इन वजहों से अक्सर अधूरा रह जाता है पहला प्यार

इन वजहों से अक्सर अधूरा रह जाता है पहला प्यार

 

आपका पहला-पहला प्यार आपको क्या याद दिलाता है? कुछ खट्टी-मीठी यादें.. कभी-कभी सोचकर अजीब लगता है न, क्या था वो सब! ये भी लगता है कि एक बार लाइफ का वो फेज दोबारा जीने को मिले तो कितना अच्छा हो। पर अब आप उससे बाहर आ चुकी हैं। अगर आप अब भी अपने पहले प्यार के साथ हैं तो ये अच्छी बात है पर ये बहुत ही कम लोगों के साथ होता है। ज्यादातर मामलों में पहला प्यार अधूरा ही रह जाता है, ऐसा क्यों होता है ये हम बताते हैं।

1. प्यार का खुमार

1

दरअसल, उस वक्त आपको प्यार का मतलब थोड़ा-थोड़ा समझ आने लगता है और आप इसे फील करना चाहती हैं। ये फीलिंग आपके लिए पूरी तरह नई और अनोखी होती है। ऐसे में शायद आपके पास प्रपोज़ल आए और आप मना नहीं कर पाई और हो सकता है कि वो लड़का भी बस उस फीलिंग के लिए ही आप में इंवॉल्व होना चाहता हो। और होता ये है कि आपको अपने बॉयफ्रेंड से नहीं बल्कि प्यार की फीलिंग से प्यार हो जाता है।

2. अपॉजिट सेक्स क्या सच में अट्रैक्ट होते हैं?

2

हमें पता है कि ये साइंटिफिक लॉजिक है कि अपॉजिट चीजें अट्रैक्ट करती हैं और ये सच भी है.. पर इस थ्योरी के चक्कर में हम कोई ऐसा इंसान ढूंढ लेते हैं जो हमारे बिल्कुल अपोजिट हो। मैडम रिलेशन चलाने के लिए आपके विचार और आपकी सोच तो मिलनी ही चाहिए.. सब कुछ अपोजिट हुआ तो कैसे काम चलेगा?

3. बहुत कुछ.. बहुत जल्दी

3.

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया.. ये सब कुछ आपके लिए उस वक्त नया था इसलिए एक्साइटिंग भी। इस वजह से सब कुछ इतनी जल्दी होता चला जाता है कि आप उसे ठीक से फील भी नहीं कर पातीं, उसका सेंस भी नहीं समझ पातीं। ये पूरा मंजर सपनों की दुनिया जैसा लगता है जिसमें आप बस आगे बढ़ते चले जाते हैं.. पहले ‘लव यू’ से पहली ‘किस’ की ओर.. जबकि एक सच्ची रिलेशनशिप भरोसा, विश्वास और कई सारे वादों पर टिकी होती है, इन कोरे “लव एंड किस सेशंस” पर नहीं।

4. आप बदल गईं.. सब बदल गया

4

सोचिए, कैसी थीं आप जब आप पहली बार किसी के साथ कमिटेड थीं। क्या आज भी आप वैसी ही हैं? कितना कुछ बदल चुका है न! बल्कि आप पूरी तरह एक नई इंसान बन चुकी हैं जो उस लड़की से बहुत अलग है जिसे वो पहला प्यार हुआ था। हो सकता है आपका वो रिश्ता इसलिए सरवाइव नहीं कर पाया क्योंकि जब आप उसमें आई थीं तो अलग थीं और जब उससे बाहर निकलीं तो बिल्कुल अलग।

5. अनकहा प्यार

5

हम में से ज्यादातर लोगों का प्यार एकतरफा ही रह जाता है। या तो हम उसे बताने की हिम्मत नहीं जुटा पाते या फिर हमारी फीलिंग्स जानने के बाद हमें वैसा रेस्पॉन्स नहीं मिलता। उस वक्त हम उस इंसान को इतना पसंद करने लगते हैं कि उसके बिना जीना मुश्किल सा लगता है पर वक्त धीरे-धीरे हर घाव भर देता है। अब आप उसे ज़िंदगी का सबक मानकर उससे आगे बढ़ चुकी हैं।

6. क्या प्यार दोस्ती है?

ezgif.com-resize %285%29

बॉलीवुड फिल्में और शाहरुख खान ने हमें और भी कंफ्यूज़ कर दिया। हम प्यार और दोस्ती के बीच का बारीक फर्क समझ ही नहीं पाए। वो हमें पता नहीं कब अच्छा लगने लगा फिर भी हम उसके दोस्त ही बनकर रह गए।

7. सारा खेल मैच्योरिटी का है

9

आपको अपना रिलेशन संभालने के लिए बहुत मैच्योर होने की जरूरत होती है जो आप उस कम उम्र में अक्सर नहीं होती। आप या आपका पार्टनर रिश्तों को बैलेंस नहीं कर पाए.. पर अगर आपके टूटे रिश्ते की वजह मैच्योरिटी है तो ये कोई नई बात नहीं.!

8. सब्र नहीं होता

8

एक वक्त के बाद आपको अपना करियर सेट करने दूसरे शहर जाना पड़ा या फिर वो विदेश चला गया.. उसके बाद आप दोनों की कनेक्टिविटी खराब होने लगी और एक टाइम आया जब आप दोनों एक-दूसरे के कॉन्टैक्ट में ही नहीं थे। बस सब अपने आप ही खत्म हो गया।

9. लाइफ के प्रेशर को झेल नहीं पाया वो रिलेशन

ezgif.com-resize %283%29

उस वक्त आप अपने फ्यूचर को लेकर वैसे ही परेशान थीं, ऊपर से पैरेंट्स ने गर्दन पर तलवार लटका रखी थी कि करियर के साथ लापरवाही नहीं होनी चाहिए। इन सबके बीच किसी को डेट करना और उसके लिए वक्त निकाल पाना बहुत मुश्किल था। कई बार ऐसे रिश्ते सिर्फ प्रेशर की वजह से खत्म हो जाते हैं। आप गलत नहीं थीं और वो भी गलत नहीं था.. बस वक्त सही नहीं था। कोई बात नहीं.. उस वक्त की मीठी यादें हैं आपके पास जिसकी कहानी आप अपने पोते-पोतियों को सुना सकती हैं।

इन्हें भी पढ़ें-

GIFs: tumblr.com