क्या आप भी कंडोम का प्रयोग करना पसंद नहीं करते हैं ...|POPxo Hindi | POPxo

क्या आप भी कंडोम का प्रयोग करना पसंद नहीं करते हैं ...क्योंकि वो फील नहीं आता...

क्या आप भी कंडोम का प्रयोग करना पसंद नहीं करते हैं ...क्योंकि वो फील नहीं आता...

हमारे देश में, जहां पॉपुलेशन यानि बढ़ती जनसंख्या ही सबसे बड़ी प्रॉब्लम है, कंडोम पर बात होनी उतनी ही जरूरी है, जितनी किसी भी बड़े पॉलिटिकल मुद्दे पर या फिर जितनी कि हमारी रोटी- कपड़ा और मकान जैसी सबसे बड़ी जरूरतों पर। इसी मुद्दे पर आजकल हमारे सोशल मीडिया के ट्विटर पर एक नया हैशटैग चला है- #IndiaHatesCondoms। यह मुद्दा वाकई हमारे देश के लिए बेहद जरूरी हो चला है।


जिस तरह से पिछले दिनों जानेमाने अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म पैडमैन ने लड़कियों को होने वाले पीरियड्स के मुद्दे को उठाया और बातचीत का सामान्य विषय बताया, ठीक उसी तरह से हमें कंडोम के बारे में भी खुलकर बात करनी चाहिए, क्योंकि जहां सेक्स हमारी जिंदगी का अभिन्न अंग है, इसलिए कंडोम को भी सेक्स का समानार्थी माना जाना चाहिए।


खैर, यहां हम ट्विटर पर वायरल हुए हैशटैग #IndiaHatesCondoms की बात कर रहे हैं। यह सच है कि हमारे यहां सेक्स के दौरान कंडोम का प्रयोग करने को सिर्फ पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाएं भी अनकंफर्टेबल महसूस करती हैं। हालांकि मनोवैज्ञानिकों का मानना है कि इसके पीछे का कारण असली नहीं बल्कि मनोवैज्ञानिक है। कंडोम का प्रयोग करने के बाद कोई फर्क नहीं होता, सिर्फ मनोवैज्ञानिक रूप से लोग ऐसा सोचते हैं। एबीपी न्यूज़ का कहना है कि देश के 95 प्रतिशत लोग कंडोम का इस्तेमाल नहीं करते, क्योंकि वे कंडोम को नापसंद करते हैं -



#IndiaHatesCondoms की शुरूआत करने वाली पूजा लिखती हैं कि भारतीयों द्वारा कंडोम से नफरत करने की एक ही वजह है कि इससे वो फील नहीं आता। इसी हैशटैग पर टीवी सेलिब्रिटी शिल्पा शिंदे ने ट्वीट किया है कि जब कंडोम लिखी हुई ट्वीट को रिट्वीट करने में ही लोगों को शर्म आती है तो प्रयोग करना तो दूर की बात है।



इसी हैशटैग पर सोनाली लिखती हैं कि यह तो बहुत शॉक कर देने वाली बात है, क्योंकि अगर आप कंडोम का इस्तेमाल नहीं करते तो इसका मतलब यह है कि आप एड्स और STD यानि सेक्स के संक्रमण से होने वाली बीमारियों की चपेट में आने के हाई रिस्क में हैं। एक और ट्विटर यूज़र लिखते हैं कि कंडोम का प्रयोग नहीं करने की वजह से हम  130 करोड़ होने की ओर अग्रसर हैं और एचआईवी के खतरे में हैं। उन्होंने इस खतरे से बचने के लिए हैलमेट यानि कंडोम के इस्तेमाल की सलाह भी दी है। (भले ही हैलमेट न पहनो, लेकिन कंडोम जरूर पहनो)


 



इसी तरह से एक और ट्विटर यूजर सोनाली देश के लड़कों को सलाह देती हैं कि कंडोम आपकी अपनी सुरक्षा के लिए है, इसलिए इसका बहिष्कार करने के लिए इससे प्यार करें।  यहां तक कि घरों में काम करने वाली पार्वती बाई के विचार भी इस मामले में काफी प्रगतिशील हैं -



इसके बाद इसी हैशटैग के जवाब में कंडोम बनाने वाली कंपनी ड्यूरेक्स ने अपना एक नया प्रोडक्ट लॉन्च करते हुए एक नया हैशटैग - #LoveDurexAiR  शुरू किया है। कंपनी का दावा है कि यह अल्ट्राथिन यानि अत्यंत पतला कंडोम प्रयोग करने से भारतीयों की यह फील वाली समस्या खत्म हो जाएगी। ड्यूरेक्स का यह विज्ञापन इसी कड़ी में ट्वीट किया गया है -



ड्यूरेक्स के इस नये हैशटैग के साथ ही यह चुटीला व्यंग्य भी ट्विटर पर पोस्ट किया गया है, जिसमें दिखाया गया है कि ड्यूरेक्स का यह नया कंडोम स्पर्म को दिग्भ्रमित यानि कंफ्यूज़ करने का एक अच्छा तरीका है।



ऐसे में आज की बड़ी जरूरत है कि कंडोम के इस्तेमाल को लेकर देश में जागरूकता फैले और लोग कंडोम से घृणा करने के बजाय इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करें, क्योंकि अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह दिन दूर नहीं, जब हमारा देश सेक्स से माध्यम से एड्स और सेक्स से संक्रमित बीमारियों का देश कहलाने लगेगा।


यह भी पढ़ें -