Unwanted Hair Removal Tips in Hindi - अनचाहे बालों को कैसे हटाएं, Body Hair Remove Tips in Hindi, बालों को कैसे हटाएं | POPxo
Home  >;  Beauty  >;  Bath & Body
खूबसूरत और स्मूथ स्किन पाने के लिए इन तरीकों से हटाएं शरीर के अनचाहे बाल - Unwanted Hair Removal Tips in Hindi

खूबसूरत और स्मूथ स्किन पाने के लिए इन तरीकों से हटाएं शरीर के अनचाहे बाल - Unwanted Hair Removal Tips in Hindi

शरीर पर हर जगह उगे बाल भला किसे अच्छे लगते हैं! ये हमारी खूबसूरती को कम करते हैं और हमारी स्किन की रंगत को भी खराब करते हैं। यही वजह है कि अधिकतर लड़कियां अपने शरीर पर अनचाहे बाल साफ करने के लिए तरह- तरह के उपाय करती हैं। कोई थ्रेडिंग की मदद लेता है किसी को वैक्सिंग अच्छी लगती है। इससे बाल तो निकल जाते हैं लेकिन हर किसी को यह तरीके सूट नहीं करते और परिणामस्वरूप किसी न किसी तरह की समस्या दे जाते हैं। यहां जानिए शरीर से बाल हटाने के आम उपाय और जिनको यह उपाय सूट नहीं करते, उनके लिए घरेलू उपाय - 


शरीर के अनचाहे बालों को कैसे हटाएं - How to Remove Unwanted Hair in Hindi


स्थायी उपाय है लेजर - Laser Hair Removal in Hindi


शरीर से बाल हटाने के घरेलू नुस्खे - Home Remedies for Hair Removal in Hindi


बाल हटाने के बारे में पूछे जाने वाले आम सवाल  - FAQs 


शरीर पर बालों के नुकसान 


शरीर पर दिख रहे बाल आपकी खूबसूरती को कम करते हैं। और यदि आप स्लीवलेस या हॉल्टर नेक ड्रेस पहनने की सोचती हैं तो हेयर रिमूवल के बिना ऐसी ड्रेसेज़ पहनना अच्छा नहीं लगता। इसी तरह चेहरे के बाल आपकी स्किन की रंगत के साथ खूबसूरती को भी कम करते हैं।


शरीर के अनचाहे बालों को कैसे हटाएं - How to Remove Unwanted Hair in Hindi


शेविंग है पुराना तरीका (Shaving)


हेयर रिमूवल या बाल साफ करने का यह सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला तरीका है। आप अपने बजट के अनुसार, चाहें तो इलेक्ट्रिक शेवर्स या डिस्पोजेबल रेजर का भी प्रयोग कर सकते हैं। शेविंग करने के दौरान किसी भी तरह का दर्द नहीं होता, बस यह ध्यान रखना होता है कि आप अपनी स्किन पर ही कट न लगा दें। शेविंग करते वक्त यह जरूर सुनिश्चित करें कि आप साथ में शेविंग क्रीम या साबुन और तेज ब्लेड का प्रयोग कर रहे हों। इस तरह से आपके चोट लगने या शेविंग के बाद इरिटेशन का खतरा नहीं रहेगा। शेविंग के दौरान स्किन लेवल पर ही बाल हटते हैं, इसलिए ये जल्दी फिर से बढ़ भी जाते हैं। शेविंग शरीर के कई हिस्से पर काम कर सकता है लेकिन लेडीज इससे परहेज करती हैं क्योंकि इसके बाद पतले बालों की जगह मोटे बालों के आने का डर रहता है। शावर लेते समय शेविंग करना सही रहता है, खासकर तब जब आप डिस्पोजेबल रेजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। शरीर के उस हिस्से को गीला करें, जहां आप शेव करना चाहते हैं। फिर वहां शेविंग जेल या शेविंग क्रीम लगाएं। इसके बाद रेजर को पानी से गीला करें और हेयर ग्रोथ की उल्टी दिशा में शेव करें। शेविंग के वक्त स्किन को कस कर रखने से स्किन के कटने का खतरा नहीं रहता। शेविंग के बाद वहां थपथपा लें आैर फिर ड्राईनेस से बचने के लिए मॉइश्चराइजर लगा लें।


नुकसान -


1. शेविंग के बाद बाल जल्दी उग जाते हैं।  


2. इसके बाद पतले बालों की जगह मोटे बालों के आने का डर रहता है।


3. स्किन कटने का डर बना रहता है।


इसे भी पढ़ें - इन ब्यूटी टिप्स के साथ लगाएं अपनी खूबसूरती में चार- चांद


वैक्सिंग का सहारा (Waxing)


Hair Removal 5


वैक्सिंग हेयर रिमूवल का ऐसा तरीका है, जिसमें वैक्स की मदद से जड़ से बाल निकल जाते हैं। इसके लिए गरम वैक्स को स्किन पर लगाया जाता है। इसके बाद स्ट्रिप या मोटे कपड़े की मदद से वैक्स को अनचाहे बालों के हटा दिया जाता है। इसमें बाल उगने की दिशा के उल्टी तरफ से स्ट्रिप को खींचकर बालों को हटाया जाता है। वैक्सिंग करते वक्त शुरुआती कुछ सेकेंड में हल्का दर्द होता है लेकिन कुछेक बार वैक्सिंग कराने के बाद इसकी आदत पड़ जाती है। इससे दो- तीन सप्ताह तक बाल वापस नहीं आते हैं, फिर धीरे- धीरे आने लगते हैं। वैक्सिंग के बाद स्किन सिल्की भी हो जाती है आैर दोबारा उगने वाले बाल भी मोटे आैर खराब नहीं उगते हैं। वैक्सिंग को शरीर के हर हिस्से पर किया जा सकता है, फिर चाहे वह चेहरा हो या प्यूबिक एरिया। हां, यह जरूर है कि वैक्सिंग के लिए बालों का ठीक- ठाक बड़ा होना जरूरी है ताकि ये आसानी से एक बार में निकल जाएं। वैक्सिंग को सैलून में कराना अच्छा रहता है, हालांकि अब तो कई लोग स्वयं भी घर पर वैक्सिंग कर लेते हैं।


नुकसान -


1. वैक्सिंग से होने वाला दर्द कभी कभी बहुत ज्यादा होता है।


2. अगर वैक्सिंग ठीक तरह से न की जाए तो बाल टूट जाते हैं और फिर जल्दी वापस आ जाते हैं।


हेयर रिमूवल क्रीम का प्रयोग - How to Use Hair Removal Creams in Hindi


Hair removal 2


हेयर रिमूवल क्रीम को डेपिलेट्रीज भी कहा जाता है। इसमें केमिकल होता है, जो बालों को स्किन से अलग कर देता है। इस प्रक्रिया में क्रीम को स्किन पर लगाकर दस मिनट छोड़ दिया जाता है। इस दौरान बाल त्वचा से अलग हो जाते हैं और फिर प्लास्टिक स्क्रैप्र का प्रयोग करके बालों को क्रीम के साथ हटा दिया जाता है। यह शेविंग से ज्यादा दिन तक चलता है, लेकिन वैक्सिंग से कम। हेयर रिमूवल क्रीम को बड़े एरिया जैसे पैर या हाथ में लगाया जाता है।


नुकसान -


1. हेयर रिमूवल क्रीम के इस्तेमाल से कभी- कभी स्किन डार्क हो जाती है।


2. बाल जल्दी वापस आ जाते हैं।


घर पर कर सकते हैं एपिलेशन (Epilation)


एपिलेशन बाल हटाने की ऐसी तकनीक है, जो घर पर ही की जा सकती है। इसके लिए एक डिवाइस का प्रयोग करना पड़ता है, जिसका नाम एपिलेटर है और जो बैटरी से चलती है। आपको इस एपिलेटर को बाल पर रखने की जरूरत पड़ती है, तभी बाल स्किन से अलग होते हैं। एपिलेशन से आपकी स्किन कुछ सप्ताह हेयर फ्री रहता है क्योंकि यह जड़ों से बाहर हो जाता है। हेयर रिमूवल के लिए यह एक बेहतरीन प्रक्रिया है। हां, यह जरूर है कि एपिलेशन के समय चुभने वाला सेंसेशन होता है। यही वजह है कि कई लेडीज एपिलेटर का इस्तेमाल नहीं करना चाहती हैं। एपिलेशन शरीर के बड़े हिस्सों जैसे हाथ और पैर में अच्छे से काम करता है। इसके लिए आपको एपिलेटर खरीदना होगा। जब आप एपिलेटर का इस्तेमाल पहली बार करते हैं तो आपको शुरुआत पैरों से करनी चाहिए, खासकर काफ से क्योंकि शरीर का यह हिस्सा कम सेंसिटिव होता है। आपके हेयर ग्रोथ के अनुरूप एपिलेशन तीन सप्ताह या इससे अधिक आपको हेयरलेस रख सकता है।


नुकसान -


1. बहुत सी महिलाओं को एपिलेटर का इस्तेमाल करने से होने वाले सेंसेशन की वजह से डर लगता है।


2. बहुत छोटे बाल एपिलेटर से नहीं निकलते।


ट्वीजिंग का कमाल (Tweesing)


Hair Removal 7


जिन लोगों को भी अपनी बड़े आईब्रोज़ से परेशानी होती है, वे इसके लिए ट्वीजर्स की मदद लेते हैं। जड़ से बालों को दूर करने का यह एक आसान तरीका है। इसे घर पर ही किया जा सकता है। चूंकि ट्वीजिंग से बाल जड़ से निकल जाते हैं तो इन्हें दोबारा उगने में लंबा समय लग जाता है। लेकिन यह जरूर है कि आप इसकी मदद से शरीर के बड़े हिस्सों से बाल ट्वीज नहीं कर सकते हैं क्योंकि इसमें बहुत ज्यादा समय लग जाता है। इसके अलावा, यदि ट्वीजिंग करते वक्त बाल टूट जाते हैं तो स्किन के अंदर ही अंदर उग जाते हैं। ये इनग्रोन हेयर बाद में मुश्किल का कारण बनते हैं। शरीर के छोटे हिस्सों जैसे आईब्रोज, अपर लिप, चिन और गर्दन पर बाल हटाने हों तो ट्वीजिंग बढ़िया काम करती है। बाजार में ट्वीजर्स यानि छोटी चिमटी आसानी से उपलब्ध हैं। ट्वीजिंग के बाद उस हिस्से पर एलोवेरा जेल लगाना या आइस क्यूब रगड़ना सही रहता है। चूंकि बाल जड़ से निकल जाते हैं तो दोबारा इन्हें उगने में कम से कम दो हफ्ते तो जरूर लग जाते हैं।


नुकसान -


1. सिर्फ छोटे हिस्से के ही बाल निकल सकते हैं।
2. इसमें काफी समय लगता है और अगर ठीक से न किया जाए तो इनग्रोन हेयर एक डॉट के रूप में दिखते हैं।


इसे भी पढ़ें - अपनी आईब्रो शेप बनाने में कहीं आप भी तो नहीं कर रही हैं ये बड़ी गलती?


थ्रेडिंग है काफी कॉमन (Threading)


बालों को हटाने का यह सबसे पॉपुलर तरीका है, जो आपके आईब्रोज़ को खूबसूरत आकार देता है और चेहरे से अनचाहे बालों को हटाता है। अपर लिप, गर्दन और चिन के अनचाहे बालों को हटाने के लिए इसकी मदद लेना काफी सही रहता है। थ्रेडिंग की प्रक्रिया में ट्विस्ट किया गया थ्रेड बालों को पकड़ता है, खींचता है और बाहर निकाल देता है। थ्रेडिंग आपकी स्किन को न के बराबर नुकसान पहुंचाता है। एक साथ ही कई बालों को भी हटा देता है। यह समय लेता है और शरीर के बड़े हिस्सों में नहीं किया जा सकता है। थ्रेडिंग खुद करना लगभग असंभव है। इसके लिए सैलून जाना ही पड़ेगा, जहां आपको आईब्राोज की थ्रेडिंग के लिए केवल दस मिनट लगेंगे। यदि आपको खुद ही थ्रेडिंग करने का मन है तो इसके लिए आपको इसकी टेक्निक सीखनी होगी। थ्रेडिंग कराने के बाद आपकी स्किन लगभग दस दिन हेयर फ्री रहती है।


नुकसान -


1. छोटे हिस्सों में ही किया जा सकता है।


2. समय ज्यादा लगता है।


3. अपने आप नहीं किया जा सकता।


स्थायी उपाय है लेजर - Laser Hair Removal in Hindi


लेजर हेयर रिडक्शन एक लंबी प्रक्रिया है, जिसमें हेयर फॉलिकल को लाइट की मदद से हटा दिया जाता है। डॉक्टर्स का कहना है कि यह शरीर से बालों को हटाने का परमानेंट इलाज है। लेजर पिगमेंट सेल्स को खत्म कर देता है।पहले तो लेजर रिमूवल टेक्निक के दौरान दर्द होता था लेकिन अब नई टेक्नोलॉजी की मदद से ये दर्द रहित हो गए हैं। लेजर उन्हीं बालों को प्रभावित करता है, जो एक्टिव स्टेज में होते हैं लेकिन हेयर फॉलिकल एक बार में एक से अधिक बालों का निर्माण करता है। संभव है कि उन बालों को लेजर ट्रीटमेंट के लिए तैयार होने में महीने लग जाएं, जो एक फॉलिकल के अंदर विकसित होते रहते हैं। लेजर रिडक्शन शरीर के सभी हिस्से अपर लिप, चिन, साइड लॉक्स और बिकनी लाइन में काम करता है। लेकिन यह तब ज्यादा अच्छी तरह से काम करता है, जहां के बाल मोटे होते हैं। हाथ और पैर के बालों का ट्रीटमेंट भी लेजर से हो सकता है। इस ट्रीटमेंट को ट्रेन्ड प्रोफेशनल्स ही कर सकता है और डर्मेटोलॉजिस्ट द्वारा बॉडी हेयर एनालिसिस के बाद ही इसे करवाया जा सकता है। ट्रीटमेंट के कुछ सेशन के बाद हेयर रिडक्शन मेथड लंबे समय चलने वाले परिणाम देता है।


नुकसान -


1. यह बहुत महंगा प्रोसेस है।


2. घर पर नहीं किया जा सकता।


3. इतना पैसा खर्च करने के बाद भी कभी- कभी सारे बाल पूरी तरह से साफ नहीं होते हैं।


ब्लीच से आए रंग में निखार (Bleaching)


Hair Removal 4 %281%29


सही तरह से देखा जाए तो ब्लीचिंग हेयर रिमूवल मेथड नहीं है लेकिन स्किन पर से बालों को छिपाने का एक तरीका तो जरूर है। आपके बालों पर लगाए ब्लीच से बालों का रंग आपके नैचुरल स्किन टोन की तरह हो जाता है ताकि यह दिखे नहीं। इस प्रक्रिया में दर्द बिल्कुल नहीं होता है क्योंकि बाल निकलते ही नहीं। ब्लीच की गई स्किन भी कम पिगमेंटेड और कम टैन्ड दिखती है क्योंकि यह पूरी स्किन टोन को समतल कर देता है। आपके शरीर पर बालों का रंग बदल जाता है तो आपकी स्किन भी एक शेड हल्के रंग की दिखने लगती है। हां, यह कभी- कभी स्किन में इरिटेशन का कारण बनता है क्योंकि इसमें केमिकल्स होते हैं। यदि स्किन सेंसिटिव है तो स्किन लाल होने की आशंका भी रहती है। ब्लीच को कभी भी सूजन या ब्रोकआउट वाली स्किन पर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि इससे स्थिति अधिक गंभीर हो सकती है। देखा जाए तो ब्लीच को शरीर के किसी भी हिस्से पर किया जा सकता है लेकिन इसे चेहरे और गर्दन पर ही करना सही रहता है। ब्लीच बाजार में आसानी से मिल जाता है, जो प्री आैर पोस्ट यूज क्रीम के साथ आता है। इसके लिए आपको क्रीम और पाउडर को मिलाकर फॉर्मूला तैयार करना होता है। फिर दिए गए स्पैचुएला की मदद से स्किन पर लगाएं और मैनुअल में बताए अनुसार कुछ मिनट रहने दें। कॉटन की मदद से इसेे हटाएं और ठंडे पानी से धो दें। आपके बालों का रंग बदल जाएगा और यह दिखेगा नहीं। ब्लीचिंग का असर कम से कम दो सप्ताह तक रहता है लेकिन कई बार एक महीने भी चल जाता है।


नुकसान -


1. केमिकल युक्त होने की वजह से यह आपकी स्किन को नुकसान पहुंचा सकती है।


2. गलत तरीके से या गलत अनुपात में इस्तेमाल किया जाए तो इसके परिणाम गलत भी हो सकते हैं।


इसे भी पढ़ें - जानें स्किन केयर रुटीन से रिलेटेड ऐसे अपने सभी सवालों के जवाब


शरीर से बाल हटाने के घरेलू नुस्खे और उपाय - Home Remedies for Hair Removal in Hindi


तो आपने देखा कि शरीर के अनचाहे बाल हटाने के ये सभी तरीकों के कुछ न कुछ नुकसान जरूर हैं और इनमें से कोई भी तरीका एकदम परफेक्ट नहीं है, इसलिए हम आपके लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी लेकर आए हैं जो आपकी स्किन के लिए हैं बिलकुल नुकसानदेह नहीं हैं -  


चीनी है मददगार 


चीनी सिर्फ खाने के लिए ही नहीं, चेहरे के अनचाहे बालों को निकालने के लिए भी सही है। इसके लिए आपको अपने चेहरे को पानी से गीला करके चीनी का प्रयोग स्क्रब की तरह करना है। सप्ताह में दो बार ऐसा कीजिए और परिणाम स्वयं सामने आ जाएगा।


पपीता बन सकता है साथी


कच्चा पपीता में पैपेन एंजाइम होता है, जो बालों को बढ़ने से रोकता है। सेंसिटिव स्किन के लिए भी पपीता रामबाण है। इसका पैक बनाकर चेहरे पर लगाने से स्किन के बाल अधिक बड़े नहीं होते हैं और स्किन भी निखर जाती है। इस पैक को बनाने के लिए दो बड़े चम्मच पपीता का पेस्ट और हल्दी पाउडर को मिला लें। इस पैक को चेहरे पर लगाएं और मसाज करते हुए पानी से धो लें।


अंडे का कमाल


अंडे का प्रयोग मास्क के तौर पर अनचाहे बालों को निकालने का कारण बन सकता है। यह वैक्स की तरह इस्तेमाल में आता है। इसके लिए अंडे के सफेद वाले हिस्से को फेंटकर अपने चेहरे पर लगाएं और सूख जाने के बाद गुनगुने पानी से धो लें। इससे चेहरे पर के अनचाहे बाल निकल जाते हैं और झुर्रियों की समस्या से भी मुक्ति मिल जाती है।


हल्दी से निखार


हल्दी एक एंटीसेप्टिक है, जो कहीं पर भी दवा की तरह काम करती है। इसे लगाने से बाल निकलेंगे तो नहीं, लेकिन यह जरूर है कि हल्दी ऐसा निखार लाती है जो किसी और चीज से संभव नहीं है। आप रोजाना दस मिनट के लिए चेहरे पर हल्दी का लेप लगा सकते हैं।


बेसन है बढ़िया


बेसन का रोजाना इस्तेमाल स्किन पर से रोयों को दूर करता है और रंग भी निखर जाता है। त्वचा भी मुलायम होती है। इसके लिए बेसन में एक चुटकी हल्दी और पानी मिलाकर पैक बना लें। इसे चेहरे आैर हाथ - पैर में लगाएं। सूखने के बाद पानी से रगड़ - रगड़ कर धोएं।


बाल हटाने के बारे में पूछे जाने वाले आम सवाल  - FAQs 


क्या वैक्सिंग करना सही है?


वैक्सिंग करना सही है। हां, यह जरूर है कि गरम वैक्स का प्रयोग शरीर के छोटे हिस्सों पर नहीं किया जा सकता है। होंठ और आईब्राोज पर वैक्सिंग करने के बारे में सोचा तक नहीं जा सकता है। ऐसे ही कोल्ड वैक्सिंग को बार- बार करने से स्किन में इरिटेशन और हेयर फॉलिकल के बढ़ने की समस्या हो सकती है।


हेयर रिमूवल क्रीम कितनी सुरक्षित हैं?


हेयर रिमूवल क्रीम का प्रयोग कई लेडीज करती हैं। लेकिन यह उनके लिए सुरक्षित नहीं है, जिन्हें इसकी गंध से छींक आने लगती है या लगाने के बाद स्किन में इरिटेशन महसूस होता है। यह सब इसमें निहित केमिकल्स की वजह से होता है, जो उनके लिए नुकसान करती है, जिनकी स्किन सेंसिटिव होती है। लेकिन यह याद रखना चाहिए कि हेयर रिमूवल क्रीम को चेहरे पर कभी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें मौजूद केमिकल आपके चेहरे की सेंसिटिव स्किन के लिए सही नहीं हैं।


ब्लीचिंग करने के लिए कौन सी बातें ध्यान रखनी चाहिए?


ब्लीच रंगत को निखारने के लिए प्रयोग में लाया जाता है। लेकिन सेंसिटिव स्किन या ड्राई स्किन वालों को इससे बचकर रहना चाहिए। स्किन पर रैशेज़ होने का खतरा रहता है। बेहतर तो यह होगा कि आप अपनी स्किन टाइप को जानकर ही ब्लीच लगाएं, वह भी किसी अच्छे सैलून में। यह भी ध्यान रखें कि किसी मेटल के बर्तन में ब्लीच को मिक्स न करें क्योंकि ब्लीच में मौजूद केमिकल मेटल से रिएक्शन कर सकते हैं.


किस प्रोडक्ट का इस्तेमाल सही रहता है?


देखा जाए तो हर उत्पाद का इस्तेमाल सही और उतना ही गलत भी है। किसी भी तरह की चीज का प्रयोग करने से पहले अपनी स्किन पर ध्यान देना जरूरी है। आपकी स्किन को जिस चीज से रिएक्शन होता है, उससे दूर रहना ही बेहतर है। किसी अच्छे सैलून में जाकर अपनी स्किन टाइप की जांच कराने के बाद ही किसी भी तरह का प्रोडक्ट प्रयोग करने के बारे में सोचें। इसके अलावा उस प्रोडक्ट पर लिखे निर्देशों को पढ़कर ठीक उसी तरह से इस्तेमाल करें, नहीं तो इसके गलत परिणाम आपकी स्किन पर दिखने लगेंगे।


इसे भी पढ़ें - चॉकलेट, रीका या रेग्युलर, जानें कौन सा वैक्स है आपके लिए बेस्ट?

प्रकाशित - जनवरी 8, 2019
4 लाइक्स
सेव करें
शेयर
और भी पढ़ें
Trending Products

आपकी फीड