एजिंग के निशानों से दूर रहने के लिए कितनी बार किया जाए सेक्स|POPxo Hindi | POPxo
Home
एजिंग के निशानों से दूर रहने के लिए आखिर कितनी बार किया जाए सेक्स...

एजिंग के निशानों से दूर रहने के लिए आखिर कितनी बार किया जाए सेक्स...

 


सेक्स सिर्फ मजा या खेल ही नहीं है, और न सिर्फ बच्चा पैदा करने के लिए की जाने वाली कसरत। एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह हेल्थ के लिए भी जरूरी है, यानि कि सेक्स करने से हेल्थ की बहुत सी प्रॉब्लम दूर रहती हैं।


सेक्स करने के फायदे


सेक्स करने से आपका स्ट्रेस दूर होता है, नींद में सुधार होता है, ब्लड प्रेशर कम होता है, इम्युनिटी यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और आप खुद को अपने पार्टनर के करीब महसूस कर तृप्ति का एहसास करते हैं। यही नहीं, पिछले दिनों ही आई एक नई रिसर्च सेक्स के इन फायदों में एक और फायदा जोड़ने का दावा कर रही है। इस रिसर्च का मानना है कि अगर आप सप्ताह में कम से कम एक बार सेक्स करते हैं तो यह आपके डीएनए की सुरक्षा के साथ- साथ आपको ज्यादा लंबी आयु देने में भी मदद करता है।


मां बन चुकी महिलाओं ने लिया हिस्सा


अपनी एक रिसर्च में कैलीफोर्निया यूनिवर्सिटी के शोधार्थियों ने एक सप्ताह तक 129 ऐसी महिलाओं पर नजर रखी जो मां बन चुकी थीं। इस रिसर्च में हिस्सा लेने वाली इन महिलाओं ने पार्टनर के साथ अपनी रिलेशनशिप, सेक्स संतुष्टि, झगड़ों, सपोर्ट और इंटीमेसी के बारे में  भी डेली रिपोर्ट दी। जब रिसर्च करने वालों ने इनकी रिपोर्ट को उनके ब्लड सैंपस के साथ मैच किया तो उन्हें इसके काफी आश्चर्यजनक परिणाम मिले।


एजिंग के लिए उत्तरदायी टेलोमर


इनमें अपने पार्टनर के साथ सप्ताह में कम से कम एक बार सेक्स करने वाली महिलाओं के डीएनए में पाया जाने वाला आनुवांशिक पदार्थ टेलोमर काफी लंबा था। डीएनए में मिलने वाला यही टेलोमर एजिंग के लिए भी उत्तरदायी होता है। जबकि दूसरी ओर जिन्होंने इस दौरान सप्ताह में एक बार से कम सेक्स किया था, उनके डीएनए में ऐसा नहीं पाया गया।


टेलोमर और लंबा जीवन


अब सवाल यह है कि टेलोमर्स का लंबे जीवन के साथ क्या नाता है? शोधकर्ताओं का कहना है कि समय के साथ, उम्र बढ़ने, खराब आहार लेने और ज्यादा शराब के उपयोग से हमारी बॉडी की कोशिकाओं में पाए जाने वाला टेलोमर विभाजित हो जाता है। इसके अलावा जब एक भी कोशिका विभाजित होती है, तो हर क्रोमोसोम के अंतिम सिरे पर रहनेवाला अनुवांशिक पदार्थ, टेलोमेर भी छोटा होता जाता है। एक कोशिका के 50 से 100 बार विभाजित होने के बाद यह टेलोमर खत्म हो जाता है और इसके बाद कोशिकाएं भी विभाजित होना बंद कर देती हैं।


कितनी बार करें सेक्स


इस नई रिसर्च के परिणामों से पता चला है कि नियमित रूप से सेक्स करने से आपकी कोशिकाओं की रिपेयर होती रहती है और इनकी उम्र भी बढ़ती है। परिणामस्वरूप हमारी कोशिकाएं स्वस्थ और युवा बनी रहती हैं।


इसका निष्कर्ष यह निकलता है कि नियमित रूप से सेक्स करने से हमारी बॉडी की कोशिकाएं एजिंग से दूर रहकर युवा बनी रहती हैं। इस रिसर्च ने यह भी सुझाव दिया है कि किसी भी जोड़े को सप्ताह में कम से कम एक बार यौन संबंध बनाने चाहिए, ताकि उन्हें सर्वाधिक फायदा मिल सके। अगर आप बेडरूम में अपने रिश्ते के स्पार्क को फिर से जगाने की कोशिश कर रहे हैं तो आपको बेहतरीन सेक्स लाइफ वाले जोड़ों की इस आदत से सबक लेना चाहिए।


इन्हें भी देखें -
1. ...जब सेक्स में की गई एक गलती बन गई उम्र भर का पछतावा
2. ऑरगैज़्मिक प्रॉब्लम के लिए ओ- शॉट लें और भरपूर सेक्स लाइफ एन्जॉय करें
3. एक लड़के ने बताई टीनेज सेक्स के अपने पहले अनुभव की अनोखी दास्तान
4. इन लड़कियों ने हमें बताया कि लव मैरिज और अरेंज मैरिज के सेक्स में होता है क्या अंतर

प्रकाशित - जुलाई 7, 2018
Like button
3 लाइक्स
Save Button सेव करें
Share Button
शेयर
और भी पढ़ें
Trending Products

आपकी फीड