बेसन से झाइयों को दूर करने के उपाय और अन्य बेसन के फायदे - Besan ke Fayde

बेसन से झाइयों को दूर करने के उपाय - Besan ke Fayde,Benefits of Besan

स्वास्थ्य का जादू बेसन के साथ! है न कितनी आश्चर्य वाली बात! जी हां! बेसन सिर्फ त्वचा के लिए ही नहीं, बल्कि आपकी शारीरिक सुंदरता पर भी जादू सा असर करता है। आप नहीं जानते होंगे कि बेसन का इस्तेमाल एक औषधि के रूप में भी किया जाता है। जानिए, कैसे।


बेसन के स्वास्थ्य लाभ - Health Benefits of Besan in Hindi


बेसन से पाएं बेदाग और निखरी त्वचा - Beauty Benefits Of Besan in Hindi


बेसन मास्क है खास


बेसन में पाएं जाने वाले पौष्टिक तत्व - Nutrients in Besan in Hindi


बेसन में कई प्रकार के पौष्टिक तत्वों का संगम है। बेसन में विटामिन, फाइबर ,फैट्स, आयरन, प्रोटीन, मैग्नीशियम, तांबा, फोलेट, जस्ता, थाइमिन और मैंगनीज आदि मौजूद होते हैं। ये स्वास्थ्य की दृष्टि से बेसन लगाने के फायदे बहुत हैं। 


सेहत के लिए बेसन के फायदे - Health Benefits of Besan in Hindi


बात सेहत की करें तो बेसन के फायदे (besan ke fayde)को भूला नहीं जा सकता है। अगर आप अभी तक बेसन के फायदों (besan ke fayde) से अनजान थे तो यह आर्टिकल खास तौर पर आपके लिए ही है। जानिए, बेसन के स्वास्थ्य संबंधी फायदे।


Health Benefits of Besan


मधुमेह


आपको जानकर आश्चर्य होगा कि बेसन के सेवन को टाइप टू मधुमेह में काफी उपयोगी माना जाता है। बेसन शरीर में ग्लूकोज और इंसुलिन के स्तर को कम करता है। साथ ही उर्जा भी प्रदान करता है। इस लिए बेसन को मधुमेह रोगियों के लिए कम शुगर वाला प्राकृतिक खाद्य पदार्थ माना जाता है।


कोलेस्ट्रॉल


बेसन में अनसैचुरेटेड फैट्स और फाइबर पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इसमें लिपोप्रोटीन की मात्रा कम होती है। इसमें असंतृप्त वसा की उपस्थिति अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाती और खराब कोलेस्ट्रॉल को घटाती है। इसलिए बेसन को कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में सहायक माना जाता है। 


एनीमिया


बेसन फोलेट और आयरन जैसे प्राकृतिक तत्वों की उपस्थिति  के कारण शरीर के अंदर खून की कमी को पूरा करने में काफी सहायक होता है। इसलिए अपने रोज के आहार में एक टाइम बेसन का सेवन काफी हद तक आयरन की कमी को पूरा कर सकता है।


दिल को रखें चुस्त


बेसन में घुलनशील फाइबर और स्वस्थ फैट की मौजूदगी कोलेस्ट्रोल के स्तर को नियंत्रित करने में सहायता करती है। साथ ही इसका सेवन शरीर में किसी भी प्रकार के ब्लाॅकेज को रोकता है।


मजबूत हड्डियां 


हड्डियों की मजबूती में सहायक कैल्शियम, मैग्नीशियम, खनिज और लवण, कैल्शियम तथा फॉस्फोरस जैसे कुदरती तत्व आदि बेसन में मौजूद होते हैं। हड्डियों की कमजोरी या ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारियों से बचने के लिए हमारी डाइट में बेसन का शामिल होना जरूरी है।


थकान मिटाए


पढ़ने में आपको थोड़ा अजीब लगेगा कि बेसन से भला थकान कैसे मिट सकती है?! बेसन के सेवन से शरीर में सूजन, थकान, दस्त या कब्ज आदि परेशानियां खत्म हो जाती है। असल में बेसन ग्लूटेन फ्री होता है, जिसकी वजह से वह ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ को अपने अंदर समाने की क्षमता रखता है।


स्टैमिना बढ़ाने के लिए अपने खाने में शामिल करें ये आहार


दिमाग रहे स्वस्थ 


सोचिए जरा, दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए किस तत्व की आवश्यकता होती है? फोलेट की? तो यह फोलेट बेसन में भी मौजूद है। इसका काम होता है दिमाग की कार्य क्षमता को बढ़ाना और उसे हेल्दी रखना। इसलिए बेसन का सेवन दिमाग को स्वस्थ रखने में भी सहायता करता है।


हाई बीपी


डाइटीशियन के अनुसार, एक व्यक्ति को प्रतिदिन 2000-2100 मिलीग्राम से ज्यादा सोडियम का सेवन नहीं करना चाहिए वरना हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने का खतरा बना रहता है। बेसन में आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम जैसे तत्वों की मौजूदगी शरीर के अंदर सोडियम की मात्रा को नियंत्रित रखती है और अनावश्यक सोडियम को शरीर से बाहर निकालने में सहायता करती है। इसी वजह से शरीर का रक्तचाप कंट्रोल में रहता है।


वजन नियंत्रण


हमारे शरीर के बढ़ते हुए वजन को कम या नियंत्रित करने में पोटैशियम, मैग्नीशियम, आयरन और कॉपर जैसे तत्वों का बहुत बड़ा हाथ होता है। बेसन इन्हीं तत्वों से भरपूर है। इसलिए बेसन का सेवन शरीर के वजन नियंत्रक के रूप में कार्य करता है और हमारे शरीर के बढ़ते हुए वजन को रोकता है। यही नहीं, यह पाचन प्रणाली के सुचारु तरीके से कार्य करने में भी सहायक है। इस वजह से आंतें सही तरीके से कार्य करती हैं और शरीर को ऊर्जा मिलती है।


रोजाना गर्म पानी पीने के फायदे


कैंसर से रखे दूर


क्या आप जानते हैं बेसन लगाने के फायदे एक नहीं कई हैं। बेसन में कैंसर प्रतिरोधक क्षमता होती है। बेसन का सेवन कैंसर की रोकथाम में भी उपयोगी साबित हो सकता है। बेसन में मौजूद फाइबर एक अच्छा एंटीऑक्सीडेंट है। अपने प्राकृतिक और औषधीय गुणों की वजह से यह कैंसर की रोकथाम में सहायता करता है।


रोग प्रतिरोधकता


बेसन में विटामिन B1 प्रोटीन और अमीनो एसिड का एक अच्छा संतुलन होता है। इसलिए शरीर की रोग प्रतिरोधक  क्षमता को बनाए रखने के लिए इसका सेवन हमारे स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत जरूरी है।


चेहरे पर बेसन लगाने के फायदे - Chehre Par Besan Lagane ke Fayde


बेसन जितना हमारे शारीरिक स्वास्थ्य के लिए उपयोगी है, उतना ही हमारे बाह्य सौंदर्य के लिए भी। त्वचा के पर बेसन लगाने के फायदे (besan benefits for skin in hindi) कोई नये नहीं है, बल्कि सदियों से चला आ रहा है। इसकी विशेषता है कि यह हर तरह की स्किन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। आज-कल हमारी जीवन शैली ऐसी हो गई है कि हमें न चाहते हुए काफी समय तक घर से बाहर रहना पड़ जाता है। इस कारण हमारी त्वचा सूरज की किरणों के संपर्क में आती है और त्वचा पर काले रंग के धब्बे पड़ जाते हैं। लेकिन बेसन के उबटन के प्रयोग से हम अपनी त्वचा को निखार सकते हैं। इससे त्वचा डी-टैन होकर ग्लोइंग बनती है। बेसन अपने प्राकृतिक सुपर क्लींजिंग गुणों के कारण त्वचा को निखारने में सहायक है। जाने त्वचा के लिए बेसन (Beauty Benefits of Besan in Hindi) के फायदे। 


बेसन और अंडे का फंडा


Use eggs to remove pimples


पिंपल्स से परेशान हैं। कई उपाय करने के बाद भी ये जिद्दी Pimples आपका पीछा नहीं छोड़ रहे हैं तो आप ये तरीका अपनाएं। दो अंडों का सफेद भाग लेकर फेंट लें फिर इसमें एक चम्मच बेसन मिला लें। तैयार पेस्ट को चेहरे पर लगा कर 10 मिनट के लिये छोड़ दें। अंडे का सफेद भाग चेहरे की त्वचा के extra तेल को सोख लेता है। अब फिर चेहरा धो लें। कम से कम सप्ताह में दो बार इसे apply करें।


ऑयली स्किन के लिए


अगर आपकी त्वचा ऑयली है तो बेसन का फेस पैक आपकी इस समस्या को खत्म करक सकता है। एक बड़ा चम्मच बेसन को गुलाब जल में मिक्स करके पेस्ट बना लें। फेस और गर्दन पर 15 मिनट के लिए लगाकर सुखाएं और अब गुनगुने पानी से धो दें। आपकी स्किन ऑयल फ्री, फ्रेश और निखरी हो जाएगी।


ड्राई स्किन के लिए


ड्राई स्किन के लिए भी बेसन का फेस पैक बहुत कारगर साबित होता है। एक छोटा चम्मच दूध, इतना ही शहद और दो चुटकी हल्दी। इन सभी चीजों को एक चम्मच बेसन में मिलाकर पेस्ट बनाएं। इसे 15 मिनट लगाने के बाद normal water से फेस वॉश करें। दूध आपकी स्किन को मुलायम बनाएगा, शहद नमी देगा और हल्दी रंगत निखारेगी। अब आपका सवाल हो सकता है कि बेसन क्या करेगा? तो ये आपकी स्किन का रूखापन और डेड स्किन को हटाएगा! 


बेसन से झाइयों को दूर करने के उपाय


Use besan to remove pigmentation


बेसन से झाइयों को दूर करने के उपाय बेहद सरल है- एक चम्मच बेसन और तीन चम्मच बारीक कद्दूकस किया गया खीरा मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगाए रखें और ताज़े पानी से धो लें। ये खुले रोमछिद्रों, झाइयों और एजिंग इफेक्ट्स की दिक्कतों से आपकी त्वचा को फ्री रखता है।


टैनिंग दूर करने के लिए


चेहरे पर बेसन लगाने के फायदे (besan ke fayde) टैनिंग दूर करने में भी मिलात है। सेंसटिव स्किन पर टैनिंग का असर सबसे जल्दी नज़र आता है। तो आपको जरूरत है एक चम्मच बेसन, आधा नींबूं, एक चम्मच गुलाबजल औ चुटकी भर हल्दी की। इन सबको मिलाकर पेस्ट बनाएं और चेहरे के साथ ही गर्दन पर लगाएं। तकरीबन 20 मिनट लगाने के बाद धो लें। इसे 4-5 दिन लगातार यूज़ करें आपकी स्किन की खोई रंगत लौट आएगी।  


जस्ट फॉर केयर


Improve skin tone using besan


चेहरे पर बेसन लगाने के फायदे (besan ke fayde) तो हैं ही आप चाहें तो बेसन के पेस्ट का इस्तेमाल चेहरे के अलावा कई और जगह पर भी कर सकते हैं। अब तक आपको जितने टिप्स बताए वो सिर्फ किसी एक चीज के लिए थे। अब ये दो टिप्स हैं रोजमर्रा की केयर के लिए। क्योंकि अपनी केयर केवल तभी तो नहीं की जाती न जब कोई दिक्कत हो… A- आपको चाहिए एक चम्मच बेसन, आधा नींबू और 5 बादाम। रात को बादाम पानी में भिगोकर रखें और सुबह उन्हें छिलके सहित पीस लें। इस पेस्ट को बेसन और नींबू मिलाकर मिश्रण तैयार करें। चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 20 मिनट बाद ताज़े पानी से धो लें। त्वचा की रंगत बनी रहेगी B-एक चम्मच बेसन, एक चम्मच दूध और आधा चम्मच सरसों तेल। तीनों को मिलाकर चेहरे और गर्दन पर लगाएं। शुरू में सरसों तेल के कारण आपको आंखों और स्किन में जलन हो सकती है, लेकिन 3-4 मिनट में ऐसा होना बंद हो जाएगा। इस पेस्ट से आपकी स्किन पर किसी तरह का इंफेक्शन या पिंपल्स नहीं होता और आपकी त्वचा की रंगत बनी रहती है।


हेयर रिमूवर के तौर पर


बेसन लगाकर आप अनचाहे बालों से छुटकारा पा सकती हैं। ऐसा करने पर त्वचा का वह हिस्सा साफ और निखरा नजर आएगा। इसके लिए थोड़े से बेसन में नींबू के रस की कुछ बूंदें और दही मिलाकर उस हिस्से पर लगाएं, जहां के बाल आप हटाना चाहती हैं। जैसे कि अपर लिप, चिन आदि। कुछ मिनटों बाद रगड़ते हुए उबटन को छुड़ाइन और साफ पानी से चेहरा धो लें। फिर उसे थपथपाते हुए पोंछें और चेहरे पर गुलाब जल लगा लें।


सुंदर बनाएं कोहनी 


बेसन से चेहरा साफ करने के उपाय तो हमे मालूम हैं लेकिनआपने अक्सर देखा होगा कि शरीर के बाकी अंगों के मुकाबले कोहनी, घुटने या गर्दन का रंग ज्यादा गहरा होता है। इस कालेपन से बचने के लिए बेसन का प्रयोग (besan ka use for face in hindi) बेहतरीन रहता है। बस आपको थोड़े से बेसन में हल्दी, नींबू और ज़रा सा सरसों का तेल मिलाकर उबटन तैयार करना है। इन हिस्सों पर लगाकर कुछ देर बाद साफ कर लें। फिर देखिए, आपकी कोहनी, घुटने या गर्दन का रंग कितना निखर जाएगा।


besan benefits in hindi %281%29


चेहरा साफ करने के उपाय में बेसन का इस्तेमाल तो होता ही है लेकिन क्या आप जानते हैं बेसन से बालों की भी देख-रेख कि जा सकती है।है न चौंकाने वाली बात कि बेसन का सिर्फ त्वचा के लिए ही नहीं, बल्कि बालों के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है! बालों में इसके प्रयोग से रूखे-बेजान से दिखने वाले बाल भी चमकदार हो जाते हैं। दरअसल, बेसन में मौजूद प्रोटीन बालों की जड़ों में पहुंचकर क्लींजर का काम करता है और बालों की लंबाई बढ़ाता है। वह उन्हें घना करता है, बालों में इसके प्रयोग से बालों के स्कैल्प को मजबूती मिलती है और रूसी खत्म होकर बालों का वॉल्यूम बढ़ जाता है। यह बालों के लिए एक बेहतरीन कुदरती शैंपू, कंडिशनर और एंटी-हेयर फॉल का काम करता है। आइए जानते हैं बालों का मास्क बनाने का तरीका।


Benefits of Besan for Hair


बेसन मास्क है खास


अगर आपके बाल बहुत ज्यादा झड़ रहे हैं तो आप बेसन से बने हुए मास्क का प्रयोग करें। कुछ ही दिनों में आपको फर्क नजर आने लगेगा। इसके लिए सिर्फ चार चम्मच बेसन में दो चम्मच दही, कुछ बूंदें नींबू के रस की और कुछ बूंदें ऑलिव ऑयल की मिलाकर पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट को 20 मिनट तक बालों में लगाए रखें। इसके बाद गुनगुने पानी से बालों को धो लें लेकिन शैंपू न करें।


डीप कंडीशनिंग 


बालों की नेचुरल डीप कंडीशनिंग करने के लिए बेसन और म्योनीज से बना मास्क एक बहुत अच्छा ऑप्शन है। म्योनीज को दो से तीन चम्मच बेसन में अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें। फिर उसमें एक छोटा चम्मच शहद और दो बूंदें नींबू के रस की डालकर इस पेस्ट को 35 मिनट तक बालों पर लगाएं। बाद में साफ गुनगुने पानी से बालों को धो लें। हर सप्ताह ऐसा करें। फिर देखें बालों की रौनक।


बाल बनें बाउंसी 


भले ही आपने कितने ही सुंदर या फैशनेबल कपड़े पहन रखे हों लेकिन अगर आपके बाल चमकदार और सुंदर नहीं हैं तो सारा फैशन बेकार है। बालों को मजबूत और घना दिखाने के लिए आप बेसन और बादाम के पाउडर से बने इस बेसन फेस पैक को बालों पर लगाएं। इसके लिए आप दो छोटे चम्मच बेसन में उतने ही चम्मच बादाम पाउडर, 8 बूंदें नींबू का रस, एक छोटा चम्मच शहद और पांच बूंदें जैतून का तेल मिलाकर पेस्ट को एकसार कर, बालों में लगाएं। 15 मिनट बाद बालों को गुनगुने पानी से धो लें। सप्ताह में दो बार ऐसा करें। बालों में जादू सा असर होगा।


बाल बनें शाइनी 


पुराने समय से जैतून के तेल को बालों के लिए प्रयोग किया जा रहा है। अगर जैतून के तेल में बेसन मिलाकर बालों पर लगाएं तो सोने पर सुहागा हो जाता है। इससे आपके बाल मजबूत तो होते ही हैं, साथ ही सिल्क जैसे शाइन भी करने लगते हैं। 4 चम्मच बेसन के साथ दो चम्मच जैतून का तेल और कुछ बूंदें नींबू के रस को मिलाकर इस बेसन फेस पैक को बालों में 20 मिनट के लिए अंदर से बाहर की ओर लगाएं यानी कि जड़ों से। फिर गुनगुने पानी से बालों को धो लें। हफ्ते में दो बार ऐसा करने से आपके बाल सिल्की और शाइनी हो जाएंगे।


मोटापा घटाने से लेकर बालों के झड़ने तक में फायदेमंद है गुड़हल का फूल 


बेसन से जुड़े सवाल-जवाब - FAQ's


क्या बवासीर में बेसन का सेवन नुकसानदायक है? 
नहीं। बवासीर में बेसन का प्रयोग या सेवन करना बिल्कुल भी नुकसानदायक नहीं है। असल में बेसन में प्रोटीन, फाइबर, आयरन और विटामिन-बी जैसे उपयोगी तत्वों का समावेश होता है, जिस वजह से शरीर का वेस्ट सख्त नहीं होता और  बवासीर में परेशानी नहीं होती।


क्या बेसन के स्थान पर विकल्प के रूप में किसी और पदार्थ का उपयोग कर सकते हैं?
हर खाद्य की अपनी विशेषता होती है। ऐसे में जो टेस्ट या गुण बेसन के हैं, वह किसी और आटे या खाद्य में नहीं मिलेंगे। लेकिन अगर बेसन का सेवन आपको नुकसान पहुंचा रहा है तो आप उसकी जगह पर दलिया या चावल का आटा प्रयोग कर सकते हैं। 


क्या बेसन का सेवन नुकसानदायक भी है?

अति हर चीज की बुरी होती है, चाहे वह बेसन ही क्यों न हो! अगर आप उसे रोज की जरूरत से ज्यादा खाएंगे तो आपको बेसन भी नुकसान करेगा।

 

क्या बेसन से एलर्जी होती है?

बिल्कुल नहीं। बेसन में अन्य खाद्यों की तरह ग्लूटन नहीं होता है। अपने इसी गुण के कारण बेसन एक अच्छा एंटी-एलर्जिक खाद्य है। 

 

क्या पथरी के रोग में बेसन खाना उचित है? 

नहीं! बेसन को फाइबर का अच्छा स्रोत माना जाता है। इसके सेवन से कब्ज या गैस की शिकायत हो सकती है। जिन लोगों को किडनी में स्टोन यानी पथरी की समस्या होती है, उन्हें भी इसका सेवन बहुत कम या नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: 


खूबसूरत पैरों के लिए आज़माएं ये 6 घरेलू नुस्खे


आपके लिए खुशखबरी! नए साल के आने की खुशी में POPxo भी अपने चाहने वालों के लिए लाया है #POPxoLucky2020 की सौगात। POPxo Zodiac कलेक्शन से आप अपनी राशि के अनुसार खरीद सकते हैं कॉफी/चाय मैजिक मग, नोटबुक्स, मोबाइल कवर्स और भी बहुत कुछ ... और वो भी 20% की आकर्षक छूट के साथ। तो फिर देर किस बात की, popxo.com/shop/zodiac-collection पर जाकर शुरू कीजिए शॉपिंग!