रमजान के महीने में रखें इन बातों का खास ध्यान

रमजान के महीने में रखें इन बातों का खास ध्यान

कहा जाता है कि रमज़ान के महीने में अल्‍लाह अपने बंदों पर खास करम फरमाता है और उसकी हर जायज दुआ को कुबूल करता है। रमजान में जन्‍नत के दरवाजे खोल दिए जाते हैं और जहन्‍नुम के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं। रमजान मुस्लिम समुदाय के लोगों के लिए सबसे पाक महीना माना जाता है। जिसमें चांद दिखने के बाद से ही रोजे रखने की परंपरा होती है। माना जाता है कि रोजे के दौरान सिर्फ भूखे-प्यासे ही न रहें बल्कि आंख, कान और जीभ का भी गलत इस्तेमाल न करें यानी न बुरा देखें, न बुरा सुने और न ही बुरा कहें। रमजान के पूर महीने में कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। आइए जानते हैं वो कौन सी बातें हैं -


1 - रमजान में कोशिश करें कि आप रात को जल्दी सोने की आदत डालें ताकि आप फज्र की नमाज के लिए जल्दी उठ सकें।


2 - खजूर से रोजा इफ्तार की शुरुआत करें और पानी, सलाद, फल, जूस, और सूप ज्यादा खाएं और पीएं। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी और कमजोरी भी नहीं आएगी।


3 - इस पाक महीने में जानबूझ कर रमजान के रोजे के अलावा किसी और रोजे की नीयत करें तो वो रोजा कुबूल नहीं होगा।


4 - रमजान में अपनी सारी बुरी आदतों को छोड़ दें और इस पाक महीने का इस्तेमाल नेक कामों में करें।


5 - रमजान के महीने में ज्यादा से ज्यादा इबादत करें, क्योंकि अल्लाह इस महीने में हर नेक काम का सवाब बढ़ा देते हैं।


6 - रमजान के समय में जितना भी वक्त बचे उसमें ही सारा सामान खरीद लेना चाहिए। ताकि आप ज्यादा से ज्यादा वक्त खुदा की इबादत में बिता सकें।


7 - रमजान के समय पांचों वक्त की नमाज समय के साथ पूरा करें। फिजूल की बातें न करें और न बेवजह समय बरबाद करें।


8 - इस समय में किसी भी आपसी विवाद में न फंसे , न ही किसी को अपशब्द कहें और न ही किसी का बुरा चाहें।


9 - इफ्तार के बाद ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह दी जाती है। रोजा रखने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है। रमजान के महीने में रोजा रखने वाले पुरुषों को 2.5 लीटर पानी पीने की सलाह दी जाती है वहीं औरतों को दो लीटर पानी पीने की सलाह जी जाती है।


10 - हर मुसलमान के लिए जरूरी है कि वह रोजे के दौरान सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के बीच के समय में खान-पान न करे। यहां तक कि सेक्स व या इससे संबंधित बुरी सोच से भी दूर रहें।


इन्हें भी देंखे -