Engagement Ring चुनने से पहले याद रखें ये 5 बातें

Engagement Ring चुनने से पहले याद रखें ये 5 बातें
अब आप प्रपोजल एक्सेप्ट कर चुकी हैं। अब तैयारी है इंगेजमेंट रिंग की। जिंदगी का वो सुनहरा पल जिसका आपने हमेशा से इंतजार किया। खुशी और रोमांस का इजहार करने के लिए इंगेजमेंट रिंग भी एकदम परफेक्ट होनी चाहिए। इसके लिए अगर आप कंफ्यूज हैं, तो ये पांच प्वाइंट आपकी मुश्किल हल कर सकते हैं। अपना बजट तय करने के बाद इन बातों पर ध्यान दें और रखें, नई जिंदगी की तरफ पहला कदम।

1. स्टोन


ring-1

इंगेजमेंट रिंग खरीदने की खुशी और एक्साइटमेंट अलग ही होती है। इस एक्साइटमेंट में कई बातें याद रहती हैं और कई बातें दिमाग से निकल जाती हैं। सबसे पहली बात, जो आपको ध्यान में रखनी है, वो है स्टोन का सलेक्शन। अगर आप पहले ही ये तय कर लेंगी कि किस स्टोन की रिंग लेनी है, तो सलेक्शन में आसानी होगी। आजकल डायमंड और प्लेटिनम ट्रेंड में हैं। अपनी या अपने पार्टनर की पर्सनैलिटी को ध्यान में रखकर स्टोन का सलेक्शन करें।

2. कट


ring-2

स्टोन सलेक्ट करने के बाद बारी आती है कट की। रिंग का डिजाइन उसके कट पर डिपेंड करता है। इसके लिए आपको थोड़ी सी रिसर्च करनी होगी। कई तरह के कट्स का ऑप्शन आपको मिलेगा। इसमें पीयर कट, राउंड, हार्ट कट, प्रिंसेज कट और एमरेल्ट कट शामिल हैं। इसे सलेक्ट करने से पहले हाथ और अंगुली के रूप-रंग को ध्यान में रखें। अगर सब कुछ फिट है और रोमांटिक कट लेना चाहती हैं, तो आजकल प्रिंसेज कट काफी चलन में है। इसके ज्योमेट्रिक नेचर किसी भी हाथ की ब्यूटी बढ़ा सकती है।

3. कैरेट


ring-3

अगर रोज गोल्ड, व्हाइट गोल्ड या येलो गोल्ड की रिंग पसंद कर रही हैं, तो उसके कैरेट पर जरूर ध्यान दें। 24 कैरेट सबसे प्योर माना जाता है। 18 कैरेट गोल्ड का मतलब होता 75 % गोल्ड और 14 कैरेट में 58.5 % गोल्ड होता है। 10 कैरेट में आपको 41.6 % गोल्ड मिलता है। तो अपने बजट को ध्यान रखकर फैसला करें कि आपको कितने कैरेट की रिंग लेनी है।

4. स्टाइल


ring-4

किसी खास तरह के डिजाइन और सेटिंग को देखने से पहले ज्यादा अच्छा ये होगा कि आप अपने पर्सनल टेस्ट को प्रीफरेंस दें। आप खुद सोचें कि आपको क्लासिक लुक पसंद है, मॉर्डन या विंटेज। इसी के अनुसार सलेक्शन करें। अपनी usual स्टाइल स्टेटमेंट को बदलकर थोड़े बोल्ड लुक को अपनाने में भी डरे नहीं। इंटरनेट पर इस तरह के डिजाइन सर्च कर सकती हैं, जो आपके स्टाइल स्टेटमेंट को सूट करें।

5. सेटिंग


ring-5

सेटिंग का मतलब है कि आप अपने प्रीशियस स्टोन को किस तरह शो करना चाहती हैं। सोलिटेयर फीचर में सिंगल डायमंड आपको रिंग बेस के सबसे टॉप पर मिलेगा। हालो सेटिंग छोटे डायमंड से घिरा बड़ा डायमंड सेंटर में होता है। शोल्डर्ड सोलिटेयर डिजाइन में क्लासिक सोलिटेयर की बजाय ज्यादा स्पार्कल होता है।

तो अब अपने लिए या अपने खास के लिए सगाई की अंगूठी चुनने से पहले इन बातों का ध्यान रखिए ताकि आपकी जिंदगी की यह सबसे अनमोल रिंग सबसे खास भी बनी रहे।

Images: Shutterstock