रिश्तेदारों की ये 8 Variety.... कौन सी नहीं है आपके पास? | POPxo
Home
रिश्तेदारों की ये 8 Variety.... कौन सी नहीं है आपके पास?

रिश्तेदारों की ये 8 Variety.... कौन सी नहीं है आपके पास?

इंडिया में joint-family को बहुत पसंद किया जाता है लेकिन फैमिली मेंबर्स के साथ-साथ हमें मिलते हैं ढेरों रिश्तेदार। वैसे तो लाइफ में अगर रंग आते हैं तो वो आते हैं रिश्तों से, और जितने रिश्ते उतने ही रिश्तेदार। आपके पास भी अलग-अलग तरह के रिश्तेदार होंगे... इस बात पर हमने बनायीं है एक लिस्ट जिससे आप जान पाएंगीं कि आपके पास हैं कौन-कौन से relatives वो भी बिना confusion के।

1. छम्मक-छल्लो रिश्तेदार

aunty 1 ये वो रिश्तेदार होते हैं जो हर जगह किसी भी टाइम सजे-संवरे नज़र आते हैं। चाहे किसी के घर मातम हो या ख़ुशी पूरे वक़्त झमझमाती साड़ी और मेकअप में नज़र आएंगी और अंकल जी होंगे तो सूट और टाई में ही होंगे।

2. Abroad वाले रिश्तेदार

aunty 2 "अरे मेरा ये नेकलेस का सेट foreign का है", 'वो मैं स्विट्ज़रलैंड गयी थी', एक न एक तो सबके पास होते हैं abroad वाले रिश्तेदार जो हर बात शुरु करते हैं अपनी foreign ट्रिप से।

3. आपकी बेटी क्या कर रही है वाले रिश्तेदार

aunty 3 'शर्मा जी की बेटी ने तो CAT का एग्जाम पास कर लिया है अपनी स्वीटी क्या कर रही है?' बस ये रिश्तेदार सच में बहुत annoying होते हैं, न खुद चैन से जीते हैं न हमें जीने देते हैं!

4. मेरा बेटा बहुत तेज़ है वाले रिश्तेदार

  'गुड्डू तो बहुत इंटेलिजेंट हैं, अभी कॉलेज में फर्स्ट division से पास हुआ है, अरे खाना भी बड़ा अच्छा बनाता है'। मेरा बेटा ये मेरा बेटा वो बस इसमें ही पूरा टाइम निकल जाता है, दूसरे के बच्चों के बारे में तो सुना नहीं जाता है इनसे।

5. शादी कब हो रही है वाले रिश्तेदार

aunty 5 बस लाइफ शुरु हुई नहीं कि शादी और रिश्तों के बातें शुरू कर देते हैं ये रिश्तेदार। चाहे अपने बेटे की शादी ना हो रही हो लेकिन दूसरे के बेटे-बेटियों की शादी के बारे में ऐसे बात करेंगे जैसे सारा ज़िम्मा इनके सर पर हो।

6. ताक-झांक करने वाले रिश्तेदार

'अरे वो तुम्हारी दूर वाली बुआ हैं न उन्होंने बड़ी ख़राब बात बोली तेरे लिए'। हाय रब्बा, भले आपको नाम भी न याद हो दूर की बुआ का लेकिन कान ऐसे भरे जाएंगे जैसे कितने सालों से आपको ये बात बतानी थी।

7. Brand-conscious रिश्तेदार

aunty 4 'मैं तो कभी इन लोकल shops पर नहीं जाती' 'मैं नहीं खा सकती यार, मुझे तो बस हल्दीराम में खाना है'। इन्हे ब्रैंड-consciousness की प्रॉब्लम होती है। हर बात में ब्रैंडेड चीज़ें चाहिए बस।

8. फेविकोल जैसे रिश्तेदार

जहां जाते हैं वहीं चिपक जाते हैं, चाहे घर हो या इंसान। जब घर आते हैं तो हफ़्तों जाने का नाम नहीं लेते और जब बात करने बैठते हैं तो उठने नहीं देते। हमारे पास तो यही लिस्ट है और अगर आपके पास कुछ और हो तो हमे ज़रूर बताइएगा। Gifs: tumblr यह भी पढ़ें : ये 13 बातें वही समझेंगे जो घर के बड़े बच्चे हैं यह भी पढ़ें : 7 छोटी और प्यारी बातें जो आपको खुशी और खूबसूरती दोनों देती हैं
प्रकाशित - मार्च 8, 2016
Like button
लाइक
Save Button सेव करें
Share Button
1 शेयर
और भी पढ़ें
Trending Products

आपकी फीड