श्रीरेड्डी के टॉपलेस होने से लगे फिल्म इंडस्ट्री के काम पर सवाल|POPxo Hindi | POPxo
Home
इस एक्ट्रेस के टॉपलेस होने ने फिर उठाया फिल्म इंडस्ट्री के कामकाज पर सवाल

इस एक्ट्रेस के टॉपलेस होने ने फिर उठाया फिल्म इंडस्ट्री के कामकाज पर सवाल

तेलुगू फिल्‍मों की स्‍ट्रगलिंग एक्‍ट्रेस श्री रेड्डी ने कास्‍टिंग काउच के विरोध में हैदराबाद में तेलुगू फिल्म चेंबर ऑफ कॉमर्स के सामने सड़क पर अपने ज्यादातर कपड़े उतार कर यानि टॉपलेस होकर प्रदर्शन किया। उनका यह विरोध टॉलीवुड (दक्षिण भारतीय फिल्‍म इंडस्‍ट्री) की बड़ी-बड़ी हस्तियों के व्यवहार को लेकर था। उन्होंने टॉलीवुड में 75 प्रतिशत स्‍थानीय कलाकारों को मौका दिए जाने के लिए आरक्षण की भी मांग की। श्री रेड्डी ने तीन तेलुगू फिल्मों में काम किया है। उनका आरोप है कि इसके बावजूद उन्हें मूवी आर्टिस्ट एसोसिएशन (एमएए) की मेंबरशिप नहीं मिल रही है। उनका यह भी आरोप है कि फिल्‍मों में काम के नाम पर डायरेक्‍टर्स ने उनसे उनकी न्‍यूड फोटो मांगी, लेकिन अपनी न्‍यूड फोटो भेजने के बावजूद उन्‍हें काम नहीं मिला। वीडियो देखें -



कौन हैं श्री रेड्डी


श्री रेड्डी साउथ इंडियन यानि तेलुगू फिल्‍मों की एक खासी बोल्ड स्ट्रगलर एक्ट्रेस हैं। अब तक वो कुल तीन फिल्‍मों में काम कर चुकी हैं और उनकी कुछ फिल्‍में अभी आनी बाकी हैं। कुछ दिन पहले भी श्री रेड्डी ने सोशल मीडिया पर साउथ फिल्म इंडस्ट्री के कई डायरेक्टर्स और एक्टर्स पर कास्टिंग काउच का आरोप लगाया था। श्री रेड्डी के इस तरह के विरोध के बाद इंटरनेट पर यूजर्स ने उन्हें काफी ट्रोल किया है और उन्हें साउथ की पूनम पांडे कहा है।


Shree reddy 1


कास्टिंग काउच


गौरतलब है कि साउथ में ही नहीं, बल्कि बॉलीवुड में भी कास्टिंग काउच को लेकर अनेक बार इंडस्ट्री के बड़े- बड़े दिग्गजों पर कई अदाकाराओं ने समय- समय पर आरोप लगाए हैं, लेकिन यह आरोप इतनी बड़ी इंडस्ट्री में कुछ दिनों की सुर्खियां बनने के बाद हवा हो जाते हैं और फिर उसी पुराने ढर्रे पर चल पड़ती है फिल्म इंडस्ट्री। अब जहां तक साउथ एक्ट्रेस श्री रेड्डी के टॉपलेस होने का मुद्दा है, इसके बारे में तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री के ज्यादातर लोगों का कहना है कि वो यूं ही सुर्खियों में आने के लिए झूठ बोल रही हैं।


श्री रेड्डी नेशनल सेलेब्रिटी बनी


हो सकता है कि यही बात सच हो लेकिन फिल्म इंडस्टी में हम कास्टिंग काउच की हकीकत से मुंह नहीं मोड़ सकते। सड़क पर टॉपलेस होना काफी बोल्ड कदम है और इसके पीछे दो ही वजहें हो सकती हैं। एक तो यह कि यह अदाकारा निगेटिव पब्लिसिटी के दम पर फिल्म इंडस्ट्री में काम पाना चाहती है और दूसरा यह कि यह एक्ट्रेस इस तरह की बातों से इतनी ज्यादा परेशान हो चुकी है कि उसे अपनी इस शिकायत को लोगों और अथॉरिटी तक पहुंचाने का इसके सिवाय दूसरा कोई रास्ता नजर नहीं आया। खैर, कुछ भी हो, जैसा कि बॉलीवुड और साउथ सिनेमा के फिल्मकार राम गोपाल वर्मा ने ट्वीट किया, श्री रेड्डी नेशनल सेलेब्रिटी बन गईं हैं। आज उन्हें सभी लोग जानने- पहचानने लगे हैं। मुंबई में जो लोग पवन कल्याण (दक्षिण भारत के मशहूर अभिनेता) के बारे में नहीं जानते, श्री रेड्डी के बारे में बात कर रहे हैं।



प्रदर्शन के एक दिन बाद एमएए के प्रेसिडेंट शिवाजी राजा ने श्री रेड्डी के आरोपों के जवाब में कहा कि श्री रेड्डी सिर्फ ड्रामा कर रही हैं। इसके बाद एसोसिएशन से जुड़े 900 लोगों ने उनके साथ काम करने से मना कर दिया क्योंकि वो पब्लिसिटी के लिए ऐसे बेबुनियादी आरोप लगा रही हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मूवी आर्टिस्ट एसोसिएशन (एमएए) के प्रेसिडेंट शिवाजी राजा ने कहा कि श्री रेड्डी ने जो किया वो बहुत डिस्टर्बिंग है। एमएए ने श्री रेड्डी की मेंबरशिप एप्लीकेशन रिजेक्ट की थी।


परिणाम भुगतने को रहें तैयार


इसके अलावा तेलुगू सिनेमा के डायरेक्टर शेखर कमूला ने श्रे रेड्डी के आरोपों का जवाब देते हुए कहा है कि जिस लड़की को वे जानते नहीं, जिससे उन्होंने कभी फोन तक पर बात नहीं की है, इतना गंदा आरोप कैसे उनके ऊपर लगा सकती है। उन्होंने ट्विटर पर अपनी ट्वीट में श्री रेड्डी से इसके लिए माफी मांगने के लिए कहा है और अपनी गलती और माफी न मांगने पर परिणाम भुगतने को तैयार रहने के लिए कहा है। 



अब विचारणीय प्रश्न यह है कि क्या कभी कास्टिंग काउच जैसे घिनौने कृत्य से हम उबर पाएंगे या फिर इस घटना के बाद भी हम अपने आंख- कान बंद किये यूं ही इस घटना पर रामगोपाल वर्मा की तरह कमेंट करके आगे बढ़ जाएंगे।


इन्हें भी देखें -




 
प्रकाशित - अप्रैल 9, 2018
Like button
2 लाइक्स
Save Button सेव करें
Share Button
शेयर
और भी पढ़ें
Trending Products

आपकी फीड