इन 10 गर्ल प्रॉब्लम्स में भी जरूरी होता है गाइनोकोलॉजिस्ट से मिलना

इन 10 गर्ल प्रॉब्लम्स में भी जरूरी होता है गाइनोकोलॉजिस्ट से मिलना

हर लड़की को अपने प्राइवेट पार्ट्स से जुड़ी जांच करवाना थोड़ा अटपटा लगता है और इसीलिए हम गर्ल प्रॉब्लम्स को लेकर डॉक्टर से मिलने से कतराते रहते हैं। लेकिन कुछ परिस्थितियां ऐसी होती हैं जिनमें हम अपने गाइनोकोलॉजिस्ट को इग्नोर नहीं कर सकते। अपनी डॉक्टर से मुलाकात सिर्फ प्रेग्नेंसी और सीजनल फीवर तक सीमित न रखें। जानें कि कब-कब आपको जरूर मिलना चाहिए अपनी गाइनोकोलॉजिस्ट से...

1. पीरियड प्रॉब्लम

gynaecologist 1

अगर आप अनियमित पीरियड्स से परेशान हैं जैसे कभी देर से पीरियड आना या फ्लो बहुत ज्यादा आना। ऐसे में आप आलसी हो जाती हैं, दर्द से परेशान रहती हैं और कमज़ोरी महसूस करती हैं तो जान लें कि ऐसे में गाइनोकोलॉजिस्ट से मिलना बेहद जरूरी होता है। ये समस्या थायरॉइड से लेकर स्ट्रेस और डाइट से संबंधित भी हो सकती हैं। अगर आप मेनोपॉज जैसा फील कर रही हैं तो भी डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

2. पेट में दर्द

पीरियड्स के दौरान पेट के निचले हिस्से में असहनीय दर्द होता है। यह तेज और अचानक उभरा दर्द पीसीओडी यानि ओवरी में गांठ की वजह से भी हो सकता है। ऐसे ही पेट में लगातार होने वाला दर्द फ्राइब्रॉइड की ओर इशारा करता है। तो अगर आप ऐसे किसी भी तरह के दर्द से परेशान हैं तो तुरंत जांच करवाएं। हो सकता है आपको कुछ न हो या फिर इन तीनों में से कोई एक प्रॉब्लम हो।

3. वैजाइना में जलन

gynaecologist 2

अगर आप वैजाइना में खुजली या जलन से परेशान हैं तो इसे अनदेखा न करें, ये आपके लिए बहुत असुविधाजनक हो सकता है क्योंकि आप आते-जाते वहां स्क्रैच नहीं कर सकतीं। ये यूटीआई,या किसी तरह का बैक्टीरियल इंफेक्शन या फिर एसटीडी का लक्षण हो सकता है। इसे हल्के में लेना भारी पड़ सकता है।

4.  सब ठीक तो है?

अगर आप सेक्सुअली एक्टिव हैं तो आपके लिए रुटीन चेकअप और भी जरूरी हैं ताकि आपको ये कंफर्म हो जाएं कि आप ठीकठाक हैं। सेक्सुअली एक्टिव लोगों में ह्यूमन पैपिलोमा वायरस (एचपीवी) हो सकता है, वो चाहे आदमी हो या औरत। कुछ लोग मानते हैं कि यह सिर्फ आदमियों को होने वाली बीमारी है लेकिन ऐसा नहीं है। शारीरिक संपर्क में आने वाले किसी भी व्यक्ति को यह वायरस हो सकता है और कभी कभी इसके लक्षण नजर भी नहीं आते। अगर आप किसी एचपीवी से ग्रस्त व्यक्ति के साथ वैजाइनल, एनल या ओरल सेक्स करती हैं तो यह वायरस आपकी हेल्थ के लिए भी हानिकारक भी हो सकता है।

5. सेक्स के दौरान दर्द

अगर सेक्स आपको सुख और आनंद से ज्यादा दर्द और तकलीफ दे रहा है तो डॉक्टर से मिलने में देरी न करें। सेक्स के दौरान दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे – वैजाइनल ड्राइनेस, फाइब्रॉइड या किसी तरह का कोई इंफेक्शन।

6. मुंहासे और हॉर्मोनल समस्या

gynaecologist 4

लंबे समय से चले आ रहे या अचानक अधिक संख्या में निकलते मुंहासे हों,अनचाही जगह पर उगते बाल या फिर वजन का अचानक घटना या बढना, अनियमित पीरियड्स हों या बालों का ज्यादा झड़ना, ये सभी हार्मोन अंसुतलन के लक्षण हैं। इसके लिए मेडिकल चेकअप होना बहुत जरूरी है।

7. व्हाइट डिस्चार्ज

प्रकृति ने वैजाइना को साफ रखने के लिए अनोखी प्रक्रियाएं बनायी हैं - डिस्चार्ज उसे साफ और स्वस्थ रखने के उन तरीकों में से एक है। डिस्चार्ज का गाढ़ापन हर महीने पीरियड साइकल के हिसाब से बदलता रहता है, पर अगर व्हाइट डिस्चार्ज का रंग पीला, ग्रे या हरा है और उससे बदबू आती है तो यह बैक्टीरियल इंफेक्शन भी हो सकता है। इसके साथ खुजली और जलन के भी चांस होते हैं जिसका जल्द से जल्द इलाज होना चाहिए।

8. शौच के दौरान आंत में दर्द

gynaecologist 3

अगर आप प्रेशर को थोड़ा भी कंट्रोल नहीं कर पाते हैं और आपको आंत वाली जगह में कोई परेशानी है तो ये पेल्विक फ्लोर वाली समस्या हो सकती है। इसके लिए भी समय रहते डॉक्टर से मुलाकात करना जरूरी है।

9. ब्रेस्ट में गांठ या सूजन तो नहीं

अगर आपको ब्रेस्ट में कोई सूजन या गांठ मिलती है तो ये बहुत-सी बीमारियों का कारण बन सकता है। अपने सभी काम छोड़ें और तुरंत चेकअप के लिए जाएं। घबराने की ज़रूरत नहीं है, सभी प्रकार के गांठ  कैंसर नहीं होती। अधिकतर सिस्ट होती हैं या फिर इंफेक्शन और हार्मोन की अनियमितता से हो सकती हैं इसलिए डॉक्टर से मिलने से पहले परेशान होने की जरूरत नहीं है।

10.  बस ऐसे ही

अगर आप बिलकुल फिट एंड एक्टिव हैं और कोई हेल्थ प्रॉब्लम नहीं है तो भी साल में एक बार रुटीन चेकअप के लिए जाना जरूर चाहिए ताकि आप निश्चिंत रहें कि सब ठीक है और कोई समस्या नहीं है।  

इन्हें भी पढ़ें -