Vagina के बारे में ये 10 बातें आपको पता होनी ही चाहिए! vegina, vagina in hindi, वजाइना क्या है | POPxo

Vagina के बारे में ये 10 बातें आपको पता होनी ही चाहिए!

Vagina के बारे में ये 10 बातें आपको पता होनी ही चाहिए!

अधूरी जानकारी कभी कभी परेशानी दे सकती है। खासकर जब वो हमारी हेल्थ से जुड़ी हो। फिर बात अगर प्राइवेट पार्ट्स की हेल्थ से जुड़ी हो तो हम थोड़ी झिझक भी फील (feel) करते हैं इस बारे में बात करने में। जो कि बहुत ही गलत है। तो गर्ल्स (Girls)! हम आज हम बात करेंगे वजाइनल हेल्थ (Vaginal Health) के बारे में। ध्यान से पढ़िए क्योंकि वेजाइना (vagina) के बारे में ये बातें तो आपको पता होनी ही चाहिए!


1. वेजाइनल Odour


vagina-facts-1


हर किसी की बॉडी की अपनी एक अलग महक होती है। हो सकता है कभी आपको ऐसा लगे कि आपकी वेजाइना से ऐसी कोई महक आ रही है, तो इससे परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि कई बार पसीने और डिस्चार्ज की वजह से भी ऐसा होता है। बस एक नॉर्मल वॉश के बाद यह बंद हो जाएगी। लेकिन अगर आपको लगता है कि ऐसा लगातार हो रहा है और ये महक बहुत तेज़ है तो एक बार अपनी डॉक्टर से चेकअप करा लेने में कोई दिक्कत नहीं है।


2. उन बालों का क्या करें


वहां उगे बाल (Pubic Hair) आप ट्रिम करना चाहती हैं या हटाना चाहती हैं ये आपका अपना डिसीजन (decision) है। इससे आपकी वेजाइनल हेल्थ पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। बस इन्हें रिमूव या शेव करते समय सावधानी बरतें। ताकि कहीं कट न लग जाए।


3. वो White डिस्चार्ज


फ्रेंड्स वेजाइना हमारी बॉडी का वो ऑर्गन (Organ) है जो अपनी सफाई खुद करता है। डिस्चार्ज इसी सफाई का एक तरीका है। इसलिए पीरियड्स (Periods) के बाद होने वाले डिस्चार्ज को लेकर परेशान न हों। साथ ही नॉर्मली (Normally) होने वाला डिस्चार्ज सफेद और क्लीन है तब भी ये कोई दिक्कत नहीं है। हां, अगर इस डिस्चार्ज (discharge) का रंग हल्का पीला हो या इससे तेज स्मैल आती हो तो आपको गायनी (Gynae) के पास जाने की जरूरत है।


4. Spotting का होना


अगर पीरियड्स (Periods) से पहले या इसके बाद आपको इर्रेगुलर स्पॉटिंग (irregular spotting) होती है तो आपको ये सिंबल है कि इंटरनल प्रॉब्लम (internal problem) है और आपको बिना देर किए गायनी (Gynae) से कंसल्ट करना चाहिए। periods-1


5. ये एक आम दिक्कत है


वेजाइना में ड्राइनेस (Dryness) होना एक आम समस्या है। इसलिए इसको लेकर परेशान न हों। ये हार्मोनल चेंज (Hormonal change) या स्ट्रेस (Stress) की वजह से भी हो सकता है। ड्राइनेस (Dryness) के कारण इंटरकोर्स (intercourse) के दौरान आपको बहुत दर्द हो सकता है। इस दिक्कत को आसान ट्रीटमेंट से दूर किया जा सकता है। किसी अच्छी डॉक्टर से मिलकर ये प्रॉब्लम सॉल्व (problem solve) कर लें।


6. वो clitoris Sore


क्लाइटोरिस वुल्व (Clitoris vulva) के सबसे अंदर का छोटा और सेंसेटिव भाग होता है। सेक्स को दौरान बहुत अधिक स्टिमुलेशन (stimulation) या मस्टरबैशन (masturbation) से भी क्लाइटोरिस (Clitoris) में दिक्कत हो सकती है। इसके अलावा लंबे समय तक स्किनी जींस पहनना भी कई बार दिक्कत भरा हो सकता है।


7.वेजाइना का Tight और Loose होना


ये आसानी से फैलने और मान लिया जाने वाला भ्रम है कि जो महिलाएं लंबे समय तक सेक्सुअली बहुत ज्यादा एक्टिव (active) रहती हैं, उनकी वेजाइनल मसल्स लूज (loose) हो जाती हैं। जबकि जो महिलाएं कम सेक्स करती हैं उनके साथ सेक्स करने में मेल्स (males) को ज्यादा प्लेजर (pleasure) मिलता है। या वो खुद भी सेक्स को ज्यादा एन्जॉय (enjoy) कर पाती हैं। दरअसल वेजाइना की मसल्स के टीसूज नैचुरली (Tissues Naturally) सिकुड़कर अपनी शेप में आ जाते हैं। इसलिए इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप सेक्सुअली (sexually) कितनी एक्टिव (active) हैं।


8. वेजाइना का साइज़ और कलर


इंटरनेट (Internet) या दूसरे मीडियम्स (mediums) पर देखने के बाद कई बार आपको लग सकता है कि आपकी वेजाइना (vagina) या लेबिया (labia) (the outer lips ) का शेप या कलर तो ऐसा नहीं है। अगर आपको कभी भी ऐसा लगा है तो इसे लेकर परेशान न हो। हमारे बॉडी पार्ट्स (Body Parts) उनका कलर या साइज़ दूसरों से लाइट, डार्क, छोटे या बड़े हो सकते हैं। असिमिट्रिकल लेबिया (asymmetrical labia) भी पूरी तरह नार्मल (Normal) है।


9. Burning, itching or bleeding


vagina-facts-9


वेजाइना का कलर लाइट या डार्क होना तो नार्मल (normal) है। लेकिन अगर लेबिया (labia) पर व्हाइट पैचेज (white patches) आपको नज़र आए तो इसे सीरियसली (seriously) लेने की जरूरत है। प्राइवेट पार्ट्स (Private Parts) में जलन, इचिंग (itching) या ब्लीडिंग (bleeding) होना किसी गंभीर बीमारी का साइन (sign) हो सकता है।


10. सेक्स के दौरान ejaculate होना


अगर डियूरिंग सेक्स (during sex) आपको यूरिन (urine) जाना पड़े और वापस लौटकर आप खुद को उतना एक्साइटेड फील (exited feel) न करें। ये नार्मल (normal) है। हो सकता है कुछ ही देर में आप वापस प्लेजर (pleasure) के उसी पिक (peaks) पर हों। ऐसे में अगर आप इजैकुलेट (ejaculate) (तेजी से vagina से fluid का बाहर आ जाना) हो जाती हैं तो दिक्कत की कोई बात नहीं है। even इसके बाद आप एक खास प्लेजर फील (pleasure feel) करेंगी।


यह भी पढ़ें:


Hair Fall रोकने के 7 आसान तरीके !


अपनी Sexual Health के बारे में क्या आप जानती हैं ये 8 बातें?

Read More from Wellness

Load More Wellness Stories