Permanent Hair Straightening In Hindi - परमानेंट हेयर स्ट्रेटनिंग का तरीका | POPxo

जानें हेयर स्ट्रेटनिंग और हेयर स्मूदनिंग में क्या होता है अंतर? कौन है किससे बेहतर? - Permanent Hair Straightening In Hindi

जानें हेयर स्ट्रेटनिंग और हेयर स्मूदनिंग में क्या होता है अंतर? कौन है किससे बेहतर? - Permanent Hair Straightening In Hindi

लंबे, सीधे और खूबसूरत भला किसे पसंद नहीं होते। कुछ लोगों को तो इस तरह के बाल जन्म से ही मिले होते हैं मगर जिनके नहीं होते, उन्हें अपने बालों को स्ट्रेट करने के लिए तरह- तरह के जतन करने पड़ते हैं। इनसे सबसे ऊपर है हेयर स्ट्रेटनिंग। दरअसल हेयर स्ट्रेटनिंग एक ऐसी हेयर स्टाइलिंग तकनीक है जिसका इस्तेमाल आपके बालों को सीधा यानि स्ट्रेट करने के लिए किया जाता है ताकि यह स्मूथ और खूबसूरत दिखें। 1950 के दशक में यह ट्रेंड काफी पॉपुलर था। तब बालों को स्ट्रेट करने के लिए तरह- तरह के तरीके अपनाए जाते थे। जैसे हॉट कॉम्बिंग, हेयर आयरन, ब्लो-ड्रायर स्टाइलिंग, रोलर सेट, ब्राजीलियन स्ट्रेटनिंग आदि। यहां तक कि कुछ शैंपू, कंडीशनर, हेयर जेल और सीरम भी आपके बालों को कुछ समय के लिए सीधा यानि स्ट्रेट कर सकते हैं। मगर क्या आप जानते हैं कि हेयर स्ट्रेटनिंग और हेयर स्मूदनिंग में काफी अंतर होता है। कई बार हम इन दोनों में खास अंतर नहीं जान पाते और दोनों को एक ही समझ लेते हैं। मगर हम यहां आपको हेयर स्मूदनिंग और हेयर स्ट्रेटनिंग के बारे में सारी जानकारी देंगे, जिससे आपको इन दोनों में अब और कन्फ्यूज़ होने की ज़रूरत बिलकुल नहीं पड़ेगी।


जानें हेयर स्मूदनिंग और हेयर स्ट्रेटनिंग के बारे में सारी जानकारी - Hair Smoothening and Hair Straightening in Hindi


ब्राज़ीलियन हेयर ट्रीटमेंट (Brazilian Hair Treatment)


टेंपरेरी स्ट्रेटनिंग के लिए घरेलू नुस्खे (Home Remedies For Temporary Straightening)


क्या है हेयर स्मूदनिंग ? (What Is Hair Smoothening)


कैराटिन ट्रीटमेंट (Keratin Treatment)


टेंपरेरी स्ट्रेटनिंग के लिए हेयर प्रोडक्ट्स (Hair Products For Temporary Straightening)


घर पर ही बालों को करें कलर और हाईलाइट, वो भी केमिकल के इस्तेमाल के बिना - How to Highlight Hair at Home in Hindi


क्या है हेयर स्ट्रेटनिंग? - What Is Hair Straightening


हेयर स्ट्रेटनिंग यानि बालों को सीधा करना। इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा वो लोग करते हैं जिनके बाल कर्ल या फिर थोड़े फ्रिज़ी से होते हैं। इस तरह के बालों को दो तरह से स्ट्रेट कराया जा सकता है। पहला तरीका है काम समय के लिए बालों को स्ट्रेट करना यानि टेंपरेरी स्ट्रेटनिंग और दूसरा तरीका है हमेशा के लिए बालों को स्ट्रेट करना यानि परमानेंट हेयर स्ट्रेटनिंग या फिर परमानेंट हेयर रिबॉन्डिंग।


कम समय के लिए बालों को स्ट्रेट करने के तरीके - Techniques for Temporarily Straighten Your Hair


Strightening-or-smoothening1


शैम्पू व कंडीशनर (Shampoo And Conditioner)


क्या आपके बाल कर्ली या फिर फ्रिज़ी है। अगर आपका जवाब हां है तो हम समझ सकते हैं कि हमेशा बाल धोने के बाद आपको किन- किन समस्याओं से होकर गुज़ारना पड़ता होगा। ऐसे बाल अक्सर धोने के बाद जब तक गीले रहते हैं तब तक तो सीधे लगते हैं। मगर जैसे- जैसे ये सूखते हैं, वैसे- वैसे अपनी नेचुरल शेप में वापस आने लगते हैं और सीधा आकार खो देते हैं। अपने बालों को स्ट्रेट करने के लिए हीटिंग टूल का इस्तेमाल करते हैं तो ये धीरे- धीरे अपनी प्राकृतिक चमक ही खो देते हैं और डैमेज होने लगते हैं। इसलिए बालों को स्ट्रेट यानि सीधा करने के लिए शैम्पू व कंडीशनर एक अच्छा उपाय साबित हो सकता है।


टेंपरेरी स्ट्रेटनिंग के लिए हेयर प्रोडक्ट्स - Hair Products For Temporary Straightening


ट्रेसमे केराटिन स्मूथ विद आर्गन ऑयल शैम्पू (Tresemme Keratin Smooth With Argan Oil Shampoo)


ये शैम्पू खास बालों को स्ट्रेट व् स्मूथ बनाने के लिए तैयार किया गया है। ट्रेसमे के इस शैम्पू में सल्फेट की मात्रा कम होने के कारण ये बालों में केराटिन बनाने में मदद करता है और उन्हें नरिश करता है। साथ बालों को ज़रूरी पोषक तत्व भी प्रदान करता है। ये बालों के फ्रिज़ को खत्म कर उन्हें स्ट्रेट बनता है, ताकि बालों पर आसानी से स्टाइलिंग हो सके।


कीमत- ₹ 410


ट्रेसमे केराटिन स्मूथ विथ आर्गन ऑयल कंडीशनर (Tresemme Keratin Smooth With Argan Oil Conditioner)


ट्रेसमे केराटिन स्मूथ विद आर्गन ऑयल शैम्पू के साथ इस कंडीशनर का इस्तेमाल आपके बालों को पहले भी ज्यादा खूबसूरत बनाता है। ये आपके बालों को न सिर्फ पोषित करते हैं बल्कि उन्हें ऐसा लुक देते हैं, जैसे आप पार्लर से ब्लो ड्राई कराकर आए हों। शैम्पू और कंडीशनर के इस कॉम्बिनेशन के साथ फ्रिज़ी बालों को कहें अलविदा और वेलकम करें स्ट्रेट व स्मूथ बालों का।


कीमत- ₹ 220


इन 15 होममेड हेयर मास्क से रूखे और बेजान बालों को बनाएं चमकदार - Home made Hair Mask for Damaged Hair in Hindi


टेंपरेरी स्ट्रेटनिंग के लिए घरेलू नुस्खे - Home Remedies For Temporary Hair Straightening in Hindi


Straightening


अगर आप हेयर प्रोडक्ट्स घरेलू नुस्खों में यकीन रखते हैं, तो हम आपके लिए कुछ ऐसे नुस्खे लेकर आए हैं, जिनकी मदद से आप अपने कर्ली व फ्रिज़ी बालों को स्ट्रेट बना सकते हैं।


1- शहद, दूध व स्ट्रॉबेरी को एक प्राकृतिक स्ट्रेटनर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए आप एक कप दूध में दो बड़े चम्‍मच शहद और थोड़ी सी मैश की हुई स्‍ट्रॉबेरी मिलाएं। अब इस पेस्‍ट को अपने बालों पर लगाकर कम से कम 2 घंटे के लिए छोड़ दें। फिर हल्‍के शैम्‍पू से बालों को धो लें।


2- कोकोनट मिल्क और लेमन जूस को किसी कटोरी में अच्छी तरह से मिक्स करके, कुछ घंटों के लिए फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। ठंडा हो जाने के बाद इसे अपने बालों पर मास्क की तरह लगाएं। कुछ देर बाद बालों को 15 मिनट के लिए स्टीम दीजिए। फिर इन्हें शैम्पू से धो लें। सर्दियों के मौसम में इस नुस्खे को न ही करें तो बेहतर होगा। नहीं तो सिर पर ठंड बैठने की आशंका बढ़ जाती है।


3- बेसन, मुल्तानी मिट्टी और सिरके की मदद से भी बालों को प्राकृतिक रूप से स्ट्रेट किया जा सकता है। इसके लिए लगभग 4 बड़े चम्मच बेसन और इतनी ही मात्रा में मुल्तानी मिट्टी मिला लीजिए। अब इसमें आधा कप सिरका मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को 10 से 15 मिनट बालों पर लगाएं और शैम्पू से बालों को अच्छी तरह धो लें।


4- मुल्तानी मिट्टी में अंडा और चावल का आटा मिलकर भी बालों को स्ट्रेट लुक दे सकते हैं। इसके लिए एक कप मुल्तानी मिट्टी में एक अंडा और पांच चम्‍मच चावल का आटा मिक्‍स कर पेस्ट बना लें और बालों पर 40 मिनट के लिए लगा कर रखे। इस दौरान बालों को हाथों की उंगलियों या फिर बड़े दांत वाले कंघे की मदद से सीधा रखने की कोशिश करें। जब पेस्‍ट सूख जाए तब बालों को सादे पानी से धो लें। बेहतर होगा कि इस पेस्ट को लगाने से एक रात पहले बालों में तेल लगा लें। ऐसा आप हफ्ते में एक बार कर सकते हैं। कुछ महीनों में ही आपको बेहतर परिणाम नज़र आने लगेंगे।


5- केला सिर्फ खाने में ही हेल्दी नहीं होता, बल्कि त्वचा व् बालों के लिए भी फायदेमंद होता है। इसके अलावा ये आपके बालों को स्ट्रेट करने भी मदद करता है। दो पके हुए केलों को अच्‍छी तरह से मैश करके उसमें दो बड़े चम्‍मच शहद, दही और जैतून का तेल मिलाकर पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट को अपने बालों पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। फिर बालों को अच्‍छे से धो लें।


इन ब्यूटी टिप्स के साथ लगाएं अपनी खूबसूरती में चार- चांद - Beauty Tips in Hindi


स्ट्रेटनिंग आयरन - Straightening Iron


straightening-iron


ऐसा कई बार होता होगा जब बाहर जाने के लिए आपके पास न तो बालों को शैम्पू करने का समय होता ही किसी घरेलू नुस्खे को अपनाने का। ऐसे में काम आता है स्ट्रेटनिंग आयरन। शुरूआत में जो स्ट्रेटनिंग आयरन आते थे वो बालों को काफी नुकसान पहुंचाते थे। मगर बदलते समय के साथ टेक्नीक में भी बदलाव आया है और स्ट्रेटनिंग आयरन की क्वालिटी पहले से कहीं ज्यादा बेहतर हुई है। अब ये पहले के मुकाबले बालों को कम नुकसान पहुंचाता है और उन्हें स्मूथ भी बनाता है। मगर जिस तरह से हर चीज़ की अति बुरी होती है, उसी तरह से स्ट्रेटनिंग आयरन की लत भी बालों को नुकसान पहुंचा सकती है। ये बालों को हीट करके सीधा बनाता है इसलिए इसका इस्तेमाल कभी- कभी ही किया जाए तो बेहतर रहता है।


परमानेंट हेयर स्ट्रेटनिंग / रिबॉन्डिंग - Permanent Hair Straightening / Rebonding


Straightening-rebonding


परमानेंट हेयर स्ट्रेटनिंग / रिबॉन्डिंग में बालों को स्ट्रेट और स्मूथ करने के लिए केमिकल्स का प्रयोग किया जाता है। ये तरीका बालों को परमानेंट स्ट्रेट करने का दावा तो करता है लेकिन वास्तव में ये बालों को तब तक सेमी- परमानेंट स्ट्रेट रखता है, जब तक कि आपके बालों की ग्रोथ शुरू नहीं हो जाती। इसमें इस्तेमाल होने वाला अत्यधिक केमिकल आपके बालों को कमजोर बनाता है, जिससे वो टूटकर गिरने लगते हैं। अगर परमानेंट स्ट्रेटनिंग के बाद बालों की देखभाल ठीक तरह से न की जाए तो आपके बाल अपनी प्राकृतिक चमक खोकर बेजान भी हो सकते हैं।


सफेद बालों को काला करने में कारगर हैं ये आसान घरेलू उपाय - White Hair Treatment in Hindi


फायदा (Pros)


1. आपके बाल स्ट्रेट बनेंगे और आपको इन्हें हर दिन स्टाइल करने की ज़रूरत भी नहीं होगी।


2. फ्रिज़ी बालों से आज़ादी


नुकसान (Cons)


1- आपके बाल स्ट्रेट तो दिखेंगे, मगर देखते ही पता चल जायेगा कि आपने स्ट्रेटनिंग कराई है। यानि आपके बाल नेचुरल तरीके से स्ट्रेट नहीं होंगे।


2- अपने बालों की एक्स्ट्रा केयर करनी पड़ेगी।


3- स्ट्रेट कराने के लिए आपको अपने बालों की लंबाई के अनुसार 4 से 6 घंटे का समय लग सकता है।


क्या है हेयर स्मूदनिंग ? - What Is Hair Smoothening


Straightening-smoothening-2


हेयर स्मूदनिंग आपके बालों को नेचुरल बनाए रखने के साथ उसे सिल्की और स्मूथ बनाता है। इसके अलावा स्मूदनिंग कराने के बाद आप अपने बालों को आसानी से मैनेज भी कर सकते हैं। ये बालों को फ्रिज़ी, डल और दो मुंहा भी नहीं होने देता। हालांकि इसमें भी कई तरह के केमिकल्स का इस्तेमाल होता है, मगर फिर भी ये रिबॉन्डिंग से कहीं ज्यादा बेहतर है। बालों को स्मूथ कराने के बाद इनका ठीक रहना बात पर भी निर्भर करता है कि आप अपने बालों को कितनी फ्रीक्वेंटली धोते हैं। वैसे 6 से 8 महीने तक हेयर स्मूदनिंग आपके बालों पर बनी रहती है।


बालों का झड़ना रोकने में बेहद असरदार हैं ये एंटी हेयर फॉल शैम्पू - Best Shampoo for Hair Fall in Hindi


कैराटिन ट्रीटमेंट - Keratin Treatment


Straightening-smoothening


कैराटिन एक तरह का प्रोटीन होता है जो प्राकृतिक रूप से आपको बालों, नाखूनों और दांतों में मौजूद होता है और उन्हें मजबूती प्रदान करता है। मगर बाल जब बाहरी प्रदूषण, धुल मिट्टी, धूप और हवा के संपर्क में आते हैं तो धीरे- धीरे उनमें से कैराटिन की मात्रा कम होने लगती है और बाल बेजान व फ्रिज़ी हो जाते हैं। कैराटिन ट्रीटमेंट बालों की इसी खोई हुई चमक को वापस लाने का काम करता है, जिससे बाल मुलायम, चमकदार व खूबसूरत बनते हैं। ये आपके बालों को पूरी तरह से स्ट्रेट लुक तो नहीं देगा, मगर देखने में आपके बाल ऐसे लगेंगे जैसे अभी- अभी पार्लर से ब्लो ड्राई कराया हो। हालांकि इसका प्रभाव कम समय के लिए ही रहता है। ये ज्यादा से ज्यादा 6 महीने तक टिकता है और हर बार बाल धोने के साथ इसका प्रभाव कम होता जाता है। इसके लिए आपको अलग से पार्लर द्वारा सुझाए गए शैम्पू और कंडीशनर इस्तेमाल करने की ज़रूरत पड़ती है, ये बालों को झड़ने से बचाने का सबसे सुरक्षित तरीका है।


फायदे (Pros)


1- ये फ्रिज़ी बालों को स्मूथ बनाता है।


2- बाल आसानी से स्टाइल कर सकते हैं।


3- ये हर तरह के बालों के लिए सुरक्षित है।


4- रिबॉन्डिंग से बेहतर विकल्प है।


5- आपके बाल अधिक नेचुरल तरीके से स्ट्रेट लगेंगे।


नुकसान (Cons)


1- इसमें इस्तेमाल होने वाले केमिकल्स की वजह से त्वचा में एलर्जी व आंखों में जलन हो सकती है।


2- यह ट्रीटमेंट सामान्य से मंहगा होता है और इसमें दिए जाने वाले शैम्पू व् कंडीशनर भी सस्ते नहीं होते।


दीपिका पादुकोण के ये हेयर स्टाइल्स एकदम बदल देंगे आपका लुक - Deepika Padukone Hair Styles in Hindi


ब्राज़ीलियन हेयर ट्रीटमेंट - Brazilian Hair Treatment in Hindi


ब्राज़ीलियन हेयर ट्रीटमेंट खासतौर से ड्राई और वेवी बालों पर किया जाता है। इस तरह के ट्रीटमेंट में हार्श केमिकल्स का इस्तेमाल नहीं होता इसलिए ये बालों पर सख्त नहीं होता। इस पूरे प्रोसेस में नेचुरल इंग्रीडियंट्स यानि प्राकृतिक सामग्री, प्रोटीन्स और एंटीऑक्सीडेंट्स का इस्तेमाल होता है, जिस वजह से ये बालों के टेक्सचर को सुधरने में मदद करता है।


फायदा (Pros)


1- ये बालों को सिल्की व स्मूथ बनाता है।


2- इसमें हार्श केमिकल्स का इस्तेमाल नहीं होता।


3- यह जड़ों से सिरों तक बालों को पोषित और मॉइश्चराइज़ करता है।


नुकसान (Cons)


1- यह ट्रीटमेंट बालों पर सिर्फ 12 से 14 हफ़्तों के लिए ही रहता है।


2- ब्राज़ीलियन हेयर ट्रीटमेंट काफी महंगा होता है।


इमेज सोर्सः Instagram