Vastu for Bedroom In Hindi - बेडरूम वास्तु टिप्स इन हिंदी | POPxo
Home
बेडरूम के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स, कभी नहीं होगी किसी तरह की परेशानी - Vastu for Bedroom in Hindi

बेडरूम के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स, कभी नहीं होगी किसी तरह की परेशानी - Vastu for Bedroom in Hindi

कई बार हम किसी काम को सफल बनाने के लिए अपना 100% उसमें लगा देते हैं लेकिन इसके बावजूद रिजल्ट हमारी सोच से बिल्कुल उलट ही होता है, और हाथ लगती है असफलता। चाहे वो ऑफिस में प्रमोशन की बात हो, एग्जाम में फर्स्ट क्लास रिजल्ट की या सक्सेसफुल लाइफ की। हर बार बनता काम भी बिगड़ जाता है। इसके लिए आपकी नींद भी जिम्मेदार हो सकती है। क्योकि नींद का संबंध आपकी एनर्जी से होता है। जितनी गहरी नींद लेंगे उतने ही एनर्जी से भरपूर रहेंगे। लेकिन नींद देर से आती है या रात में बार- बार आंख खुल जाती है, तो इसका कारण आपके बेडरूम का खराब वास्तु भी हो सकता है। अगर आप अपने बेडरूम में कुछ चीजों का ध्यान रखेंगे तो आपका लक हमेशा गुड यानि अच्छा ही होगा। इसके लिए सिर्फ वास्तु की कुछ आसान बातों का ध्यान रखना जरूरी है।


अगर बेडरूम में वास्तु द्वारा बताई गई बातों का ध्यान रखा जाए तो मैरिड लाइफ में सुख- शांति और बच्चों की पढ़ाई और उनके करियर में सफलता साथ ही परिवार में धन- धान्य की किसी भी तरह की कोई कमी नहीं होती है। वास्तु के उपायों से निगेटिव एनर्जी नष्ट होती है और पॉजिटिव एनर्जी में बढ़ोतरी होती है। यहां हम आपको बेडरूम वास्तु टिप्स से जुड़ी पूरी गाइड शेयर कर रहे हैं, जिसके जरिए आप अपनी जिंदगी शांति और सुख से व्यतीत कर सकते हैं।


बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए 


पती- पत्नी के लिए बेडरूम वास्तु टिप्स - Couple Bedroom Vastu Tips in Hindi


बच्चों के लिए बेडरूम वास्तु टिप्स - Vastu Tips for Child Bedroom in Hindi


वास्तु के हिसाब से बेडरूम में न रखें ये चीजें 


क्या होता है वास्तु शास्त्र What is Vastu Shastra?


वास्तु टिप्स जानने से पहले जरूरी है कि आपको वास्तु शास्त्र क्या होता है ? ये आपको पता होना चाहिए। बहुत से लोग वास्तु शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र को एक ही समझ बैठते हैं। लेकिन आपको बता दें कि ये दोनों एक- दूसरे के पूरक हैं। दरअसल, वास्तु भारत की प्राचीनतम विद्याओं में से एक है, जिसका संबंध दिशाओं और ऊर्जाओं से है। इसमें दिशाओं को आधार बनाकर उस विशेष स्थान के आस-पास मौजूद नकारात्मक ऊर्जाओं को इस तरह सकारात्मक बना दिया जाता है जिससे वो मानव जीवन पर अपना प्रतिकूल प्रभाव न डाल सकें। मुगल काल में बनी इमारतों और घरों, मिस्त्र के पिरामिड के निर्माण में भी वास्तु शास्त्र का सहारा लिया गया है।


बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए 


परिवार में जितने लोग होते हैं उनके बेडरूम भी अलग- अलग होते हैं। वास्तु में इन अलग- अलग बेडरूम की दिशाएं भी अलग ही बताई गई हैं। तो आइए जानते हैं कि वास्तु के हिसाब से घर के किस सदस्य का बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए।


  • मास्टर बेडरूम जिसमें कि घर का मुखिया सोता है वो नैऋत्य कोण (दक्षिण- पश्चिम का कोना) में होना चाहिए। ये उनके लिए बहुत शुभ माना जाता है।

  • बच्चों का कमरा पश्चिम की दिशा में होना चाहिए। ये उनकी प्रगति  में किसी तरह का अवरोध उत्पन्न नहीं होने देती हैं।

  • अविवाहित कन्याओं और मेहमानों का बेडरूम उत्तर- पश्चिम दिशा में होना चाहिए। क्योंकि ये दिशा आवागमन से संबंधित होती है।

  • इस दिशा में नहीं होना चाहिए बेडरूम -

  • उत्तर- पूर्व दिशा में बेडरूम नहीं होना चाहिए क्योंकि ये दिशा देवी- देवताओं का स्थान है। और इस दिशा में बेडरूम होने से धन की हानि व अशांति बनी रहती है।

  • दक्षिण-पूर्व में भी बेडरूम नहीं होना चाहिए क्योंकि ये दिशा अग्नि कोण है जोकि आक्रामक रवैये से संबंधित है।

  • घर के मध्य भाग में बेडरूम होना सही नहीं माना जाता है क्योंकि इस भाग को ब्रह्म स्थान कहा जाता है।


 


ये भी पढ़ें -अगर आप चाहते हैं कि आपकी इनकम बढ़ने लगे तो अपनाएं ये वास्तु टिप्स


 


वास्तु के हिसाब से चुनें बेडरूम के दीवारों का रंग


रंग का हमारी जिंदगी में बहुत महत्व होता है और ये बात सही भी साबित हो चुकी है कि रंग लोगों पर मनोवैज्ञानिक प्रभाव डालते हैं। दरअसल, कुछ खास रंग लोगों में खास इमोशंस पैदा करते है, इसीलिए बेडरूम जहां हम अपना ज्यादातर समय बिताते हैं, की दीवारों पर रंगों का संतुलन बनाना बहुत जरूरी है, ताकि आप सुख- शांति पूर्ण जीवन व्यतीत कर सकें। जहां बच्चों के बेडरूम की दीवारों का रंग सफेद या फिर हल्के रंग का होना चाहिए। वहीं मास्टर बेडरूम में नीला रंग वास्तु के हिसाब से एकदम परफेक्ट होता है।


successful-life-bedroom-vastu-tips-in-hindi


पती- पत्नी के लिए बेडरूम वास्तु टिप्स - Couple Bedroom Vastu Tips in Hindi


  • बेडरूम में कपड़े रखने की अलमारी कमरे के उत्तर- पश्चिम या दक्षिण दिशा की ओर होनी चाहिए।

  • बेडरूम में किसी भी तरह का अगर इलेक्ट्रॉनिक सामान है तो उसे कमरे के दक्षिण- पूर्वी कोने में रखना चाहिए।

  • बेडरूम का दक्षिण- पश्चिमी कोना कभी भी खाली नहीं होना चाहिए। उसमें कर्सी या फिर टेबल रखें।

  • बेडरूम में दंपति का सोते समय सिर हमेशा पूर्व या दक्षिण दिशा की ओर होना चाहिए।

  • बेडरूम में किसी भी तरह के बहस वाले मुद्दे पर चर्चा नहीं की जानी चाहिए। क्योंकि ये कमरा प्यार और आराम फरमाने के लिए होता है, बहस के लिए नहीं।

  • बेडरूम की दीवारों में किसी तरह की टूट- फूट नहीं होनी चाहिए। इससे दांपत्य जीवन में दरार आने की आशंका बनी रहती है।

  • बेडरूम में ऐसी कोई तस्वीर न लगाएं जो हिंसा को दर्शाती हों। साथ ही बेड के सिरहाने वाली दीवार पर घड़ी या फोटो फ्रेम न लगाएं।


 


ये भी पढ़ें -सक्सेसफुल लाइफ के लिए ट्राई करें ये 10 गुडलक वास्तु ...


बच्चों के लिए बेडरूम वास्तु टिप्स - Vastu Tips for Child Bedroom in Hindi


  • बच्चों की बेडरूम का दरवाजा उत्तर या पूरब दिशा में होना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि दरवाजा सिंगल हो, डबल नहीं।

  • बच्चों को हमेशा पूर्व दिशा में सिर और पश्चिम दिशा में पैर करके सोने चाहिए। इससे याददाश्त तेज होती है।

  • बच्चों के बेडरूम में स्टडी टेबल- चेयर दक्षिण दिशा में रखनी चाहिए। ऐसे में ध्यान भटकता नहीं है।

  • बच्चों के बेडरूम में बेड के सामने किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स नहीं रखे होने चाहिए। इससे उनकी सेहत और दिमाग दोनों पर ही नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

  • बच्चों की बेडरूम की लाइटिंग न तो बहुत तेज होनी चाहिए और न ही बहुत धीमी होनी चाहिए।


bedroom-vastu-tips-in-hindi


ये भी पढ़ें -जानिए घर में फिश एक्वेरियम रखने के फायदे 


 


वास्तु के हिसाब से बेडरूम में न रखें ये चीजें 


1 - बेड के आस- पास की जगह तो बिल्कुल चमका कर रखी जानी चाहिए, लेकिन कभी- कभी बेड को खिसकाकर उसके नीचे भी सफाई कर ली जाये तो बेहतर रहेगा। क्योंकि बेड के नीचे अगर गंदगी रहती है तो इसका असर आपकी सेहत पर उल्टा ही पड़ता है। घर का कोई न कोई सदस्य में बीमार ही रहता है, इसीलिए बेड के नीचे का हिस्सा भी एकदम साफ रखना चाहिए।


2 - आपका कमरा ऐसा नहीं होना चाहिए कि मेहमानों को दरवाजे से ही आपका बेड सीधा नजर आए। अगर दरवाजे के सामने बेड लगाया है तो उसे थोड़ा शिफ्ट कर दें, नहीं तो कई तरह के वास्तुदोष आपके दांपत्य जीवन में खलल डाल सकते हैं। अगर आपका कमरा छोटा है और बेड शिफ्ट नहीं हो सकता तो दरवाजे पर पर्दा डाल कर रखें।


3 - आपके बेडरूम में कोई ऐसी चीज नहीं होनी चाहिए जिससे शोर होता हो। जैसे कि - रेडियो, टीवी या फिर कोई वाद्य यंत्र। इससे आर्थिक समस्या, मानसिक तनाव, बीमारी आदि समस्याएं बनी रहती हैं। अपने बेडरूम में ऐसी जगह विंडचाइम लगाएं जहां से हवा आती हो। विंडचाइम की मधुर और खनकती आवाज जब आपके कानों में पड़ती है तो उससे मिलने वाले सुकून से आपका स्ट्रेस लेवल अपने आप कम हो जाता है। साथ ही घर का माहौल पॉजिटिव एनर्जी से भरपूर रहता है।


4 - बेड के सामने कभी भी आईना न रखें। इससे समाज में बदनाम होने का खतरा हमेशा सर पर बना रहता है। वास्तुशास्त्र के मुताबिक, सुबह उठकर कभी भी सबसे पहले आईना न देखें। अगर आपने ऐसा किया तो दिनभर आपके साथ गलत बातें होंगी, जो आपको दुखी करेंगी। इसके लिए आप कोई ऐसी तस्वीर देंखे जिससे आपको पॉजिटिव एनर्जी मिलती हो।


ये भी पढ़ें -घर में लगा है तुलसी का पौधा तो आपको जरूर पता होनी चाहिए ये 7 बातें


5 - आजकल के मॉडर्न जमाने में बेडरूम में ही जूते- चप्पल रखने की जगह होती है, जो सही नहीं है। सोने वाले कमरे में कभी भी बाहर पहनने वाली चप्पलें या जूते नहीं रखने चाहिए। इससे सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसीलिए कोशिश करें कि बेडरूम के बाहर ही जूते- चप्पल रखने की अलग जगह बना दें।


6 - भूलकर भी अपने बेड के आस- पास खाने की कोई चीज न रखें और न ही बेडरूम में खाना खाएं। ऐसा करना दरिद्रता की निशानी होती है। खाना हमेशा किचन या डायनिंग एरिया में ही बैठकर साफ-सुथरी जगह पर खाएं।


7 - ध्यान रखें कि आपका बेड कभी भी ठीक छत के बीम के नीचे नहीं होना चाहिए। अगर ऐसी जगह आपका बेड है जहां सिर के ठीक ऊपर छत की बीम है तो तुरंत वहां से बेड हटा कर किनारे कर लें। क्योंकि बीम के नीचे सोने से सर पर दबाव महसूस होता है जिसकी वजह तनाव बढ़ता है।


8 - बेड के ठीक पीछे कभी खिड़की या खुली जगह नहीं होनी चाहिए। इससे आस- पास की सारी पॉजिटिव एनर्जी बाहर चली जाती है। इसीलिए बेड के पीछे दीवार जरूर होनी चाहिए। इससे आपको ज्यादा एनर्जी मिलती है।


9 - बेडरूम में पानी की तस्वीर कभी भूलकर भी नहीं लगानी चाहिए। इससे घर में हमेशा आर्थिक तंगी बनी रहती है।


10 - बेडरूम में बेड का सिरहाना हमेशा पूरब या फिर दक्षिण की ओर होना चाहिए। इससे नींद में किसी तरह की बाधा नहीं पहुंचती है।


 

प्रकाशित - अक्टूबर 15, 2018
Like button
2 लाइक्स
Save Button सेव करें
Share Button
शेयर
और भी पढ़ें
Trending Products

आपकी फीड