वैजाइनल डिस्चार्ज को दूर करने के घरेलू उपाय - Home Remedies for White Discharge in Hindi, White Discharge in Hindi, Vaginal Discharge | POPxo

अगर आपको भी होता है वैजाइनल डिस्चार्ज तो जानिए इसे दूर करने के घरेलू उपाय - Home Remedies For Vaginal Discharge

अगर आपको भी होता है वैजाइनल डिस्चार्ज तो जानिए इसे दूर करने के घरेलू उपाय - Home Remedies For Vaginal Discharge

लगभग सभी महिलाएं व्हाइट डिस्चार्ज या वैजाइनल डिस्चार्ज का अनुभव करती हैं। महिलाओं में सफेद पानी यानि व्हाइट डिस्चार्ज आना एकदम सामान्य बात है। लेकिन कई बार जब हमें इस पर सबसे ज्यादा ध्यान देना चाहिए, तभी नहीं दे पाते। ऐसा जानकारी के अभाव के कारण होता है। अब जिस चीज़ को आप लगभग रोज़ अनुभव करती हैं, उसके बारे में आपको सही जानकारी तो होनी ही चाहिए… हम यहां आपको व्हाइट डिस्चार्ज या वैजाइनल डिस्चार्ज के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं। साथ ही जानिए इससे छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपाय।


क्या है व्हाइट डिस्चार्ज या वैजाइनल डिस्चार्ज - What is White Discharge or Vaginal Discharge?


what-is-vaginal-discharge-types-causes-and-treatments %286%29


व्हाइट डिस्चार्ज, जिसे श्वेत प्रदर भी कहते हैं, एक प्राकृतिक शारीरिक प्रक्रिया है जिसके परिणामस्वरूप वैजाइना से स्राव होता है। यह आमतौर पर पतला और थोड़ा चिपचिपा होता है। अक्सर पीरियड से पहले या जब पीरियड अनियमित होता है, तब महिलाएं चिड़चिड़ी और तनावग्रस्त हो जाती हैं। इसके अलावा वे सेक्स लाइफ को लेकर तनाव में रहने लगती हैं। साथ ही उनके हॉर्मोन भी असंतुलित होने लगते हैं। परिणामस्वरूप महिलाओं को व्हाइट डिस्चार्ज होने लगता है। आमतौर पर यह पानी की तरह पारदर्शी होता है। हालांकि, कभी-कभी यह गाढ़ा, अजीब रंग का और गंधहीन भी होता है। 


कितने तरह का होता है वैजाइनल डिस्चार्ज - Types of Vaginal Discharge


what-is-vaginal-discharge-types-causes-and-treatments %281%29


जैसा कि हमने पहले बताया, वैजाइनल डिस्चार्ज हल्का, गाढ़ा, पारदर्शी, गंधयुक्त, गंधहीन और अजीब रंग वाला भी होता है। इसका मतलब ज्यादा कुछ नहीं, बस इतना होता है कि आपके शरीर में किसी तरह का इन्फेक्शन है। जानिए कितने तरह का होता है ये वैजाइनल डिस्चार्ज और क्या है इसका मतलब?


गाढ़ा और सफेद डिस्चार्ज


महिलाओं में होने वाला सफेद रंग का डिस्चार्ज नॉर्मल होता है। आमतौर पर पीरियड से पहले कई महिलाओं में व्हाइट डिस्चार्ज होता है मगर डरने की कोई बात नहीं है। हालांकि, अगर यह जलन या खुजली और दुर्गंध पैदा करने वाला स्राव पैदा करता है, तो आपको पता होना चाहिए कि आपको ईस्ट इन्फेक्शन है। अगर ऐसा है तो आपको निश्चित रूप से डॉक्टर की मदद लेनी चाहिए।


पीला वैजाइनल डिस्चार्ज


कई महिलाओं के साथ ऐसा होता है कि उन्हें सफेद की जगह पीला डिस्चार्ज होता है। यह बिल्कुल भी सामान्य नहीं है। पीला डिस्चार्ज बैक्टीरिया से होने वाले किसी इन्फेक्शन का एक लक्षण है। ऐसे कई लोग हैं जिनके मल्टिपल सेक्सुअल पार्टनर होते हैं। उन्हें भी यह समस्या हो सकती है क्योंकि पीला डिस्चार्ज सेक्स से होने वाली बीमारियों का भी संकेत देता है। इसलिए अगर आप भी ऐसी किसी समस्या से दो-चार हो रही हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें और अपनी इस समस्या से उन्हें अवगत कराएं। 


भूरा वैजाइनल डिस्चार्ज


पीरियड आने से पहले और पीरियड खत्म होने के बाद कई लोगों को सफेद के बजाय भूरे रंग का डिस्चार्ज होता है। यह आमतौर पर उन लोगों के साथ होता है, जिन्हें अनियमित पीरियड की समस्या होती है। मध्यम आयु वर्ग की महिलाओं के लिए मेनोपाॅज़ भी भूरे रंग के डिस्चार्ज का कारण बनता है। हालांकि अगर भूरे डिस्चार्ज की समस्या ज्यादा हो रही है तो यह खतरे का साइन भी हो सकता है। तब यह सर्वाइकल कैंसर के लक्षणों की ओर इशारा करता है। इस मामले में तुरंत किसी अच्छी स्त्री रोग विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए।


हरा वैजाइनल डिस्चार्ज


what-is-vaginal-discharge-types-causes-and-treatments %284%29


ग्रीन डिस्चार्ज होना सामान्य बात नहीं है लेकिन कई महिलाओं को इस समस्या से गुजरना पड़ता है। ग्रीन डिस्चार्ज ज्यादा होने की स्थिति में महिलाओं की वैजाइना में बैक्टीरियल इन्फेक्शन और सेक्सुअल इन्फेक्शन जैसी समस्याएं हो सकती है। ट्रिचोमोनिएसिस (Trichomoniasis) एक प्रकार का संक्रमण है, जो इंटरकोर्स से उत्पन्न होता है और अगर आपको यह समस्या है तो तुरंत अपनी डॉक्टर से उचित सलाह लें। 


वैजाइनल डिस्चार्ज होने के कारण - Causes Of Vaginal Discharge


1- बैक्टीरियल इन्फेक्शन इसका एक बड़ा कारण है। महिलाओं में वैजाइनल इन्फेक्शन के कई कारण होते हैं। जैसे- असुरक्षित सेक्स, यूरिन के लिए पब्लिक टाॅयलेट का इस्तेमाल, स्वच्छता की कमी, एनल इन्फेक्शन (गुदा संक्रमण) आदि। इन सभी कारणों से वैजाइनल डिस्चार्ज होता है।  


2- वैजाइनल डिस्चार्ज का एक कारण गोनोरिया (सूजाक) रोग भी है। यह आमतौर पर सेक्स से होने वाली बीमारी है। कभी-कभी आपके पुरुष साथी से ये रोगाणु आपके शरीर में बन सकते हैं। जो लोग अधिक असुरक्षित सेक्स संबंध बनाते हैं, उनमें यह समस्या होने की आशंका भी ज्यादा होती है।


3- कई महिलाएं अलग-अलग बीमारियों के लिए अलग-अलग एंटीबायोटिक्स खाने को मजबूर होती हैं। एंटीबायोटिक्स का ज्यादा सेवन हॉर्मोन्स पर कई तरह के असर डाल सकता है और वैजाइनल डिस्चार्ज का कारण भी बन सकता है।


4- कई महिलाएं खुद को अनचाही प्रेगनेंसी से बचाने के लिए रोज़ गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं। नियमित रूप से इस गोली को खाने से हॉर्मोन असंतुलित होने लगते हैं और कई तरह की शारीरिक समस्याएं भी हो जाती हैं, जैसे कि बेहोशी। इससे भी वैजाइनल डिस्चार्ज की समस्या हो सकती है।  


5- कई महिलाएं अपनी वैजाइना को साफ करने के लिए साबुन का इस्तेमाल करती हैं। दरअसल साबुन में कई तरह के केमिकल्स होते हैं, जो कोमल त्वचा के लिए हानिकारक होते हैं। वैजाइना में साबुन का इस्तेमाल भी वैजाइनल डिस्चार्ज का एक कारण है।


6- मल्टिपल सेक्स पार्टनर भी वैजाइनल डिस्चार्ज होने का मुख्य कारण है।    


वैजाइनल डिस्चार्ज के लक्षण - Symptoms of Vaginal Discharge


what-is-vaginal-discharge-types-causes-and-treatments %283%29


महिलाओं में वैजाइनल डिस्चार्ज होना आम बात है। वैसे तो इससे डरने की काई ज़रूरत नहीं है, लेकिन ये कैसे पता चलेगा कि वैजाइनल डिस्चार्ज की वजह से अब आपको डॉक्टर की सलाह की ज़रूरत है। अगर आपको यहां बताए गए कुछ लक्षण अपने केस में नज़र आ रहे हैं तो डॉक्टर की सलाह लेने में ज़रा भी देर न करें। 


1- अगर बार-बार बुखार होता है और तापमान काफी बढ़ जाता है।


2- अगर पेट में कभी-कभी असहनीय दर्द होता है।


3- बहुत मेहनत न करने के बावजूद आपको थकान ज्यादा हो जाती है।


4- अगर बार-बार टॉयलेट जाना पड़ता है।


5- अगर आपका वज़न अचानक बिना किसी कारण कम होने लगे।


6- यदि दो पीरियड्स के बीच इंटरकोर्स के दौरान दर्द होता है और वैजाइना से रक्तस्राव होता है।


7- अगर वैजाइना हमेशा गीली रहती है और उसमें खुजली महसूस होती है।


व्हाइट डिस्चार्ज के बारे में ज़रूरी बातें - Important things about White Discharge


1- वैजाइना और सर्विक्स में मौजूद ग्लैंड्स एक फ्लूइड बनाते हैं, जो डिस्चार्ज के रूप में बाहर आता है। यह डिस्चार्ज डेड सेल्स व बैक्टीरिया को बॉडी से बाहर निकालने का काम करता है, जिससे यूट्रस व पेल्विस सुरक्षित रहते हैं और इसलिए इसे सफेद पानी आना या वैजाइनल डिस्चार्ज भी कहते हैं...। इस तरह ये फीमेल रिप्रोडक्टिव सिस्टम को साफ व स्वस्थ रखने में मदद करता है। 


2- प्रेगनेंसी के शुरुआती दौर में सफेद पानी का ज्यादा स्त्राव हो सकता है और उसमें हल्की गंध भी हो सकती है। गंध में फर्क पर्सनल हाइजीन (साफ-सफाई) की कमी के कारण भी हो सकता है। अगर आप पिल्स (गर्भनिरोधक गोलियां) पर निर्भर हैं तो भी डिस्चार्ज की मात्रा व गंध में थोड़ा फर्क पड़ सकता है लेकिन अगर बदलाव बहुत ज़्यादा नज़र आए तो तुरंत डॉक्टर से मिलें। 


3- आमतौर पर एक महिला के व्हाइट डिस्चार्ज का नॉर्मल अमाउंट प्रति दिन एक से दो टीस्पून जितना होता है। हालांकि अगर आप ओव्यूलेट कर रही हैं, प्रेगनेंट हैं, ब्रेस्टफीडिंग करवा रही हैं, सेक्सुअली चार्ज्ड या तनाव में होती हैं तो भी डिस्चार्ज की मात्रा ज़्यादा हो जाती है, जो कि बिल्कुल नॉर्मल है। 


4- जब आप सेक्सुअली चार्ज्ड होती हैं, तब सफेद पानी की मात्रा बढ़ जाती है, जो वैजाइना को नम रखता है व नैचुरल लुब्रिकेंट की तरह काम करता है। 


5- डिस्चार्ज का रंग, गाढ़ापन, मात्रा और इसके आने की फ्रीक्वेंसी हर महिला पर अलग-अलग निर्भर करती है। 


6- वैजाइनल डिस्चार्ज प्रेगनेंट होने में भी आपकी मदद करता है! जी हां, यह स्पर्म की मदद करता है, जिससे एग के फर्टिलाइज़ होने की संभावना बढ़ जाती है। 


7- अगर आपको हमेशा के मुकाबले ज़्यादा सफेद पानी आ रहा है तो आप उसकी अपीयरेंस पर गौर करें। अगर वह क्लाउडी सा दिख रहा है तो इसका मतलब है कि आपकी बॉडी फर्टिलाइज़ होने के लिए तैयार एग्स रिलीज़ कर रही है।  


11. वैजाइनल इन्फेक्शन से बचने के लिए पर्सनल हाइजीन का ख्याल रखें। खुशबूदार साबुन या बॉडी वॉश से वैजाइना की सफाई न करें, ये वैजाइना के अंदर का पीएच बैलेंस बिगाड़ देते हैं। बाथरूम जाने के बाद हमेशा आगे से पीछे की तरफ साफ करें और कॉटन की पैंटी ही पहनें। 


वैजाइनल डिस्चार्ज से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपाए - Home Remedies To Get Rid Of Vaginal Discharge


what-is-vaginal-discharge-types-causes-and-treatments %285%29


1- गूलर का फूल पीसकर उसमें मिश्री व शहद मिलाकर दो-तीन बार सेवन करने से वैजाइनल डिस्चार्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है।


2- कच्चे केले को सुखाकर उसका चूरन बना लें। अब उसमें समान मात्रा में गुड़ मिलाकर दिन में तीन बार कुछ दिन तक लेने से वैजाइनल डिस्चार्ज में आराम मिलता है।


3- रोज़ाना दो-तीन केले खाने से भी यह समस्या दूर होती है।


4- टमाटर का रोज़ाना सेवन भी व्हाइट डिस्चार्ज या वैजाइनल डिस्चार्ज में फायदा करता है।


5- आप चाहें तो फालसे का शर्बत भी पी सकती हैं, हालांकि यह फल सीज़नल होता है। इसलिए जितने समय यह मिलता है, आप इसका फायदा उठा सकती हैं। 


6- 3 ग्राम आंवले का पाउडर शहद के साथ दिन में तीन बार चाटने से भी इस समस्या से छुटकारा मिलता है। 


7- हरे आंवले को पीस कर उसे जौ के आटे में मिलाकर उसकी रोटी एक महीने तक खाने से व्हाइट डिस्चार्ज से आराम मिलता है। 


8- मुलेठी 10 ग्राम, मिश्री 20 ग्राम, जीरा 5 ग्राम, अशोक की छाल 10 ग्राम- इन सभी का चूरन बनाकर रख लें। दिन में तीन बार 3 से 4 ग्राम चूरन खाएं।


9- भिंडी को उबालकर आप इसका सेवन कर सकती हैं। कुछ लोग दही में भिंडी को मिलाकर इसका सेवन करते हैं। इससे वैजाइनल इन्फेक्शन दूर होता है।


10- धनिए के बीज को रातभर भिगोकर रखें। इसके बाद अगली सुबह इसका सेवन खाली पेट करें। इसका सेवन करके आप आसानी से वैजाइनल डिस्चार्ज से छुटकारा पा सकती हैं।


11- तुलसी की पत्तियों का जूस बनाकर उसमें शहद मिला लें। इसका सेवन करके भी यह समस्या दूर होती है।


12- 15 से 20 अमरूद की पत्तियों को तब तक उबालें, जब तक कि पानी आधा न हो जाए। अब इस पानी को छान लें और ठंडा होने के बाद इसका सेवन करें।


13- चावल को पकाते समय चावल के स्टार्च को अलग निकाल लें। इसके बाद इसका सेवन करें। इससे भी आपकी परेशानी दूर हो जाएगी।


14- आप अनार के बीज या जूस का सेवन करके भी वैजाइनल डिस्चार्ज की समस्या को दूर कर सकती हैं। अनार की पत्तियां भी इस समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार होती हैं। आप अनार के पत्तों का पेस्ट बनाकर इसका सेवन सुबह खाली पेट कर सकती हैं।


15- मेथी को गर्म पानी में भिगोकर रख दें। इसके बाद जब यह ठंडी हो जाए तो आप पानी के साथ इसका सेवन कर सकती हैं। इसके अलावा अगर आपके पास मेथी के बीज का पाउडर है तो आप गुनगुने पानी के साथ उसका भी सेवन कर सकती हैं।


(आपके लिए खुशखबरी! POPxo शॉप आपके लिए लेकर आए हैं आकर्षक लैपटॉप कवर, कॉफी मग, बैग्स और होम डेकोर प्रोडक्ट्स और वो भी आपके बजट में! तो फिर देर किस बात की, शुरू कीजिए शॉपिंग हमारे साथ।) .. अब आयेगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।

Read More from Wellness

Load More Wellness Stories