How To Manage Your Money In Hindi - मनी मैनेजमेंट टिप्स, मनी मैनेजमेंट, Money Management Tips in Hindi, Money Management in Hindi | POPxo

आप भी आज़माएं सफल महिलाओं के ये 7 मनी मैनेजमेंट सीक्रेट्स - How To Manage Your Money In Hindi

आप भी आज़माएं सफल महिलाओं के ये 7 मनी मैनेजमेंट सीक्रेट्स - How To Manage Your Money In Hindi

हमें मिले हैं कुछ ऐसे राज जो सबसे सफल और सेल्फमेड महिलाओं में कॉमन थे- यानी उनका मनी सेंस। अपने पैसे का आप क्या करते हैं, इसे आप कैसे इनवेस्ट करते हैं। 21वीं शताब्दी में यह एक बड़ा स्किल सेट माना जाता है, क्योंकि आज के जमाने में पैसा कमाना जितना आसान काम हो गया है, उतना ही मुश्किल है उसका मैनेजमेंट। वह पैसा ही है जो कई तरह की भावनाएं उभारता है, खुशी से लेकर गम तक, उत्तेजना से लेकर अफसोस तक...। सदियों से पैसा ही विवादों के स्रोत से लेकर नई-नई खोजों तक सभी चीजों के पीछे पैसा ही प्राथमिक ड्राइवर के रूप में जाना जाता है। यहां डिजिटल इनवेस्टमेंट प्लेटफॉर्म स्क्विरल (Sqrrl) के फाउंडर सामंत सिक्का हमें बता रहे हैं टॉप 7 मनी मैनेजमेंट टिप्स, जिन्हें अपनाकर आप अपना भविष्य बना सकते हैं।


जानिए मनी मैनेजमेंट टिप्स क्या है? - Money Management Tips In Hindi


पैसा बचा कर रखना - Save your Money


Money -1


बचपन से जो भी पैसा आपको मिलता है, जैसे पॉकेट मनी, राखी और दूसरे त्योहारों पर मिलने वाले नेग के अलावा घर पर आनेवाले रिश्तेदारों द्वारा दिया गया पैसा तक बचाना एक अच्छा प्रयास है। इसके बाद नौकरी लगने के बाद मिलने वाली सैलरी में से भी कुछ हिस्सा बचाकर रखा जाना चाहिए। यह जरूरी नहीं है कि बचाने के चक्कर में आप अपना सुख-चैन खो दें, कभी-कभी बचत के लिए सोचे गए हिस्से में से भी खर्च किया जा सकता है, इसी तरह से कभी- कभी खर्च करने वाले पैसे में से भी बचत की जा सकती है। लेकिन इनमें से कोई एक बात बहुत ज्यादा होने लगे तो समझ लें कि कुछ गड़बड़ है। यह बचत आपको अपनी, दोस्तों और भाई- बहनों को बहुत सी परेशानियों से राहत दे सकती है।


सोच-समझ कर खर्च करना - Spending Carefully


Money -2


फालतू चीजों पर कभी ज्यादा खर्च न करें और जो भी खर्च करें, अच्छी तरह से सोच-समझ कर करें। अगर किसी चीज के लिए लग रहा हो कि खरीदें या नहीं, तो कुछ समय के लिए इसे टाल दें, सही समय और जरूरत होने पर ही इसे खरीदें। आपको पता होना चाहिए कि हर चीज तो खरीदी नहीं जा सकती और न ही हर चीज को खरीदने की जरूरत होती है। इसके अलावा बहुत सी चीजें आपको गिफ्ट के तौर पर भी मिल जाती हैं। कोई चीज दिखे और अच्छी लगे तो उसे तुरंत खरीदने की आदत से बचें। अपने इस टेम्पटेशन को आइसक्रीम या कॉफी खरीदकर खत्म करें।


गिफ्ट के तौर पर आप JaipurCrafts 24K Gold Rose भी दे सकते हैं। इसकी कीमत है सिर्फ 299 रुपये।


अच्छे दोस्त रखना - Make Good Friends


Money -3


ओह, यह वैसा नहीं है जैसा आप सोच रहे हैं। आपके पास अच्छे दोस्त होने चाहिए, अच्छी डील्स और कूपन जैसे। हर खरीदारी के लिए अच्छी डील्स की तलाश करें। लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए कि अच्छी डील मिल रही है, इसलिए खरीदारी कर लें। सही है ना...। हां जरूरी चीजों के लिए अगर अच्छी डील मिल जाए तो होगी ना सोने पर सुहागा वाली बात। सिर्फ कपड़ों और जूतों की बात नहीं, बल्कि कुछ ऐसी डील्स का भी ध्यान रखें कि जो आपके पैसे को कुछ बढ़ा दे, ताकि आप चैन की नींद सो सकें। साथ ही अपने दोस्तों को भी इस तरह के मनी मैनेजमेंट के बारे में गाइड कर सकें- बचत, निवेश और समृद्धि के साथ मिलकर आगे बढ़ें।


बेहतर निवेशक होना - Be a Good Investor


Money -4


आप एक बेहतर निवेशक बनें। जब सेविंग यानी निवेश की बात आती है तो आपको पता होना चाहिए कि अपना पैसा कहां लगाएंगे तो बेहतर परिणाम यानी ज्यादा इंटरेस्ट मिलेगा। अपना पैसा निवेश करते वक्त इस बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि आपका पैसा कहीं डूब तो नहीं जाएगा और जहां भी आप निवेश कर रहे हैं, वह विश्वसनीय तो है ना। आप अपना पैसा अच्छे बैंक या अच्छी कंपनियों की फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम, ट्रैडीशनल गोल्ड, डायमंड्स, प्लेटिनम के अलावा म्यूचुअल फंड्स में लगा सकते हैं। म्यूचुअल फंड्स में निवेश करते वक्त ध्यान रखना जरूरी है कि यह फंड्स मार्केट पर आधारित होते हैं जो शेयर मार्केट के ही अनुसार बढ़ते और घटते भी हैं। इसलिए इनमें  निवेश करने से पहले जोखिम के साथ-साथ इनकी पूर्व परफॉर्मेंस का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।


अगर गोल्ड और डायमंड्स की ज्वेलरी नहीं ले सकते तो American Diamond Gold Plated Wedding Bangles Jewellery ले सकते हैं। यह सिर्फ 399 रुपये के हैं।


पैसे के दुश्मनों से दूरी


Money -5


मनी मैनेजमेंट के साथ-साथ आपको अच्छी तरह से पता होना चाहिए कि आपको अपने फाइनेंशियल गोल्स के दुश्मनों को खुद से दूर रखना है। इन दुश्मनों में प्रमुख रूप से क्रेडिट कार्ड्स, उधार खाते और अनेक तरह के लोन आते हैं। अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड है भी तो इसे समझदारी के साथ इस्तेमाल करना आपको आना चाहिए। इसी तरह से अगर आपने घर खरीदने के लिए या फिर वाहन खरीदने के लिए लोन लिया है तो भी आपको  समझदारी से उसे पूरा कैसे करना है, इसका पूरा प्लान बनाना और उधार लिये गये पैसों को जल्दी से जल्दी पूरा करना आना चाहिए, ताकि आपका बजट भी न बिगड़े और आपका लोन भी निपट जाए। खास बात यह कि लोन लेने से पहले ही उसे पूरा करने की पूरी योजना अपनी इनकम के अनुसार तय करेंगे तो जिंदगी में कभी परेशान नहीं होंगे।


हमेशा योजना तैयार रखना - Plan your Expenses


Money -6


अपनी हर इच्छा, हर आकांक्षा को पूरा करने के लिए आपको बैलेंस होकर सोचने और योजना बनाने की जरूरत है। जैसे अगर आप चाहती हैं कि अगले 4 सालों में आप यूरोप के ट्रिप पर जाएं तो इसके लिए आपको अभी से योजना बनाकर बचत करनी होगी। इसी तरह हर शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म प्लान के लिए सोच-समझ कर योजना बनाकर पैसा बचाने की जरूरत है, तभी आपकी इच्छाएं पूरी हो सकती हैं। आपकी प्राथमिकताओं में फॉरेन ट्रिप्स से लेकर अपनी पढ़ाई और बड़े सामान की खरीदारी भी शामिल है। अगर आपके शॉर्ट टर्म योजना किसी तरह से पूरी नहीं हो पा रही है तो इतनी समझदारी आपमें होनी चाहिए कि इसे आप लॉन्ग टर्म योजना में बदल कर पूरा कर सकें और अपनी शॉर्ट टर्म योजना के लिए अपनी किसी लॉन्ग टर्म योजना को बलि न चढ़ा दें।


हिचकिचाना ठीक नहीं - Don't Hesitate


Money -7


पैसे के मामले में आपकी हिचकिचाहट ठीक नहीं है। मनी मैनेजमेंट के लिए आपको किसी फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह लेने में या फिर किसी को उधार दिये गए पैसों को वापस मांगने में हिचकिचाना या शर्माना नहीं चाहिए। बल्कि आपको तो अपने मनी मैटर्स के मामले में किसी से भी सलाह लेने के लिए हमेशा आगे रहना चाहिए। हां, यह जरूरी है कि हर किसी की सलाह पर आंख मूंद कर भरोसा करना भी ठीक नहीं है, सलाह सभी से लें, लेकिन सलाह को सोच- समझकर और अपना भला-बुरा समझकर ही फॉलो करें। इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि आपके पास और कहां से कितना पैसा आ रहा है और इसे कहां लगाया जाना है।


तो अब  कहा जा सकता है कि मदर इंडिया अब क्वीन है और अपनी फाइनेंशियल इंडिपेंडेंस के माध्यम से अपना भविष्य वह खुद रच सकती है। अब जहां तक पैसे या मनी मैनेजमेंट का सवाल आता है, इस क्वीन की यात्रा अब काफी स्मार्ट हो  गई है और वह इसके लिए आज के म्यूचुअल फंड इनवेस्टमेंट एप Sqrrl समेत सभी मॉडर्न टूल्स का इस्तेमाल करने लगी है।