इस्तेमाल किया जा रहा है। धनिया की ताजी पत्‍तियों को छाछ में मिलाकर पीने से बदहजमी, मतली, पेचिश और कोलाइटिस में आराम मिलता है।


थायराइड में फायदेमंद


हाइपोथायरायडिज्म यानि कि थायराइड एक ऐसी समस्या है जिससे पूरे विश्व में बहुत सारे लोग प्रभावित हैं। ये बीमारी पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में देखी जाती है। इसे कंट्रोल करने के लिए अपने खाने में रोजाना धनिया की पत्तियों का इस्तेमाल करें। ये असंतुलित हॉर्मोन को संतुलित करता है। इसीलिए हरी धनिया की पत्तियों का सेवन रोजाना करें।


डायबिटीज में धनिया की पत्तियां


डायबिटीज के मरीजों के लिए हरी धनिया काफी फायदेमंद होती है। ये ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल करने का काम करती है। शरीर में मेटाबॉलिज्म सही ढंग से हो, इसके लिए ब्लड शुगर के स्तर को तेजी से कम करता है।


उपाय - धनिया की पत्तियों को रात भर पानी में भिगो दें और सुबह छानकर पानी पी लें। आप चाहें तो धनिया के बीज का इस्तेमाल भी अपने खाने में कर सकते हैं। इससे भी काफी फायदा मिलता है।


गठिया में लाभदायक


उम्र बढ़ने पर अक्सर लोगों को गठिया व जोड़ों मे दर्द की शिकायत होने लगती है। धनिया की पत्तियों में एंटी- इंफ्लेमेट्री गुण पाये जाते हैं, जिसकी वजह से गठिया यानि कि आर्थराइटिस जैसे रोगों का असर कम होता है। धनिया की पत्तियों को पीसकर उनका लेप बना लें या फिर धनिया के बीज के तेल को जैतून के तेल में मिलाकर उससे रोजाना 2 टाइम अपने जोड़ों पर मालिश करें, आराम मिलेगा।


Coriander - Cure for stomach ache


मासिक धर्म के लिए


जिन महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान बहुत दर्द होता है और अत्यधिक रक्त स्त्राव भी, उन्हें धनिया का सेवन करना चाहिए। ये ब्लीडिंग को कंट्रोल करता है साथ ही शरीर में एनर्जी लेवल में सुधार भी लाता है। मासिक धर्म में रक्तस्राव साधारण से ज्‍यादा होने पर आधा लीटर पानी में हरी धनिया की पत्तियां और थोड़ी सी शक्‍कर डालकर उबालें और थोड़ा सा ठंडा होने पर इस पानी को पी लें, फायदा होगा। इसके साथ ही धनिया महिलाओं में मासिक धर्म संबंधी सभी समस्याओं को दूर करता है।


पीरियड के ब्लड कलर से जानिए क्या बीमारी है आपको


किडनी के लिए हरा धनिया है फायदेमंद


किडनी के लिए हरा धनिया बहुत ही फायदेमंद खाद्य पदार्थ है। एक रिसर्च में ये सामने आया है कि जो लोग नियमित तौर पर धनिया का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें किडनी खराब होने की समस्या न के बराबर होती है। इसीलिए किडनी को दुरुस्त रखने के लिए डॉक्टर हमेशा धनिया खाने की सलाह देते हैं।


Dhaniya is beneficial for kidney


कफ में राहत पहुंचाये


अगर आप कफ या जकड़े से परेशान हैं तो धनिया की पत्तियों का इस्तेमाल करें। धनिये को कफनाशक भी माना जाता है। लंबे समय से ब्रोंकाइटिस और अस्थमा जैसे रोगों के लिए भी धनिया काफी मददगार है। सुबह खाली पेट दो चम्मच ताजा धनिया की पत्तियों के रस का सेवन करें।


आंखों के लिए लाभदायक


धनिया में मौजूद विटामिन ए हमारी आंखों के लिए बहुत आवश्यक है। इसीलिए नियमित रूप से हरे धनिये का प्रयोग अपने खाने में करना चाहिए, जिससे आंखों की रोशनी में कभी किसी तरह कि कोई समस्या न आए। यही नहीं धनिया में हाई एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाये जाते हैं जो आंखों की खुजली, सूजन और अन्य नेत्र विकार से छुटकारा दिलाने में मददगार हैं।


#DIY : इस तरह घर पर ही बनाएं काजल, नहीं होगा आंखों को नुकसान


थकान दूर करें


अगर आपको थका-थका या शरीर में कमजोरी महसूस होती है या फिर चक्कर आते हों तो दो चम्मच धनिए के रस में दस ग्राम मिश्री और आधा कटोरी पानी मिलाकर सुबह-शाम लेने से फायदा (coriander benefits in hindi) होता है।


मस्सा हटाएं


मस्सा (wart) शरीर पर कहीं- कहीं काले रंग का उभरा हुआ मांस का छोटा दाना, जो चिकित्साविज्ञान के अनुसार एक प्रकार का चर्मरोग माना जाता है। अगर आपके शरीर पर कहीं मस्से हैं और आप उसे नैचुरली हटाना चाहते हैं तो हरा धनिया इसमें काफी कारगर साबित होगा।


उपाय - हरी धनिया की पत्तियों को पीसकर उनका एक गाढ़ा पेस्ट बना लें और फिर रोजाना मस्सों पर लगाएं। 1 महीने में आपको इसका असर दिखने लगेगा।


वजन कम करने के लिए धनिया की पत्तियां


Dhaniya is used by girl for weight loss


धनिया एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो मेटाबॉलिज्म बढ़ाने और वसा को जलाने का काम करता है। एक्सपर्ट मानते हैं कि धनिया की पत्तियां या फिर बीज से बना काढ़ा ब्लड में लिपिड के स्तर को कम कर देता है, जिससे वजन नहीं बढ़ता है। गर्म पानी में हरी धनिया की पत्तियों को उबाल कर इसकी चाय बना कर पीएं। हफ्ते में कम से कम ऐसा 4 से 5 बार करें, कुछ दिन ऐसा करने से वजन कम होता नजर आने लगेगा। अगर आप भी वजन कम करने के लिए कई हथकंडे अपना चुके हैं तो एक बार हरी धनिया का ये नुस्खा भी ट्राई करके देख लीजिए। यहां हम आपको ऐसे हेल्दी जूस के बारे में बता रहे हैं जिससे वजन आसानी से कम किया जा सकता है।


वजन कम करना चाहते हैं तो फॉलो करें बाबा रामदेव के ये टिप्स


वेटलॉस ड्रिंक - धनिया नींबू का जूस


Coriander weight loss drink


सबसे पहले एक बर्तन या जार में एक नींबू को निचोड़कर उसका रस निकाल लें। अब इसमें मसली हुई 60 ग्राम हरी धनिया की पत्तियों डालें और उसमें पानी मिला लें। इसे अच्छी तरह से मिक्स कर लें। इस जूस को खाली पेट लगातार 5 दिन तक लें, इससे खून में मौजूद अशुद्धियां तो दूर होंगी ही, साथ में 5 किलो तक वजन भी कम हो जायेगा।


मोटापा घटाना है तो खाना खाने से पहले पीएं ये ड्रिंक


धनिया के नुकसान - Dhaniya ke Nuksan


धनिया के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं। धनिया की तासीर (dhaniya ki taseer kaisi hoti hai) ठंडी होती है इसीलिए इसके नुकसान बहुत ज्यादा नहीं हैं। इसे आप पेट की समस्याओं के लिए उपयोग कर सकते हैं लेकिन ज्यादा मात्रा में इसका सेवन करने से एलर्जी की समस्या हो सकती है, जिसका असर स्किन इंफेक्शन के रूप में देखा जा सकता है। एक्सपर्ट बताते हैं कि प्रेगनेंट महिलाओं को धनिया की पत्तियों का सेवन ज्यादा नहीं करना चाहिए। हालांकि पुराने समय के लोग कहते हैं कि धनिया का सेवन करने से मां के स्तन के दूध में वृद्धि होती है। साथ ही स्किन विशेषज्ञों का भी ये मानना है कि धनिया के अधिक मात्रा में सेवन करने से हमारी स्किन के सनबर्न होने की आशंका ज्यादा बढ़ जाती है, जोकि लंबे समय के बाद स्किन के कैंसर का भी कारण बन सकती है। इसीलिए हर चीज का सीमित सेवन करना ही फायदेमंद है, अति सभी की बुरी होती है।


ये भी पढ़ें :


नीम से जुड़े हेल्थ और ब्यूटी सीक्रेट्स


त्वचा और बालों के लिए करी पत्ते के फायदे


पीपल के पत्ते के लाभ


मसालों के स्वास्थ्य लाभ


तेज पत्ता के स्वास्थ्य संबंधी फायदे