अगर सेंसिटिव स्किन है तो आपको जरूर पता होनी चाहिए ये बातें - Sensitive Skin Care in Hindi

अगर सेंसिटिव स्किन है तो आपको जरूर पता होनी चाहिए ये बातें - Sensitive Skin Care in Hindi

हमारी स्किन हमें बहुत प्यारी होती है। ये दिनभर में न जाने कितनी समस्याओं से होकर गुजरती है। धूल- मिटटी, पॉल्यूशन, सूरज की यू वी किरणें, केमिकल और न जाने क्या- क्या। ऐसे में अगर स्किन सेंसिटिव हो तो स्थिति और भी खराब हो जाती है। सेंसिटिव स्किन वाले ये बात अच्छी तरह से समझते होंगे कि इसकी देखभाल करना आसान काम नहीं होता। सेंसिटिव स्किन अपने साथ कई तरह की परेशानियां लेकर आती है, जैसे- मुंहासे, रैशेज़, खुजली आदि। इसलिए इसकी सही देखभाल बेहद जरूरी है और उतना ही जरूरी है इसके बारे में सब कुछ पता होना। आज हम आपको यही बताने वाले हैं, जिससे आपकी स्किन हमेशा खूबसूरत बनी रहे।

Table of Contents

    सेंसिटिव स्किन क्या होती है? - What is Sensitive Skin in Hindi?

    सेंसिटिव स्किन की देखभाल से पहले ये जान लेना बहुत जरूरी है कि सेंसिटिव स्किन क्या होती है (sensitive skin kaisi hoti hai)? जब स्किन एकदम रूखी- सूखी हो या उस पर आसानी से दाने, मुहांसे, लालपन, रैशेज़, एलर्जी या स्किन की बीमारियां आदि हो जाती हैं तो ऐसी स्किन सेंसिटिव या संवेदनशील त्वचा कहलाती है। ऐसे में आपकी त्वचा खिंची- खिंची सी और ड्राई लगने लगती है। खासतौर पर सर्दियों के समय सेंसिटिव स्किन का कुछ ज्यादा ही ख्याल रखना पड़ता है। हर क्रीम, हर प्रोडक्ट या मेकअप लगाने से पहले सौ बार सोचना पड़ता है। सेंसिटिव स्किन की परेशानियां सिर्फ यहीं पीछा नहीं छोड़ती, आइब्रो बनवाते समय भी लाल दाने और रैशेज़ की समस्या से दो- चार होना पड़ता है। ऐसे में इसकी देखभाल करना और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है।

    स्किन सेंसिटिव होने के कारण - Reasons for Sensitive Skin in Hindi

    सेंसिटिव स्किन वाले अक्सर अपने- आप से ये सवाल पूछते होंगे कि मेरी स्किन इतनी सेंसिटिव क्यों है, तो इसका जवाब हम आपको देंगे। जब स्किन की बाहरी प्रोटेक्टिव लेयर 'एपिडर्मिस' डैमेज हो जाती है, तब स्किन सेंसिटिव हो जाती है। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि सेंसिटिव स्किन की नर्व एंडिंग्स बड़ी आसानी से प्रभावित हो जाती हैं और इसलिए एपिडर्मिस के डैमेज होते ही स्किन सेंसिटिव हो जाती है। इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे जेनेटिक, प्रदूषण, देर तक धूप में रहना, मौसम में बदलाव, हार्मोनल बदलाव, एलर्जी, स्ट्रैस आदि। यही वजह है कि इस स्किन टाइप पर खास ध्यान रखने की जरूरत होती है।

    ये भी पढ़ें : कैसे करें ब्यूटी ब्लेंडर का इस्तेमाल - How to Use Beauty Blender?

    सेंसिटिव स्किन केयर - How to Care Sensitive Skin in Hindi?

    हम आपको कुछ टिप्स बताते हैं (sensitive skin care tips in hindi) - सेंसिटिव स्किन को धूल, प्रदूषण वगैरह से कोसों दूर रखें और इसलिए दिन में दो बार (सुबह और रात) चेहरे को अच्छे से धोकर साफ करें। इससे ज्यादा बार चेहरा ना धोएं वरना स्किन में इरिटेशन हो सकता है। चेहरा धोने के बाद टॉवल से रगड़ने की बजाए सॉफ्ट नैपकिन या टिश्यू की मदद से आराम से सुखाएं। एक गलती जो अक्सर सेंसिटिव स्किन पर भारी पड़ती है, वो है रात को सोने से पहले मेकअप न साफ करना। मेकअप के साथ कभी ना सोएं वरना इसका असर तुरंत ही आपको अपनी स्किन पर नजर आने लगेगा जो, दिखने में बिलकुल भी अच्छा नहीं लगता है। मेकअप साफ करने के लिए ज्यादा केमिकल वाले प्रोडक्ट्स की जगह ऑलिव ऑयल या जेंटल मेकअप रिमूवर का इस्तेमाल करें।

    ज़रूरत से ज्यादा प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल भी ना करें। एक बार में दो या ज्यादा से ज्यादा तीन प्रोडक्ट्स ही इस्तेमाल करें, क्योंकि अधिक प्रोडक्ट्स का मतलब अधिक केमिकल और इससे स्किन पर नेगेटिव रिएक्शन के चांसेज़ बढ़ जाते हैं। इसके अलावा क्लोरीनयुक्त पानी से भी दूर रहें। जैसे- स्विमिंग पूल और वाॅटर पार्क के पानी में अधिक मात्रा में क्लोरीन पाया जाता है।

    संवेदनशील त्वचा के घरेलू उपचार - Sensitive Skin Care Home Remedies in Hindi

    जैसा कि हमने बताया कि केमिकल के अत्यधिक इस्तेमाल से सेंसिटिव स्किन को काफी नुकसान पहुंचता है। ऐसे में त्वचा की देखभाल के लिए बाहरी प्राोडक्ट्स से ज्यादा विश्वसनीय घर पर इस्तेमाल होने वाली चीज़े होती हैं। हम आपको यहां ऐसे ही कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं (sensitive skin ko kaise thik kare), जिनके इस्तेमाल से आप अपनी सेंसिटिव स्किन की अच्छी देखभाल कर सकती हैं।

    1- दही और शहद तो आपके घर में मौजूद होगा ही। दही, शहद और लैवेंडर ऑयल को मिलाएं। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और 10 मिनट बाद धो दें। इसके बाद अच्छे से मॉइश्चराइजर लगाएं। इससे आपकी स्किन का रूखापन दूर होगा।

    2- सेंसिटिव स्किन के लिए सबसे अच्छा प्राकृतिक तत्व है, एलोवेरा। इसमें मौजूद विटामिन ई के गुण त्‍वचा में पड़ने वाले रैशेज़ और खुजली को ठीक करने में मदद करते हैं। इसके लिए एलोवेरा की पत्ती को काटकर उसके अंदर से जैल निकाल लें। फिर इस जैल को प्रभावित हिस्‍से पर चेहरे और गर्दन पर लगा लें। पूरी रात इसे ऐसे ही लगा रहने दें फिर सुबह पानी सादे पानी से इसे साफ कर लें। इसे लगाने के बाद हल्‍की खुजली महसूस होना बिल्‍कुल सामान्‍य है। इसलिए घबराने की जरूरत बिलकुल नहीं है।

    ये भी पढ़ें : फेस वाश करते हुए कभी न भूलना ये 7 बातें - Simple Face Wash Tips


    3- त्‍वचा पर शहद लगाने से त्‍वचा में निखार में आता है । एक बाउल में दो बड़े चम्‍मच शहद लेकर उसमें दो चम्‍मच दालचीनी पाउडर मिलाकर अच्‍छे से मिक्‍स कर लें। अब इस मिक्सचर को अपने चेहरे और गर्दन पर लगाकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर अच्‍छी तरह चेहरे को पानी धो लें। यह घरेलू उपाय आपकी सेंसिटिव स्किन को कोमल बनाने में बहुत कारगर है।

    4- एक बाउल में एवोकाडो को मसलें और इसमें शहद मिलाएं। अच्छी तरह से मिलाने के बाद इसे 10 मिनट के लिए चेहरे पर लगाएं। फिर साफ पानी से चेहरे को धो लें। इससे सेंसिटिव स्किन को आराम मिलता है।

    5- केले में सेहत के साथ खूबसूरती बढ़ाने के भी कई गुण मौजूद होते हैं। एक पका केला लेकर उसमें एक चम्‍मच शहद और दो चम्‍मच दही मिलाकर अच्छे से मिक्‍स कर चेहरे और गर्दन पर लगा लें। 15 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें और फिर इसे पानी से धो लें।

    6- हल्‍दी में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण त्‍वचा संबंधी आम समस्‍याओं जैसे रैशेज को दूर करने में मदद करते हैं। सेंसिटिव त्‍वचा पर आप हल्‍दी का फेस पैक बना कर लगा सकते हैं। इसे बनाने के लिए एक बड़ा चम्‍मच हल्‍दी पाउडर में कुछ बूंदे ऑलिव ऑयल की मिलाएं। अब इसमें और 2 बड़ा चम्मच शहद मिला लें। इन सब को अच्‍छी तरह मिक्‍स करके इस पैक को अपने चेहरे और गर्दन पर अच्‍छी तरह से लगा लें। सूखने पर इसे पानी से धो लें। हल्दी के गुण जहां आपकी त्वचा से मुंहासों को दूर रखेंगे वहीं शहद और ऑलिव ऑयल के गुण उसे रूखा होने से बचाएंगे।

    ये भी पढ़ें - बॉडी लोशन इस्तेमाल करने के तरीके

    संवेदनशील त्वचा के लिए मॉइस्चराइजर - Sensitive Skin ke liye Moisturizer

    स्किन में नमी न होना उसे सेंसिटिव बनाने के कारणों में से एक है। हर तरह की स्किन को मॉइश्चराइज़ करना चाहिए और सेंसिटिव स्किन को तो और भी ज़्यादा क्योंकि मॉइश्चराइज़ करने पर स्किन के ऊपर एक दूसरी परत बन जाती है, जो धूल, प्रदूषण जैसी बाहरी चीज़ों से स्किन की रक्षा करती है। इसके अलावा मॉइश्चराइज़र स्किन को रूखा नहीं होने देता है और उसमें नमी बनाए रहता है। इसलिए स्किन को हमेशा मॉइश्चराइज़्ड रखें।

    कौन से स्किन केयर प्रोडक्ट्स का करें इस्तेमाल? - Which Skin Care Product will Suit You?

    सेंसिटिव स्किन के लिए क्या लगाना चाहिए? केमिकल से भरे प्रोडक्ट्स से दूर रहें, खासकर एल्कोहल, रेटिनॉल, अल्फा हाइड्रोक्सी, एसिड्स और यूरिया जैसे केमिकल वाले प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल ना करें। प्रॉडक्ट में इंग्रेडिएंट्स की लिस्ट जितनी छोटी होगी, वो प्रोडक्ट उतना बेहतर होगा, क्योंकि लम्बी लिस्ट मतलब स्किन पर रिएक्शन के चांसेज़ भी उतने ही ज़्यादा। इसके अलावा तेज़ खुशबू वाले प्रोडक्ट्स से भी दूर रहें। फिर चाहे आपको किसी फ्रेगरेंस से कोई एलर्जी ना हो, क्योंकि बार-बार इसका इस्तेमाल करने पर भी ये स्किन को इरिटेट कर सकता है। इसलिए कोई भी प्रोडक्ट खरीदते समय उसका लेबल पढ़ने की आदत डालें।

    कैसे चुनें अपने लिए सही प्रोडक्ट - How to Choose Right Products for Sensitive Skin in Hindi?

    जितना हो सके केमिकल फ्री और आर्गेनिक प्रोडक्ट चुनें। ऐसे साबुन या सेंसिटिव स्किन के लिए फेस वाश से दूर रहें जिसमें ज्यादा केमिकल हो, क्योंकि इससे सेंसिटिव स्किन को बहुत नुकसान पहुंचता है। ऐसे प्रोडक्ट्स जिनमें नेचुरल इंग्रेडियन्ट जैसे एलोवेरा, हल्दी आदि हो या जो खासकर सेंसिटिव स्किन के लिए बने हों, उनका इस्तेमाल करें। ऐसे प्रोडक्ट्स जिनका पी एच 5.5 हो यानि हाइपो एलर्जिक स्किन केयर प्रॉडक्ट चुनें, ये स्किन में बाहर के फैक्टर्स के बीच एक बैरियर मेन्टेन करने में मदद करता है।

    इसके अलावा कोई भी नया प्रोडक्ट इस्तेमाल करने से पहले उसे स्किन के छोटे से एरिया पर टेस्ट करना ना भूलें। फिर चाहे प्रोडक्ट सेंसिटिव स्किन के लिए बनें हो या नेचुरल तत्वों से बना हो या फिर आप कोई घरेलू नुस्खा आज़मा रही हों। ऐसी ज़िद्दी स्किन पर कुछ भी आज़माने से पहले पैच टेस्ट ज़रूर कर लें। आप अपने कान के पीछे वाले एरिया पर प्रोडक्ट को टेस्ट कर सकती हैं। बहुत ज़्यादा सेंसिटिव स्किन होने पर टेस्ट के बाद 2-4 दिन तक इंतज़ार करके उसका असर देखें और फिर प्रोडक्ट इस्तेमाल करें। यही बात नेचुरल फेस मास्क या सेंसिटिव स्किन फेस पैक पर भी लागू होती है।

    सनस्क्रीन को न करें नज़रअंदाज़ - Never Skip Sunscreen

    सनस्क्रीन हमारी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में एक आदत की तरह शामिल होनी चाहिए। आपका स्किन टाइप चाहे ड्राई हो, ऑयली हो या फिर सेंसिटिव हो, इसका इस्तेमाल करना ही चाहिए लेकिन सेंसिटव स्किन के लिए तो ये और भी ज़्यादा ज़रूरी है क्योंकि ये सूरज की यूवी किरणों का शिकार आसानी से हो जाती है और इसको ज्यादा नुकसान भी पहुंचता है। जिसका परिणाम ये होता है कि स्किन में सनबर्न हो जाता है। इसलिए बाहर निकलते वक्त बॉडी के खुले हुए पार्ट्स को स्कार्फ, ग्लव्स वगैरह से कवर करें, और एस पी एफ 30 या उससे ज़्यादा का सनस्क्रीन ज़रूर लगाएं। ये मान कर चलें कि सनस्क्रीन जीने के लिए आपकी ज़रूरत है।

    सेंसिटिव स्किन के लिए मेकअप प्रोडक्ट्स - Makeup Products for Sensitive Skin in Hindi

    सेंसिटिव स्किन पर बहुत ज़्यादा मेकअप नहीं करना चाहिए और जब भी आप मेकअप का इस्तेमाल करें, तो सही प्रोडक्ट का चुनाव करना चाहिए, जैसे मिनरल पाउडर्स और सिलिकॉन-बेस्ड फाउंडेशन के स्किन में रिएक्ट करने की सम्भावना कम होती है, सेंसिटिव स्किन वालों के लिए लिक्विड आई लाइनर से बेहतर विकल्प पेंसिल आई लाइनर होता है क्योंकि लिक्विड लाइनर में मौजूद लेटेक्स (latex) स्किन को इरिटेट कर सकता है। वाॅटरप्रूफ मस्कारा भी इतना बढ़िया ऑप्शन नहीं है, क्योंकि इसको साफ करने के लिए नुकसानदायक केमिकल्स का इस्तेमाल करना पड़ता है। इसके अलावा ऐसे मेकअप प्रोडक्ट्स चुनें जिनमें एलोवेरा, कैमोमाइल या नारियल तेल जैसे तत्व हों, क्योंकि ये नेचुरल होने साथ स्किन को सॉफ्ट बनाते हैं। बस ये बातें दिमाग में रख कर मेकअप चुनें और हां, प्रोडक्ट का लेबल पढ़ना कभी ना भूलें।

    कैसा होना चाहिए खान-पान - Food for Sensitive Skin in Hindi

    खान-पान का आपकी सेहत के साथ स्किन पर भी बहुत असर पड़ता है। वैसे तो अपने खान- पान का ध्यान हर किसी को रखना चाहिए मगर जब स्किन सेंसिटिव हो तो ऊपरी देखभाल के साथ अंदरूनी देखभाल करना भी जरूरी हो जाता है। स्किन को हेल्दी और स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए अपनी डाइट संतुलित रखें। ताज़े फल व सब्ज़ियां, नट्स, फिश, दालें, अनाज जैसी चीज़ें अपनी डाइट में शामिल करें। मीठा, जंक फ़ूड, ज़रूरत से ज़्यादा कॉफ़ी, सोडा ड्रिंक्स से परहेज करें। ये सब आपकी स्किन को नुकसान पहुचाएंगे।

    एलर्जी होने पर क्या करें? - What to Do if Allergic?

    सेंसिटिव स्किन में कौन सी चीज़ से कब एलर्जी हो जाए, ये कहना थोड़ा मुश्किल होता है। बेहतर होगा सबसे पहले आप उन कारणों का पता करें जिससे आपको एलर्जी हो रही है। उदाहरण के लिए कुछ लोगों को गुलाबजल से भी एलर्जी होती है। गुलाबजल लगाते ही चेहरे पर जलन महसूस होने लगती है और खुजली होने लगती है। ऐसे लोगों को गुलाबजल से दूर ही रहना चाहिए। इसी तरह एलर्जी के कारणों को पता करने की कोशिश करें। खुद पता नहीं चल रहा है तो डर्मेटोलॉजिस्ट से सलाह लें। खासतौर पर एलर्जी की दवा लेने से पहले, क्योंकि किस एलर्जी में कौन सी दवा सूट करेगी, ये आपको डॉक्टर ज्यादा बेहतर तरीके से बता सकते हैं। इसलिए हर प्रोडक्ट और दवाई को डॉक्टर की सलाह लेकर ही इस्तेमाल करें।

    ये भी पढ़ें :

    खूबसूरती में चार- चांद लगाता है गुलाब जल, जानिए इसके सभी फायदे और नुकसान