चॉकलेट, रीका या रेग्युलर कौन सा वैक्स है बेस्ट?- Konsa Wax Acha Hota Hai

Waxing Karne ka Tarika

आपको हर महीने कम से कम एक वैक्सिंग सेशन तो लेना ही चाहिए। हर बार आपकी पार्लर वाली आपको अलग-अलग तरह की वैक्स के आप्शन जरूर बताती होगी। हमारी ही तरह आपको भी लगता होगा कि चॉकलेट वैक्स, स्ट्रॉबेरी वैक्स या वाइट चॉकलेट वैक्स कराने में आखिर क्या फर्क पड़ता होगा। हो सकता है यही सोचकर आप हर बार नई तरह की वैक्स का अनुभव भी ले लेती हों। खैर... हम आपको बताते हैं कि इन वैक्स में क्या अंतर होता है और रेग्युलर वैक्स के मुकाबले आपको अपने लिए कौन सा वैक्स चुनना चाहिए (konsa wax acha hota hai) जिसमें दर्द भी कम हो और आपका वैक्सिंग अनुभव भी अच्छा रहे।


किस तरह की वैक्स आपके लिए सबसे अच्छी - Which Wax is Good for Skin in Hindi?


रेग्युलर वैक्स - Regular Waxing Karne ka Tarika



नींबू और चीनी के मिश्रण से तैयार होने वाला ये साधारण वैक्स बरसों से चलन में रहा है। हम सभी कई सालों से ये वैक्स करवाते आए हैं। इस वैक्स से बाल जड़ से तो निकल जाते हैं लेकिन इस बीच दर्द भी काफी होता है। जिसके बाद आपकी स्किन में रेड रैशेज और दाने तक निकल आते हैं और अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है तो इस वैक्स के आफ्टर इफेक्ट्स आने वाले 2-3 दिनों तक बने रहते हैं। रेग्युलर वैक्स से पतले और छोटे बाल आसानी से साफ नहीं होते, जिस वजह से बार-बार आपको बालों वाले हिस्से में वैक्स लगाना पड़ता है क्योंकि एक बार में ये अच्छे परिणाम नहीं देता।


चॉकलेट वैक्स - Chocolate Wax ke Fayde



चॉकलेट वैक्स और अन्य किसी फ्लेवर्ड वैक्स की बात करें तो यह कोकोआ, सोयाबीन तेल, बादाम तेल, ग्लीसरीन, ऑलिव ऑयल और विटामिन्स जैसे तत्वों के मिश्रण से तैयार किया जाता है।


  • यह जलन नहीं होने देता।

  • इससे त्वचा के लाल होने की शिकायत ना के बराबर आती है।

  • यह छोटे व कम ग्रोथ वाले बालों को हटाने में भी कारगर है।

  • यह सनटेन को भी हटा देता है।

  • इसमें मिली हुई तेल की मात्रा वैक्स के बाद आपकी त्वचा को मुलायम बनाए रखती है।

  • यह सभी तरह की स्किन टोन को सूट करता है, यहां तक कि सेंसेटिव स्किन को भी।

  • यह त्वचा को चमकदार और मुलायम बनाता है।

  • चाॅकलेट वैक्स, रेग्युलर वैक्स से थोड़ा महंगा होता है।


रीका वैक्स - Rica Wax ke Fayde



रीका वैक्स को व्हाइट चॉकलेट वैक्स भी कहा जाता है। यह मेड इन इटली वैक्स सब्जियों के तेल व हरी पत्तियों से निर्मित होता है।


यह 100 फीसदी तारपीन रहित वैक्स होता है। दरअसल, तारपीन एक चिपचिपा पदार्थ होता है जो पाइन व स्प्रूस के पेड़ से पैदा होता है। ये हैं कि इसकी वजह से त्वचा को एलर्जी और लाल चकत्तों की शिकायत हो सकती है।


  • रिका वैक्स के फायदे (rica wax ke fayde) ये हैं कि इसे रेग्युलर वैक्स की तरह उतना गर्म नहीं करना पड़ता, जिस वजह से यह त्वचा पर सौम्य असर डालता है।

  • इसके साथ त्वचा को साफ करने के लिए एक प्रीवैक्स जेल भी मिलता है, जो वैक्स को त्वचा के अंदर तक पहुंचाने में मदद करता है।

  • इसमें एक बार में बाल हटाने की क्षमता होती है। बार-बार एक ही जगह पर जाकर बाल हटाने के झंझट से यह वैक्स मुक्त होता है।

  • यह सभी तरह की स्किन टोन को सूट करता है। ज्यादा सेंसेटिव स्किन पर भी इसे इस्तेमाल करने में दिक्कत नहीं आती।

  • यह त्वचा को चमकदार और मुलायम बना देता है।

  • यह रेग्युलर वैक्स से ज्यादा कीमत वाला होता है, क्योंकि इसे इटली से आयात किया जाता है। 


हमारी सलाह: जाहिर सी बात है कि रेग्युलर वैक्स अब अतीत की बात हो चुकी है। हम एेसे वैक्स पर ज्यादा खर्च करना चाहेंगे, जो त्वचा को दर्द न दे और नुकसान भी न पहुंचाए। इसके अलावा फ्लेवर्ड वैक्स त्वचा से जिद्दी बालों को हटाने का भी दम रखता है, जिससे उस जगह दोबारा जल्दी बाल नहीं आते। सभी पार्लर चॉकलेट व अन्य फ्लेवर के वैक्स मुहैया करवाते हैं वहीं रीका वैक्स (rica wax benefits in hindi) आपको हर सलून में उपलब्ध नहीं होगी।


ये भी पढ़ें


पतंजलि के इन स्किन केयर प्रोडक्ट्स से करें अपनी त्वचा की सही देखभाल


हेयर फ्री और मुलायम त्वचा पाएं इन घरेलू तरीकों से


बिकनी वैक्स से जुड़े 11 Embarrassing सवालों का जवाब मिलेगा यहां!


बिकिनी वैक्स के बारे में ये बातें आपको ज़रूर पता होनी चाहिए