आपको भी होंगी स्किन और एक्ने के बारे में ये 8 गलतफहमियां! - POPxo HIndi | POPxo
Home
आपको भी होंगी स्किन और एक्ने के बारे में ये 8 गलतफहमियां !

आपको भी होंगी स्किन और एक्ने के बारे में ये 8 गलतफहमियां !

क्या आपके पिम्पल ब्रेअकाउट्स - जेनेटिक्स, लाइफस्टाइल या डाइट के कारण हो रहे हैं? क्या उन स्पॉट्स को एडल्ट एक्ने समझना चाहिए? ब्रेकाउट्स के बारे में इतनी तरह की बातें हैं कि हम सभी बुरी तरह से कंफ्यूज हो जाते हैं। और हमारा यकीन मानिए, इसे गूगल करने पर ये उलझन और भी बढ़ जाती है! तो आज हम कुछ आम एक्ने मैथ्स का पर्दाफाश कर, आपको सही तथ्य जानने व समझने में मदद करेंगे....ताकि आप अपने एक्ने से सही तरह से निपट सकें।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 1 : एक्ने सिर्फ टीनएजर्स की ही समस्या है

फैक्ट: आह, काश ऐसा होता! कोई भी 20s गर्ल आपको ये बता देगी कि स्पॉट्स और ज़िट्स टीन्स के बाद जादुई तरीके से गायब नहीं होते हैं! कई बार, कुछ लोगों के लिए, हॉर्मोनल फ्लक्चुएशन के कारण ये और भी बुरे हो जाते हैं। लगातार मौजूद एक्ने तब होते हैं, जब वो आपके टीन्स से लेकर आपके एडल्ट ईयर्स तक रहे और लेट ऑनसेट एक्ने (यानि देरी से आने वाले एक्ने) तब होते हैं, जब आपको अचानक से 25 के बाद ब्रेकआउट होना शुरू हो जाए।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 2: लाइफस्टाइल और जेनेटिक्स का एक्ने होने में कोई रोल नहीं होता है

फैक्ट: वैसे ये बात अभी तक साफ नहीं है कि कैसे, लेकिन जीन्स आपकी पिंपल प्रॉब्लम से ज़रूर जुड़े होते हैं। इसके साथ ही लाइफस्टाइल फैक्टर्स जैसे तनाव, मुहांसों को ट्रिगर (शुरू) करने व उसे बढ़ाने का काम भी करते हैं। कुछ के लिए,  दूध और उससे बने प्रोडक्ट्स लेने पर भी ये समस्या हो सकती है। और हम सभी जानते हैं कि एक्सरसाइज का दमकती त्वचा देने में बहुत बड़ा योगदान होता है।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 3: गंदे चेहरे के कारण होते हैं एक्ने

Acne-Point-3 फैक्ट: एक्ने होने में हॉर्मोन्स के साथ तनाव व जेनेटिक्स का बहुत बड़ा योगदान होता है। इसलिए चेहरे को ज़रूरत से ज़्यादा साफ करने से ये समस्या ठीक नहीं होगी। लेकिन बैक्टीरिया व पोर्स को क्लोग होने से बचाने के लिए क्लीन्ज़िंग बेहद ज़रूरी है। हेयर फॉलिकल में फंसे बैक्टीरिया व ज़्यादा ऑइल के बनने के कारण ही तो ये जिद्दी ज़िट्स होते हैं।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 4: पिज़्ज़ा और चॉकलेट्स से ब्रेकाउट्स होते हैं

फैक्ट: बिल्कुल, जंक फूड आपके लिए अनहेल्दी है, लेकिन ज़रूरी नहीं है कि फ्राइड को दबा कर खाने के कारण आप सुबह, भद्दे व जिद्दी पिंपल के साथ उठी हैं। कभी-कभी शक्कर व नमक ऑयल के प्रोडक्शन को बढ़ा कर स्किन को खराब कर सकता है, लेकिन इससे पिंपल नहीं होते हैं। इनके होने का कारण है बैक्टीरिया। तो कभी-कभार आप अपने आप को ऐसे कम्फर्ट फूड की ट्रीट दे सकती हैं, वो भी बिना स्किन की चिंता किए हुए।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 5: पोर्स में फंसी गंदगी के कारण ब्लैकहेड्स होते हैं

Acne-Point-5 फैक्ट: फॉलिकल्स में फंसे सीबम व डेड स्किन सेल्स के कारण पोर्स क्लॉग हो जाते हैं और इससे ब्लैकहेड्स हो जाते हैं। जब ये हवा के संपर्क में आते हैं, तो ब्लैक हेड्स का ऊपरी हिस्सा ब्लैक या डार्क ब्राउन कलर का हो जाता है। और इसलिए इन्हें गलती से गंदगी समझ लिया जाता है। जब पोर बंद होता है और उन तक ऑक्सिजन नहीं पहुंच पाती है, तब आपको व्हाइट हेड मिलता है। तो बसीकली इनका गंदगी से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन एक्सट्रा ऑयल व डेड स्किन सेल्स से छुटकारा पाने के लिए नियमित रूप से एक्सफोलिएट ज़रूर करे।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 6: आपको एक्ने प्रोन स्किन को मॉइश्चराइज़ नहीं करना चाहिए

फैक्ट: ऐसे कई लोग, जो प्रोब्लेमैटिक स्किन से परेशान हैं, वो मॉइश्चराइज़र इस्तेमाल करने में झिझकते हैं, क्योकि उन्हें लगता है कि इसके कारण ब्रेकआउट हो सकता है। लेकिन स्किन की ओवरआल सेहत के लिए मॉइश्चराइजिंग एक बेहद ज़रूरी स्टेप है, चाहे आपको एक्ने की समस्या ही क्यों ना हो। बस इस बात का ख्याल रखें कि आप अपनी स्किन टाइप के हिसाब से मॉइस्चराइज़र का चुनाव करें। हम वादा करते हैं कि माइल्ड ऑइल-फ्री मॉइश्चराइज़र आपकी स्किन को कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 7: ये अपने आप ही गायब हो जाएगा

Acne-Point-7 फैक्ट: अगर आप ये सोचती हैं कि एक्ने आप कुछ नहीं करेंगी और वो खुद-ब-खुद ही गायब हो जाएगा, तो आप अपनी स्किन पर स्कार व मार्क्स होने के चान्सेज़ को बढ़ा रही हैं। स्पॉट्स को ट्रीट करने के लिए बेस्ट तरीका है - सही देखभाल व ओवर द काउंटर बेंजॉइल परऑक्साइड का इस्तेमाल। लेकिन अगर ये समस्या लंबे समय से चल रही है और ठीक नहीं हो रही है, तो आपको स्किन के डॉक्टर को ज़रूर दिखाना चाहिए।

एक्ने प्रॉब्लम मिथ 8: आप सही तरीके से एक्ने को फोड़ सकती हैं

फैक्ट: एक्ने को फोड़ने का कोई सही या सुरक्षित तरीका नहीं है। जिट को फोड़ना बुरा आइडिया है, क्योकि ऐसा करने से स्किन को आघात पहुंचता है, जिससे निशान हो जाते हैं। ऐसा करने से इन्फेक्शन और बैक्टीरिया आस-पास की स्किन में फैल जाते हैं। जिद्दी पिंपल को फोड़ना टेम्पटिंग तो होता है, लेकिन लॉन्ग टर्म में ये आपकी स्किन को नुकसान पहुंचता है। images : shutterstock यह स्टोरी POPxo हिन्दी के लिए Manali Bhatnagar ने लिखी है। यह भी पढ़ें : यहां मिलेगा 20s में होने वाली हर Skin Problem का सोल्यूशन! यह भी पढ़ें : खूबसूरत skin चाहिए ? तो फौरन रोकिए ये 6 गलतियां !  
प्रकाशित - मार्च 31, 2016
Like button
लाइक
Save Button सेव करें
Share Button
शेयर
और भी पढ़ें
Trending Products

आपकी फीड